Forgery, Chinesethugs, Delhi News, Delhi Crime, Delhi Police, Chinese Thugs, Exclusive, दिल्ली समाचार, Delhi News İn Hindi, Latest Delhi News İn Hindi, Delhi Hindi Samachar

Forgery, Chinesethugs

पांच लाख भारतीयों से धोखाधड़ी का मामला : नौ से ज्यादा चीनी ठगों की पहचान

पांच लाख भारतीयों से धोखाधड़ी का मामला : नौ से ज्यादा चीनी ठगों की पहचान #Forgery #ChineseThugs @DelhiPolice

10-06-2021 03:30:00

पांच लाख भारतीयों से धोखाधड़ी का मामला : नौ से ज्यादा चीनी ठगों की पहचान Forgery ChineseThugs DelhiPolice

दिल्ली पुलिस की साइबर सेल ने एप के जरिए पांच लाख से ज्यादा भारतीयों के साथ ठगी करने वाले नौ से ज्यादा चीनी नागरिकों की

फिलहाल तिब्बती युवती को बैंगलुरू पुलिस ले गई है। साइबर सेल इस युवती को ट्रांजिट रिमांड पर लाकर जल्द ही गिरफ्तार करेगी। हालांकि चीनी नागरिकों के पासपोर्ट आदि जब्त नहीं हुए है। जबकि इस वर्ष की शुरूआत में जब ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया था उस समय चीनी नागरिकों के पासपोर्ट जब्त् हुए थे।

पीएम मोदी और अमित शाह के ख़िलाफ़ सुप्रीम कोर्ट में अवमानना याचिका, मगर क्यों? - BBC News हिंदी बलात्कार में जब औरत पर ही उठे सवाल - BBC News हिंदी ईरान केवल इसराइल के लिए समस्या नहीं हैः इसराइली विदेश मंत्री - BBC Hindi

साइबर सेल डीसीपी अन्येष रॉय ने बताया कि चीन में बैठकर पूरे भारत में ठगी का गिरोह चलाने वाले चीनी नागरिक छह भारतीय फोन चीन में चला रहे हैं। उनको भारतीय फोन उनके भारतीय एजेंटों ने दिए थे। बताया जा रहा है कि इनमें से कुछ चीनी नागरिक भारत आ चुके हैं और यहां पर कुछ समय तक रहे हैं। चीनी नागरिकों ने टॉनी व फियोना जैसे अंग्रेजी नाम रखे हुए हैं।

इन चीनी नागरिकों ने ठगी के लिए कई एप को अप्रैल महीने की शुरूआत में भारतीय बाजार में सर्कुलेट करना शुरू किया था। इसके बाद 12 मई को ये एप बंद हो गई। कुछ एप गूगल प्ले स्टोर तक पहुंच गई। पीड़ितों ने इन एप को गूगल प्ले स्टोर से डाउन लोड किया था। जबकि पीड़ितों को कुछ एप लिंक व ब्लक मैसेज के जरिए भेजी गई थीं। headtopics.com

साइबर सेल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पीड़ितों का पैसा पेमेंट गेटवे व यूपीआई के जरिए सेल कंपनियों के बैंक खातों में जाता था। इन बैंक खातों से हवाला व क्रिप्टो करेंसी के माध्यम ये चीन समेत अन्य देशों में जाता था। साइबर सेल इस बात की जांच कर रही है कि कंपनियों के बैंक खाते से पैसा किस-किस देश में जाता था।

आकाओं से कभी नहीं मिलेसाइबर सेल अधिकारियों ने बताया कि चीनी नागरिकों के इस गिरोह में कई ऐसे भारतीय काम कर रहे हैं जो कभी चीनी आकाओं से नहीं मिले और न ही उन्हें जानते। बस उनके लिए काम कर रहे थे। इन लोगों ने ही ठगी के लिए भारतीयों को गिरोह में भर्ती किया था। आरोपी रोबिन ने पूछताछ के दौरान बताया वो लोग इन एप्प के जरिये टेक्नोलॉजी के नाम पर रुपए कमाने का लालच लोगों को दे रहे थे। जो कोई इस एप्प को जॉइन करता तो उसे ऑड मेंबर्स बनाने का लालच दिया जाता था। जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग जुड़ सके।

