पीएम मोदी और अमित शाह के ख़िलाफ़ सुप्रीम कोर्ट में अवमानना याचिका, मगर क्यों? - BBC News हिंदी

पीएम मोदी और अमित शाह के ख़िलाफ़ सुप्रीम कोर्ट में अवमानना याचिका, मगर क्यों?- प्रेस रिव्यू

31-07-2021 05:47:00

पीएम मोदी और अमित शाह के ख़िलाफ़ सुप्रीम कोर्ट में अवमानना याचिका, मगर क्यों?- प्रेस रिव्यू

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के ख़िलाफ़ सुप्रीम कोर्ट में याचिका, पेगासस स्पाईवेयर बनाने वाली कंपनी एनएसओ ने कई देशों की सेवाओं पर लगाई अस्थायी रोक. आज के अख़बारों की सुर्खियाँ.

समाप्तयाचिका में निवेदन किया गया है कि इस मामले की जाँच कम से कम पाँच जजों वाली सुप्रीम कोर्ट की बेंच को करना चाहिए वरना संवैधानिक संकट पैदा हो सकता है और लोगों का देश में भरोसा ख़त्म हो सकता है.दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार भी अस्थाना की नियुक्ति का विरोध कर रही है.

Sonu Sood की बढ़ीं मुश्किलें, IT विभाग ने किया 20 करोड़ की टैक्स चोरी और फर्जी लेनदेन का दावा RCB की भी कप्तानी छोड़ सकते हैं विराट कोहली..? कोच ने दिया बड़ा बयान पंजाब कांग्रेस में घमासान, आज शाम सिद्धू और कैप्टन पर फ़ैसला? - BBC News हिंदी

इमेज स्रोत,Getty Imagesकौन हैं राकेश अस्थाना?कुछ दिनों पहले केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राकेश अस्थाना को दिल्ली पुलिस का कमिश्नर नियुक्त करने का आदेश जारी किया था. यह उनकी पाँचवीं नियुक्ति थी. वो भी सेवानिवृत होने से सिर्फ़ चार दिनों पहले.राकेश अस्थाना को सिर्फ़ तीन सालों के अंतराल में ही पाँच अलग-अलग पदों पर नियुक्ति दी गई है. प्रशासनिक सेवा के हलकों में इसे अप्रत्याशित ही माना जा रहा है.

अस्थाना एक समय में सीबीआई में स्पेशल डायरेक्टर के पद पर काम कर चुके हैं. इस दौरान वो सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा के साथ हुए विवाद की वजह से चर्चा में आए थे.जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) से पढ़ाई करने वाले अस्थाना को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह के क़रीबी अधिकारियों में से एक माना जाता है. headtopics.com

जब केंद्र में नरेंद्र मोदी सरकार बनी थी तो गुजरात कैडर के राकेश अस्थाना को 20 अन्य आला अफ़सरों के साथ गुजरात से दिल्ली बुलाया गया था.राकेश अस्थाना ने अपने अब तक के करियर में उन अहम मामलों की जांच की है जो कि वर्तमान राजनीतिक समीकरणों के लिहाज से ख़ास माने जाते हैं. जैसे- गोधरा कांड की जाँच, चारा घोटाला, अहमदाबाद बम धमाका और आसाराम बापू के ख़िलाफ़ जांच.

यह भी पढ़ें:इमेज स्रोत,Getty Imagesपेगासस बनाने वाली कंपनी ने कई देशों की सेवा पर लगाई अस्थायी रोकविवादित स्पाईवेयर पेगासस बनाने वाली इसराइली कंपनी एनएसओ ने दुनिया भर में कई देशों के सरकारों को दी जाने वाली अपनी सेवा अस्थायी रूप से रोक दी है.अंग्रेज़ी अख़बार टाइम्स ऑफ़ इंडिया ने अपनी

रिपोर्टमें वॉशिंगटन की ग़ैर सरकारी संस्था एनपीआर के हवाले से यह जानकारी दी है.एनएसओ का कहना है कि उसने पेगासस के कथित और संभावित दुरुपयोग की रिपोर्ट्स आने के बाद उनकी जाँच के मद्देनज़र यह कदम उठाया है. यह जानकारी कंपनी के एक सूत्र ने एनपीआर को नाम ज़ाहिर न होने की शर्त पर दी है.

