टोक्यो ओलंपिक, टोक्यो ओलंपिक 2020, टोक्यो ओलंपिक 2021, टोक्यो ओलंपिक गेम्स, टोक्यो ओलंपिक गेम्स मेडल, Tokyo Olympics, Tokyo Olympics 2020, Tokyo Olympics 2020 News, Tokyo Olympics News, Tokyo Olympics Medals

टोक्यो ओलंपिक, टोक्यो ओलंपिक 2020

पुराने मोबाइल फोन और लैपटॉप से बने हैं Tokyo Olympics 2020 में मिलने वाले मेडल

पुराने मोबाइल फोन और लैपटॉप से बने हैं Tokyo Olympics 2020 में मिलने वाले मेडल

28-07-2021 17:54:00

पुराने मोबाइल फोन और लैपटॉप से बने हैं Tokyo Olympics 2020 में मिलने वाले मेडल

Tokyo 2020 Medal Project के लिए छोटे इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेस का कलेक्शन रविवार, 31 मार्च 2019 को बंद हुआ था। मेडल डिजाइन की घोषणा 2019 की गर्मियों में की गई थी।

अपडेटेड: 28 जुलाई 2021 20:23 ISTTokyo Olympics 2020 शुरू हो चुके हैं और 8 अगस्त, 2021 तक चलेंगेख़ास बातेंTokyo Olympics में मिलने वाले मेडल बने हैं रिसाइकल इलेक्ट्रॉनिक्स से2017 से 2019 के बीच लगभग 5,000 मेडल बनाने के लिए शुरू हुआ था यह अभियान1,621 नगर पालिकाओं ने मिलकर लगभग 78,985 टन सामान एकत्रित किया

US दौरे पर PM मोदी, अब होगा आतंक पर वार! देखें हल्ला बोल आकाशवाणी के रामानुज प्रसाद सिंह का निधन, 86 साल की उम्र में ली आखिरी सांस कार्टून: इस ड्रग्स में वो बॉलीवुड वाली बात कहाँ? - BBC News हिंदी

टोक्यो में ओलंपिक गेम्स (Tokyo Olympic Games) चल रहे हैं और भारत समेत दुनिया भर के देशों के महारथी इस खोलों के महाकुंभ में अपने हुनर का परचम लहरा रहे हैं। ओलंपिक गेम्स हर 2 साल में विभिन्न देशों में आयोजित किए जाते हैं और इनके लिए अलग लोगो (Logo), अलग मैस्कॉट और मेडल डिज़ाइन होते हैं। क्या आप जानते हैं टोक्यो ओलंपिक के लिए तैयार किए गए मेडल (पदक) अपने में बेहद यूनिक हैं। अभी तक आपने सुना होगा कि प्रतियोगिताओं में मिलने वाले मेडल गोल्ड, सिल्वर और ब्रॉन्ज़ धातु के बने होते हैं, लेकिन आप यह जानकर हैरान हो जाएंगे कि टोक्यो ओलंपिक में इन मेडल को पुराने इलेक्ट्रॉनिक्स को रिसाइकिल करके बनाया गया है।

Tokyo Olympic कीवेबसाइटपर मौजूद जानकारी के अनुसार, ऐसा ओलंपिक के इतिहास में पहली बार हुआ है कि विजेताओं को मिलने वाले मेडल्स को शुद्ध सोने, चांदी या ब्रॉन्ज़ से नहीं, बल्कि पुराने इलेक्ट्रॉनिक्स, जैसे कि मोबाइल फोन, लैपटॉप आदि को रिसाइकिल करके बनाया गया है। प्रभावित करने वाली बात यह है कि देश में इस प्रोजेक्ट (Tokyo 2020 Medal Project) के लिए काम 2017 से शुरू हो गया था।  headtopics.com

अप्रैल 2017 से मार्च 2019 के बीच लगभग 5,000 गोल्ड, सिल्वर और ब्रॉन्ज़ मेडल बनाने के लिए आवश्यक 100 प्रतिशत धातुएं पूरे जापान के लोगों द्वारा योगदान किए गए छोटे इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस से निकाली गईं। टोक्यो 2020 गेम्स के दौरान एथलीट्स को दिया जाने वाला हर मेडल रिसाइकिल धातुओं से बनाया गया है।

ब्लॉगके अनुसार, जापान की 1,621 नगर पालिकाओं ने मिलकर लगभग 78,985 टन सामान एकत्रित किया, जिसमें मोबाइल फोन और कुछ अन्य छोटे इलेक्ट्रॉनिक्स शामिल थे। इसके अलावा, पूरे जापान में मौजूद NTT Docomo रिटेल स्टोर्स ने लगभग 6.21 मिलियन (62.1 लाख) फोन एकत्रित किए। इन डिवाइस से लगभग 32 किलोग्राम सोना, 3,500 किलोग्राम सिल्वर और 2,200 किलोग्राम ब्रॉन्ज़ निकाला गया। इसके बाद, इन सभी मेटल को पिघलाकर मेडल बनाए गए।

और पढो: NDTVIndia »

गुजरात में सियासी भूचाल, कौन होगा अगला मुख्यमंत्री? देखें दंगल में बड़ी बहस

गुजरात में शनिवार को बड़ा सियासी उलटफेर हुआ है. विजय रुपाणी (Vijay Rupani) ने मुख्यमंत्री (Chief Minister) के पद से इस्तीफा (Resign) दे दिया. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और पार्टी आलाकमान को आभार प्रकट किया. कुछ देर पहले ही रुपाणी ने राज्यपाल आचार्य देवव्रत से मुलाकात करते हुए उन्हें इस्तीफा सौंप दिया. गुजरात के मुख्यमंत्री पद से विजय रुपाणी के इस्तीफा देने के बाद अब यह सवाल उठने लगा है कि राज्य का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा? देखें दंगल में बड़ी बहस.