शुरू में ये 10 फीसदी मुनाफा देते थेपुलिस अधिकारियों के अनुसार ये कम से कम 300 रुपये इंवेस्ट कराते थे और दोगुना करने का झांसा देते थे। ज्यादा से ज्यादा रकम की कोई सीमा नहीं थी। शुरू में ये पीड़ित को 10 फीसदी मुनाफा देते थे। कुछ को ये प्रत्येक दिन का मुनाफा देते थे तो कुछ को ये 24 दिन में दोगुना रकम करने का झांसा देते थे। कुछ दिन तो ये पैसा देते थे उसके बाद ये गायब हो जाते थे। आरोपी ऐसे पैस डालते थे कि केवल मोबाइल एप्लीकेशन में ही नजर आते थे एकाउंट में नहीं।

टेलीग्राम के जरिए संपर्क करता थारॉबिन चीनी नागरिकों से टेलीग्राफ के जरिए संपर्क में रहता था। उमाकांत, वेदचंद्रा, हरीओम और अभिषेक दिल्ली के रहने वाले हैं। ये सभी शेल कंपनीज के यहीं डायरेक्टर थे। इन्होंने अपने परिजनों को भी कंपनियों में पदाधिकारी बना रखा था। वहीं आरोपी शशि बंसल और मिथलेश शर्मा ने बोगस कंपनियां और बैंक अकाउंट चीनी जालसाजों को मुहैया करवाए थे। आरोपी सीए अवकि ने पुलिस को बताया वे शेल कंपनीज अपने फैमिली मेंबर, दोस्त और एम्पलॉइज के नाम पर खोलते, जिन्हें वे चाइनीज नागरिकों को दो से तीन लाख में एक कंपनी को बेच देते। उसने चीनी नागरिकों के लिए 110 शेल कंपनियां बनाई थीं। कपंनियों में कुछ डमी डायरेक्टर भी बना रखे थे। headtopics.com

सीमा विवाद के बीच असम CM हिमंत बिस्वा सरमा के खिलाफ FIR, मिजोरम के अफसरों की कार्रवाई मिज़ोरम पुलिस ने असम के मुख्यमंत्री के ख़िलाफ़ क्रिमिनल केस दर्ज किया - BBC Hindi ATM से पैसा निकालना कल से महंगा, छुट्टी के दिन भी आएगी सैलरी-पेंशन, जानें 1 अगस्त से क्या-क्या बदलेगा

विस्तार पहचान कर ली है। ये चीनी नागरिक अपने अंग्रेजी नाम रखकर भारत में भारतीयों से ठगी करने वाले उनके एजेंटों से बात करते थे और इन्हीं नामों से भारत में मौजूद फर्जी कपंनियों के बैंक खातों को ऑपरेट कर रहे थे। आरोपी भारत में वाट्सएप कॉल करते थे। गिरफ्तार 11 आरोपियों के अलावा आईजीआई एयरपोर्र्ट से एक तिब्बती युवती पेमा वांगमो को गिरफ्तार किया गया है।

विज्ञापनफिलहाल तिब्बती युवती को बैंगलुरू पुलिस ले गई है। साइबर सेल इस युवती को ट्रांजिट रिमांड पर लाकर जल्द ही गिरफ्तार करेगी। हालांकि चीनी नागरिकों के पासपोर्ट आदि जब्त नहीं हुए है। जबकि इस वर्ष की शुरूआत में जब ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया था उस समय चीनी नागरिकों के पासपोर्ट जब्त् हुए थे।

साइबर सेल डीसीपी अन्येष रॉय ने बताया कि चीन में बैठकर पूरे भारत में ठगी का गिरोह चलाने वाले चीनी नागरिक छह भारतीय फोन चीन में चला रहे हैं। उनको भारतीय फोन उनके भारतीय एजेंटों ने दिए थे। बताया जा रहा है कि इनमें से कुछ चीनी नागरिक भारत आ चुके हैं और यहां पर कुछ समय तक रहे हैं। चीनी नागरिकों ने टॉनी व फियोना जैसे अंग्रेजी नाम रखे हुए हैं।

इन चीनी नागरिकों ने ठगी के लिए कई एप को अप्रैल महीने की शुरूआत में भारतीय बाजार में सर्कुलेट करना शुरू किया था। इसके बाद 12 मई को ये एप बंद हो गई। कुछ एप गूगल प्ले स्टोर तक पहुंच गई। पीड़ितों ने इन एप को गूगल प्ले स्टोर से डाउन लोड किया था। जबकि पीड़ितों को कुछ एप लिंक व ब्लक मैसेज के जरिए भेजी गई थीं। headtopics.com

साइबर सेल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पीड़ितों का पैसा पेमेंट गेटवे व यूपीआई के जरिए सेल कंपनियों के बैंक खातों में जाता था। इन बैंक खातों से हवाला व क्रिप्टो करेंसी के माध्यम ये चीन समेत अन्य देशों में जाता था। साइबर सेल इस बात की जांच कर रही है कि कंपनियों के बैंक खाते से पैसा किस-किस देश में जाता था।

