Kushinagar, Pm Narendra Modi, Kushinagar İnternational Airport, Baudh Dharm Voters, Purvanchal, Bjp Plan, Up Election, पीएम नरेंद्र मोदी, कुशीनगर, कुशीनगर एयरपोर्ट की सौगात, बौद्ध धर्म, पूर्वांचल प्लान, यूपी चुनाव 2022

Kushinagar, Pm Narendra Modi

पीएम मोदी आज कुशीनगर को देंगे एयरपोर्ट की सौगात, क्या है बौद्ध धर्म का कनेक्शन?

पीएम मोदी आज कुशीनगर को देंगे एयरपोर्ट की सौगात #Kushinagar

20-10-2021 07:00:00

पीएम मोदी आज कुशीनगर को देंगे एयरपोर्ट की सौगात Kushinagar

पूर्वांचल का कुशीनगर भगवान गौतम बुद्ध की महापरिनिर्वाण स्थली है, इसलिए बौद्ध धर्म के लोगों के लिए यह सबसे प्रमुख तीर्थ स्थलों में से एक है. ऐसे में यूपी चुनाव से ठीक पहले पीएम मोदी की ये सौगात बौद्ध धर्म के अनुयायियों के साथ-साथ पूर्वांचल के राजनीतिक समीकरण को भी साधने की भी कवायद मानी जा रही है.

बौद्ध सर्किट का केंद्र बिंदु कुशीनगरकुशीनगर एक बौद्ध तीर्थ केंद्र है जहां भगवान गौतम बुद्ध ने महापरिनिर्वाण प्राप्त किया था. यह बौद्ध सर्किट का केंद्र बिंदु भी है, जिसमें लुंबिनी, सारनाथ बोधगया, श्रावस्ती, राजगीर, संकिसा और वैशाली जैसे बौद्ध तीर्थस्थल शामिल हैं. कुशीनगर का इंटरनेशनल एयरपोर्ट उन लोगों के लिए खास सौगात है जो देश-दुनिया से भगवान बुद्ध की महापरिनिर्वाण स्थली पहुंचना चाहते हैं.

एक जनवरी से यूएई में ढाई दिनों का होगा सप्ताहंत - BBC Hindi रोहिंग्या मुसलमानों ने फ़ेसबुक पर किया मुक़दमा, नफ़रत को बढ़ावा देने का आरोप - BBC News हिंदी रूस के हमले के ख़तरों के बीच यूक्रेन को मिला पश्चिमी देशों का समर्थन - BBC Hindi

बौद्ध देशों के साथ-साथ गल्फ देश से सीधी फ्लाइट कुशीनगर से जुड़ेंगी. कुशीनगर में पहली इंटरनेशनल फ्लाइट श्रीलंका से आएगी. पूर्वांचल के लोगों को लिए यह एक बड़ी सौगात मानी जा रही है. एयरपोर्ट के उद्घाटन समारोह में 'बुद्ध का महाप्रसाद' के रूप में प्रतिष्ठित 'कालानमक चावल' की ब्रांडिंग का भी बड़ा अवसर होगा. बौद्ध अतिथियों को 'कालानमक चावल' उपहार में दिया जाएगा. माना जा रहा है कि पीएम मोदी इस दौरान बौद्ध धर्म के लोगों को एक बड़ा सियासी संदेश देने की कवायद करते नजर आएंगे.

