India, Children, Malnutrition, बच्चे, कुपोषण

India, Children

पिछले साल नवंबर तक नौ लाख से अधिक बच्चे थे अत्यंत कुपोषित

पिछले साल नवंबर तक नौ लाख से अधिक बच्चे थे अत्यंत कुपोषित #India #Children #Malnutrition #भारत #बच्चे #कुपोषण

30-07-2021 23:30:00

पिछले साल नवंबर तक नौ लाख से अधिक बच्चे थे अत्यंत कुपोषित India Children Malnutrition भारत बच्चे कुपोषण

आम आदमी पार्टी सांसद संजय सिंह के एक सवाल के लिखित जवाब में केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि आईसीडीएस-आरएसएस पोर्टल के मुताबिक, मंत्रालय ने 30 नवंबर 2020 तक देश में ऐसे नौ लाख से अधिक बच्चों की पहचान की है, जो अत्यंत कुपोषित हैं. इन बच्चों की उम्र छह महीने से छह साल के बीच है. इनमें से तकरीबन चार लाख बच्चे उत्तर प्रदेश से थे.

नई दिल्लीःकेंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने गुरुवार को राज्यसभा में बताया कि पिछले साल नवंबर तक देश में छह माह से छह साल की उम्र के नौ लाख से अधिक अत्यंत कुपोषित बच्चों की पहचान की गई है. इनमें से 3.98 लाख से अधिक बच्चे अकेले उत्तर प्रदेश से हैं.

कैटरीना कैफ और विक्की कौशल की 'शाही शादी' की तैयारी में जुटा राजस्थान - BBC News हिंदी पाकिस्तान में श्रीलंकाई नागरिक को भीड़ ने जलाया, इस्लाम की कथित तौहीन का मामला - BBC News हिंदी पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला हुए कांग्रेस में शामिल, लड़ सकते हैं विधानसभा चुनाव

आम आदमी पार्टी (आप) सांसद संजय सिंह के एक सवाल के लिखित जवाब में ईरानी ने बताया कि देशभर में ऐसे 9.27 लाख से अधिक बच्चों की पहचान की गई है जो अत्यंत कुपोषित हैं और जिनकी उम्र छह माह से छह साल के बीच है.ईरानी ने बताया कि आईसीडीएस-आरआरएस पोर्टल के अनुसार, 30 नवंबर 2020 तक देश में छह माह से छह साल की उम्र के अत्यंत कुपोषित 927,606 बच्चों की पहचान की गई है. इनमें से 3.98 लाख से अधिक बच्चे उत्तर प्रदेश से हैं.

उन्होने बताया कि मंत्रालय ने 2017-18 से 2020-21 तक राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को 5,312 करोड़ रुपये जारी किए हैं जिनमें से 31 मार्च 2021 तक 2,985.56 करोड़ की धनराशि का उपयोग किया जा चुका है.एक अन्य सवाल केजवाबमें कि क्या बच्चों में कुपोषण के मामले बढ़े हैं? headtopics.com

इस पर ईरानी ने कहा, ‘राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण-5 (एनएफएचएस-5) के तहत सर्वेक्षणों के बीच चार साल के अंतराल के बावजूद कई राज्यों में पोषण की स्थिति में सुधार हुआ है.’उन्होंने बताया कि एकीकृत बाल विकास सेवा के तहत छह माह से छह साल की उम्र के अत्यंत कुपोषित बच्चों को पूरक पोषण प्रदान किया जाता है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ) और पढो: द वायर हिंदी »

दंगल: क्या अब्बाजान और चिलमजीवी ही यूपी चुनाव के मुद्दे हैं?

उत्तर प्रदेश में चुनाव का माहौल जैसे-जैसे गर्माता जा रहा है, नेताओं की जुबान तीखी होती जा रही है. समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने योगी सरकार को एक बार फिर चिलमजीवी कह के घेरा है. अखिलेश अक्सर चिलम फूंकने का आरोप लगाकर योगी आदित्यनाथ को घेरते रहे हैं. लेकिन चिलम के नाम पर अखिलेश को जवाब संत समाज की ओर से मिला है. कुछ साधु संतों ने इसे संतों का अपमान बताकर अखिलेश से माफी की मांग की है. आज दंगल में देखें क्या चिलम वाले बयान पर अखिलेश ने संतों की नाराजगी मोल ले ली है? और क्या 2022 के चुनाव में इसका असर पड़ेगा? देखें वीडियो.

