सुप्रीम कोर्ट ने लगाई कोलकाता पुलिस को फटकार, सुप्रीम कोर्ट की ममता सरकार को फटकार, Supreme Court Slams Kolkata Police, Kolkata News, Freedom Of Speech, Fir For A Fb Post Against Mamata Government, Facebook Post Against Mamata Banerjee, Delhi Woman Summoned By Kolkata Police, Delhi News, भारत Samachar

सुप्रीम कोर्ट ने लगाई कोलकाता पुलिस को फटकार, सुप्रीम कोर्ट की ममता सरकार को फटकार

फेसबुक पोस्ट को लेकर FIR पर सुप्रीम कोर्ट की ममता सरकार को फटकार, 'लाइन मत क्रॉस करो, भारत को आजाद रहने दो'

फेसबुक पोस्ट को लेकर FIR पर सुप्रीम कोर्ट की ममता सरकार को फटकार, 'लाइन मत क्रॉस करो, भारत को आजाद रहने दो' via @NavbharatTimes

29-10-2020 05:03:00

फेसबुक पोस्ट को लेकर FIR पर सुप्रीम कोर्ट की ममता सरकार को फटकार , 'लाइन मत क्रॉस करो, भारत को आजाद रहने दो' via NavbharatTimes

भारत न्यूज़: दिल्ली निवासी एक महिला को आपत्तिजनक फेसबुक पोस्ट (Summoned for Facebook post) के लिए कोलकाता पुलिस ने समन भेजा था। महिला ने कोरोना महामारी (COVID-19) के बीच कोलकाता के राजा बाजार इलाके की तस्वीर शेयर करके लॉकडाउन नियमों को लेकर ममता सरकार (Mamata Banerjee) की ढिलाई सवाल उठाए थे।

29 Oct 2020, 06:54:00 AMदिल्ली निवासी एक महिला को आपत्तिजनक फेसबुक पोस्ट (Summoned for Facebook post) के लिए कोलकाता पुलिस ने समन भेजा था। महिला ने कोरोना महामारी (COVID-19) के बीच कोलकाता के राजा बाजार इलाके की तस्वीर शेयर करके लॉकडाउन नियमों को लेकर ममता सरकार (Mamata Banerjee) की ढिलाई सवाल उठाए थे।

कंगना रनौत और उनकी बहन 8 जनवरी को मुंबई पुलिस के सामने पेश हों : कोर्ट नाम छिपाकर शादी करने पर मिलेगी 10 साल की सजा, UP कैबिनेट में पास हुआ 'लव जिहाद अध्यादेश' Love Jihad in UP: लव जिहाद कानून पर मुहर लगाने को तैयार योगी आदित्यनाथ सरकार, कैबिनेट की बैठक आज

सुप्रीम कोर्ट से ममता सरकार को फटकारहाइलाइट्स:सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि आम नागरिकों को राज्य सरकार की आलोचना करने के लिए प्रताड़ित नहीं किया जा सकतादिल्ली निवासी एक महिला को कथित रूप से आपत्तिजनक फेसबुक पोस्ट के लिए कोलकाता पुलिस ने समन भेजा थामहिला ने राजा बाजार इलाके की तस्वीर पोस्ट करके लॉकडाउन नियमों पर ममता सरकार की ढिलाई सवाल उठाए थे

नई दिल्लीसुप्रीम कोर्ट ने एक मामले में कोलकाता पुलिस को फटकार लगाते हुए कहा कि आम नागरिकों को सरकार की आलोचना करने के लिए प्रताड़ित नहीं किया जा सकता। दरअसल दिल्ली निवासी एक महिला को कथित रूप से आपत्तिजनक फेसबुक पोस्ट के लिए कोलकाता पुलिस ने समन भेजा था। महिला ने कोरोना महामारी के बीच कोलकाता के भीड़भाड़ वाले राजा बाजार इलाके की तस्वीर शेयर करके लॉकडाउन नियमों को लेकर ममता सरकार की ढिलाई सवाल उठाए थे।

सुप्रीम कोर्ट की जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ और इंदिरा बनर्जी की बेंच ने कहा कि अगर राज्यों की पुलिस इस तरह से आम लोगों को समन जारी करने लग जाएगी, तो यह एक खतरनाक ट्रेंड होगा। ऐसे में न्यायालयों को आगे बढ़कर अभिव्यक्ति की आजादी के अधिकार की रक्षा करनी होगी जो कि संविधान के आर्टिकल 19(1)A के तहत हर नागरिक को मिला हुआ है।

