Priyankagandhi, Upelections 2022, Congress Party, Ajay Mishra Teni, Ashish Mishra, Priyanka Gandhi Election Campaign, Priyanka Gandhi Congress General Secretary, Ladki Hu Lad Sakti Hu, Priyanka Gandhi Women Empowerment, Lakhimpur Kheri Violence, Yogi Adityanath, Up Government, Ajay Kumar Lallu, Up Bjp, Priyanka Gandhi, Priyanka Gandhi On Farmers Protest, Caste Politics İn Up, Brahmin Politics İn Up, Brahmin Voters İn Up, Priyanka Gandhi Press Conference, Up Assembly Election 2022, Up Election 2022, Priyanka Gandhi Press Conference Today, Lucknow, Lucknow News, Lucknow Press Conference, Lucknow Priyanka Gandhi Press Conference, Bahujan Samaj Party, Samajwadi Party, Bjp Women Leaders

Priyankagandhi, Upelections 2022

प्रियंका के तीन बड़े दांव: स्मार्टफोन, इलेक्ट्रिक स्कूटी और 'जख्म पर मरहम', क्या इससे बदलेगी कांग्रेस की यूपी में तकदीर!

प्रियंका गांधी ने आधी आबादी की नब्ज कस कर पकड़नी शुरू कर दी है। प्रियंका गांधी ने सरकार बनने पर इंटर पास लड़कियों को

21-10-2021 17:28:00

प्रियंका के तीन बड़े दांव: स्मार्टफोन, इलेक्ट्रिक स्कूटी और 'जख्म पर मरहम', क्या इससे बदलेगी कांग्रेस की यूपी में तकदीर! PriyankaGandhi UPElections2022

प्रियंका गांधी ने आधी आबादी की नब्ज कस कर पकड़नी शुरू कर दी है। प्रियंका गांधी ने सरकार बनने पर इंटर पास लड़कियों को

Updated Thu, 21 Oct 2021 07:53 PM ISTसारदिल्ली विश्वविद्यालय में राजनीति शास्त्र के प्रवक्ता प्रोफेसर जगत एन पुंडीर कहते हैं कि अगर आप प्रियंका गांधी की छवि को लेकर पिछले कुछ दिनों की तस्वीरें और कुछ दिनों की घटनाओं पर नजर डालेंगे तो उनकी एक महिला को सांत्वना देने वाली और महिलाओं के साथ खड़ी होने वाली नेता के तौर पर सामने आ रही है...

रोहित शर्मा बने वनडे टीम के कप्तान, विराट करेंगे केवल टेस्ट में कप्तानी - BBC News हिंदी जनरल रावत की पत्नी मधुलिका की भी हेलिकॉप्टर हादसे में मौत, क्या थी शख़्सियत - BBC News हिंदी जनरल बिपिन रावत: हेलिकॉप्टर हादसे के चश्मदीद ने क्या-क्या देखा - BBC News हिंदी

प्रियंका गांधी- फोटो : Amar Ujala (File Photo)विज्ञापनख़बर सुनेंख़बर सुनेंप्रियंका गांधी ने आधी आबादी की नब्ज कस कर पकड़नी शुरू कर दी है। कुछ दिन पहले प्रियंका गांधी ने जहां उत्तर प्रदेश में 40 फीसदी महिलाओं को टिकट देने का फैसला किया। वहीं अब सरकार बनने पर इंटर पास लड़कियों को स्मार्टफोन और स्नातक लड़कियों को इलेक्ट्रिक स्कूटी देने का बड़ा चुनावी वादा कर दिया। प्रदेश कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के मुताबिक सिर्फ यह वादा ही नहीं बल्कि उत्तर प्रदेश में होने वाली किसी भी घटना पर प्रियंका का अति सक्रिय होकर वहां पहुंचना और फिर पूरे मामले को हाईजैक करना भी कांग्रेस पार्टी में एक नई जान फूंकने जैसा दिख रहा है। राजनीतिक विश्लेषकों के मुताबिक प्रियंका गांधी की सक्रियता जिस तरीके से उत्तर प्रदेश की राजनीति में बढ़ी है, वह निश्चित तौर पर अन्य दलों के लिए चुनौती साबित हो सकती है।

