Coronavaccine, Pakistan, China, Covıd ー 19, कोरोना, महामारी, वैक्सीन, टीका, पाकिस्तान, चीन

Coronavaccine, Pakistan

पाकिस्तान में कोरोना के खिलाफ चीनी टीके के ट्रायल | DW | 22.09.2020

पाकिस्तान ने कोरोना वायरस के खिलाफ चीन में तैयार टीके के ट्रायल का तीसरा चरण शुरू किया है. पाकिस्तान में दस हजार लोग इस टीके के ट्रायल में हिस्सा लेंगे.

23-09-2020 11:31:00

कैनसीनो कंपनी के बनाए टीके को एडी5-एनसीओवी नाम दिया गया है. इसके तीसरे चरण का ट्रायल शुरू करने की अनुमति पाकिस्तान सरकार ने अगस्त महीने में ही दे दी थी. coronavaccine Pakistan China COVIDー19

पाकिस्तान ने कोरोना वायरस के खिलाफ चीन में तैयार टीके के ट्रायल का तीसरा चरण शुरू किया है. पाकिस्तान में दस हजार लोग इस टीके के ट्रायल में हिस्सा लेंगे.

कोरोना: भारत में 100 गुना ज्यादा हो सकते हैं असली आंकड़े!असली आंकड़ासर्वे के अनुसार मई में ही भारत में 64 लाख से भी ज्यादा कुल मामले थे. उस समय आधिकारिक रूप से घोषित मामले सिर्फ 60 हजार के आस पास थे.कोरोना: भारत में 100 गुना ज्यादा हो सकते हैं असली आंकड़े!

डोनाल्ड ट्रम्प ने भारत की हवा को बताया खराब, तो कपिल सिब्बल ने PM मोदी पर कसा तंज 150 रुपये/किलो तक पहुंचा प्याज का भाव, चेन्नई में लोग रो रहे प्याज के आंसू बिहार : तेजस्वी यादव ने CM नीतीश को किया खुला चैलेंज, कहा- एक भी थाने का नाम बताएं, जहां...

चुपचाप फैलता कोरोनासर्वे में पाया गया कि देश में संक्रमण के फैलने की दर 0.73 प्रतिशत है, जो किसी किसी इलाकों में 1.03 प्रतिक्षत तक भी चली जाती है. यह दर संक्रमण के खामोश प्रसार की ओर इशारा करती है.कोरोना: भारत में 100 गुना ज्यादा हो सकते हैं असली आंकड़े!

महामारी के शुरुआती चरणशोधकर्ताओं का यह भी कहना है कि संक्रमण की दर इतनी कम होने का मतलब है कि भारत में महामारी उस समय अपने शुरूआती चरण में ही थी और इस वजह से देश में अधिकतर लोगों के लिए संक्रमण का खतरा अभी बना हुआ है.कोरोना: भारत में 100 गुना ज्यादा हो सकते हैं असली आंकड़े!

100 गुना बड़ी समस्याआईसीएमआर ने कहा है कि प्रयोगशालाओं में जांच के द्वारा पाए गए हर मामले के मुकाबले देश में 82 से ले कर 130 तक ऐसे मामले हैं जो छिपे हुए हैं. इसका मतलब समस्या जितनी बड़ी दिखती है उस से करीब 100 गुना ज्यादा बड़ी है. यह संख्या अलग अलग स्थानों पर बदल जाती है.

कोरोना: भारत में 100 गुना ज्यादा हो सकते हैं असली आंकड़े!गलत जांच के नतीजेजानकारों का मानना है कि बड़ी संख्या में संक्रमण के मामलों का ना पाया जाना जांच की गलत प्रक्रिया की वजह से हो सकता है. कई महीनों से विशेषज्ञ देश में रैपिड जांच में नेगेटिव पाए जाने वालों की आरटीपीसीआर जांच से पुष्टि ना करने को लेकर चिंता जता रहे हैं.