भारत में हर किसी को बोलने की आजादी है और हम सुप्रीम कोर्ट के रूप में फ्री स्पीच की रक्षा करने के लिए हैं। संविधान ने इसी वजह से सुप्रीम कोर्ट बनाया ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि राज्य आम नागरिकों को प्रताड़ित न करें।सुप्रीम कोर्ट की बेंच'आम नागरिकों की रक्षा के लिए है सुप्रीम कोर्ट'

सुप्रीम कोर्ट ने पुलिस को फटकार लगाते हुए कहा, 'लाइन मत क्रॉस कीजिए। भारत को एक आजाद देश बने रहने दीजिए। भारत में हर किसी को बोलने की आजादी है और हम सुप्रीम कोर्ट के रूप में फ्री स्पीच की रक्षा करने के लिए हैं। संविधान ने इसी वजह से सुप्रीम कोर्ट बनाया ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि राज्य आम नागरिकों को प्रताड़ित न करें।'

ममता सरकार के खिलाफ फेसबुक पोस्ट को लेकर समन29 साल की रोशनी बिस्वास नाम की महिला ने ऐडवोकेट महेश जेठमलानी के जरिए कलकत्ता हाई कोर्ट के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की थी। हाई कोर्ट ने महिला को उक्त फेसबुक पोस्ट को लेकर कोलकाता पुलिस के सामने पेश होने को कहा था जिसमें उन्होंने राजा बाजार इलाके में लॉकडाउन की धज्जियां उड़ाए जाने पर ममता सरकार की आलोचना की थी।

कश्मीर मुद्दे से PAK को दूर रखने में कामयाब हो रहे NSA डोभाल? रिटायर्ड सेना अधिकारी में दिखी बौखलाहट बदल गई टीम इंडिया की जर्सी, ऑस्ट्रेलिया दौरे पर ताजा होगी 90 के दशक की याद कंगना की 8 जनवरी को थाने में पेशी: बॉम्बे हाईकोर्ट का पुलिस से सवाल- कोई सरकार की बात न माने, तो उस पर राजद्रोह की धारा लगाएंगे?

सरकार की आलोचना करने वाली एक सोशल मीडिया पोस्ट को लेकर देश के नागरिकों को एक जगह से दूसरे जगह तक नहीं घुमाया जा सकता। यह एक नागरिक बोलने की आजादी के अधिकार को धमकाने जैसा है।सुप्रीम कोर्ट बेंचमहिला के खिलाफ नफरत फैलाने का आरोपपुलिस ने महिला के खिलाफ विशेष समुदाय को लेकर नफरत फैलाने के आरोप में एफआईआर दाखिल की थी। कोर्ट में सुनवाई के दौरान पश्चिम बंगाल सरकार के काउंसिल आर बंसत ने कहा कि महिला से सिर्फ पूछताछ की जाएगी, उन्हें गिरफ्तार नहीं किया जाएगा। इस पर सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने कहा, 'यह किसी नागरिक के अभिव्यक्ति की आजादी के अधिकार को धमकाने जैसा है। किसी के खिलाफ इसलिए केस नहीं चलाया जा सकता कि उसने लॉकडाउन के नियमों के ठीक से संचालित न होने की बात कही।'

'एक जगह से दूसरी जगह तक टहलाया नहीं जा सकता'सुप्रीम कोर्ट ने आगे कहा, 'सरकार की आलोचना करने वाली एक सोशल मीडिया पोस्ट को लेकर देश के नागरिकों को एक जगह से दूसरे जगह तक नहीं घुमाया जा सकता। यह एक नागरिक बोलने की आजादी के अधिकार को धमकाने जैसा है।'

राज्य सरकार के वकील पर सुप्रीम कोर्ट की तीखी टिप्पणीराज्य सरकार के काउंसिल इस बात पर जोर देते रहे कि महिला को पुलिस के सामने पेश होना चाहिए, जिस पर सुप्रीम कोर्ट ने तीखी टिप्पणी करते हुए कहा, 'ऐसा लग रहा है जैसे आप उस महिला से कहना चाहते हैं कि सरकार के खिलाफ लिखने की हिम्मत कैसे हुई, हम उसे समन के नाम पर देश के किसी भी कोने से घसीट सकते हैं।'