प्रतिद्वंदी पार्टियों से आगे लेकर जाएगी यह रणनीतिप्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश के चुनावों में (UP election 2022) जिस तरीके से महिलाओं को आगे लाने के तमाम प्रयास करने शुरू किए हैं, वह राजनीति में दिखने वाला एक अलग प्रयास माना जा रहा है। कांग्रेस पार्टी भी इसे आधी आबादी के लिए एक बदलता हुआ संकेत मान रही है। उत्तर प्रदेश कांग्रेस पार्टी के एक वरिष्ठ नेता का कहना है कि आने वाले चुनाव में जिस तरीके से प्रियंका गांधी और महिलाओं के लिए उनके प्रयासों को लेकर राजनीतिक प्रचार प्रसार किया जा रहा है, वह उन्हें अन्य प्रतिद्वंदी पार्टियों से आगे लेकर जाएगा। उत्तर प्रदेश में चुनावी तैयारियों के लिए बनाई गई प्रमुख कमेटी के वरिष्ठ कांग्रेसी सदस्य का कहना है कि जिस तरीके से प्रियंका गांधी ने इंटरपास लड़कियों के लिए स्मार्टफोन और स्नातक लड़कियों के लिए इलेक्ट्रिक स्कूटी देने का एलान किया है वह निश्चित तौर पर एक बदलते हुए परिवेश में महिलाओं को आगे लाने का एक प्रयास है। headtopics.com

महिलाओं के साथ खड़ी होने वालीं नेताप्रियंका गांधी के आक्रामक रुख से उत्तर प्रदेश के चुनाव में कांग्रेस का नफा-नुकसान सिर्फ कांग्रेस पार्टी ही नहीं बल्कि अन्य राजनीतिक पार्टियां और राजनीतिक विश्लेषक भी करने लगे हैं। दिल्ली विश्वविद्यालय में राजनीति शास्त्र के प्रवक्ता प्रोफेसर जगत एन पुंडीर कहते हैं कि प्रियंका गांधी ने महिलाओं को लेकर जो नब्ज पकड़ी है वह राजनीति में निश्चित तौर पर एक बड़ा और अहम कदम माना जा रहा है। वे कहते हैं कि अगर आप प्रियंका गांधी की छवि को लेकर पिछले कुछ दिनों की तस्वीरें और कुछ दिनों की घटनाओं पर नजर डालेंगे तो उनकी एक महिला को सांत्वना देने वाली और महिलाओं के साथ खड़ी होने वाली नेता के तौर पर सामने आ रही है। वह कहते हैं, मामला चाहे लखीमपुर, हाथरस, सीतापुर, आगरा या फिर सोनभद्र का रहा हो, आप इन सभी जगहों पर हुई घटनाओं में में प्रियंका गांधी ने पीड़ित परिवार की महिलाओं को गले लगा कर जो संदेश दिया है, वह उनकी महिलाओं के साथ खड़े होने वाली इमेज और परसेप्शन को मजबूत करती है। सभी जगहों पर प्रियंका की महिलाओं के साथ इमोशनल तस्वीरें सामने आई बल्कि एक इमेज भी उसी तरीके की बनकर सामने आई।

चुनाव में इमेज और परसेप्शन के मायनेउत्तर प्रदेश में राजनीति को लंबे समय से समझने वाले जीडी शुक्ला कहते हैं कि चुनाव में इमेज और परसेप्शन बहुत मायने रखता है। और हाल के दिनों में प्रियंका गांधी की इमेज और जो परसेप्शन लोगों में बन रहा है, वह उत्तर प्रदेश की राजनीति में महिलाओं को आगे बढ़ाने वाली इमेज और परसेप्शन वाली नेता के तौर पर ही है। हालांकि शुक्ला के मुताबिक यह सभी प्रयास चुनाव जिताने में कितने महत्वपूर्ण हैं यह कहना अभी बहुत जल्दी होगा। लेकिन इतना तय है कि जमीनी स्तर पर इस तरीके के प्रयास किसी भी राजनीतिक पार्टी को चार कदम आगे बढ़ा ही देते हैं।

