Gst, Petroldieselprices, Petrol Diesel Gst News, Petrol Diesel Price Today, Gst Council Meeting Today

Gst, Petroldieselprices

पेट्रोल डीजल GST में आए तो 25 रुपये तक घट सकते हैं दाम, जीएसटी काउंसिल की बैठक आज

पेट्रोल-डीज़ल GST में आए, तो 25 रुपये तक घट सकते हैं दाम, GST काउंसिल की बैठक आज #GST #PetrolDieselPrices

17-09-2021 09:26:00

पेट्रोल-डीज़ल GST में आए, तो 25 रुपये तक घट सकते हैं दाम, GST काउंसिल की बैठक आज GST PetrolDieselPrices

Petrol Diesel GST News : दिल्ली में पेट्रोल की बात करें तो बिना टैक्स के दाम 45.05 रुपये प्रति लीटर है और केंद्र का एक्साइज ( Excise Duty) और राज्यों का वैट (Petrol Diesel Vat) टैक्स मिलाकर 56.29 रुपये प्रति लीटर होता है. यानी पेट्रोल की कीमत का 55.54 फीसदी उस पर टैक्स है.

नई दिल्ली: Petrol Diesel GST : पेट्रोल औऱ डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने की मांग एक बार फिर जोर पकड़ने लगी है. यूपी की राजधानी लखनऊ में जीएसटी काउंसिल (GST Council Meeting Today) की बैठक में इस पर चर्चा होगी. जीएसटी परिषद की इस बैठक के बीच पेट्रोल, डीजल पर भारी टैक्स के आंकड़े फिर चर्चा में हैं.  क्या आपको मालूम है कि पेट्रोल की वास्तविक कीमत करीब 45 रुपये है औऱ उस पर 55 रुपये के करीब टैक्स लगता है. यानी कीमत से दोगुना टैक्स आम आदमी को पेट्रोल और डीजल (Petrol-Diesel Total Tax) पर चुकाना पड़ता है. अगर पेट्रोल डीजल जीएसटी के दायरे में लाया जाए तो कीमतों में 20 से 25 रुपये प्रति लीटर की राहत मिल सकती है.

पाकिस्तान की किसी भी वर्ल्ड कप में भारत के ख़िलाफ़ पहली जीत - BBC News हिंदी IND vs PAK: टीम इंडिया को पाकिस्तान के हाथों मिली शर्मनाक हार, सोशल मीडिया पर फैंस का छलका दर्द कोहली की कप्तानी पारी की बदौलत पाकिस्तान को 152 रनों का लक्ष्य - BBC News हिंदी

यह भी पढ़ेंअगर दिल्ली में पेट्रोल की बात करें तो बिना टैक्स के दाम 45.05 रुपये प्रति लीटर है और केंद्र का एक्साइज ( Excise Duty) और राज्यों का वैट (Petrol Diesel Vat)  टैक्स मिलाकर 56.29 रुपये प्रति लीटर होता है. यानी पेट्रोल की कीमत का 55.54 फीसदी उस पर टैक्स है. वहीं डीजल का रेट (Diesel Rate Delhi) दिल्ली में 88.77 रुपये प्रति लीटर है. इसमें वास्तविक कीमत 43.98 रुपये और 44.79 रुपये प्रति लीटर का टैक्स है. यानी डीजल की कीमत का 50 फीसदी से थोड़ा ज्यादा टैक्स और सेस लगता है.