आकाओं से कभी नहीं मिलेसाइबर सेल अधिकारियों ने बताया कि चीनी नागरिकों के इस गिरोह में कई ऐसे भारतीय काम कर रहे हैं जो कभी चीनी आकाओं से नहीं मिले और न ही उन्हें जानते। बस उनके लिए काम कर रहे थे। इन लोगों ने ही ठगी के लिए भारतीयों को गिरोह में भर्ती किया था। आरोपी रोबिन ने पूछताछ के दौरान बताया वो लोग इन एप्प के जरिये टेक्नोलॉजी के नाम पर रुपए कमाने का लालच लोगों को दे रहे थे। जो कोई इस एप्प को जॉइन करता तो उसे ऑड मेंबर्स बनाने का लालच दिया जाता था। जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग जुड़ सके।

टोक्यो ओलंपिक: भारत की महिला हॉकी टीम ने दक्षिण अफ़्रीका को हराया - BBC Hindi जेआरडी टाटा जिन्होंने एयर इंडिया को शिखर तक पहुंचाया - BBC News हिंदी भारत से ग़ायब कर दी गईं 14 कलाकृतियां लौटाएगा ऑस्ट्रेलिया - BBC Hindi

शुरू में ये 10 फीसदी मुनाफा देते थेपुलिस अधिकारियों के अनुसार ये कम से कम 300 रुपये इंवेस्ट कराते थे और दोगुना करने का झांसा देते थे। ज्यादा से ज्यादा रकम की कोई सीमा नहीं थी। शुरू में ये पीड़ित को 10 फीसदी मुनाफा देते थे। कुछ को ये प्रत्येक दिन का मुनाफा देते थे तो कुछ को ये 24 दिन में दोगुना रकम करने का झांसा देते थे। कुछ दिन तो ये पैसा देते थे उसके बाद ये गायब हो जाते थे। आरोपी ऐसे पैस डालते थे कि केवल मोबाइल एप्लीकेशन में ही नजर आते थे एकाउंट में नहीं।

टेलीग्राम के जरिए संपर्क करता थारॉबिन चीनी नागरिकों से टेलीग्राफ के जरिए संपर्क में रहता था। उमाकांत, वेदचंद्रा, हरीओम और अभिषेक दिल्ली के रहने वाले हैं। ये सभी शेल कंपनीज के यहीं डायरेक्टर थे। इन्होंने अपने परिजनों को भी कंपनियों में पदाधिकारी बना रखा था। वहीं आरोपी शशि बंसल और मिथलेश शर्मा ने बोगस कंपनियां और बैंक अकाउंट चीनी जालसाजों को मुहैया करवाए थे। आरोपी सीए अवकि ने पुलिस को बताया वे शेल कंपनीज अपने फैमिली मेंबर, दोस्त और एम्पलॉइज के नाम पर खोलते, जिन्हें वे चाइनीज नागरिकों को दो से तीन लाख में एक कंपनी को बेच देते। उसने चीनी नागरिकों के लिए 110 शेल कंपनियां बनाई थीं। कपंनियों में कुछ डमी डायरेक्टर भी बना रखे थे।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?हांखबर की भाषा और शीर्षक से आप संतुष्ट हैं?हांखबर के प्रस्तुतिकरण से आप संतुष्ट हैं?हांखबर में और अधिक सुधार की आवश्यकता है? और पढो: Amar Ujala »

उत्तराखंड बॉर्डर से दुल्हन के बिना लौटी बारात: पीलीभीत का दूल्हा तीन बार निकला कोरोना पॉजीटिव, अब 14 दिन बाद होगा निकाह; रिपोर्ट निगेटिव आने पर ही मिलेगी एंट्री

पीलीभीत से उत्तराखंड जा रही एक बारात को बगैर दुल्हन के ही बॉर्डर से लौटना पड़ा। बॉर्डर पर जब सभी बारातियों की जांच की गई तो उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई लेकिन, दूल्हा कोरोना पॉजीटिव निकल आया। चूंकि, शादी का मामला था इसलिए दूल्हे की एक नहीं, तीन बार एंटीजन जांच की गई। लेकिन, हर बार रिपोर्ट पॉजीटिव आई। दूल्हे के पॉजीटिव होने से बारातियों में हड़कंप मच गया। पुलिस ने दूल्हे की गाड़ी को वापस लौटा दिया। | The procession returned from Uttarakhand border without a bride;उत्तराखंड बॉर्डर से दुल्हन के बिना लौटी बारात