सूत्र ने बताया, "हो सकता है कि हमारे कुछ ग्राहकों की सेवाएं अस्थायी रूप से रोक दी गई हों.'' वहीं, एनएसओ ने पेगासस मामले में सार्वजनिक रूप से मीडिया के सवालों का जवाब देना बंद कर दिया है.इससे पहले इसराइली सरकार की एजेंसियों ने 'सिक्योरिटी ब्रीच' (सुरक्षा से समझौता) की 'जाँच शुरू करने के लिए' कंपनी के कुछ दफ़्तरों पर छापे भी मारे थे. headtopics.com

UP Tak Baithak: बीजेपी सांसद रीता बहुगुणा बोलीं- प्रियंका गांधी अच्छी नेता, लेकिन उनका असर नहीं UP Tak बैठक: 4.50 लाख को सरकारी नौकरी-3 लाख करोड़ का निवेश, CM योगी ने किए ये बड़े दावे न्यूज़ीलैंड का यह फ़ैसला क्या पाकिस्तान के लिए अपमान है? - BBC News हिंदी

एनएसओ का कहना है कि दुनिया के 40 देशों में इसके 60 ग्राहक हैं और ये सभी ख़ुफ़िया एजेंसियाँ, सरकारी अधिकारी और सेना के अफ़सर हैं. कंपनी दावा करती रही है कि उसका मक़सद आतंकवाद और अपराधों से लड़ने में सरकारों की मदद करना है न कि किसी व्यक्ति या संस्था विशेष की जासूसी करवाना.

कंपनी ने दुनिया भर में पत्रकारों और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं की जासूसी की आशंका पर कहा था कि स्पाईवेयर को कैसे इस्तेमाल करना है, इसका फ़ैसला सरकारें लेती हैं और इसके दुरुपयोग की उसकी कोई ज़िम्मेदारी नहीं है.खोजी पत्रकारों की एक टीम ने अपनी रिपोर्ट में दुनिया भर के उन नेताओं, पत्रकारों और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं की एक लिस्ट जारी की थी जिनके फ़ोन को या तो पेगासस स्पाईवेयर के ज़रिए जासूसी का निशाना बनाया गया था या निशाना बनाए जाने की आशंका था.

इस लिस्ट में फ़्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों से लेकर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान ख़ान तक का नाम था.भारत में केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव और प्रह्लाद जोशी, कांग्रेस नेता राहुल गांधी, ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी, मशहूर वायरॉलजिस्ट डॉक्टर गगनदीप कांग, सुप्रीम कोर्ट के पूर्व मुख्य न्यायाधीश जस्टिस रंजन गोगोई पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली महिला समेत कई पत्रकारों और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं के नाम थे.

हालाँकि केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने इन रिपोर्टों को 'अंतरराष्ट्रीय साज़िश' बताते हुए इन्हें ख़ारिज कर दिया था.यह भी पढ़ें और पढो: BBC News Hindi »

गुजरात में सियासी भूचाल, कौन होगा अगला मुख्यमंत्री? देखें दंगल में बड़ी बहस

गुजरात में शनिवार को बड़ा सियासी उलटफेर हुआ है. विजय रुपाणी (Vijay Rupani) ने मुख्यमंत्री (Chief Minister) के पद से इस्तीफा (Resign) दे दिया. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और पार्टी आलाकमान को आभार प्रकट किया. कुछ देर पहले ही रुपाणी ने राज्यपाल आचार्य देवव्रत से मुलाकात करते हुए उन्हें इस्तीफा सौंप दिया. गुजरात के मुख्यमंत्री पद से विजय रुपाणी के इस्तीफा देने के बाद अब यह सवाल उठने लगा है कि राज्य का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा? देखें दंगल में बड़ी बहस.

इनके आर्दश पहले क्रांतिकारियों का जासूसी करते थे आज देश के जाने-माने लोगों का जासूसी करा रहे हैं। जनता की प्राइवेसी के साथ खिलवाड़ करने वालों को जेल में होना चाहिए Koi bat nhi Supreme Court k judge Rajyasabha seat k badale kisi bhi tarah ka case ko Gundo k favour me de sakate hain. क्योकि काम कनून से नागरिक व्यथा से दूर केवल स्वलाभ मे करते! और मनोवैज्ञानिकी से भारत जन छलते 15 अगस्त को कैसे छलूं ? चल रही मदद दो प्रचार - आकर्षक ठगी!

