पश्चिम बंगाल में कोरोना से बदहाल और आतंकित हैं ग्रामीण इलाक़े - BBC News हिंदी

पश्चिम बंगाल में कोरोना से बदहाल और आतंकित हैं ग्रामीण इलाक़े

12-05-2021 16:47:00

पश्चिम बंगाल में कोरोना से बदहाल और आतंकित हैं ग्रामीण इलाक़े

पश्चिम बंगाल सरकार भले ही बेड और ऑक्सीजन की कमी न होने का दावा करे, ग्रामीण इलाक़ों की तस्वीर बदहाल ही है.

सरकार का दावाहालाँकि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य में सबको मुफ़्त वैक्सीन देने का वादा किया है.मुख्य सचिव आलापन बनर्जी कहते हैं, "किसी को चिंतित होने की ज़रूरत नहीं है. सबको टीका मिलेगा."उनका कहना है कि प्रशिक्षित चिकित्साकर्मियों ने अब तक क़रीब साढ़े तीन लाख डोज़ बचाए हैं.

हिमाचल में गडकरी के सामने बवाल: मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के सिक्योरिटी ऑफिसर और कुल्लू SP के बीच जमकर चले लात-घूंसे इससे बड़ी लापरवाही नहीं हो सकती: मुंबई के सरकारी हॉस्पिटल के ICU में भर्ती मरीज की आंख कुतर गया चूहा, इलाज के दौरान मौत हुई योगी संग लंच के बाद केशव का यू-टर्न: UP के डिप्टी CM मौर्य बोले- CM के साथ थे, हैं और रहेंगे; 11 दिन पहले कहा था- CM का फेस दिल्ली तय करेगा

स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारी अजय कुमार बताते हैं, "वैक्सीन की दूसरी डोज़ के मामले में बंगाल आंध्र प्रदेश के बाद दूसरे स्थान पर है. यहाँ पहली डोज़ लेने वालों में से 37.37 फ़ीसदी को दूसरी डोज़ मिल चुकी है. राज्य में अब तक 1.22 करोड़ लोगों को वैक्सीन दी जा चुकी है."

स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि डॉक्टरों की कमी दूर करने के लिए एमबीबीएस पास करने वाले युवकों और इंटर्नों की भी तैनाती की जा रही है.ऑक्सीजन सिलिंडर 35 हज़ार रुपए में ख़रीदने पर मजबूर लखनऊ के लोगमुख्य सचिव आलापन बनर्जी बताते हैं, "सरकार ने इंटीग्रेटेड कोविड मैनेजमेंट सिस्टम (आईसीएमसी) शुरू किया है. वहाँ एक ही जगह बेड से लेकर ऑक्सीजन और वैक्सीन की जानकारी उपलब्ध कराई जा रही है. इसके साथ ही ऑक्सीजन मैनेजमेंट इन्फार्मेशन सिस्टम भी शुरू किया गया है." headtopics.com

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र से पूरे देश के लिए समान टीकाकरण नीति अपनाने की अपील की है.उनका कहना है कि पश्चिम बंगाल को कम से कम तीन करोड़ टीकों की ज़रूरत है.मुख्यमंत्री ने अल्पसंख्यक समुदाय के नेताओं के साथ एक बैठक में घर पर ही नमाज पढ़ने और ईद मनाने का अनुरोध भी किया है.

और पढो: BBC News Hindi »

Galwan Valley में हुई हिंसक झड़प के एक साल बाद LaC पर क्या बदला? देखें खबरदार

आज 15 जून है यानि गलवान घाटी में चीन और भारत के बीच हुई हिंसक झड़प का एक साल पूरा हो गया है, जिसमें भारत के 20 सैनिकों ने अपनी शहादत दी थी और चीन को करारा जवाब दिया था. गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प के एक साल बाद LaC पर क्या बदला है? पिछले एक साल में चीन और उसकी सेना को भारत की तरफ से क्या मैसेज दिया गया है? और इस वक्त LaC पर क्या हालात हैं? देखें खबरदार का ये एपिसोड.

Government's mistake फैलाने वाले मोदी जी रैली ,चुनाव किस राज्य मे नही? इतनी बड़ी गलती क्यों? समय रहते जिस तरह मोदी सरकार ने लोगो से ताली,थाली,चम्मच,बाल्टी,दिया, टॉर्च,बत्ती जलवाई उसी तरह पागल अंधभक्त गाय के मल मूत्र से कोरोना जैसे महामारी से लड़ने का दावा कर रहे है जो मोदी जैसे किए गया अपील की तरह सिर्फ मानसिक रूप से पागल लोग फॉलो करते है और करेंगे

कक्षा 12 के बच्चों को असमंजस में डाल रखा है सरकार को स्पष्ट होने की जरूरत। कक्षा 12 की परीक्षा जल्द से जल्द रद्द हो।