दुखद घटना: झारखंड में बिजली गिरने से पांच की मौतझारखंड के दुमका तथा रामगढ़ जिलों में मंगलवार को आकाशीय बिजली गिरने की विभिन्न घटनाओं में एक बालक समेत पांच लोगों की

14 महीने में बाजार 106% से ज्यादा बढ़ा: अर्थव्यवस्था से तेज भागा बाजार; निफ्टी 7,600 से 15,700 और सेंसेक्स 26,000 से 52,300 पर पहुंचा, एक्सपर्ट से जानिए ये कैसे हुआ?भारतीय शेयर बाजार रिकॉर्ड स्तर पर कारोबार कर रहा है। सेंसेक्स 52,300 और निफ्टी 15,700 के पार पहुंच गया। वहीं, कोरोना की दूसरी लहर के बाद लॉकडाउन के चलते देश की अर्थव्यवस्था की गाड़ी धीमी हुई है। ये महामारी का ही असर है, जो देश की आर्थिक ग्रोथ यानी GDP दर चार दशक के निचले स्तर पर आ गई। | Stock Market News Update: What is the condition of the share market today? डिपॉजिटरीज डेटा के मुताबिक फाइनेंशियल इयर 2020-21 में विदेशी संस्थागत निवेशकों (FII) ने 2.75 लाख करोड़ रुपए का इन्वेस्टमेंट किया, जो दो दशक में सबसे ज्यादा है। Financial marketing has changed my life I invested ₹70,000 in just 5days of trading I realized ₹800,000 and extra bonus of ₹45,000 worth of bitcoin in to my wallet. Contact him with your little capital sharon_cryptofx

'फिर कोरोना की तीसरी, चौथी लहर से कोई नहीं बचा सकता', एक्सपर्ट की चेतावनीकोरोना केस में लगातार कमी आती जा रही है. देश में कहर बरपाने वाले वायरस की रफ्तार अब मंद पड़ चुकी है. आज 24 घंटे में एक लाख से कम मामले सामने आए. ऐसे में उम्मीद जगी है कि कोरोना की दूसरी लहर जल्द खत्म हो जाएगी. लेकिन इसी के साथ विशेषज्ञ तीसरी लहर की भी चेतावनी दे रहे हैं. इसी मुद्दे पर चर्चा के दौरान स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने तीसरी लहर के साथ ही चौथी लहर की भी शंका जताई. वीडियो में देखें एक्सपर्ट ने ये चेतावनी क्यों दी. Ye sab aise hi chalta rahega aur inshan marata rahega..

'जेल की Diet से नहीं भर रहा पेट, चाहिए प्रोटीन शेक', Sushil Kumar की शिकायतसागर हत्याकांड के आरोपी पहलवान सुशील कुमार को जेल का खाना कम पड़ रहा है. उन्होंने इस मामले को लेकर अदालत में अर्जी दाखिल की है. जिस पर सुनवाई के बाद दिल्ली की एक अदालत ने अपना आदेश सुरक्षित रख लिया है. अर्जी में उच्च प्रोटीन और पूरक आहार की मांग की गई थी. कोर्ट कल (बुधवार) को इस पर आदेश देगी. मंडोली जेल में बंद सुशील कुमार अपने खाने को लेकर परेशान हैं. जेल के खाने से पहलवान सुशील कुमार का पेट नहीं भर रहा है. ज्यादा जानकारी के लिए देखें वीडियो. He deserves to starve….. 😜😜😜😜 Good.... You fully deserve for this situation.. I think there should be no specialization... Only the common food that is cooked in jail should be given to him..Dear it's jail, not your inlowshouse.

अस्पताल से आई दिलीप कुमार की तस्वीर, सायरा बानो ने की शेयरअभिनेता दिलीप कुमार मुंबई के हिंदुजा अस्पताल में भर्ती हैं। दिलीप कुमार के प्रशंसक अभिनेता की तबीयत को लेकर काफी परेशान हैं और सोशल मीडिया से लगातार जानकारी ले रहे हैं। सायरा बानो सोशल मीडिया के माध्यम से दिलीप कुमार के BollywoodGossip DilipKumar

Coronavirus India: बिहार में लॉकडाउन खत्म, शाम सात बजे से सुबह पांच बजे तक कर्फ्यूदेश में कोरोना वायरस के दैनिक मामले पिछले 61 दिनों में सबसे कम दर्ज हुए। स्वास्थ्य मंत्रालय ने जानकारी दी कि सोमवार को पहले से था भी