table.corona { border-top: solid 1px #ccc; border-left: solid 1px #ccc; border-right: solid 1px #ccc; } table.corona th { background-color: #f5f5f5; padding: 5px 10px; border-bottom: solid 1px #ccc; border-right: solid 1px #ccc; text-align: center; } table.corona td { border-bottom: solid 1px #ccc; border-right: solid 1px #ccc; padding: 5px 10px; text-align: center; } table.corona a{ text-decoration: none;} table.corona tr:hover a { text-decoration: none; } table.corona th:nth-child(1), table.corona td:nth-child(1) { width: 20%; text-align: left; } table.corona th:last-child, table.corona td:last-child { } @media only screen and (max-device-width: 480px) and (min-device-width: 320px) { table.corona { display: table; min-width: 280px; max-width: 100%; } table.corona th, table.corona td, table.corona th:nth-child(n+1), table.corona td:nth-child(n+1) { display: table-cell; line-height: normal; font-size:15px; } } table.corona { border-top: solid 1px #ccc; border-left: solid 1px #ccc; border-right: solid 1px #ccc; } table.corona { display: table; min-width: 280px; max-width: 100%; } केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) और राज्यों के वित्त मंत्री इस बैठक में हिस्सा लेंगे. लेकिन राज्यों की खराब माली हालत और कोरोना के कारण केंद्र की राजस्व की जरूरतों को देखते हुए इस पर फैसला मुश्किल है. अगर पेट्रोल और डीजल को सीधे जीएसटी के सबसे ज्यादा टैक्स रेट की स्लैब में भी रखा जाए तो कीमत में 20 से 30 रुपये की कमी हो सकती है. लेकिन अभी भी लग्जरी कार, तंबाकू उत्पाद समेत तमाम चीजें 28 फीसदी की टैक्स स्लैब (Highest GST slab of 28%)  में हैं, उनमें भी सरकार कई तरह के सेस (Cess) लगाती है और टैक्स रेट उत्पाद की वास्तविक कीमत के 50 फीसदी से ऊपर पहुंच जाता है. headtopics.com

ऐसे में अगर सरकार पेट्रोल और डीजल पर टैक्स के साथ सेस लगाती है तो ज्यादा राहत मिलने की उम्मीद नहीं है. हालांकि थोड़ी बहुत राहत मौजूदा दामों पर मिल सकती है. अर्थशास्त्रियों का कहना है कि पीएम मोदी (PM Modi) सरकार को राज्यों को जीएसटी के बदले घाटे की भरपाई भी करनी है, लिहाजा 28 फीसदी जीएसटी पर भी सेस लगाना जरूरी हो जाएगा.

केंद्र औऱ राज्यों की विकास परियोजनाओं और वेतन-पेंशन के बढ़ते खर्च को देखते हुए भी ऐसा करना जरूरी है.  एक पेंच यह भी है कि केंद्र पेट्रोल और डीजल की एक्साइज ड्यूटी पर जो सेस लगाता है, वो उसे राज्यों के साथ साझा नहीं करना पड़ता. जबकि जीएसटी के तहत ऐसा करना शायद संभव न हो पाए.

1 लीटर पेट्रोल का ऐसे तय होता है दामपेट्रोल पंप पर कीमत  : 101.34 /लीटरएक्साइज ड्यूटी (केंद्र)  : 32.90 /लीटरवैट (राज्यों का टैक्स)  : 23.39 /लीटरकुल टैक्स (केंद्र,राज्य)  : 56.29 /लीटरकुल टैक्स (प्रतिशत में)   : 55.54 % 

(Retail के दाम Sept 1, 2021 के हिसाब से)1 लीटर डीजल का ऐसे तय होता है दामपेट्रोल पंप पर कीमत - 88.77 एक्साइज ड्यूटी (केंद्र)  : 31.80 /लीटरवैट (राज्यों का टैक्स)  : 12.99 /लीटरकुल टैक्स (केंद्र,राज्य)  :44.79 /लीटरकुल टैक्स (प्रतिशत में)   : 50.45 %  headtopics.com

विराट कोहली की कप्तानी में वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के हाथों पहली बार हारा भारत, गौरवमयी इतिहास में लगा दाग 152 रनों के लक्ष्य के जवाब में पाकिस्तान की सधी शुरुआत - BBC News हिंदी शुरुआती झटकों के बाद संभली भारतीय टीम, कोहली क्रीज़ पर जमे - BBC News हिंदी

(Retail के दाम Sept 1, 2021 के हिसाब से)Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com(स्रोत- इंडियन ऑयल) Petrol Diesel GST NewsPetrol Diesel Price TodayGST Council Meeting Todayटिप्पणियां पढ़ें देश-विदेश की ख़बरें अब हिन्दी में (Hindi News) | कोरोनावायरस के लाइव अपडेट के लिए हमें फॉलो करें |

लाइव खबर देखें: और पढो: NDTVIndia »

