Coronatest, Rapidantigentest, Rtpcr, Fakecovid 19report, Corona, Coronavirus, Corona Report, Covid 19 Negative Test Results, Bengaluru, Covid 19 Test Report, Fake Corona Negative Report, कोरोना, कोरोना वायरस, कोरोना की रिपोर्ट, कोरोना की नेगेटिव रिपोर्ट, बंगलूरू, बंगलूरू में धंधा, कोरोना की पॉजिटिव रिपोर्ट, कोरोना रिपोर्ट का धंधा

Coronatest, Rapidantigentest

बंगलूरू : 2,500 रुपये में कोविड-19 नेगेटिव की नकली रिपोर्ट बेच रहीं तीन महिलाएं, शिकायत दर्ज

देश में कोरोना का प्रकोप जारी है, कई लोग लक्षण होने के बाद भी टेस्ट नहीं करा रहे हैं। ऐसे में बेंगलूरू में ढाई हजार रुपये

28-10-2020 08:49:00

बंगलूरू : 2,500 रुपये में कोविड-19 नेगेटिव की नकली रिपोर्ट बेच रहीं तीन महिलाएं, शिकायत दर्ज coronatest RapidAntigenTest RTPCR FakeCovid19Report

देश में कोरोना का प्रकोप जारी है, कई लोग लक्षण होने के बाद भी टेस्ट नहीं करा रहे हैं। ऐसे में बेंगलूरू में ढाई हजार रुपये

इन तीनों महिलाओँ में से एक महिला ब्रुहद बेंगलूरू महानगर पालिका में क्लीनिक चलाती है। बीबीएमपी की ओर से मंगलवार शाम को जारी किए गए बयान के मुताबिक, एक आशा कार्यकर्ता शांति और एक लैब टेक्नीशियन महालक्ष्मी को नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया है।ये दोनों शैलजा नाम की डॉक्टर के साथ मिलकर कथित तौर पर नकली कोविड-19 नेगेटिव सर्टिफिकेट का व्यापार चला रही थीं। बीबीएमपी ने अपने बयान में कहा कि ये तीनों महिलाएं एक नकली सर्टिफिकेट के लिए 2,500 रुपये लेती थीं। निगम ने बताया कि शैलजा को कॉन्ट्रैक्ट के आधार पर भर्ती किया गया था और इसके बाद बीबीएमपी ने डॉक्टर का कॉन्ट्रैक्ट खत्म कर दिया है।

कंगना रनौत और उनकी बहन 8 जनवरी को मुंबई पुलिस के सामने पेश हों : कोर्ट Love Jihad in UP: लव जिहाद कानून पर मुहर लगाने को तैयार योगी आदित्यनाथ सरकार, कैबिनेट की बैठक आज कश्मीर मुद्दे से PAK को दूर रखने में कामयाब हो रहे NSA डोभाल? रिटायर्ड सेना अधिकारी में दिखी बौखलाहट

निगम ने अपने आधिकारिक बयान में बताया कि ये तीनों महिलाएं लोगों का रैपिड एंटीजन टेस्ट करती थीं क्योंकि ये इनके लिए आसान और सुविधाजनक था। बयान में कहा गया कि रैपिड एंटीजन टेस्ट का सहारा लेकर यह महिलाएं पकड़े जाने पर रिपोर्ट को गलत ठहरा देती हैं।बता दें कि रैपिड एंटीजन टेस्ट को उसके गलत नतीजों के लिए जाना जाता है। इसलिए उन महिलाओं के लिए इस टेस्ट के जरिए लोगों को ठगना आसान था। इनका यह भांडा तब फूटा, जब एक टीवी रिपोर्टर ने अपने कैमरे में रंगे हाथ इन महिलाओं को पकड़ा।

कर्नाटक के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री के सुधाकर ने एलान कर दिया कि राज्य सरकार ने इन तीनों महिलाओं के खिलाफ शिकायत दर्ज कर दी है। यह मामला सामने आने के बाद स्वास्थ्य अधिकारियों को जांच के लिए भेजा गया। जांच में पाया गया कि लैब टेक्नीशियन, महिला डॉक्टर और आशा कार्यकर्ता मिलकर लोगों को झूठी और नकली कोविड-19 की निगेटिव रिपोर्ट दे रही थीं।

तुरंत कार्रवाई करते हुए इन महिलाओं के खिलाफ एफआईआर रजिस्टर कर दी गई है। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि ऐसे मामलों को रोकने के लिए सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। में कोविड-19 के नेगेटिव के नकली सर्टिफिकेट बेचे जा रहे हैं। चौंकाने वाली बात यह है कि ये धंधा कथित तौर पर तीन महिलाओं की ओर से चलाया जा रहा है।

विज्ञापनइन तीनों महिलाओँ में से एक महिला ब्रुहद बेंगलूरू महानगर पालिका में क्लीनिक चलाती है। बीबीएमपी की ओर से मंगलवार शाम को जारी किए गए बयान के मुताबिक, एक आशा कार्यकर्ता शांति और एक लैब टेक्नीशियन महालक्ष्मी को नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया है।ये दोनों शैलजा नाम की डॉक्टर के साथ मिलकर कथित तौर पर नकली कोविड-19 नेगेटिव सर्टिफिकेट का व्यापार चला रही थीं। बीबीएमपी ने अपने बयान में कहा कि ये तीनों महिलाएं एक नकली सर्टिफिकेट के लिए 2,500 रुपये लेती थीं। निगम ने बताया कि शैलजा को कॉन्ट्रैक्ट के आधार पर भर्ती किया गया था और इसके बाद बीबीएमपी ने डॉक्टर का कॉन्ट्रैक्ट खत्म कर दिया है।

