Maharashtra, Uddhavthackeray, Mva, Uddhav Thackeray, Cm Of Maharashtra, Mva, Sharad Pawar, Devendra Fadanvis, Shivsena

Maharashtra, Uddhavthackeray

पवार का खुलासा: मैंने ही उद्धव ठाकरे को महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बनाने के लिए डाला था दबाव

एनसीपी प्रमुख पवार ने कहा कि जब हमने एमवीए बनाने और गठबंधन के नेतृत्व पर चर्चा करने के लिए एक बैठक की, तो मैंने उद्धव

16-10-2021 17:24:00

पवार का खुलासा: मैंने ही उद्धव ठाकरे को महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बनाने के लिए डाला था दबाव Maharashtra UddhavThackeray MVA BJP PawarSpeaks Dev_Fadnavis

एनसीपी प्रमुख पवार ने कहा कि जब हमने एमवीए बनाने और गठबंधन के नेतृत्व पर चर्चा करने के लिए एक बैठक की, तो मैंने उद्धव

एनसीपी प्रमुख शरद पवार (file photo)- फोटो : PTIख़बर सुनेंख़बर सुनेंएनसीपी अध्यक्ष शरद पवार ने शनिवार को कहा कि उन्होंने ही दो साल पहले महा विकास अघाड़ी (एमवीए) के गठन के बाद उद्धव ठाकरे को महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बनाने पर जोर दिया था। उनका यह बयान भाजपा नेता व पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस के इस दावे के बाद आया कि ठाकरे ने सीएम बनने की महत्वाकांक्षाओं को अपने अंदर पाला था, लेकिन किसी शिव सैनिक को इस पद पर बैठाने की बात कहते रहे।

रूस ने अगर यूक्रेन पर हमला किया तो हम चुप नहीं बैठेंगे: अमेरिका - BBC Hindi बीबीसी के अंतरराष्ट्रीय ऑडियंस में भारत पहले पायदान पर बरक़रार - GAM रिपोर्ट - BBC News हिंदी प्रशांत किशोर ने फिर कांग्रेस नेतृत्व को निशाने पर लिया - BBC Hindi

पुणे जिले के पिंपरी चिंचवाड़ शहर में पत्रकारों से बात करते हुए पवार ने अपने आरोपों को दोहराया कि केंद्र महाराष्ट्र में शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस की सरकार को अस्थिर करने के लिए विभिन्न एजेंसियों का दुरुपयोग कर रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा ईंधन की बढ़ती कीमतों के मुद्दे पर चुप है। उन्होंने भगवा पार्टी पर कच्चे तेल की अंतरराष्ट्रीय कीमतों में गिरावट के बावजूद पेट्रोल और डीजल की कीमतें कम नहीं करने का आरोप लगाया।

पवार ने कहा, ठाकरे को तीन दलों (एमवीए) के नेताओं द्वारा चुना गया था। एमवीए का गठन मेरे व कई लोगों के योगदान से हुआ था। जब हमने एमवीए बनाने और गठबंधन के नेतृत्व पर चर्चा करने के लिए एक बैठक की, तो मैंने उद्धव ठाकरे को मुख्यमंत्री बनाने पर जोर डाला था। मैंने इन लोगों को बचपन से देखा है। शिवसेना संस्थापक बालासाहेब ठाकरे और मेरे बीच राजनीतिक मतभेद हो सकते हैं, लेकिन हम करीब थे। headtopics.com

पंजाब के किसानों को परेशान मत करोइसके साथ ही शरद पवार ने कहा कि केंद्र सरकार को नए कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे आंदोलन को संवेदनशीलता के साथ संभालना चाहिए। उसे ध्यान रखना चाहिए कि अधिकांश प्रदर्शनकारी एक सीमावर्ती राज्य पंजाब से हैं।खालिस्तान आतंकवाद के दौरान पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि देश ने अतीत में पंजाब को परेशान करने की कीमत चुकाई है।