वारदात: अब जेल में ही कटेगी Ram Rahim की सारी जिंदगी, तीसरी बार उम्र कैद

25 अगस्त 2017, दो साध्वियों से यौन शोषण में राम रहीम को पहली उम्र क़ैद. 17 जनवरी 2019, पत्रकार रामचंद्र छत्रपति के क़त्ल में राम रहीम को दूसरी उम्र क़ैद. और अब 18 अक्टूबर 2021, मैनेजर रंजीत सिंह के मर्डर में राम रहीम को तीसरी उम्र क़ैद. बीस साल वाली पहली उम्र क़ैद को छोड़ दें, तो बाक़ी उम्र क़ैद उम्र भर की है. 60 से ऊपर के हो चुके गुरमीत राम रहीम की बची कुची उम्र क़ायदे से अब जेल की चारदिवारी के अंदर ही गुज़रेगी. राम रहीम की सज़ाओं की फेहरिसत में नई फेहरिस्त सोमवार को जुड़ी, पंचकूला सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने डेरा सच्चा सौदा के पूर्व मैनेजर रंजीत सिंह के क़त्ल के इल्ज़ाम में राम रहीम को उम्र कैद की सज़ा दी है. देखिए वारदात का ये एपिसोड.

नही हो सकता है पेट्रोल-diseal GST में । 30 pehele bde hue aur 25 kam kroge किसी गलत फहमी में न रहना ये लोग कोई नया स्लैब बना देंगे Good ये सब खबरें जनता को बेवक़ूफ़ बनाने के लिए मोदी सरकार द्वारा मीडिया में प्लांट करवाई जा रही हैं इस हमाम में सब नंगे है। Amen जीएसटी की एक और दर लागू करने वाले हैं फिर गैस डीजल पेट्रोल पर लागू होगी GST

25 se kya hoga 50₹ tak kam hona chahiye rate. Aap to serious ho gaye. Aisa hoga nahi. Ye ek chaal hai rajya sarkaro par thikra fodne ka. Kendra sarkar jaanti hai rajya sarkar virodh karenge. दिवास्वप्न। पेट्रोल सेस लगा देंगे। 🤣

GST के दायरे में आ सकता है डीजल और पेट्रोल: 17 सितंबर को लखनऊ में GST काउंसिल की बैठक, एक देश-एक दाम की तैयारी; कई और बड़े फैसले हो सकते हैंअगले साल देश के 5 राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले केंद्र सरकार बड़ा फैसला कर सकती है। सूत्रों के मुताबिक, सरकार ने 'एक देश -एक दाम' के अंतर्गत पेट्रोल-डीजल, प्राकृतिक गैस और एविएशन टर्बाइन फ्यूल (विमान ईंधन) को GST के दायरे में लाने पर विचार शुरू किया है। 17 सितंबर को लखनऊ में GST काउंसिल की होने वाली बैठक में इस पर चर्चा हो सकती है। कोरोना महामारी के प्रकोप के बाद से GST काउंसिल की यह... | Preparations to bring diesel and petrol under the ambit of GST , may be decided in the meeting of the GST Council in Lucknow on September 17.

IF? A big one! Y be jumla h gst to bhana h up me chunav ka koi to mudaa banana h. Aane chaiye गाछे कटहर ,होठे तेल मोदी_रोजगार_दो - No Irms recruitment since 3 yrs - Not allowed In UP JE -Not allowed in Bihar JE - No railway SSE recruitment since 6 yrs - No RRB JE recruitment since 3 yrs राष्ट्रीय_बेरोजगार_दिवस NITIAayog PMOIndia AshwiniVaishnaw NationalUnemploymentDay

सोने का अंडा देने वाली मुर्गी को भी कोई काटता है क्या, कभी नहीं घटाएंगे। जीएसटी भी बढा देंगे। बहुत हुई पेट्रोल डीजल की मार अब की बार मोदी सरकार । चिल्लाने वाले अंधभक्त चूप है नया नया ज्ञान पेल रहे हैं और चौकीदार मोनीबाबा बन गया है ।😜 🤣 नही घटेंगे क्योंकि मैक्सिमम 28% gst के बाद भी सेस का ऑप्शन रह जाता है जैसे तंबाकू पे 30 से 160% सेस lga hua hai