पॉलिटिकल इवेंट करती हैं प्रियंका गांधीउत्तर प्रदेश में प्रियंका गांधी का आक्रामक रवैया और ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंच बनाने की छवि की वजह से ही उन्हें कांग्रेस पार्टी की ओर से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के चेहरे के तौर पर पेश करने की मांग भी बढ़ती जा रही है। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने तो बाकायदा बनारस में किसान न्याय रैली से इस बात की घोषणा भी कर दी थी कि उत्तर प्रदेश में प्रियंका गांधी के नेतृत्व में बनने वाली सरकार से ही सभी जरूरतमंदों को न्याय मिलेगा। हालांकि विपक्षी दल प्रियंका गांधी के इन बयानों को महज राजनीतिक स्टंट ही करार दे रहे हैं भारतीय जनता पार्टी के नेता नीलकांत बक्शी कहते हैं कि प्रियंका गांधी महज पॉलिटिकल इवेंट ही करती हैं। बक्शी के मुताबिक जिन राज्यों में चुनाव होता है, वहां पर प्रियंका गांधी पॉलिटिकल टूरिज्म के बहाने लोगों का ध्यान आकर्षण करने का कोई न कोई बहाना ढूंढ लेती हैं। लेकिन इससे उन्हें और उनकी राजनीतिक पार्टी को कोई भी फायदा नहीं होने वाला बल्कि नुकसान ही है। वे आगे कहते हैं कि अगर कांग्रेस पार्टी को महिलाओं की इतनी चिंता है तो आज तक उन्होंने महिलाओं के लिए किया ही क्या। जहां पर कांग्रेस शासित राज्य हैं वहां पर महिलाओं की स्थिति का अंदाजा लगा सकते हैं कि कांग्रेस की कथनी और करनी में कितना फर्क है।

विस्तारप्रियंका गांधी ने आधी आबादी की नब्ज कस कर पकड़नी शुरू कर दी है। कुछ दिन पहले प्रियंका गांधी ने जहां उत्तर प्रदेश में 40 फीसदी महिलाओं को टिकट देने का फैसला किया। वहीं अब सरकार बनने पर इंटर पास लड़कियों को स्मार्टफोन और स्नातक लड़कियों को इलेक्ट्रिक स्कूटी देने का बड़ा चुनावी वादा कर दिया। प्रदेश कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के मुताबिक सिर्फ यह वादा ही नहीं बल्कि उत्तर प्रदेश में होने वाली किसी भी घटना पर प्रियंका का अति सक्रिय होकर वहां पहुंचना और फिर पूरे मामले को हाईजैक करना भी कांग्रेस पार्टी में एक नई जान फूंकने जैसा दिख रहा है। राजनीतिक विश्लेषकों के मुताबिक प्रियंका गांधी की सक्रियता जिस तरीके से उत्तर प्रदेश की राजनीति में बढ़ी है, वह निश्चित तौर पर अन्य दलों के लिए चुनौती साबित हो सकती है। headtopics.com

CDS बिपिन रावत के साथ MP के जवान की भी मौत, 2011 में भारतीय सेना में भर्ती हुए थे जीतेंद्र कुमार हेलिकॉप्टर हादसे में बचे ग्रुप कैप्टन का VIDEO: शौर्य चक्र से नवाजे जा चुके वरुण सिंह गंभीर; उन्हें बचाने का वीडियो जनरल रावत के नाम से वायरल हुआ असम: न्यूज़ पोर्टल के संपादक पर राजद्रोह के आरोप के ख़िलाफ़ पत्रकारों का प्रदर्शन

विज्ञापनप्रतिद्वंदी पार्टियों से आगे लेकर जाएगी यह रणनीतिप्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश के चुनावों में (UP election 2022) जिस तरीके से महिलाओं को आगे लाने के तमाम प्रयास करने शुरू किए हैं, वह राजनीति में दिखने वाला एक अलग प्रयास माना जा रहा है। कांग्रेस पार्टी भी इसे आधी आबादी के लिए एक बदलता हुआ संकेत मान रही है। उत्तर प्रदेश कांग्रेस पार्टी के एक वरिष्ठ नेता का कहना है कि आने वाले चुनाव में जिस तरीके से प्रियंका गांधी और महिलाओं के लिए उनके प्रयासों को लेकर राजनीतिक प्रचार प्रसार किया जा रहा है, वह उन्हें अन्य प्रतिद्वंदी पार्टियों से आगे लेकर जाएगा। उत्तर प्रदेश में चुनावी तैयारियों के लिए बनाई गई प्रमुख कमेटी के वरिष्ठ कांग्रेसी सदस्य का कहना है कि जिस तरीके से प्रियंका गांधी ने इंटरपास लड़कियों के लिए स्मार्टफोन और स्नातक लड़कियों के लिए इलेक्ट्रिक स्कूटी देने का एलान किया है वह निश्चित तौर पर एक बदलते हुए परिवेश में महिलाओं को आगे लाने का एक प्रयास है।