यूपी में बौद्ध धर्म की सियासी अहमियतबता दें कि उत्तर प्रदेश में बौद्ध धर्म मानने वाले लोगों की संख्या अच्छी खासी है. 2011 की जनगणना के मुताबिक यूपी में बौद्ध धर्म के लोगों की संख्या 206285 है, जो अब बढ़कर करीब 25 लाख के करीब पहुंच चुकी है. सूबे में दलित और ओबीसी की मौर्य, पाल जैसी जाति के लोगों ने बड़ी संख्या में बौद्ध धर्म को अपनाया है. यूपी में बौद्ध धर्म के लोग बसपा के कोर वोटबैंक रहे हैं. मायावती ने भले ही बौद्ध धर्म न अपनाया हो, लेकिन डॉ. अंबेडकर के चलते वो हमेंशा से बौद्ध धर्म को अहमियत देती रही हैं. headtopics.com

योगी सरकार में मंत्री भी मानते हैं बौद्ध धर्मबसपा छोड़कर बीजेपी में आए योगी सरकार में कैंबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मोर्य भी बौद्ध धर्म को मानते हैं. कुशीनगर जिले ही वो विधायक हैं. ऐसे में 2022 के चुनाव से ठीक पहले पीएम मोदी ने कुशीनगर में एयरपोर्ट के सौगात के जरिए बसपा के कोर वोटबैंक माने जाने वाले बौद्ध धर्म को साधने का दांव चला है. पूर्वांचल के कुशीनगर, देवरिया, संतकबीरनगर में बड़ी संख्या में बौद्ध धर्म के लोग रहते हैं तो पश्चिम यूपी में नोएडा, मेरठ, सहारनपुर जैसे दलित बहुल जिलों में भी बौद्ध धर्म के लोगों की बड़ी संख्या है.

देश में बौद्धों की जनसंख्या तेजू से बढ़ी है, जिसमें अधिकांश नवबौद्ध यानि हिंदू दलितों से धर्म बदल कर बने है. बौद्ध के सबसे ज्यादा लोग महाराष्ट्र में हैं और उसके बाद दूसरे नंबर पर यूपी नवबौद्ध हैं. पूरे देश में 1991 से 2011 के बीच बौद्धों की आबादी में 27 प्रतिशत की वृद्धि हुई है. यही वजह है कि बीजेपी की नजर हिंदू वोटों के साथ-साथ बौद्ध धर्म के वोटों पर भी है, जो बसपा या फिर दूसरी दलित पार्टियों के साथ हैं.

पूर्वांचल साधने के सियासी प्लानवहीं, कुशीनगर के जरिए पूर्वांचल को भी साधने का दांव माना जा रहा है. देश की सत्ता का रास्ता उत्तर प्रदेश से होकर जाता है तो यूपी को जीतने के लिए पूर्वांचल को जीतना जरूरी माना जाता है. इसी फॉर्मूले से लगातार दो लोकसभा और 2017 के विधानसभा चुनाव में सबसे ज्यादा सीटें हासिल करने वाली बीजेपी मिशन-2022 के लिए पूर्वांचल में पैठ बनाने की कोशिश में है. इसी के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अगले पांच दिन में दो बड़े कार्यक्रम कर पूर्वांचल में चुनावी माहौल बनाने की कवायद करेंगे.

पूर्वांचल बीजेपी का अभी भी मजबूत गढ़ माना जाता है, जिसकी सबसे बड़ी वजह पीएम नरेंद्र मोदी का वाराणसी का सांसद होना और गोरखपुर से सीएम योगी का होना है. ऐसे में यूपी में चुनाव तारीखों के ऐलान से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पूर्वांचल में करीब छह जनसभाएं कराने की रूप रेखा खींची गई है. प्रधानमंत्री इस दौरान विकास की सौगात देंगे. साथ ही केंद्र व राज्य सरकार की उपलब्धियां गिनाकर मिशन 2022 को सफल बनाने की अपील करेंगे. headtopics.com

अखिलेश यादव ने कहा- जो पैदा कर खाई, वही है भाजपाई - BBC Hindi अखिलेश और जयंत का 'यूपी बदलो' का नारा मोदी-योगी के ख़िलाफ़ कितना चलेगा - BBC News हिंदी शहीद किसानों को मुआवज़ा और नौकरी ना देना मोदी सरकार की बड़ी ग़लती होगी-राहुल गांधी - BBC Hindi