पश्चिम बंगाल: विभागों का हुआ बंटवारा, गृह और स्वास्थ्य ममता के पास, जानिए पूरा मंत्रिमंडलपश्चिम बंगाल: विभागों का हुआ बंटवारा, गृह और स्वास्थ्य ममता के पास, जानिए पूरा मंत्रिमंडल WestBengal BengalCabinet MLA Minister MamataOfficial PMOIndia BJP4India INCIndia MamataOfficial PMOIndia BJP4India INCIndia Kya karenge inka mantrimandal jaan kar tin chhar sin pahle ye akeli thi nirdoshon ko marwane me ab 42-43 aur ho gaye.Kumar46134225 itz_pandit007 ChhaviM64961343 MamataOfficial PMOIndia BJP4India INCIndia बिना विधायक की मुख्यमंत्री और गृह मंत्री ? MamataOfficial PMOIndia BJP4India INCIndia सभी लोगों को हार्दिक बधाई 💐💐💐💐💐💐💐💐

Bengal Violence: हिंसा के मद्देनजर बंगाल में भाजपा के सभी 77 विधायकों को मिलेगी केंद्रीय सुरक्षाबंगाल विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद से भाजपा नेताओं कार्यकर्ताओं और समर्थकों पर लगातार हमले की शिकायतें केंद्र सरकार को मिल रही है। इसी के मद्देनजर केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राज्य के सभी नवनिर्वाचित विधायकों को सुरक्षा देने का निर्णय लिया है। ओके और आम जन को क्या मिलेगा ।। भाजपा का समर्थन करने का परिणाम हिंसा क्या केवल वहीं उनके हिस्से आएगा साहब बंगाल के अलावा भी देख लीजिए

बंगाल में हुई हिंसा के विरोध में अमेरिका के तीस शहरों में प्रदर्शन, ब्रिटेन समेत कई देशों ने की निंदापश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनावों के बाद हुई हिंसा के विरोध में अमेरिका के तीस शहरों में विरोध प्रदर्शन किया गया है। ब्रिटेन समेत कई अन्य देशों में भी हिंसा की निंदा। प्रदर्शनकारियों ने चुनाव बाद हिंसा को बताया नरसंहार। Godi media.

फेक न्यूज एक्सपोज: कोरोना संकट को नजरअंदाज कर बंगाल हिंसा के विरोध में धरने पर बैठे स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन? पड़ताल में 2 साल पुरानी निकली फोटोक्या हो रहा है वायरल: सोशल मीडिया पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन की एक फोटो वायरल हो रही है। फोटो में डॉ. हर्षवर्धन भाजपा नेताओं के साथ धरना देते हुए नजर आ रहे हैं। नेताओं के हाथ में बंगाल बचाओ, लोकतंत्र बचाओ का बोर्ड है और मुंह पर उंगली रख कर वह मौन प्रदर्शन कर रहे हैं। | Health Minister Dr. Harsh Vardhan sitting on protest against Bengal violence ignoring the Corona crisis? 2-year-old photo came out in the investigation And ultimately, the culprit is twitter 😂😂😂😂😂😂 It's true or fake

मॉर्निंग न्यूज ब्रीफ: बंगाल में BJP के सभी 77 विधायकों को केंद्रीय सुरक्षा, छत्तीसगढ़ में शराब के इतने ऑर्डर कि ऐप क्रैश हुआ और UP के गांवों में कोरोना से मौत का सिलसिलानमस्कार!\nक्यों टला कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव? पड़ोसी देश नेपाल की सियासत में क्या उलटफेर हुआ? बिहार के बक्सर में बिना जलाए क्यों गंगा में बहाए जा रहे शव? आज सुबह हम ऐसी ही खास खबरें आपके लिए लेकर आए हैं। तो चलिए शुरू करते हैं मॉर्निंग न्यूज ब्रीफ… | Dainik Bhaskar Morning Headlines; Here are today's top stories for you On Central security to all 77 BJP MLAs in Bengal To the Government’s App crashed due to abundant orders for home delivery of liquor And Large number of deaths in UP villages due to Corona And More On Dainik Bhaskar (दैनिक भास्कर) BJP4Bengal GOONISM OF TMC UNDER MAMATA MENTAL IS CURSE FOR NATION AND HUMANITY !

इस बार तो बंगाल को टैगोर का जन्मोत्सव मनाने का हक़ है...2021 में बंगाल गर्वपूर्वक अपने कवि से कह सकता है, ये जो फूल आपको अर्पित करने मैं आया हूं वे सच्चे हैं, नकली नहीं. इस बार प्रेम, सद्भाव, शालीनता के लिए स्थान बचा सका हूं. यह कितने काल तक रहेगा इसकी गारंटी नहीं पर यह क्या कम है कि इस बार घृणा और हिंसा के झंझावात में भी ये कोमल पुष्प बचाए जा सके. गृह मंत्रालय की टीम बंगाल हिंसा की जांच करेगी पुलवामा में जो जवान शहीद हुए थे उनकी जांच की जरूरत नहीं है