बागड़बिल्ले गैंग सक्रिय!!!? Swarno k sth bhedbhaav krna bnd kro india k pm swarno ko unke adhikaro se kyu vanchit kia ja rha h ya to desh se nikalo ya fr brabri k moka do मोदी-शाह की स्वेच्छाचारिता से मुल्क अवगत हो चूका हैं अब सवाल हैं क्या न्यायपालिका सक्षम हैं इंसाफ करनें हेतु ? जासूसी तो सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश की करी गयी हैं संवैधानिक अंगों का सरकारी तोता बन जाना प्रत्यक्ष रूप से लोकतंत्र की हत्या हैं.! जासूसी हुई हैं ये साबित हो चूका

कुछ चेनल्स मोदी साह के नाम पर अपना आज भी पेट भर रहे हैं बच्चे पाल रहे है 🙈😀🙈 You don't know, who is ml sharma 🤣🤣🤣🤣 Excellent

50MP कैमरा के साथ Huawei P50 और Huawei P50 Pro लॉन्च, जानें कीमत और स्पेसिफिकेशनHuawei P50 Pro और Huawei P50 स्मार्टफोन्स को चीनी मार्केट में लॉन्च कर दिया गया है। यह दो फोन यूनिक-कैप्सूल वाले रियर कैमरा मॉड्यूल के साथ आते हैं। प्रो मॉडल दो प्रोसेसर वेरिएंट के साथ आता है, एक किरिन 9000 और दूसरा स्नैपड्रैगन 888 जो कि अलग-अलग मार्केट्स पर निर्भर करेगा।

🌷 Buhat Bhadiya अहंकारी हैं दोनों अहंकार ने तो टूटना ही है देश को देश की जनता को तबाह बर्बाद कर दिया इन दोनों ने पूजी पतियों के चक्कर इनका कुछ नहीं होगा, इनके पास पेगासस है। Chal be lo re

देश के भविष्य के लिए अहम भूमिका निभाएगी नई श‍िक्षा नीति : पीएम मोदीपीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा, बीते एक वर्ष में सभी महानुभावों, शिक्षकों, नीतिकारों ने इसे धरातल पर उतारने में बहुत मेहनत की है.ये महत्वपूर्ण अवसर ऐसे समय में आया है, जब देश आजादी के 75 साल का अमृत महोत्सव मना रहा है. New education policy 🤣🤣🤣🤣 Modi you are speaking 200℅ jhooth.. Jo khudd dikshit nahi ho kya bat karega shiksha ke sambandh me. Ha blufbaji Jumlebaji jarur kar sakta hai.

‘सेक्स और सहमति’ पर चीन के इस सुपरस्टार के कारण बढ़ी बहस - BBC News हिंदीचीनी-कनाडाई अभिनेता और गायक क्रिस वू के मामले ने बहुत तेज़ी से तूल पकड़ी, क्रिस वू पर बलात्कार के साथ-साथ महिलाओं के साथ अनुचित व्यवहार के भी आरोप हैं. Is kutte ke kapde utaro sarey aur bhalu ke pas chhod do opar sey thala laga do shobha tak isey sax kaa pata lag jayega सहमति ना हो, रुपया पैसा.. या फिर विवाद के चलते.. आसानी से केस दर्ज.. नाम, सम्मान सब धूल में.. जेल की हवा अलग से खानी पड़ सकती है.. इसलिये सेफ मोड में, खुद को सुरक्षित करने के बाद खेल स्टार्ट.. गुज़रूँ मैं इधर से कभी, गुज़रूँ मैं उधर से, मिलता है हर इक रासता, जा कर तेरे दर से🎵🎶

Kindle यूजर्स के लिए अलर्ट: दिसंबर के बाद इन लोगों के किंडल में नहीं चलेगा इंटरनेटकंपनी ने ई-मेल के जरिए अपेन पुराने Kindle यूजर्स को इसे लेकर जानकारी दी है। यदि किसी पुराने Kindle में केवल सेलुलर डाटा का सपोर्ट,

अमेरिका: पढ़ाई के बाद विदेशी छात्रों के देश में रुकने के खिलाफ संसद में विधेयक पेशअमेरिका: पढ़ाई के बाद विदेशी छात्रों के देश में रुकने के खिलाफ संसद में विधेयक पेश America Parliament Student Visa ForeignStudent Study Follow back चाहिए तो तुरन्त फॉलो करें 👉gsbsingham10💯 follow 🔙

दिल्ली: राकेश अस्थाना के पुलिस कमिश्नर बनने पर बवाल, केजरीवाल बोले- SC के आदेश के खिलाफअब दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी ये मुद्दा उठाया है. उन्होंने भी सुप्रीम कोर्ट के फैसले को आधार बनाते हुए इस फैसले को गलत बताया है. PankajJainClick केजरू किसे बनवाना चाहता है कमिश्नर? राकेश अस्थाना से क्या डर है इस राष्ट्र द्रोही को? PankajJainClick यह इतना घबराया हुवा क्यू है। PankajJainClick ArvindKejriwal जी आप की फट क्यू रही है क्या कोई गोल माल किया है AAP ने