प्रियंका गांधी यूपी में महिलाओं को कांग्रेस तक लाने में कितनी सफल होंगी? - ग्राउंड रिपोर्ट - BBC News हिंदी

प्रियंका गांधी यूपी में महिलाओं को कांग्रेस तक लाने में कितनी सफल होंगी? - ग्राउंड रिपोर्ट

09-12-2021 06:07:00

प्रियंका गांधी यूपी में महिलाओं को कांग्रेस तक लाने में कितनी सफल होंगी? - ग्राउंड रिपोर्ट

कांग्रेस पार्टी की तरफ़ से उत्तर प्रदेश के अगले विधानसभा चुनावों में 40 प्रतिशत महिला उम्मीदवारों को चुनावी मैदान में उतारा जायेगा. इस क़दम का पार्टी को कितना फ़ायदा होगा?

एपिसोड्ससमाप्तपार्टी के एक सीनियर नेता सचिन नाइक कहते हैं 40 प्रतिशत महलाओं को टिकट देना एक ऐतिहासिक फ़ैसला है.वो कहते हैं, "निश्चित तौर पर हर दल की कोशिश होती है कि उसका जनाधार बढे. पार्टी ये एक ऐतिहासिक काम कर रही है कि 40 प्रतिशत महिलाओं को आरक्षण दे रही है. इससे देश की राजनीति में एक अहम बदलाव आएगा. महिलाओं की भागीदारी देश की सियासत में बढ़ेगी. इसमें हमें कठिनाई होगी लेकिन निश्चित रूप से समय के साथ इसमें हमें कामयाबी मिलेगी."

पार्टी ने इस बार यूपी विधानसभा चुनाव अकेले लड़ने का फ़ैसला किया है और सभी 403 सीटों पर अपने उमीदवार उतारने का भी निर्णय लिया है.लेकिन राजनीतिक पर्यवेक्षक कहते हैं इन कोशिशों के बावजूद पार्टी चुनाव में पिछली बार से बेहतर नहीं करेगी. 2017 के विधानसभा चुनाव में पार्टी को केवल सात सीटें हासिल हुई थीं. तो क्या पार्टी का ये क़दम सही है?

रायबरेली में कांग्रेस पार्टी के एक स्थानीय नेता आशीष द्विवेदी इसका जवाब यूँ देते हैं, "जो पूर्व के हमारे अनुभव हैं और जो हमारे सीनियर लीडर हैं, वॉलंटियर्स हैं उनके अनुभवों और विचारों के आधार पर हम लोगों ने कहीं न कहीं फ़ैसला किया है कि अगर हम पार्टी वर्कर को ही लड़ाते हैं तो बेहतर है." headtopics.com

बिहार के टीचर अब शराब तस्करों और पियक्कड़ों की करेंगे निगरानी, सरकार को देंगे गुप्त सूचना

द्विवेदी आगे कहते हैं, "हम जब गठबंधन करते हैं तो हमारा वोट शिफ़्ट होता है. जब भी हम दूसरे के साथ गठबंधन में होते हैं तो वहां का वर्कर शिफ़्ट होता है. और ऐसे में हमें अपनी ज़मीन और अपने जनाधार को वापस पाना है तो हमें गठबंधन से दूर हटना चाहिए. ख़ुद हर मुद्दे पर, हर मोर्चे पर, हर विधानसभा पर स्वयं लड़ते हुए दिखना पड़ेगा और वही हम करने जा रहे हैं."

प्रियंका गांधी स्वयं लोगों से जुड़ने के लिए प्रतिज्ञा यात्राएं कर रही हैं. पार्टी का जनाधार बढ़ाने के लिए सदस्यता अभियान राज्य भर में जारी है.सचिन नाइक कहते हैं कि कांग्रेस ने राज्य भर में एक करोड़ नए सदस्य बनाने का लक्ष्य रखा है. वो कहते हैं, "हमें जनता के बीच रिस्पांस अच्छा मिल रहा है. लाखों की संख्या में लोग पार्टी में शामिल हो रहे हैं."