GST Council Meeting: पेट्रोल-डीजल के दाम में कैसे हो भारी कमी? GST में लाने पर होगा विचार GST Council Meeting: वस्तु एवं सेवा कर परिषद की 17 सितंबर को लखनऊ में होने जा रही बैठक में पेट्रोल और डीजल को भी जीएसटी के दायरे में लाने पर विचार हो सकता है. अभी आंखे खुली कभी तो बेरोजगारी,बढ़ती महंगाई ,देश में बढ़ती भुखमरी का ,कभी तो मुद्दा उठाया करो ,लेकिन नही सुबह से लेकर शाम तक मोदी मोदी करते समय गुजर जाता है । ये बस विचार ही करेगे। यदि 80rs के करीब हो जाता है पेट्रोल और डीसील भी और GST के अंदर आ जाये तो , मुझे लगता है कांग्रेस भी बोलने लगेगी अगली बार BJP सरकार 😂। RohitSe78239250

GST: जीएसटी परिषद की बैठक आज, दायरे में आ सकते हैं पेट्रोल-डीजल, कोरोना उपचार से जुड़ी दवाओं पर राहत संभव GST : जीएसटी परिषद की बैठक आज, दायरे में आ सकते हैं पेट्रोल-डीजल, कोरोना उपचार से जुड़ी दवाओं पर राहत संभव GST GST Council GST CouncilMeeting FinMinIndia nsitharaman Petrol Diesel Coronavirus

पेट्रोल-डीजल के रेट घटेंगे? GST काउंसिल की बैठक में आज इन अहम मसलों पर होगी बात GST council meeting: वस्तु एवं सेवा कर कौंसिल की अहम बैठक आज यानी शुक्रवार को सुबह 11 बजे से लखनऊ में होने जा रही है. आज की बैठक अहम इसलिए है क्योंकि इसमें इस प्रस्ताव पर विचार किया जाएगा कि पेट्रोल एवं डीजल को जीएसटी के दायरे में रखा जाए या नहीं. Rahulshrivstv Yes yes all should come under GST … Do it !!! Rahulshrivstv Make sure that all views are made public and then it's clear that who wants to reduce petrol and diesel prices understand the problem, opposition has to do politics Rahulshrivstv कुछ नहीं होने वाला सस्ता, ज्यादातर राज्य इसका विरोध करेंगे चाहे बीजेपी शासित हों या कांग्रेस या कोई अन्य। जनता को लूटने का मौका कोई नहीं छोड़ते

भास्कर एक्सप्लेनर: GST काउंसिल कर सकती है पेट्रोल-डीजल को GST के दायरे में लाने पर विचार, ऐसा हुआ तो आपको कितना फायदा? सरकार को कितना नुकसान? जानें सबकुछकल लखनऊ में GST काउंसिल की मीटिंग है। कयास लगाए जा रहे हैं कि इस मीटिंग में पेट्रोलियम प्रोडक्ट्स को GST के दायरे में लाए जाने पर विचार किया जा सकता है। कोरोना महामारी के बाद GST काउंसिल की यह पहली फिजिकल बैठक है। GST काउंसिल की इस 45वीं बैठक की अध्यक्षता वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण करेंगी। | Petroleum Products (Petrol Diesel) Under Gst ; GST के दायरे में आने से केंद्र, राज्य और जनता पर क्या असर होगा? अगर पेट्रोलियम प्रोडक्ट GST के दायरे में आते हैं, तो किस तरह की व्यवस्था अपनाई जा सकती है? Kuchh nahi hone bala he ye sab jumle hen aur kuchh bhi nahi jo fas gaya so gaya विचार तो कई बार हुआ लेकिन अमल कभी नहीं। Petrol-Diesel under GST 😅😅

GST के दायरे में आने पर 25 रुपए घट सकते हैं पेट्रोल-डीजल के दाम | petrol dieselनई दिल्ली। पेट्रोल के दामों में आग लगी हुई है और ये आज कई राज्यों में 100 का आकंड़ा पार कर चुके हैं। अगर पेट्रोल डीजल को जीएसटी के दायरे में लाया जाता है तो आपकी जेब भारी होगी और महंगाई का बोझ हल्का होगा। अब ये उम्मीद फिर जग रही है, क्योंकि आज लखनऊ में जीएसटी काउंसिल की बैठक सुबह 11 बजे वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण करेंगी। सभी राज्यों के वित्तमंत्री भी इसमें शामिल होंगे। जीएसटी के दायरे में आने पर पेट्रोल-डीजल के दाम 25 रुपए घट सकते हैं।