पूर्वांचल में 164 विधानसभा सीटें आती हैंपूर्वांचल की जंग फतह करने के बाद ही यूपी की सत्ता पर कोई पार्टी काबिज हो सकती है, क्योंकि सूबे की 33 फीसदी सीटें इसी इलाके की हैं. यूपी के 28 जिले पूर्वांचल में आते हैं, जिनमें कुल 164 विधानसभा सीटें हैं. 2017 के चुनाव में पूर्वांचल की 164 में से बीजेपी ने 115 सीट पर कब्जा जमाया था जबकि सपा ने 17, बसपा ने 14, कांग्रेस को 2 और अन्य को 16 सीटें मिली थी.

हालांकि, पिछले तीन दशक में पूर्वांचल का मतदाता कभी किसी एक पार्टी के साथ नहीं रहा. वह एक चुनाव के बाद दूसरे चुनाव में एक का साथ छोड़कर दूसरे का साथ पकड़ता रहा है. यही वजह है कि बीजेपी 2022 के चुनाव में अपने गढ़ को मजबूत करने में जुट गई है.Live TV और पढो: आज तक »

रिटायरमेंट के दिन जूते की माला भेंट!: रीवा में यूनिवर्सिटी के डिप्टी रजिस्ट्रार से कर्मचारी यूनियन ने की हरकत; थैंक्यू कहकर दिया जवाब

रीवा में अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय के डिप्टी रजिस्ट्रार लाल साहब सिंह से रिटायरमेंट के दिन विदाई समारोह में बदसलूकी का मामला सामने आया है। यूनिवर्सिटी के कर्मचारी यूनियन के पदाधिकारियों ने डिप्टी रजिस्ट्रार को जूते की माला भेंटकर मुर्दाबाद के नारे लगाए। जवाब में अफसर ने कहा-धन्यवाद, थैंक्यू। | Viral Video: Employees unions misbehaved with Deputy Registrar at Rewa APS University

कुछ नहीं पता मोदी जी को रटा मारके आए हैं ये कब अडानी एयरपोर्ट बनेगा? कई tweets में मैंने बीजेपी की बात को ही आगे किया है.इसलिए अगर एयरपोर्ट न दे सकें तो pls एक cycle stand दे दीजिए अभी टैक्स पेयर का पैसा है.. कल किसी निजी कंपनी का हो जायेगा… आज ही बता दें कुशीनगर एयरपोर्ट कल किसका… इससे कोई फर्क नही पड़ता की गोदी मिडिया क्या लिखती है क्या दिखाती है फर्क तो तब पड़ता है जब देश का प्रधान मंत्री एयर प्लेन बेच देता है और एयर पोर्ट का उत्घाटन करना नही भूलता,😂😂 kushinagarairport

धौनी के बिना कोई CSK नहीं है और CSK के बिना धौनी नहीं है: एन श्रीनिवासनश्रीनिवासन ने आइपीएल ट्राफी के साथ भगवान वेंकटाचलापात के मंदिर में दर्शन करने के बाद पत्रकारों से कहा धौनी सीएसके चेन्नई और तमिलनाडु का अहम अंग है। धौनी के बिना कोई सीएसके नहीं है और सीएसके के बिना धौनी नहीं है। बिल्कुल मतलब धोनी जब नहीं खेलेगा तो CSK ख़त्म हो जाएगी? कोई भी खिलाड़ी खेल से बड़ा नहीं हो सकता।धोनी रहे न रहे क्रिकेट होता रहेगा। धोनी