लेकिन राजनीतिक पर्यवेक्षक कहते हैं इन कोशिशों के बावजूद पार्टी चुनाव में पिछली बार से बेहतर करेगी, इसकी उम्मीद बेहद कम है.यूपी में छेड़छाड़ की शिकायत करने वाले पीड़िता के पिता की हत्यापार्टी छोड़ रही हैं महिला नेतालखनऊ में वरिष्ठ पत्रकार रतन मणि के अनुसार गांधी परिवार के अलावा पार्टी में कोई ऐसा चेहरा नहीं है जो पार्टी के पैग़ाम को आम लोगों तक पहुंचा सके.

यूक्रेन संकट : राष्ट्रपति बाइडन ने दी रूस को जवाबी हमले की चेतावनी, 27 रूसी राजनयिकों को अमेरिका से निकाला

वो कहते हैं, "अफ़सोस की बात ये है कि सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा के अतिरिक्त कोई ऐसा चेहरा नहीं लगता जो पूरे प्रदेश भर में चुनाव प्रचार करके लोगों की भीड़ जुटा पाए और उनसे एक मज़बूती से अपनी बात कह सके."प्रियंका सामने आई हैं. उन्होंने ये ज़िम्मेदारी उठायी है. प्रतिज्ञा यात्रा के सहारे वो कई जगह पहुँचने की कोशिश कर रही हैं, लेकिन बहुत लंबे समय तक प्रयास करना हो और बहुत बड़े क्षेत्र में अपने आप को फैलाना हो, तो किसी भी एक व्यक्ति से इससे बहुत एक लंबे दौर तक फ़ायदा नहीं पहुँचता है." headtopics.com

हालांकि वो मानते हैं कि पार्टी को सदस्यता अभियान से फ़ायदा हो सकता है.वो कहते हैं, "इसमें कोई शक़ नहीं कि सभी सीटों पर लड़ने का जो फ़ायदा होता है कि सभी 403 चुनावी क्षेत्रों में उम्मीदवार का अपना एक दफ़्तर और वहां के आसपास के लोगों में पार्टी की चर्चा होती है. लोगों को पता चलता है कि कांग्रेस पार्टी भी चुनाव में बढ़चढ़ कर हिस्सा ले रही है."

"उत्तर प्रदेश के दूर दराज़ के ज़िलों के लोग ये अब मनाने लगे थे और शायद अभी भी मानते हों कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस पार्टी में वो ताक़त नहीं है कि सभी सीटों पर चुनाव लड़े. तो अब अगर पार्टी सभी सीटों पर लड़ती है तो तो निश्चित तौर पर ये संकेत तो जाएगा कि पार्टी हर ज़िले में अपनी उपस्थिति को मज़बूत करना चाहती है."

Bigg Boss 15: फिनाले एपिसोड में चार चांद लगाएंगे ये सितारे, रुबीना दिलैक से लेकर उर्वशी ढोलकिया तक बिखेरेंगी अपने जलवे

लेकिन एक तरफ़ कांग्रेस महिला सशक्तीकरण का नारा लगा रही है, महिलाओं को सरकारी नौकरियों में आरक्षण देने की बात कर रही है तो दूसरी तरफ़ कुछ महिला नेता पार्टी छोड़ कर जा रही हैं.अगस्त में महिला कांग्रेस अध्यक्ष सुष्मिता देव पार्टी छोड़ कर तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गईं और रायबरेली सदर चुनावी छेत्र की विधायक अदिति सिंह पिछले महीने बीजेपी में शामिल हो गईं. वो एक ऐसे क्षेत्र से विधायक हैं जहाँ की सांसद सोनिया गाँधी हैं.