कल को कोलकाता, मुंबई, मणिपुर और चेन्नै की पुलिस देश के हर हिस्से से लोगों को समन भेजने जाएंगे। यह संदेश देने के लिए कि तुम बोलने की आजादी चाहते हो, तो हम तुम्हें सबक सिखाएंगे... यह खतरनाक ट्रेंड है।सुप्रीम कोर्ट बेंचसुप्रीम कोर्ट बोली- यह खतरनाक ट्रेंड है

कोर्ट ने कहा, 'महिला को दिल्ली से कोलकाता समन करना परेशान करने जैसा है। कल को कोलकाता, मुंबई, मणिपुर और चेन्नै की पुलिस देश के हर हिस्से से लोगों को समन भेजने जाएंगे। यह संदेश देने के लिए कि तुम बोलने की आजादी चाहते हो, तो हम तुम्हें सबक सिखाएंगे... यह खतरनाक ट्रेंड है।'

दिल्ली जाकर पूछताछ करेगी पुलिसराज्य सरकार के काउंसिल ने इसके बाद बीच का रास्ता निकालते हुए कहा कि कोलकाता पुलिस दिल्ली जाकर महिला से पूछताछ करेगी। इसलिए महिला को जांच में सहयोग करने को कहा जाए। सुप्रीम कोर्ट की पीठ ने इस पर रजामंदी दी।Navbharat Times News App

दुनिया के दूसरे सबसे अमीर व्यक्ति बने एलन मस्क, बिल गेट्स को किया पीछे केंद्र सरकार ने 43 मोबाइल एप पर लगाई रोक, सुरक्षा-संप्रभुता के लिए बताया खतरा पंजाब कांग्रेस में नई हलचल, अमरिंदर ने सिद्धू को लंच पर बुलाया, फिर करेंगे नई पारी की शुरूआत

: और पढो: NBT Hindi News »

Coronavirus: कोरोना कर्फ्यू के आगे लॉकडाउन है क्या? देखें दंगल

कोरोना फिर डराने लगा है. दिल्ली समेत देश भर में लगातार कोरोना गंभीर हो रहा है. जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने राज्यों से स्टेटस रिपोर्ट मांगी है. वहीं गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली में मोबाइल आरटी-पीसीआर टेस्टिंग लैब शुरू की है. कोविड मरीजों के लिए अस्पतालों के इंतजाम पर जनहित याचिका की सुनवाई के दौरान बढ़ रहे कोरोना मामलों का सवाल आया तो सुप्रीम कोर्ट गंभीर हो गया. कोर्ट ने कहा कि नवंबर में कोरोना मामलों में तेज बढ़ोत्तरी हुई है. सभी राज्यों को मरीजों के मैनेजमेंट पर ताजा स्टेटस रिपोर्ट देना होगा. अगर राज्य तैयार नहीं होंगे तो दिसंबर में हालात बद से बदतर हो सकते हैं. सुनवाई के दौरान दिल्ली सरकार की ओर से कोरोना पर नई व्यवस्थाओं की बातें गिनाई गई, लेकिन कोर्ट ने साफ कहा कि पिछले कुछ दिनों में दिल्ली में हालात खराब हुए हैं. देखिए दंगल, रोहित सरदाना के साथ.

Can Supreme Court have power to use same language in UP? UP DESH SE ALAG HAI KYA, UP ME TO FACEBOOK POST PER BAHUT SARE LOG JAIL ME HAIN, HEER KHAN BHI UNME SE EK HAI, JO LOG FRANCE K SUPPORT KAR RAHE HAIN UNHE HEER KHAN KI POST BARDASHT NAHI HAI 😀😃😄😄up men kayi patrakar jail men hain. Up desh men hai ki nahin

rajshekharTOI But we were being told that “democracy is in danger” because of Modi 🤔 RBCs like derekobrienmp will have their tail between legs now, and then they will surface again from their hole holding placards “संविधान ख़तरे में है” 😏 मेरे विचार में सुप्रीम कोर्ट की पीठ को पश्चिमी बंगाल की पुलिस को रजामंदी देना भी गलत है, यह भी महिला की अभिव्यक्ति की आजादी पर प्रहार है ,इससे महिला निरूत्साहित होगी (कोलकाता पुलिस दिल्ली जाकर महिला से पूछताछ करेगी। इसलिए महिला को जांच में सहयोग करने को कहा जाए)