सत्य की शक्ति: सत्य के बगैर सृष्टि की सत्ता संभव ही नहीं हैमुंडक उपनिषद में वर्णित भारत का आदर्श वाक्य ‘सत्यमेव जयते’ सबसे पवित्र माना गया है। सत्य वह है जो जैसा कहा जाए वैसा बोला और लिखा भी जाए। जो पूरी तरह यथार्थ या संपूर्ण हो। जिसमें एक प्रतिशत भी अपूर्णता न हो जिसमें किसी तरह का दोष न हो। सत्यमेव जयते ! सत्यम् शिवम् सुन्दरम् । सत्य से मुंह मोड़ना जीवन के वास्तविक सुखों को स्वंय से दूर करने व दुश्वारियों को आमंत्रित करने वाला हीं अंततः साबित होता है ।

विभिन्न मानवाधिकार उल्लंघनों के बीच आयोग के अध्यक्ष द्वारा सरकार की तारीफ़ के क्या मायने हैंजिस राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग को देशवासियों के मानवाधिकारों की रक्षा करने, साथ ही उल्लंघन पर नज़र रखने के लिए गठित किया गया था, वह अपने स्थापना दिवस पर भी उनके उल्लंघन के विरुद्ध मुखर होने वालों पर बरसने से परहेज़ न कर पाए, तो इसके सिवा और क्या कहा जा सकता है कि अब मवेशियों के बजाय उन्हें रोकने के लिए लगाई गई बाड़ ही खेत खाने लगी है? ashoswai Inko b rajyasabha ya loksabha jana hoga tabhi to desh ko barbaad krne walo k gungaan kr the.. योगी और मोदी का एकी नारा.....! 'ना घर बसा हमारा' 'ना बसने देगे तुम्हारा'।

क्या India और Pakistan मैच हो सकता है रद्द, क्या कहती है ICC की रूलबुक24 अक्टूबर को टी-20 वर्ल्ड कप में भारत और पाकिस्तान का महामुकाबला होना है. लेकिन कश्मीर में टारगेट किलिंग के बीच भारत-पाक मैच को लेकर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह की बड़ी टिप्पणी आई. गिरिराज सिंह ने टेरर SPONSER पाकिस्तान के साथ क्रिकेट मैच नहीं खेलने की मांग रखी है. सोशल मीडिया पर भी यही चर्चा अब गर्म है. ऐसे में केंद्रीय मंत्री की टिप्पणी पर सियासत भी शुरू हो गई. तो क्या भारत और पाकिस्तान का टी-20 मैच रद्द हो सकता है? इस सवाल का जवाब BCCI उपाध्यक्ष राजीव शुक्ला ने दिया. आसीसी की रूलबुक यही कहती है कि भारत अपने इंटरनेशनल कमिटमेंट से पीछे नहीं हट सकता.अगर भारत ऐसा करता है तो क्या होगा इसे भी समझिए . Follow करने का मतलब प्रशंसक होना नहीं, हम तो इस लिए फॉलो करते हैं ताकि गाली दे सके..👎 गोदी_मीडिया Bawla hai wo to

आज सावरकर की डिमांड बढ़ गई है-सुनते ही बोले कांग्रेस नेता- 'ये वाहियात बात है'डिबेट में जब सावरकर का जिक्र हुआ तो तस्लीम रहमानी चिल्लाते हुए सवाल करने लगे कि- 'कांग्रेस हिंदुत्व के लिए लड़ रही थी या आजादी के लिए लड़ रही थी। ये बहस का मुद्दा है।' Sawarkar ki demand badh gai hai 😝😝 वर्ष 2013 और 2014 में महात्मा गांधी?

‘पिंकस्पिरेशन’ है इस महिला की दीवानगी, इसे सबकुछ गुलाबी चाहिए, आखि‍र क्‍या है वजह40 साल की लीसा पिंकस्पिरेशन का एक बिजनेस चलाती हैं। ये कंपनी महिलाओं, लड़कियों और युवाओं को पिंक कलर के पॉजिटिव और क्रिएटिव इस्तेमाल करने के लिए मोटीवेट करती है। इसके लिए कंपनी कई तरह के प्रोजेक्ट्स ऑर्गेनाइज करती है।