पाकिस्तान सीनेट चुनाव में झटके के बाद इमरान ख़ान करेंगे विश्वासमत का सामना - BBC News हिंदी

पाकिस्तान सीनेट चुनाव में झटके के बाद इमरान ख़ान करेंगे विश्वासमत का सामना

03-03-2021 22:46:00

पाकिस्तान सीनेट चुनाव में झटके के बाद इमरान ख़ान करेंगे विश्वासमत का सामना

इस्लामाबाद सीट से इमरान ख़ान के वित्त मंत्री की हार को बड़े झटके के तौर पर देखा जा रहा है. इस चुनाव में इमरान ख़ान ने निजी तौर पर अपने कैबिनेट साथी के लिए कैंपेन किया था.

भारत की राज्यसभा की तरह पाकिस्तान की सीनेटपाकिस्तान में सीनेट भारत के ऊपरी सदन राज्यसभा की तरह है. यहाँ सदस्य छह सालों के लिए चुने जाते हैं. 104 सदस्यों वाली सीनेट से कुल 52 सीनेटर्स 11 मार्च को अपना छह साल का कार्यकाल पूरा कर रिटायर हो रहे हैं.इनमें से चार सदस्य संघीय प्रशासित क़बाइली इलाक़े से हैं. इन्हें फेडरली एडमिनिस्टर्ड ट्राइबल एरिया यानी फाटा कहा जाता है. ख़ैबर पख़्तुनख़्वा प्रांत में फाटा के वियल के बाद से ये चार सदस्य फिर से नहीं चुने जा सकेंगे.

भारत में कोरोना की दूसरी लहर 'मोदी निर्मित आपदा': ममता बनर्जी - आज की बड़ी ख़बरें - BBC Hindi मध्‍य प्रदेश: कोरोना संक्रमित पत्‍नी को लेकर 8 घंटे तक भटकता रहा BSF जवान, बमुश्किल करा पाया अस्‍पताल में भर्ती ऑक्सीजन संकट को लेकर मोदी सरकार पर बरसे माकन, पूछा- जब जरूरत थी तो एक्सपोर्ट क्यों किया

यानी सीनेट में सदस्यों की संख्या अभी 100 हो गई है. 23-23 सदस्य पाकिस्तान के चारों प्रांत से हैं जबकि चार सदस्य इस्लामाबाद से चुने जाते हैं. बाक़ी के चार सदस्य फाटा से हैं और ये 2024 में रिटायर होंगे. मतलब 2024 के बाद सीनेट में सदस्यों की कुल संख्या 96 रह जाएगी.

52 में से 37 सीटों पर मतदान हुए हैं और बाक़ी निर्विरोध चुन लिए गए हैं. पंजाब के सभी 11 सीनेटर्स निर्विरोध चुने गए हैं. पाकिस्तान में सीनेटर्स के चुनाव में भारत में राज्यसभा चुनाव की तरह राज्यों के विधानसभा के विधायक वोट करते है.बुधवार को पाकिस्तान में बलूचिस्तान, ख़ैबर पख़्तुनख़्वा और सिंध असेंबली के विधायाकों ने वोट किया. चूँकि पंजाब में सभी निर्विरोध चुन लिए गए थे इसलिए वहाँ वोटिंग नहीं हुई. इस्लामाबाद से दो सीनेटर्स के लिए वोट डाले गए. इस्लामाबाद पाकिस्तान की फेडरल राजधानी है और यहाँ सीनेटर्स के चुनाव में नेशवन असेंबली के सांसद वोट करते हैं. headtopics.com

ऐसी उम्मीद की जाती है कि पार्टी लाइन का पालन करते हुए वोटिंग होगी लेकिन सत्ता और विपक्ष दोनों एक दूसरे पर वोट ख़रीदने के आरोप लगा रहे हैं.मंगलवार को एक वीडियो सामने आया था जिसमें पूर्व प्रधानमंत्री यूसुफ़ रज़ा गिलानी के बेटे अली हैदर गिलानी दो सांसदों दो बता रहे हैं मतदान के दौरान अपने वोट को कैसे अमान्य करा सकते हैं.

पीटीआई ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया, ''यूसुफ़ रज़ा गिलानी के बेटे सीनेटे के लिए वोट ख़रीदते पकड़े गए हैं. पीडीएम के उम्मीदवारों का यही आचरण है.''वोट को लेकर सिंध की असेंबली में भी विधायक आपस में भिड़ गए. इमरान ख़ान चाहते थे कि चुनाव ओपन बैलेट के ज़रिए लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने संविधान का हवाला देते हुए गोपनीय बैलेट के ज़रिए ही चुनाव कराने का आदेश दिया था.

और पढो: BBC News Hindi »

बढ़ते Corona केस, अस्पताल, वैक्सीन से लेकर नाइट कर्फ्यू तक, देखें राज्य की रणनीति पर क्या बोले CM Khattar

कोरोना संकट देशभर में गहराता जा रहा है. बढ़ते संक्रमण के बीच आज तक ने कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों से उनकी रणनीतियों पर चर्चा की. हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कोरोना के खिलाफ अपनी रणनीति पर कहा कि बढ़ते कोरोना केस राज्य के लिए चिंताजनक है. उन्होंने कहा कि सीमा बंद करना हल नहीं है. उन्होंने अस्पतालों के प्रबंधन पर कहा हम पूरी तरह से तैयार हैं. जिन ड्यूटीज पर पहले लोगों को लगाया गया था लोग वापस उस ड्यूटी पर आ गए हैं. अस्पतालों में बेड की संख्या पर्याप्त है. सभी जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि कोरोना कर्फ्यू पर आज फैसला ले सकते हैं. वैक्सीन के संकट पर उन्होंने कहा कि राज्य में पर्याप्त संख्या में वैक्सीन है. देखें खास इंटरव्यू, रोहित सरदाना के साथ.

Kya ye janewala hai Pakistan jae gart me tum Bhai pahale Bharat chodo..... भर दिन चाटुकारिता करते रहते हैं मोदी और शाह को कहाँ कहाँ झटके लगे हैं वो बताइए