Pegasussnoopgate, Supremecourtofındia, Spyware, Supreme Court, Pegasus Spyware Case, Independent Court Monitored Probe

Pegasussnoopgate, Supremecourtofındia

पेगासस विवाद की जांच होगी: सुप्रीम कोर्ट ने एक्सपर्ट कमेटी बनाई, रिटायर्ड जस्टिस की निगरानी में काम करेगी; 8 हफ्ते बाद फिर सुनवाई होगी

पेगासस विवाद की जांच होगी: सुप्रीम कोर्ट ने एक्सपर्ट कमेटी बनाई, रिटायर्ड जस्टिस की निगरानी में काम करेगी; 8 हफ्ते बाद फिर सुनवाई होगी #PegasusSnoopgate #SupremeCourtofIndia #Spyware

27-10-2021 09:00:00

पेगासस विवाद की जांच होगी: सुप्रीम कोर्ट ने एक्सपर्ट कमेटी बनाई, रिटायर्ड जस्टिस की निगरानी में काम करेगी; 8 हफ्ते बाद फिर सुनवाई होगी PegasusSnoopgate SupremeCourtofIndia Spyware

पेगासस जासूसी मामले की जांच करवाने की याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट ने आज फैसला सुना दिया है। कोर्ट ने इस मामले की जांच के लिए एक्सपर्ट कमेटी का गठन किया है, जो सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जस्टिस आर वी रवींद्रन की अध्यक्षता में काम करेगी। कोर्ट ने इस कमेटी से कहा है कि पेगासस से जुड़े आरोपों की तेजी से जांच कर रिपोर्ट सौंपे। अब 8 हफ्ते बाद फिर इस मामले में सुनवाई की जाएगी। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि देश... | Supreme Court to pronounce order judgment in Pegasus spyware case today

पेगासस विवाद की जांच होगी:सुप्रीम कोर्ट ने एक्सपर्ट कमेटी बनाई, रिटायर्ड जस्टिस की निगरानी में काम करेगी; 8 हफ्ते बाद फिर सुनवाई होगीनई दिल्लीकुछ ही क्षण पहलेकॉपी लिंकपेगासस जासूसी मामले की जांच करवाने की याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट ने आज फैसला सुना दिया है। कोर्ट ने इस मामले की जांच के लिए एक्सपर्ट कमेटी का गठन किया है, जो सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जस्टिस आर वी रवींद्रन की अध्यक्षता में काम करेगी। कोर्ट ने इस कमेटी से कहा है कि पेगासस से जुड़े आरोपों की तेजी से जांच कर रिपोर्ट सौंपे। अब 8 हफ्ते बाद फिर इस मामले में सुनवाई की जाएगी। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि देश के हर नागरिक की निजता की रक्षा होनी चाहिए।

एप्पल का पेगासस के ख़िलाफ़ अदालत जाना भारत सरकार के लिए शर्मिंदगी का सबब बन सकता है मन की बात LIVE: मोदी बोले- मुझे सत्ता में रहने का आशीर्वाद मत दीजिए, मैं हमेशा सेवा में जुटा रहना चाहता हूं त्रिपुरा नगर निकाय चुनावों में बीजेपी का दबदबा, टीएमसी बना मुख्य विपक्षी दल - BBC Hindi

पेगासस मामले की 3 सदस्यीय जांच कमेटी में पूर्व IPS अफसर आलोक जोशी और इंटरनेशनल ऑर्गेनाइजेशन ऑफ स्टैंडर्डाइजेशन सब-कमेटी के चेयरमैन डॉ. संदीप ओबेरॉय भी शामिल किए गए हैं। इसके साथ ही तीन टेक्निकल टेक्निकल कमेटी भी बनाई गई है। इसमें साइबर सिक्योरिटी और डिजिटल फोरेंसिंक के प्रोफेसर डॉ. नवीन कुमार चौधरी, इंजीनियरिंग के प्रोफेसर डॉ. प्रभाकरन पी और कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. अश्विन अनिल गुमस्ते के नाम हैं।