मोदी सरकार के 'समर्थन' पर चीनी अख़बार हुआ फिदाअदिति सिंह उन सात कांग्रेस विधायकों में से हैं जिन्होंने 2017 विधानसभा चुनावों में मोदी लहर का मुक़ाबला कर मैदान जीता था.वो कहती हैं, "वाक़ई आपको लगता है कि जनता ऐसी चीज़ों पर विश्वास करेगी? ये जो सारी चीज़ें मुफ़्त बाटने की बात कर रहे हैं महिलाओं को - स्कूटी, गैस सिलेंडर और स्मार्टफ़ोन - अगर वाक़ई ये इन सब चीज़ों को लेकर गंभीर होते तो ये सब चीज़ें इन्होंने छत्तीसगढ़, राजस्थान या मध्यप्रदेश में भी शुरू में इनकी सरकार बनी थी या पंजाब में क्यों नहीं लागू कीं." headtopics.com

कांग्रेस के लोग इसे एक ऐतिहासिक क़दम ज़रूर मान रहे हैं लेकिन सियासी विश्लेषक इसे बहुत क्रांतिकारी क़दम नहीं मानते.कांग्रेस में महिलाओं के हौसले बुलंद हैं लेकिन शायद पार्टी में बहुत सीटें जीतने की उम्मीद नहीं नज़र आती.पार्टी के अंदर एक सोच ये भी है कि विधानसभा चुनाव में अगर इसका ख़ास फ़ायदा ना हुआ तो साल 2024 के आम चुनाव में फ़ायदा ज़रूर होगा.

और पढो: BBC News Hindi »

10तक: पश्च‍िमी यूपी की चुनावी जंग बीजेपी के ल‍िए क्यों बनी चुनौती?

चुनाव यूं तो कभी भी किसी दल के लिए हलवा नहीं होता, लेकिन 2014 के बाद देश में देखा गया कि बीजेपी राज्य दर राज्य आसानी से चुनाव जीतने लगी. यूपी में तो तीन चुनाव बीजेपी ने तमाम चुनौतियों के बाद जीत लिया. लेकिन क्या इस बार बहुत कठिन है डगर चुनाव की? इस सवाल के पीछे वजह कुछ इस प्रकार हैं. जैसे- पश्चिमी यूपी में पार्टी की रणनीति संभाल रहे अमित शाह कैराना से लेकर मथुरा तक गलियों में प्रचार कर रहे हैं. वोटर के घर-घर जाकर वोट मांग रहे हैं. दिल्ली में जाटों के साथ बैठक करते हैं. जाटों से कहते हैं कि डांटना है तो घर आ जाइए लेकिन वोट गलत जगह मत डालिए. इन सबकी नौबत क्यों आई है? और पढो >>

'PackUp'... Ladies tripund Chandan nahin lagaya karte Priyanka Gandhi Vadra इनकी सच्चाई इनके इतिहास से जुड़ी है कांग्रेस में हिंदू और मुस्लिम में भेदभाव कब तक, नूरी खान को सम्मान और गौरव दीक्षित का अपमान क्यूँ? क्यूँकि में हिंदू हूँ. दीदी ये अन्याय है में हिंदू हूँ लड़ सकता हूँ RahulGandhi priyankagandhi INCIndia AjayLalluINC KaunSandeep dgurjarofficial RohitChINC

रूप ही बदलवा दिया बहन का Wah ji...Firoz ki pooti..Antonio ki beeti...Robert ki biwi...& Mathe par ye Chandan.....Thats Modi & Yogi .effect...Aur kya chahiye... दुनिया की निगाहों में भला क्या है बुरा क्या । ये बोझ अगर दिल से उतर जाए तो अच्छा ।। ' 0 ' %% Great iron lady को नमन 🙏🙏 सियासी विश्लेषकों को दो बातों पर भी गौर करना होगा- 1)प्रियंका यूपी में योगी, अखिलेश और मायावती के बनिस्बत नया चेहरा हैं। 2)मतदाता वर्ग में सबसे गुप्त और मौन वोट महिलाओं का होता हैं। पति, ससुर, भाई, पिता या बेटा भी महिला वोट की सच्चाई नहीं जान पाता! ये दाव परिणाममूलक सिद्ध होगा।

प्रियंका गांधी वाड्रा कल जारी करेंगी कांग्रेस का महिला घोषणा पत्र, अखिलेश यादव को बताया ज्योतिषीUP Assembly Election 2022 उत्तर प्रदेश की सभी 403 सीट पर अकेले ही चुनाव लडऩे की घोषणा करने वाली प्रियंका गांधी वाड्रा ने महिलाओं के लिए 40 प्रतिशत सीट भी आरक्षित कर रखी है। बुधवार को प्रियंका गांधी वाड्रा महिलाओं के लिए पार्टी का घोषणा पत्र जारी करेंगी। priyankagandhi पहले जो घोषणा की गई हैं कांग्रेस द्वारा राज्य विधान सभा चुनाव में वो तो पूरा करें,,,, राजस्थान, पंजाब,छत्तीसगढ़ में,,, बाकी कौन भरोसा करेगा,,, इन कांग्रेस के मक्कारो का ?

