पश्चिम बंगाल चुनाव: मुस्लिम आबादी वाली सीटों पर त्रिकोणीय मुक़ाबले का फ़ायदा ममता को या मोदी को? - BBC News हिंदी

पश्चिम बंगाल चुनाव: मुस्लिम आबादी वाली सीटों पर त्रिकोणीय मुक़ाबले का फ़ायदा ममता को या मोदी को?

04-03-2021 15:46:00

पश्चिम बंगाल चुनाव: मुस्लिम आबादी वाली सीटों पर त्रिकोणीय मुक़ाबले का फ़ायदा ममता को या मोदी को?

कांग्रेस लेफ़्ट के साथ फ़ुरफ़ुरा शरीफ़ के जुड़ने, औवैसी के मैदान में उतरने से क्या मुस्लिम वोट बिखर जाएंगे? किसको मिलेगा इसका लाभ?

बीजेपी को फ़ायदाऐसे में सवाल उठता है कि क्या टीएमसी का नुक़सान बीजेपी को फ़ायदा पहुँचा सकता है?इस पर महुआ कहती हैं, "अगर ओवौसी कुछ सीटों पर वोट काट सके तो ऐसा संभव है. कोशिश पूरी है कि ओवैसी को बंगाल चुनाव में चिराग पासवान बनाया जाए."जैसे चिराग ने बिहार चुनाव में सीटें भले ही ना जीती हों, लेकिन नीतीश कुमार की पार्टी की सीटें ज़रूर घटा दीं थी. वैसे ही इस बार ओवैसी भले ही बंगाल चुनाव में जीत ना दर्ज करें. लेकिन टीएमसी का खेल ख़राब कर सकते हैं.

अफ़़ग़ानिस्तान में अमेरिका-ब्रिटेन की सेना के 20 साल: आख़िर हासिल क्या हुआ? - BBC News हिंदी भाजपा मेरे फ़ोन कॉल की रिकॉर्डिंग करवा रही है: ममता बनर्जी - आज की बड़ी ख़बरें - BBC Hindi दिल्ली में ऑक्सीजन और रेमडेसिविर दवा की कमीः अरविंद केजरीवाल -आज की बड़ी ख़बरें - BBC Hindi

वो बताती हैं कि लेफ़्ट कांग्रेस और अब्बास सिद्दीक़ी की पार्टी की संयुक्त रैली के बाद लेफ्ट के वोटर बहुत उत्साहित नज़र नहीं आ रहे. ऐसे में देखना होगा कि बंगाल में लेफ़्ट का प्रदर्शन कैसा रहेगा. लेफ़्ट और कांग्रेस के साथ आने से जो चुनाव त्रिकोणीय लगने लगा था, वो अब दोबारा से ममता - मोदी के बीच का मुक़ाबला बनता जा रहा है.

एक दूसरी बात भी है जिस पर ध्यान देने की ज़रूरत है. ओवैसी और सिद्दीक़ी के आने से वोटों का ध्रुवीकरण ज़रूर होगा, हिंदू वोट और ज़्यादा संगठित होंगे और इसका फ़ायदा बीजेपी को हमेशा होता है. बीजेपी की रणनीति ऐसा करने की दिख भी रही है.कांग्रेस के अंदर ही अब्बास सिद्दीक़ी की पार्टी के साथ गठबंधन पर ख़ूब खींचतान चल रही है. आनंद शर्मा ने इस गठबंधन पर जैसे ही सवाल खड़े किए, तो अगले ही दिन बीजेपी ने इस पर प्रेस कांफ्रेंस कर कांग्रेस गठबंधन पर मुस्लिम तुष्टीकरण के आरोप लगा दिए. यही आरोप वो टीएमसी पर भी लगाते आई है. headtopics.com

ममता पर मुस्लिम तुष्टीकरण का आरोपसाल 2011 में राज्य की सत्ता में आने के साल भर बाद ही ममता ने इमामों को ढाई हज़ार रुपए का मासिक भत्ता देने का एलान किया था. उनके इस फ़ैसले की काफ़ी आलोचना की गई थी. कलकत्ता हाईकोर्ट की आलोचना के बाद अब इस भत्ते को वक़्फ़ बोर्ड के ज़रिए दिया जाता है.

लेकिन इस बार बीजेपी ने उन पर मुस्लिम तुष्टीकरण के साथ हिंदू विरोधी होने के आरोप भी लगाए हैं.इसके बाद ममता बनर्जी ने अपनी रणनीति थोड़ी बदली है. ममता ने राज्य के लगभग 37 हज़ार दुर्गापूजा समितियों को 50-50 हज़ार रुपए का अनुदान देने का एलान किया है. यही नहीं, कोरोना और लॉकडाउन की वजह से आर्थिक तंगी का रोना रोने वाली मुख्यमंत्री ने पूजा समितियों को बिजली के बिल में 50 फ़ीसद छूट देने का भी एलान किया. राज्य के आठ हज़ार से ज़्यादा ग़रीब ब्राह्मण पुजारियों को एक हज़ार रुपए मासिक भत्ता और मुफ़्त आवास देने की घोषणा की थी.