Political parties like bjp ycp tdp janasena and trs using more powerful tools than Pegasus in Andhra Pradesh from somany years. All tv channels of Andhra Pradesh and Telangana are using more powerful tools than Pegasus. All they able to see a person very clearly every second. 😂😂😂 एनडीटीवी fake news को एसे promote मत करो isme लिख rkha h 2 साल में Olympic आयोजित होते हैं 2 नहीं 4 साल में होते हैं पहली बार गोल्ड मेडल अलग धातु का अरे कभी किसी games में नहीं बना gold medals gold ka

असम-मिज़ोरम पर न दंगल हुआ, न किसी ने हल्ला बोला, न ही आर-पार हुआ और न तो भारत ने ही पूछा या किसी और न ही किसी और तथाकथित राष्ट्रवादी पत्रकार या राष्ट्रवादी चैनेल ने इस गम्भीर मुद्दे पर चर्चा करी। क्या असम-मिज़ोरम हमारे देश के प्रांत नहीं हैं? क्या इससे पहले कभी ऐसी हिंसा सुनी है? Japan and it's recycling things a brand it in itself

p_mamta03 k news fast hain 😂👍 Wo kese 🤔🤔🤔

Tokyo Olympics 2020 में पांचवें दिन ऐसा है भारत का शेड्यूल Tokyo Olympics 2020 में भारत को पांचवें दिन कई प्रतिस्पर्धाओं में भाग लेना है। हालांकि निशानेबाजी पर सभी की नजरें होंगी क्योंकि मिक्स्ड टीम कल पदक जीत सकती है। हालांकि इसके लिए पहले मिक्स्ड टीम को क्वालीफाई करना होगा।

Tokyo Olympics: अंतिम 8 में पहुंची दीपिका कुमारी, मेडल जीतने के बेहद करीबभारत की स्टार महिला तीरंदाज दीपिका कुमारी ने बुधवार को टोक्यो ओलंपिक में व्यक्तिगत स्पर्धा के तीसरे दौर में जगह बना ली है। दूसरे दौर में दीपिका ने अमेरिका की जेनिफर फर्नांडेज को कड़े मुकाबले में 6-4 से मात दी। इस जीत के साथ ही उन्होंने तीसरे दौरे में जगह बनाई।

Tokyo Olympics Live: अंतिम 16 में हारे तीरंदाज प्रवीण जाधव, कुछ देर में दीपिका का मुकाबला टोक्यो ओलंपिक का आज छठवां दिन है. आज के दिन भारत के कई बड़े खिलाड़ियों के मुकाबले खेले जाने हैं. बुधवार को भारत का पहला ही मैच महिला हॉकी टीम का है. इसके बाद बैडमिंटन में पीवी सिंधु, बी. साईं प्रणित, निशानेबाजी में प्रवीण जाधव और दीपिका कुमारी के मुकाबले होनें हैं. सबसे ज्यादा नजर पीवी सिंधु पर रहेगी.

Tokyo Olympics: हॉकी में भारतीय महिला टीम ने किया निराश, ओलंपिक में लगातार तीसरा मैच हारी Tokyo Olympics : हॉकी में भारतीय महिला टीम ने किया निराश, ओलंपिक में लगातार तीसरा मैच हारी TokyoOlympics HockeyIndia

Tokyo Olympics: शूटिंग में निराशाजनक प्रदर्शन, Hockey में India की जबर्दस्त वापसी टोक्यो ओलंपिक का आज 5वां दिन है. भारत के लिए दिन की शुरुआत निशानेबाजी से हुई. 10 मीटर एयर पिस्टल के क्वालिफिकेशन राउंड में भारत की ओर से सौरभ चौधरी-मनु भाकर और अभिषेक वर्मा-यशस्विनी देसवाल की जोड़ी उतरी थी. पहले राउंड में टॉप पर रहने वाली मनु-सौरभ की जोड़ी दूसरे राउंड में बाहर हो गई. वहीं, अभिषेक और यशस्विनी पहले राउंड में ही बाहर हो गए थे. लेकिन भारतीय पुरुष हॉकी टीम जीत की राह पर लौट आई है. मंगलवार को पूल-ए के अपने तीसरे मुकाबले में स्पेन को 3-0 से मात दी. ज्यादा जानकारी के लिए देखें वीडियो.

India Smart Cities Award 2020: UP को इंडिया स्मार्ट सिटीज अवार्ड-2020 में पहला स्थान, दिख रहा Yogi Adityanath सरकार का कामIndia Smart Cities Award 2020 योगी आदित्यनाथ सरकार ने महामारी पर नियंत्रण करने के साथ विकास के अन्य कार्यों को भी जारी रखा। गरीब किसान व मजदूरों के साथ दिहाड़ी पर काम कर रहे लोगों के हितों का ध्यान रखने वाली योगी आदित्यनाथ सरकार का काम दिख भी रहा है। myogiadityanath स्मार्ट सिटी एक झलक। सबका साथ सबका विकस सबका विश्वास myogiadityanath भांड मीडिया अपने आप किसी को भी न.1 स्थान दे देती है, जनता का पिछवाड़ा लाल कर दिया है और साले अपने आप को न.1 बताते हैं, और सहकारिता विभाग बदायूं का हर अधिकारी अपने आप को डीएम समझता है, किसी पर भी बिना आरोप के कार्यवाही कर देता है,9716161675 myogiadityanath हां दिख रहा है।