पिंपरी में पत्रकारों से बात करते हुए पवार दिल्ली की सीमाओं पर किसानों के आंदोलन के बारे में एक सवाल का जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा कि मैं वहां (विरोध स्थल पर) दो-तीन बार जा चुका हूं। केंद्र सरकार का रुख तर्कसंगत नहीं लगता। आंदोलन में भाग लेने वाले हरियाणा और उत्तर प्रदेश सहित कई राज्यों से हैं, लेकिन उनमें से ज्यादातर पंजाब से हैं।

उन्होंने कहा, केंद्र सरकार को मेरी सलाह है कि पंजाब के किसानों को परेशान न होने दें, यह एक सीमावर्ती राज्य है। अगर हम किसानों और सीमावर्ती क्षेत्रों के लोगों को परेशान करेंगे, तो इसके अलग परिणाम होंगे। राकांपा प्रमुख ने कहा, हमारे देश ने पंजाब को परेशान करने की कीमत चुकाई है, यहां तक कि (तत्कालीन प्रधानमंत्री) इंदिरा गांधी की भी जान चली गई। दूसरी ओर पंजाब के किसानों, चाहे वे सिख हों या हिंदू, दोनों ने खाद्य आपूर्ति में अहम योगदान दिया है।

विस्तारएनसीपी अध्यक्ष शरद पवार ने शनिवार को कहा कि उन्होंने ही दो साल पहले महा विकास अघाड़ी (एमवीए) के गठन के बाद उद्धव ठाकरे को महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बनाने पर जोर दिया था। उनका यह बयान भाजपा नेता व पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस के इस दावे के बाद आया कि ठाकरे ने सीएम बनने की महत्वाकांक्षाओं को अपने अंदर पाला था, लेकिन किसी शिव सैनिक को इस पद पर बैठाने की बात कहते रहे। headtopics.com

'एक विशेष व्‍यक्ति का दैवीय हक नहीं..' : प्रशांत किशोर ने राहुल गांधी पर कसा तंज हरियाणा: विदाई के बाद ससुराल जा रही थी दुल्हन, पूर्व प्रेमी ने रास्ते में मारी गोली केशव प्रसाद मौर्य के 'मथुरा की तैयारी है' बयान पर बोलीं मायावती - BBC Hindi

विज्ञापनपुणे जिले के पिंपरी चिंचवाड़ शहर में पत्रकारों से बात करते हुए पवार ने अपने आरोपों को दोहराया कि केंद्र महाराष्ट्र में शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस की सरकार को अस्थिर करने के लिए विभिन्न एजेंसियों का दुरुपयोग कर रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा ईंधन की बढ़ती कीमतों के मुद्दे पर चुप है। उन्होंने भगवा पार्टी पर कच्चे तेल की अंतरराष्ट्रीय कीमतों में गिरावट के बावजूद पेट्रोल और डीजल की कीमतें कम नहीं करने का आरोप लगाया।

पवार ने कहा, ठाकरे को तीन दलों (एमवीए) के नेताओं द्वारा चुना गया था। एमवीए का गठन मेरे व कई लोगों के योगदान से हुआ था। जब हमने एमवीए बनाने और गठबंधन के नेतृत्व पर चर्चा करने के लिए एक बैठक की, तो मैंने उद्धव ठाकरे को मुख्यमंत्री बनाने पर जोर डाला था। मैंने इन लोगों को बचपन से देखा है। शिवसेना संस्थापक बालासाहेब ठाकरे और मेरे बीच राजनीतिक मतभेद हो सकते हैं, लेकिन हम करीब थे।

पंजाब के किसानों को परेशान मत करोइसके साथ ही शरद पवार ने कहा कि केंद्र सरकार को नए कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे आंदोलन को संवेदनशीलता के साथ संभालना चाहिए। उसे ध्यान रखना चाहिए कि अधिकांश प्रदर्शनकारी एक सीमावर्ती राज्य पंजाब से हैं।खालिस्तान आतंकवाद के दौरान पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि देश ने अतीत में पंजाब को परेशान करने की कीमत चुकाई है।