कोरोना: भारत में 100 गुना ज्यादा हो सकते हैं असली आंकड़े!शून्य मामले वाले जिलेकई जिले जिनमें या तो शून्य या काफी कम संक्रमण के मामले रिपोर्ट हुए हैं, सर्वे में उनमें भी संक्रमण की उंची दर मिली. यह भी गलत जांच की तरफ इशारा करता है.कोरोना: भारत में 100 गुना ज्यादा हो सकते हैं असली आंकड़े!

नया निर्देशशायद इसी वजह से केंद्र ने राज्यों को दिए गए नए निर्देश में कहा है कि ऐसे लोग जिनमें संक्रमण के लक्षण थे लेकिन उनकी रैपिड जांच का नतीजा नेगेटिव आया था, उनकी आरटीपीसीआर जांच की जाए.कोरोना: भारत में 100 गुना ज्यादा हो सकते हैं असली आंकड़े!मृत्यु दर पर भी संशय

मॉस्को के थिएटर में 140 लोगों के मारे जाने की रोंगटे खड़े करने वाली कहानी - BBC News हिंदी Bihar Elections 2020: शराबबंदी को लेकर चिराग पासवान का CM नीतीश पर वार, बोले- बिहारियों को बनाया जा रहा तस्कर बिहार चुनाव: क्या शराबबंदी की वजह से महिलाएं सुरक्षित हो गई हैं? - BBC News हिंदी

सर्वे में पाया गया कि संक्रमण के मामलों और संक्रमण से मृत्यु का अनुपात मई में 0.0018 से 0.11 प्रतिशत के बीच था. जून में यह अनुपात 0.27 से 0.15 प्रतिशत हो गया था. आधिकारिक तौर पर दर्ज की गई दर 1.7 प्रतिशत है. अमेरिका में यह दर 0.12 प्रतिशत है और स्पेन और ब्राजील में एक प्रतिशत. लेकिन शोधकर्ताओं का कहना है कि भारत के आंकड़े और ज्यादा हो सकते हैं क्योंकि यहां मृत्यु की रिपोर्टिंग बहुत कम होती है.

कोरोना: भारत में 100 गुना ज्यादा हो सकते हैं असली आंकड़े!देशव्यापी सर्वेसर्वे 11 मई से चार जून तक हुआ. इसके लिए 21 राज्यों से 28,000 संक्रमित लोगों के खून में एंटीबॉडीज की जांच की गई.कोरोना: भारत में 100 गुना ज्यादा हो सकते हैं असली आंकड़े!गांवों में स्थिति खतरनाक

सर्वे के मुताबिक मई और जून तक ही संक्रमण गांवों में फैल चुका था. सेरो-पॉजिटिविटी सबसे ज्यादा (69.4 प्रतिशत) ग्रामीण इलाकों में ही पाई गई. शहरी झुग्गियों में 15.9 प्रतिशत और शहरी झुग्गी से बाहर वाले इलाकों में 14.6 प्रतिशत पाई गई. हालांकि सर्वे अधिकतर ग्रामीण इलाकों में ही किया गया था.

रिपोर्ट: चारु कार्तिकेय और पढो: DW Hindi »

किसका होगा राजतिलक: जमुई की जनता का क‍िस पार्टी पर है भरोसा? जान‍िए

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के लिए कुछ दिनों में मतदान होने वाले हैं. पार्टियां ताड़तोड़ रैलियां कर रही हैं और वादें कर रही हैं. सभी पार्टियों के लिए जमुई विधानसभा सीट चुनौतीपूर्ण होगा. 2015 में राष्ट्रीय जनता दल के नेता विजय प्रकाश ने जमुई सीट से जीत हासिल की थी. इस बार भाजपा की ओर से प्रत्यासी हैं श्रेयसी सिंह. वीडियो में देखें जमुई में किसके वादों पर जनता करेगी भरोसा.