इमेज स्रोत,ओवैसीफ़ैक्टरबंगाल के अल्पसंख्यक मुख्य रूप से दो धार्मिक संस्थाओं का अनुसरण करते हैं. इनमें से देवबंदी आदर्शों पर चलने वाले जमीयत उलेमा-ए-हिंद के अलावा फुरफुरा शरीफ़ शामिल है.प्रोफ़ेसर समीर दास कोलकाता विश्वविद्यालय में पॉलिटिकल साइंस के प्रोफ़ेसर हैं. बंगाल से फ़ोन पर बीबीसी से बातचीत में उन्होंने कहा, "अब्बास सिद्दीक़ी और ओवैसी दोनों के मैदान में उतने से बंगाल के मुसलमान वोट बंट जाएँगे. दोनों नेताओं के फॉलोअर अलग-अलग हैं. अब्बास सिद्दीक़ी जिस फुरफुरा शरीफ़ के पीरज़ादा हैं उसको मानने वाले मॉडरेट मुसलमान माने जाते हैं. जबकि ओवैसी जिस तरह का प्रचार करते हैं, उनके साथ कट्टर मुसलमान ज़्यादा जुड़ते हैं."

जनवरी के महीने में ओवैसी ने अब्बास सिद्दीक़ी से मुलाक़ात की थी. कहा जा रहा था कि ओवैसी और अब्बास सिद्दीक़ी साथ आ सकते हैं. लेकिन अब्बास सिद्दीक़ी के लेफ़्ट कांग्रेस गठबंधन के साथ आने की वजह से समीकरण थोड़े बिगड़े नज़र आ रहे हैं.प्रोफ़ेसर समीर कहते हैं, "हमने हाल के दिनों में देखा है कि सिद्दीक़ी जिस तरह की भाषा बोल रहे हैं, वो धीरे-धीरे ओवैसी जैसे ही कैम्पेन मोड में आ जाएंगे. फ़ुरफ़ुरा शरीफ को मानने वाले दक्षिण बंगाल के कुछ इलाक़ों में ही हैं. पश्चिम बंगाल के मुसलमान ये जानते हुए भी कि लेफ़्ट के साथ उनका गठबंधन इस बार सत्ता में नहीं आएगा, फिर भी वो अब्बास सिद्दीक़ी के लिए वोट करेंगे." headtopics.com

हार्वर्ड स्टडी ने नहीं की यूपी सरकार के प्रवासी संकट प्रबंधन की तारीफ़, मीडिया का दावा ग़लत दिल्ली में कोरोना के 24000 नए केस आए, ऑक्सीजन और बेड की कमी : अरविंद केजरीवाल प्रिंस फ़िलिप के अंतिम संस्कार की प्रक्रिया शुरू, सिर्फ़ 30 लोग शामिल - BBC News हिंदी

ओवैसी बंगाल चुनाव में कितनी बड़ी भूमिका अदा कर सकते हैं?इस पर प्रोफ़ेसर सेन कहते हैं, "किसे मालूम था कि बिहार में वो इतनी सीटें जीतेंगें? इसलिए उनको पूरी तरह से दरकिनार नहीं किया जा सकता. वो जिस तरह से प्रचार करते हैं, मुसलमानों को हाशिए पर किए जाने की बात करते हैं, इसमें कोई दो राय नहीं कि इस चुनाव में वो उसी तरह का प्रचार करेंगे और कट्टर मुसलमानों का गुट उनके साथ जुड़ेगा भी. भले ही उनको मिलने वाले वोट, उन्हें बंगाल में सीट ना जीता पाएं लेकिन एक बड़े मुसलमान तबक़े को अपनी तरफ़ कर सकते हैं."

और पढो: BBC News Hindi »

पुलिस की मारपीट का वीडियो वायरल: रिक्शा चालक ने कहा- मास्क न पहनने पर पुलिस ने बीच सड़क पर पीटा, पुलिस का दावा-गिरफ्तारी से बचने किया हंगामा, दो जवान SP ऑफिस अटैच

इंदौर परदेशीपुरा इलाके में मंगलवार को मास्क न लगाने की बात पर दो पुलिस जवानों ने एक ऑटो रिक्शा चालक कृष्णकांत को रोका और कार्रवाई की तो विवाद हो गया। जवानों ने उसे घेरकर सड़क पर पटका और बेरहमी से पीटना शुरू कर दिया। इस दौरान उसका 11 साल का बेटा पिता काे छाेड़ने के लिए गिड़गिड़ाता रहा, फिर भी दोनों जवान नहीं माने। | Video of police going to catch the culprit viral viral SP suspends both soldiers

मुस्लिम इसलिए बर्बाद हैँ क्योंकि ये खुद फिरको मे बटे है😂 Modi ne to mrva he dita c muslim loka nu 2014vich te hun votes soch k pona es khoon pini Sarkar nu 🙏 Modiji.? Bjp करता मतलब है इस तरह हिन्दू मुस्लिम आधार बनाने का? इस पोस्ट और इस हेडलाइन को समझो और १८५७ और १९०६ बंगाल बटवारे को आज स्टडी करो, कुछ तो समझ मै आएगा ये फिरगि कितने बड़े छिपे हुवे सत्तू दीमक है

मत पड़ो दुसरो के चक्कर मे कोई नही है मजलिस की टक्कर में Aimim जिन्दाबाद ओवैसी साब good लिडर त्रिकोण के चक्कर में ना रहे सभी सीटों पर सीधा मुकाबला है भ्रम ना पालें सामने कौन है इस से मतलब नहीं वोट जुमलों के आधार पर होगा ममता को ही जाएगा जुठकी राजनीति करने वाली भाजपा सरकार नहि ये सिर्फ़ भाषण में अच्छे दिन

Sirf muslim seat par hi trikon muqabla karana hai media ko baki seat reservation Ki hai Kay jago Muslim vote jisko bhi to achcha bura samajhkar ko kyu ki vote 5 saal me ek bar dena hai magar glat faisle ka afsos 5 saal rahega Say directly it’s useful to TMC....Nonsense news channel....BanBBC