BBC चाहे जितना ज़ोर लगा ले, कोंग्रेस नहीं जीतेगी । She can't become Indria Gandhi ji She can become women's leader in up महिलाओं को सुरक्षित और सबल बनाने का प्रयास मुख्यधारा में जोड़कर ही किया जा सकता हैं।। Good THANKS

प्रियंका गांधी ने फाइनल किए यूपी में कांग्रेस के 100 टिकट, 60 महिलाओं कोउत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के लिए कांग्रेस ने 100 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट फाइनल कर ली है, जिसमें से 60 महिलाओं के नाम है. यह बात कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने खुद महिला घोषणा पत्र जारी करते हुए कहा. बता दें कि प्रियंका गांधी ने यूपी में 40 फीसदी महिलाओं को टिकट देने का वादा कर रखा है. मैं साड़ी पहन कर आऊँ क्या? सुना महिलाओं को धड़ाधड़ टिकट मिलेगा।

यूपी में महिलाओं के लिए कांग्रेस का घोषणा पत्र जारी, प्रियंका ने की वादों की बौछारलखनऊ। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने बुधवार को उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर महिलाओं के लिए कांग्रेस का अलग घोषणा पत्र जारी किया है।

शर्मनाक, पाकिस्तान में चोरी के आरोप में कपड़े उतरवाकर महिलाओं को पीटाइस्लामाबाद। पाकिस्तान में एक शर्मनाक घटनाक्रम में कुछ लोगों ने चोरी का आरोप लगाकर 4 महिलाओं और 1 लड़की की कपड़े उतरवाकर सरेआम पिटाई की। सोशल मीडिया पर घटना का वीडियो वायरल हो गया।

Weather Alert: उत्तर भारत में बढ़ी ठंड, दिल्ली में चलेगी शीतलहर, कई राज्यों में हुई वर्षानई दिल्ली। एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश तट पर बना हुआ है। एक ताजा पश्चिमी विक्षोभ बुधवार से पश्चिमी हिमालय को प्रभावित करेगा। निचले स्तरों में कोमोरिन क्षेत्र के ऊपर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है। एक अन्य चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र महाराष्ट्र तट के पास पूर्व मध्य अरब सागर के ऊपर बना हुआ है।

कांग्रेस में महिलाओं की स्थिति: पिछले पांच साल में सिर्फ 9.4% महिलाओं को पार्टी ने टिकट दिया, 847 विधायकों में केवल 72 महिलाएंकांग्रेस में महिलाओं की स्थिति: पिछले पांच साल में सिर्फ 9.4% महिलाओं को पार्टी ने टिकट दिया, 847 विधायकों में केवल 72 महिलाएं UPElection2022 💸 *Invest in the Best* 💸 If you have your eyes set on the 🔮 *Workplace of Future* 🔮 We are coming up with the Best Investment Project At the most Developing Location of Lucknow ⛩ Along *Amar Shaheed Path* 🛣 Gomtinagar Ext Sec-7 For More Details Call: 9807066660 भारत की नारी शक्ति इतनी महान है कि दुनिया में उनका अपना सर्वोच्च बरकरार रखती है अब तो महिलाओं ने कांग्रेस पार्टी की टिकट लेने की जरूरत ही नहीं है क्योंकि उन्होंने अपनी हार स्वीकार नहीं करनी जो कांग्रेस पार्टी से महिला चुनाव लड़ेगी वह जीत नहीं पाएगी इसलिए कोई महिला इच्छुक नहीं है '847 विधायकों में केवल 72 महिलाएं .. 'अन्य पार्टियों की इस्थिति की भी जानकारी ,