महिलाओं के साथ खड़ी होने वालीं नेताप्रियंका गांधी के आक्रामक रुख से उत्तर प्रदेश के चुनाव में कांग्रेस का नफा-नुकसान सिर्फ कांग्रेस पार्टी ही नहीं बल्कि अन्य राजनीतिक पार्टियां और राजनीतिक विश्लेषक भी करने लगे हैं। दिल्ली विश्वविद्यालय में राजनीति शास्त्र के प्रवक्ता प्रोफेसर जगत एन पुंडीर कहते हैं कि प्रियंका गांधी ने महिलाओं को लेकर जो नब्ज पकड़ी है वह राजनीति में निश्चित तौर पर एक बड़ा और अहम कदम माना जा रहा है। वे कहते हैं कि अगर आप प्रियंका गांधी की छवि को लेकर पिछले कुछ दिनों की तस्वीरें और कुछ दिनों की घटनाओं पर नजर डालेंगे तो उनकी एक महिला को सांत्वना देने वाली और महिलाओं के साथ खड़ी होने वाली नेता के तौर पर सामने आ रही है। वह कहते हैं, मामला चाहे लखीमपुर, हाथरस, सीतापुर, आगरा या फिर सोनभद्र का रहा हो, आप इन सभी जगहों पर हुई घटनाओं में में प्रियंका गांधी ने पीड़ित परिवार की महिलाओं को गले लगा कर जो संदेश दिया है, वह उनकी महिलाओं के साथ खड़े होने वाली इमेज और परसेप्शन को मजबूत करती है। सभी जगहों पर प्रियंका की महिलाओं के साथ इमोशनल तस्वीरें सामने आई बल्कि एक इमेज भी उसी तरीके की बनकर सामने आई।

चुनाव में इमेज और परसेप्शन के मायनेउत्तर प्रदेश में राजनीति को लंबे समय से समझने वाले जीडी शुक्ला कहते हैं कि चुनाव में इमेज और परसेप्शन बहुत मायने रखता है। और हाल के दिनों में प्रियंका गांधी की इमेज और जो परसेप्शन लोगों में बन रहा है, वह उत्तर प्रदेश की राजनीति में महिलाओं को आगे बढ़ाने वाली इमेज और परसेप्शन वाली नेता के तौर पर ही है। हालांकि शुक्ला के मुताबिक यह सभी प्रयास चुनाव जिताने में कितने महत्वपूर्ण हैं यह कहना अभी बहुत जल्दी होगा। लेकिन इतना तय है कि जमीनी स्तर पर इस तरीके के प्रयास किसी भी राजनीतिक पार्टी को चार कदम आगे बढ़ा ही देते हैं।