देश में 9 लाख से अधिक बच्चे गंभीर कुपोषित, उत्तर प्रदेश के सबसे ज्यादाकेंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि ICSD-RRS पोर्टल (30 नवंबर, 2020 तक) के अनुसार, देश में 9,27,606 गंभीर रूप से कुपोषित (SAM) बच्चों (6 महीने से 6 वर्ष) की पहचान की गई है, जिनमें से 3, 98,359 उत्तर प्रदेश से हैं. Kam kuch kiya hai

सिर्फ UP में चार लाख के करीब बच्चे गंभीर कुपोषण के शिकार- RS में बोलीं स्मृतिस्मृति ने बताया कि आईसीडीएस-आरआरएस पोर्टल के अनुसार, 30 नवंबर 2020 तक देश में छह माह से छह साल की उम्र के, अत्यंत कुपोषित 9,27,606 बच्चों की पहचान की गई है।

तालिबान के डर से अफ़ग़ानिस्तान से मददगारों को अपने यहाँ ले जा रहा अमेरिका - BBC Hindiये सभी वो लोग हैं जिन्होंने तालिबान की आक्रामकता और युद्ध के बीच अमेरिकी सेना की मदद की थी. अमेरिकी सेना के वतन वापसी के ऐलान के साथ ही इन्हें तालिबान से मिलने वाली धकमियाँ और ख़तरे भी बढ़ गए हैं. Inspiring

निशाने से भटके दीपिका के तीर, झारखंड के खेल प्रेमियों में निराशा; करियर के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के बावजूद पदक से चुकींंटोक्यो ओलिंपिक में करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के बावजूद रांची की दीपिका कुमारी व्यक्तिगत स्पर्धा में पदक जीतने से चूक गई। लगातार तीसरा ओलिंपिक खेल रही दीपिका कुमारी क्वार्टर फाइल मुकाबेल में कोरिया की एन शान के हाथों 27-30 24-26 24-26 से हार कर बाहर हो गई। Olympics देश का मीडिया यह सब नही दिखायेगा उनको सिर्फ योगीजी से नफरत है तो झूटी लाशे दिखाने गर्व मेहसूस करता है लेकिन सपा बसपा के प्रवक्ता पुछते है 5काम बताये तो जनता गली गली मे बता रही पर सपा के राज मे गुंडो का राज था आज सुरक्षीत है जनता फिर भी मंदिर बने तब तब योगी

Cloudburst Live Updates: उत्तराखंड में उत्तरकाशी के हेलुगढ़ के पास भूस्खलन से गंगोत्री हाईवे बंदहिमाचल प्रदेश और केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू कश्मीर और लद्दाख में बारिश के कारण आई बाढ़ से बुधवार को कम से कम 17 लोगों की मौत हो गई और कई मकानों, खड़ी फसलों और एक लघु पनबिजली संयंत्र को क्षतिग्रस्त कर दिया। वहीं, उत्तर भारत के कई हिस्सों में बारिश दर्ज की गई। हालांकि, पश्चिम महाराष्ट्र में बारिश का प्रकोप कुछ कम हुआ है जहां पर गत कुछ दिनों से मूसलाधार बारिश के बाद आई बाढ़ और भूस्खलन से भारी नुकसान हुआ। उत्तर प्रदेश में मॉनसून पूरी तरह सक्रिय हो गया है और पिछले 24 घंटों के दौरान राज्य के ज्यादातर इलाकों में जोरदार बारिश हुई। पल-पल के अपडेट के लिए बने रहिए हमारे साथ...

4 लाख रुपये में यहां मिल रही पांच साल पुरानी Maruti Celerioइस इस प्लेटफॉर्म के जरिए एक साल की वारंटी और तीन फ्री सर्विस के साथ आसानी से कार मिल जाएगी। आप चाहे तो घर बैठे ही 'True Value' की वेबसाइट पर विजिट कर इन स्टोर पर मौजूद कारों की जानकारी हासिल कर सकते हैं।