मध्यप्रदेश : भाजपा ने चुनाव आयोग को पत्र लिखकर कमलनाथ की रैलियों पर रोक की मांग कीमध्यप्रदेश : भाजपा ने चुनाव आयोग को पत्र लिखकर कमलनाथ की रैलियों पर रोक की मांग की MadhyaPradesh OfficeOfKNath BJP4India ChouhanShivraj OfficeOfKNath BJP4India ChouhanShivraj पप्पू पिंकी निकिता के घर नही जाएंगे इसमें ज्यादा सोचने वाली बात ही नही लेकिन कथित हिंदूवादी सरकार का भी कोई नेता नही जा रहा मीडिया ने भी 1 दिन में ही सब खत्म कर दिया👿😡 OfficeOfKNath BJP4India ChouhanShivraj justiceforNikitaTomar

राहुल को चीन-पाक के मुद्दों को छोड़कर सामाजिक समस्याओं पर जनता की अंगुली पकड़नी चाहिएयह किसी से छिपा नहीं कि चुनाव दर चुनाव कांग्रेस की स्थिति राज्यों में दोयम दर्जे की होती जा रही है और यदि यह सिलसिला नहीं रुका तो कांग्रेस के अस्तित्व पर प्रश्नचिन्ह लग जाएगा। राहुल गांधी की नासमझी का दुष्परिणाम कांग्रेस को भुगतना पड़ रहा। DrAKVerma9 RahulGandhi narendramodi BJP4India लेखक जी राइटिंग छोड़कर कांग्रेस ज्वाइन कर लो DrAKVerma9 RahulGandhi narendramodi BJP4India Absolutely...💥 DrAKVerma9 RahulGandhi narendramodi BJP4India Tabhi to Antonio manio ka outta pappu kahlata hai !!!

गोपाल कांडा को राहत, गीतिका की मां अनुराधा को आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप रद्दहरियाणा के पूर्व मंत्री गोपाल गोयल कांडा को बड़ी राहत मिली है. सत्र अदालत ने गोपाल गोयल कांडा और सह आरोपी अरुणा चड्ढा के खिलाफ अनुराधा शर्मा की मौत के मामले में आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोपों को रद्द कर दिया. AneeshaMathur in jaise logo ka schmuch koi kuch ni bigar skta...shrm kro par kis pr,ab to nyay v inhi logo ko mil rha..jo sach me victim h wo jaan de rhe h

सुशांत की बहनों को गिरफ्तारी का डर, रिया की FIR के खिलाफ HC में गुहारसुशांत की बहने इस बात से घबराई हुई हैं कि रिया ने जो एफआईआर दर्ज की है उस संदर्भ में सुशांत की बहनों को किसी भी वक्त गिरफ्तार किया जा सकता है. इस वजह से प्रियंका और मीतू ने पेटिशन फाइल की है कि उनकी सुनवाई जल्द से जल्द कर दी जाए. Rhea ne SSR ko mara...jiska ek bhi praman CBI ke hath nehi laga... Rhea ne SSR ke paisa hadap geyi...jiska ek bhi praman ED ko nehi mila... Phir bi iss purush pdadhan mansikta se bhari hui hamara samaj Rhea ko SSR ka doshi manti hai....kyon ki bo ganjedi SSR ki GF thi.🤦 जूते अब सही जगह ही पड़ेंगे रुक जाइये Rhea KMKB

यूपी में लॉकडाउन में यौनकर्मियों को मुफ्त राशन के मामले योगी सरकार को SC की फटकारउप्र सरकार की ओर से पेश वकील ने कहा कि यौनकर्मियो की पहचान करने की प्रक्रिया चल रही है और इनमें से अधिकांश के पास राशन कार्ड हैं तथा उन्हें राशन दिया जा रहा है। ऐसे कैसे लगाई फ़टकार मुख्यमंत्री जी को जिनका काम कम प्रचार ज्यादा फ़िर भी no 1!

देश की सुरक्षा संभालने के अंदाज से रक्षा मंत्री प्रभावित, सेना की तारीफ कीदेश की सुरक्षा संभालने के अंदाज से रक्षा मंत्री प्रभावित, सेना की तारीफ की India IndianArmy DefenceMinIndia adgpi IAF_MCC indiannavy PMOIndia DefenceMinIndia adgpi IAF_MCC indiannavy PMOIndia DefenceMinIndia adgpi IAF_MCC indiannavy PMOIndia Or ardh sainikon ke liye kya kaha DefenceMinIndia rajnathsingh ji ne SSCGD_SEAT_INCREASE_2018 SSCGD_WAITING_LIST_2018 SSCGD_2018_JOINING SSCGD_12Nov_RajghatRally