पॉलिटिकल इवेंट करती हैं प्रियंका गांधीउत्तर प्रदेश में प्रियंका गांधी का आक्रामक रवैया और ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंच बनाने की छवि की वजह से ही उन्हें कांग्रेस पार्टी की ओर से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के चेहरे के तौर पर पेश करने की मांग भी बढ़ती जा रही है। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने तो बाकायदा बनारस में किसान न्याय रैली से इस बात की घोषणा भी कर दी थी कि उत्तर प्रदेश में प्रियंका गांधी के नेतृत्व में बनने वाली सरकार से ही सभी जरूरतमंदों को न्याय मिलेगा। हालांकि विपक्षी दल प्रियंका गांधी के इन बयानों को महज राजनीतिक स्टंट ही करार दे रहे हैं भारतीय जनता पार्टी के नेता नीलकांत बक्शी कहते हैं कि प्रियंका गांधी महज पॉलिटिकल इवेंट ही करती हैं। बक्शी के मुताबिक जिन राज्यों में चुनाव होता है, वहां पर प्रियंका गांधी पॉलिटिकल टूरिज्म के बहाने लोगों का ध्यान आकर्षण करने का कोई न कोई बहाना ढूंढ लेती हैं। लेकिन इससे उन्हें और उनकी राजनीतिक पार्टी को कोई भी फायदा नहीं होने वाला बल्कि नुकसान ही है। वे आगे कहते हैं कि अगर कांग्रेस पार्टी को महिलाओं की इतनी चिंता है तो आज तक उन्होंने महिलाओं के लिए किया ही क्या। जहां पर कांग्रेस शासित राज्य हैं वहां पर महिलाओं की स्थिति का अंदाजा लगा सकते हैं कि कांग्रेस की कथनी और करनी में कितना फर्क है। headtopics.com

विज्ञापनआपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?हांखबर की भाषा और शीर्षक से आप संतुष्ट हैं?हांखबर के प्रस्तुतिकरण से आप संतुष्ट हैं?हांखबर में और अधिक सुधार की आवश्यकता है?

और पढो: Amar Ujala »

CDS Bipin Rawat Chopper Crash Updates : CDS जनरल बिपिन रावत सहित 14 लोगों को ले जा रहा हेलीकॉप्टर क्रैश

Army Chopper Crash Live Updates : तमिलनाडु के नीलगिरि जिले में बुधवार की दोपहर आर्मी का एक हेलीकॉप्टर क्रैश हो गया है. चीफ डिफेंस ऑफ स्टाफ जनरल बिपिन रावत भी इस चॉपर में सवार थे. जानकारी है कि उनके साथ उनकी पत्नी मधुलिका रावत सहित कई अन्य सैन्य अधिकारी थे.

Respected Sir, Please take action for making Permanent Services for COMMUNITY HEALTH OFFICER (CHO) of U.P. Sab hawabaji... Muft me kuchh naa chahiye.. mehnat se cycle chla lenge. पब्लिक को चुटिया समझे हो का।।। पहले जहां तुम्हारी सरकार है, वहाँ दे कर दिखाओ। कीमत तो आम जनता को ही चुकानी पड़ेगी ये कोनसा अपने घर से देगी

Aryan Khan की जमानत के लिए मजारों-दरगाह पर दुआओं का दौर, जमानत पर फैसला आजड्रग्स केस में आर्य़न खान की बेल को लेकर कोर्ट आज अपना फैसला सुना सकता है. आर्यन की बेल पर कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया था. आर्यन खान की बेल को लेकर मजार- दरगाह पर दुआएं मांगी जा रही हैं. आर्यन के बहाने महाराष्ट्र सरकार को घेरने वाली बीजेपी ने बेल को मुलभूत अधिकार बताया है तो बेल से पहले एक नए खुलासे से हडकंप मच गया है. इस सबूत में आर्यन की एक अभिनेत्री और कुछ ड्रग पेडलर से चैट है. आज कोर्ट 3 में से एक विकल्प चुन सकता है. आर्यन को बेल मिल सकती है या फिर फैसला तैयार ना होने की स्थिति में सुनवाई की नई तारीख मिल सकती है. अगर ऐसा हुआ तो आर्यन जेल में ही रहेंगे. आर्यन की जमानत याचिका खारिज होने की स्थिति में उनके वकील बॉम्बे हाईकोर्ट का रुख सकते हैं. इस सूरत में भी आर्यन को जेल में ही रहना होगा. ज्यादा जानकारी के लिए देखें वीडियो. पहले ड्रग लो, खरीदो बेचो और बाद मे मजारों पर चादर चढ़ाओ? 😜