भोजपुरी में पढ़ें: बड़ा अंतर बा पहले के बइठकी अउरी कोरोना काल के बइठकी मेंभोजपुरी शब्द के कई गो माने होला. बैइठकी के इस्तमाल होत रहल हा मिल के बइठे-बतिआवे खातिर. अब त बइठकी माने कवनो काम धंधा नइखे. शब्द के संगे अर्थव्यस्था के एही पहलु पर लेखक विचार करत हवें. | ayodhya News in Hindi - हिंदी न्यूज़, समाचार, लेटेस्ट-ब्रेकिंग न्यूज़ इन हिंदी

Earthquake in Palghar: महाराष्ट्र के पालघर में फिर भूकंप के झटके, दहशत में लोगEarthquake in Maharashtra महाराष्ट्र के पालघर इलाके में भूकंप के झटके महसूस किये जाने से लोगों में दहशत का माहौल है रिक्‍टर स्‍केल पर इस भूकंप की तीव्रता 3.5 मापी गयी है। बीते कुछ दिनों से लगातार धरती के कंपन से यहां के लोगों में डर का माहौल है। ये shadhu का श्राप है अब न बच पायेंगे palgharlynching हत्यारे ConversionMafia

कंगना रनोट के ऑफिस में तोड़फोड़ के मामले में संजय राउत भी पक्षकार होंगेकंगना रनोट का बांद्रा स्थित कार्यालय तोड़े जाने के मामले में अब शिवसेना नेता संजय राउत व मुंबई महानगरपालिका के उस अधिकारी को भी पक्षकार बनना पड़ेगा जिसने कंगना का कार्यालय तोड़ने के आदेश दिया था। इस मामले में बॉम्बे हाई कोर्ट में अगली सुनवाई बुधवार को होनी है। सभी हिन्दू भाई जरूर देखें और शयेर जरूर करे जय महाराष्ट्र❗ बॉलीवुड मे नेपोटिज्म की पैदाइशें और दाऊद ड्रग्स गैंग के गंदी नाली के जिहादी कीड़े जो कलतक स्वयं को अतिरिक्त संवेदनशील महान विचारक और बुद्धिजीवी दर्शाते हुए हर देशद्रोही गद्दार और आतंकवादी के मानवाधिकारों के लिए छातियां पीटते नजर आते थे आज इन जिहादी भेड़ियों की आवाज नहीं निकल रही

दिल्‍ली के उपमुख्‍यमंत्री मनीष सिसोदिया अस्‍पताल में हुए भर्ती, कोरोना के कारण सांस लेने में तकलीफदिल्‍ली के उपमुख्‍यमंत्री मनीष सिसोदिया को सांस लेने में परेशानी के बाद बुधवार की शाम को अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है। कोरोना संक्रमण के बाद सांस लेने में परेशानी के कारण लोकनायक अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है। msisodia AamAadmiParty ArvindKejriwal रोज़गार_नहीं_तो_सरकार_नहीं msisodia AamAadmiParty ArvindKejriwal Get well soon sir💐 msisodia AamAadmiParty ArvindKejriwal उम्मीद है उपमुख्यमंत्री जी विश्वस्तरीय मोहल्ला_क्लीनिक में ही भर्ती हुए होंगे। WHO भी सरकार के मोहल्ला क्लीनिक की तारीफ कर चुका है। यही सही समय है msisodia जी दिल्ली मॉडल को दिखाने का। ईश्वर से प्राथना है आप जल्द स्वस्थ हो।

महाराष्ट्र: पालघर के आसपास के क्षेत्र में महसूस किए गए भूकंप के झटके, 3.5 रही तीव्रतामहाराष्ट्र: पालघर के आसपास के क्षेत्र में महसूस किए गए भूकंप के झटके, 3.5 रही तीव्रता Maharashtra Palghar earthquake OfficeofUT

कोरोना वायरस के टीके काम करेंगे या नहीं, इसकी कोई गारंटी नहीं: डब्ल्यूएचओ प्रमुख कोरोना वायरस के टीकों की कोई गारंटी नहीं: डब्ल्यूएचओ प्रमुख Coronavirus Covid19 CoronavirusVaccine WHO PMOIndia MoHFW_INDIA ICMRDELHI WHO PMOIndia MoHFW_INDIA ICMRDELHI Mujhe lgta hai WHO की कोई गारंटी नहीं: WHO PMOIndia MoHFW_INDIA ICMRDELHI WHO एक चीन की दलाल एजेंसी है , इसका अब कोई विश्वास नही WHO PMOIndia MoHFW_INDIA ICMRDELHI इस पर भी बात करे क्या यह सच है या गलत ?