बता दें पेगासस मामले में कई पत्रकारों और एक्टिविस्ट ने अर्जियां दायर की थीं। इनकी मांग थी कि सुप्रीम कोर्ट के जज की निगरानी में जांच करवाई जाए। पिटीशनर्स ने ये भी कहा था कि मिलिट्री ग्रेड के स्पाइवेयर से जासूसी करना निजता के अधिकार का उल्लंघन है। पत्रकारों, डॉक्टर्स, वकील, एक्टिविस्ट, मंत्रियों और विपक्षी दलों के नेताओं के फोन हैक करना बोलने की आजादी के अधिकार से समझौता करना है। headtopics.com

पेगासस विवाद क्या है?खोजी पत्रकारों के अंतरराष्ट्रीय ग्रुप का दावा है कि इजराइली कंपनी NSO के जासूसी सॉफ्टवेयर पेगासस से 10 देशों में 50 हजार लोगों की जासूसी हुई। भारत में भी 300 नाम सामने आए हैं, जिनके फोन की निगरानी की गई। इनमें सरकार में शामिल मंत्री, विपक्ष के नेता, पत्रकार, वकील, जज, कारोबारी, अफसर, वैज्ञानिक और एक्टिविस्ट शामिल हैं।

पेगासस काम कैसे करता है?साइबर सिक्योरिटी रिसर्च ग्रुप सिटीजन लैब के मुताबिक, किसी डिवाइस में पेगासस को इंस्टॉल करने के लिए हैकर अलग-अलग तरीके अपनाते हैं। एक तरीका ये है कि टारगेट डिवाइस पर मैसेज के जरिए एक “एक्सप्लॉइट लिंक” भेजी जाती है। जैसे ही यूजर इस लिंक पर क्लिक करता है, पेगासस अपने आप फोन में इंस्टॉल हो जाता है।

2019 में जब वॉट्सऐप के जरिए डिवाइसेस में पेगासस इंस्टॉल किया गया था तब हैकर्स ने अलग तरीका अपनाया था। उस समय हैकर्स ने व्हाट्सएप के वीडियो कॉल फीचर में एक कमी (बग) का फायदा उठाया था। हैकर्स ने फर्जी व्हाट्सऐप अकाउंट के जरिए टारगेट फोन पर वीडियो कॉल किए थे। इसी दौरान एक कोड के जरिए पेगासस को फोन में इंस्टॉल कर दिया गया था।

और पढो: Dainik Bhaskar »

छात्रों से मिले 51 हजार बिजनेस आइडिया, देखें Business Blasters Programme पर क्या बोले Sisodia

दिल्ली सरकार की नई योजना स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों में उद्यमी एवं व्यावसायिक क्षमता को विकसित करने वाले बिजनेस ब्लास्टर्स प्रोग्राम को लेकर दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने आजतक से खास बातचीत की है. इस दौरान उन्होंने बताया कि इस कार्यक्रम में छात्र बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं और कई तरह के अनूठे आइडिया दे रहे हैं. इसकी सफलता को देखते हुए दिल्ली सरकार ने भविष्य में प्राइवेट स्कूलों में पढ़ने वाले छात्रों को भी इस प्रोग्राम से जोड़ने की योजना बनाई है. साथ में दिल्ली सरकार के कॉलेजों में भी प्रोग्राम को ले जाने की तैयारी है. देखिए ये वीडियो.