UP चुनाव: प्रियंका के सिपहसालार अखिलेश की साइकिल पर सवार, कांग्रेस की नैया कैसे होगी पार?उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के दिग्गज नेता प्रियंका गांधी के 'हाथ' को पकड़कर आगे बढ़ने की बजाय छोड़कर सपा प्रमुख अखिलेश यादव की साइकिल पर सवार होते जा रहे हैं. चुनाव से ऐन पहले एक के बाद एक बड़े नेता कांग्रेस छोड़ते जा रहे हैं, जिसके चलते प्रियंका गांधी के लिए यूपी की चुनावी राह और भी मुश्किल होती जा रही है. लगता है पास्सा उल्टा पड गया। अब होगा न्याय Ab boliye priyanka ji ab apka kya hoga aap ka mahilao ka 40 %vote ne aap ko khatre mai daal diya . Ab pahle ish dikkat ko sahi kijye fir bataye

आगरा जा रहीं प्रियंका गांधी ने रास्ते में रुककर महिला के जख्म पर लगाया मरहमआगरा जा रहीं प्रियंका गांधी ने रास्ते में रुककर महिला के जख्म पर लगाया मरहम UPElections2022 UPPolice PriyankaGandhiVadra Congress UttarPradeshElections2022

LOC के दौरे पर आर्मी चीफ: गैर कश्मीरियों की हत्या के बीच सेना प्रमुख 2 दिन के जम्मू दौरे पर, व्हाइट नाइट कोर ने LOC के हालात बताएकश्मीर में गैर कश्मीरियों पर बढ़ते हमलों के बीच आर्मी चीफ जनरल मनोज मुकुंद नरवणे मंगलवार को 2 दिन के दौरे पर जम्मू पहुंचे। उन्होंने यहां LoC के फॉरवर्ड बेस में तैनात व्हाइट नाइट कोर के जवानों से मुलाकात की। इस दौरान उन्हें कोर के सैन्य अधिकारियों ने LOC पर हालात की जानकारी दी। | Army chief General M M Naravane visits forward areas along LoC in Jammu, कश्मीर में गैर कश्मीरियों पर बढ़ते हमलों के बीच आर्मी चीफ जनरल मनोज मुकुंद नरवणे मंगलवार को 2 दिन के दौरे पर जम्मू पहुंचे। उन्होंने यहां LoC के फॉरवर्ड बेस में तैनात व्हाइट नाइट कोर के जवानों से मुलाकात की। आखिर तेजीसे संख्यावृद्धि करतेइन बांग्लादेशीघुसपैठियोंको भारतीय simcards किसने दिए: ८८५८२६५२६ (यूसुफ अली), ९००५५९९२२५ (शरीफुद्दीन), ९०४४१४४५०१ (अब्दुल रहीम अली) यहदेशविरोधी भ्रष्टाचारको सिद्धकरताहै narendramodi PMOIndia AmitShah CMyogiUPLKO DrMohanBhagwat NITIAayog HMOIndia

चेन्नई: 'केवल हिंदुओं के लिए' नौकरी के विज्ञापन पर मचा हंगामा, जानें पूरा मामलाये विज्ञापन 13 अक्टूबर को कोलाथुर में अरुलमिगु कपालेश्वर आर्ट्स एंड साइंस कॉलेज के लिए कई टीचिंग और नॉन टीचिंग पदों इसमें गलत कुछ नहीं। सत्य तो यही है कि भारत केवल हिंदुओं का ही देश है। What's wrong in it? Let's identify those sympathizers who jump to the guns for the slightest of differences but keep mum on terrorist and anti national activities...Even the employers have the freedom of expression &other constitutional rights These sympathizers need treatment.

धनबाद जज डेथ केसः CBI ने दाखिल की मामले की पहली चार्जशीट, ऑटोरिक्शा ड्राइवर पर आरोप28 जुलाई को हुई हत्या के बाद जज उत्तम आनंद की पत्नी ने हत्या का मामला दर्ज कराया था. बाद में इस मामले को सीबीआई ने अपने हाथ में ले लिया. MunishPandeyy MunishPandeyy उप्र के सभीनगरोंमेंवर्षोंसे प्रतिदिन१से५ घण्टों कीअघोषितविद्युतकटौती होरहीहै। लखनऊमेंप्रतिदिन, ५/१० मिनटकरके कुल १से२ घण्टोंकीकटौती प्रतिदिनहोरहीहै। क्या इसका लक्ष्य invertors की बिक्री बढ़ाना है? narendramodi PMOIndia AmitShah CMyogiUPLKO DrMohanBhagwat NITIAayog HMOIndia