निगम ने अपने आधिकारिक बयान में बताया कि ये तीनों महिलाएं लोगों का रैपिड एंटीजन टेस्ट करती थीं क्योंकि ये इनके लिए आसान और सुविधाजनक था। बयान में कहा गया कि रैपिड एंटीजन टेस्ट का सहारा लेकर यह महिलाएं पकड़े जाने पर रिपोर्ट को गलत ठहरा देती हैं।बता दें कि रैपिड एंटीजन टेस्ट को उसके गलत नतीजों के लिए जाना जाता है। इसलिए उन महिलाओं के लिए इस टेस्ट के जरिए लोगों को ठगना आसान था। इनका यह भांडा तब फूटा, जब एक टीवी रिपोर्टर ने अपने कैमरे में रंगे हाथ इन महिलाओं को पकड़ा।

कर्नाटक के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री के सुधाकर ने एलान कर दिया कि राज्य सरकार ने इन तीनों महिलाओं के खिलाफ शिकायत दर्ज कर दी है। यह मामला सामने आने के बाद स्वास्थ्य अधिकारियों को जांच के लिए भेजा गया। जांच में पाया गया कि लैब टेक्नीशियन, महिला डॉक्टर और आशा कार्यकर्ता मिलकर लोगों को झूठी और नकली कोविड-19 की निगेटिव रिपोर्ट दे रही थीं।

कपिल देव की प्लेइंग इलेवन: 1983 वर्ल्ड कप विजेता कप्तान ने कहा- विकेटकीपर सिर्फ धोनी, उस लेवल को कोई नहीं छू सकता दुनिया के दूसरे सबसे अमीर व्यक्ति बने एलन मस्क, बिल गेट्स को किया पीछे बदल गई टीम इंडिया की जर्सी, ऑस्ट्रेलिया दौरे पर ताजा होगी 90 के दशक की याद

तुरंत कार्रवाई करते हुए इन महिलाओं के खिलाफ एफआईआर रजिस्टर कर दी गई है। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि ऐसे मामलों को रोकने के लिए सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। और पढो: Amar Ujala »

कोरोना कर्मवीरों के साथ दीवाली का जश्न, देखें खास पेशकश

दीवाली के शुभ अवसर पर आजतक आपके लिए लेकर आया है खास पेशकश 'आओ मिलकर दीया जलाएं.' इस खास शो में हम पहुंचे हैं उन कोरोना वॉरियर्स, उन कोरोना कर्मवीरों के बीच जिन्होंने मुश्किल की इस घड़ी में लोगों की जिंदगियां बचाने के लिए खुद की जान दांव पर लगा दी. देखें खास शो.

हमारादेशप्राचीनसमय से नकली और भ्रष्टाचार का विश्वगुरु है।महिलाएं कभी पीछे नहीं रहीं। हर अच्छेबुरे काम में पुरुष के आगे पीछे महिला का हाथ है। यह यूनिवर्सल सत्य है। कुंती नेसूरजके संभोग से कर्ण पैदा किया छिपाने को नदी में बहा दिया।सीता नेमायकेथाली व्यंजनों की राम को गलत सूचना दी।

कोरोना बुलेटिन: देश में रिकवरी रेट में बढ़ोतरी, मृत्यु दर में आई भारी गिरावट कोरोना बुलेटिन: देश में रिकवरी रेट में बढ़ोतरी, मृत्यु दर में आई भारी गिरावट corona virus Corona update MoHFW_INDIA NITIAayog

फिल्मों के अलावा ऐसे करोड़ों रुपये कमा रही हैं आलिया भट्ट, इस कंपनी में किया निवेशफिल्मों के अलावा ऐसे करोड़ों रुपये कमा रही हैं आलिया भट्ट, इस कंपनी में किया निवेश AliaBhatt investing Investment Nykaa celebrity Tme fail hona hai screen p jao... Tm log dusre ko kam nhi detey ho apne hi sochtey ho... Bollywood shame वैश्या है ये अलालिया, महेश भट्ट की बेटी, जो मुसलमान है

DATA STORY: मध्य प्रदेश विधानसभा उपचुनावों में उतरे उम्मीदवारों की औसत संपत्ति 1.10 करोड़ रुपयेउपचुनाव में खड़े 63 उम्मीदवारों ने अपने ऊपर आपराधिक मामले घोषित किए हैं। 39 उम्मीदवारों ने अपने ऊपर गंभीर आपराधिक मामले घोषित किए हैं। कांग्रेस के 28 में से 14 बीजेपी के 28 में से 12 ने अपने ऊपर आपराधिक मामले घोषित किए हैं। कभी इस व्यवसाय के लाभ हानि ,आमदनी के स्रोत का विस्तृत वर्णन छापिए।

Jio vs Airtel vs Vi: 600 रुपये से कम कीमत में तीन महीने वाले बेस्ट प्लानJio vs Airtel vs Vi: 600 रुपये से कम कीमत में तीन महीने वाले बेस्ट प्लान reliancejio Airtel_Presence VodafoneIN_News reliancejio Airtel_Presence VodafoneIN_News Farji andera fila raha mara jala

Gold Silver Price: सोने की कीमत में गिरावट, 753 रुपये सस्ती हुई चांदीआज घरेलू बाजार में शुक्रवार की तुलना में सोने और चांदी की कीमत में गिरावट दर्ज की गई। एचडीएफसी सिक्योरिटीज के अनुसार,

दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण : केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट में कहा-जल्द बनेगा कानूनदिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण : केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट में कहा-जल्द बनेगा कानून Parali Pollution DelhiNCRPollution stubbleburning SupremeCourt भारत में पहले से ही प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड मौजूद है तो फिर नए कानून बनाने की क्या आवश्यकता है क्या आप प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड कार्य नहीं कर रहा है कुछ नंही होना जाना