If Mobile phones can be hacked by MoSha through Pegasus spyware ? Do you really think they would not hack EVMs to win elections ? ModiRuiningFarmersFuture नहीं_चाहिए_डरपोक_विपक्ष

क्रूज़ ड्रग्स मामला: रिश्वत मामले में एनसीबी ने अपने अधिकारी समीर वानखेड़े की जांच शुरू कीमुंबई क्रूज़ ड्रग्स मामले में स्वतंत्र गवाह प्रभाकर सैल ने दावा किया हैं कि अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन ख़ान को छोड़ने के लिए एनसीबी की मुंबई क्षेत्रीय इकाई के निदेशक समीर वानखेड़े और कुछ अधिकारियों द्वारा 25 करोड़ रुपये की मांग की गई थी. एनसीबी और समीर वानखेड़े ने इन आरोपों के ख़िलाफ़ अदालत का रुख़ किया है. शिकारी खुद यहाँ शिकार हो गया Bollywood valo ko bachane ki kosis..... bina post se hataye kun si janch hogi?

मुंबई ड्रग्स मामलाः समीर वानखेड़े पर लगे आरोपों पर एनसीबी ने शुरू की जांच - BBC Hindiमुंबई ड्रग पार्टी मामले की जांच कर रहे एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े पर लग रहे आरोपों के बीच एनसीबी ने कहा है कि सतर्कता विभाग मामले की जांच करेगा. बेहद ही शर्म नाक बात है की आज उस इंसान को अपने ही देश के लोग उंगली उठा रहे है जिसने आने वाले टाइम के लिये नशे को बंद करने के लिए आवाज़ उठायी और कानूनी तरीके से काम किया पद से निलंबित और गिरफ्तार कर के जांच किया जाए नहीं तो सबूतों से छेड़छाड़ और गवाहों पर दबाव बनाएंगे Ho Dudh Malaai Kukkar Shukkar, Ghar Ger Berger Sherger Oye Tu Hi Collector, Tu Hi Commisioner, Fir Bis Aata Ander Oye Oye Lucky Lucky Oye, O Lucky Oye

मोदी ने की 'पीएम आयुष्मान भारत हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर मिशन' की शुरुआतवाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के वाराणसी में पीएम आयुष्मान भारत स्वास्थ्य अवसंरचना मिशन (Prime Minister Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana) का शुभारंभ किया। इस दौरान उनके साथ राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहे।

यूपी पुलिस ने कट्टर हिंदुत्ववादी नेता यति नरसिंहानंद पर ग़ुंडा एक्ट लगाने की प्रक्रिया शुरू कीकट्टर हिंदुत्ववादी नेता यति नरसिंहानंद ग़ाज़ियाबाद स्थित डासना देवी मंदिर के महंत हैं. वह नरसिंहानंद अपनी मुस्लिम विरोधी टिप्पणियों को लेकर चर्चा में रहते हैं. इस महीने की शुरुआत में उन्होंने आरोप लगाया था कि एक मुस्लिम लड़के को उनकी जासूसी के लिए भेजा गया था. इसी साल मार्च में डासना मंदिर में एक मुस्लिम लड़के के पानी पीने लेने से उसकी पिटाई की गई थी. जिस शख़्स ने लड़के को पीटा था, नरसिंहानंद ने उसका समर्थन किया था. Jab tak election aayega fir kuch aur NSA UAPA ओर लोकतांत्रिक देश का खुला आतंकवादी का टैग लगाओ ओर ये हैं भी जेल में डालो इसे

राकेश टिकैत ने कहा, सरकार ने बात नहीं मानी तो करेंगे सर्दियों की तैयारीआंदोलन को लेकर भारतीय किसान यूनियन नेता राकेश टिकैत ने कहा कि सरकार की तरफ से बातचीत का हम इंतजार कर रहे हैं। सरकार बात करे, हम भी अपने घर जाएं।

Google से खोजी बच्ची की हत्या की तरकीब, सर्च हिस्ट्री ने खोल दी पोल!शख्स के मोबाइल फोन पर 'बच्ची को जहर कैसे दें' और 'नवजात शिशु को कैसे मारें' जैसी चीजें गूगल सर्च हिस्ट्री में पाई गई. इसी के आधार पुलिस का शक और भी पुख्ता हो गया कि उसने बच्चे को मारने की तरकीब गूगल पर सर्च की थी.