पिंपरी में पत्रकारों से बात करते हुए पवार दिल्ली की सीमाओं पर किसानों के आंदोलन के बारे में एक सवाल का जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा कि मैं वहां (विरोध स्थल पर) दो-तीन बार जा चुका हूं। केंद्र सरकार का रुख तर्कसंगत नहीं लगता। आंदोलन में भाग लेने वाले हरियाणा और उत्तर प्रदेश सहित कई राज्यों से हैं, लेकिन उनमें से ज्यादातर पंजाब से हैं। headtopics.com

उन्होंने कहा, केंद्र सरकार को मेरी सलाह है कि पंजाब के किसानों को परेशान न होने दें, यह एक सीमावर्ती राज्य है। अगर हम किसानों और सीमावर्ती क्षेत्रों के लोगों को परेशान करेंगे, तो इसके अलग परिणाम होंगे। राकांपा प्रमुख ने कहा, हमारे देश ने पंजाब को परेशान करने की कीमत चुकाई है, यहां तक कि (तत्कालीन प्रधानमंत्री) इंदिरा गांधी की भी जान चली गई। दूसरी ओर पंजाब के किसानों, चाहे वे सिख हों या हिंदू, दोनों ने खाद्य आपूर्ति में अहम योगदान दिया है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?हांखबर की भाषा और शीर्षक से आप संतुष्ट हैं?हांखबर के प्रस्तुतिकरण से आप संतुष्ट हैं?हांखबर में और अधिक सुधार की आवश्यकता है? और पढो: Amar Ujala »

वारदात: तेज हो गई समीर-नवाब की तकरार, क्या है स्कूल सर्टिफिकेट की सच्चाई?

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के मुंबई के जोनल हेड समीर वानखेड़े के बर्थ सर्टिफिकेट और मैरिज सर्टिफिकेट के बाद महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक कथित रूप से उनके ये दो नए सर्टिफिकेट लेकर आए हैं. नवाब मलिक के मुताबिक समीर दादर के सेंट पॉल हाईस्कूल से प्राथमिक शिक्षा ली थी. इस सर्टिफिकेट में समीर वानखेड़े का नाम वानखेड़े समीर दाऊद लिखा है. यहां ये भी लिखा है कि छात्र की जाति और उपजाति तभी बताई जाए जब वो पिछड़े वर्ग, या अनुसूचचित जाति-जनजाति से आए. जबकि धर्म के कॉलम में लिखा है मुस्लिम. इसके बाद समीर वडाला के सेंट जॉसेफ हाईस्कूल में पढने गए. यहां के स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट में समीर का नाम वानखेड़े समीर दाऊद लिखा है. और धर्म के कॉलम में लिखा है मुस्लिम. दरअसल नवाब मलिक समीर वानखेड़े को मुसलमान साबित करने के लिए इसलिए जुटे हैं क्योंकि अगर उनकी बात सही साबित हो गई तो समीर वानखेड़े के नौकरी खतरे में पड़ जाएगी. देखें वीडियो.

आरती खोसला का कॉलम: वायु प्रदूषण पर डब्ल्यूएचओ के निर्देशों का भारत पर असरविश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने 2005 के बाद पहली बार वायु गुणवत्ता दिशानिर्देशों में संशोधन कर नए दिशानिर्देश जारी किए हैं। ये हमारी सेहत के लिए नुकसानदेह प्रदूषकों पर लगाम कसने और उनकी सीमा निर्धारित करने का काम करते हैं। ये वायु प्रदूषण के स्वास्थ्य प्रभावों का आंकलन भी प्रदान करते हैं। इसके चलते इन्हें कई सरकारें अपने देश के वायु गुणवत्ता मानकों का आधार बनाती हैं। | Aarti Khosla's column - Impact of WHO's directives on air pollution on India

भारतीय अंडर-19 टीम के पूर्व कप्तान का दिला का दौरा पड़ने से हुआ निधनमहज 29 की उम्र में दुनिया छोड़ गए सौराष्ट्र के विकेटकीपर और अंडर-19 टीम के पूर्व कप्तान अवि बरोट CricketerDies CardiacArrest CricketerDeath RanjiCricketer FormerU19Captain AviBarot SaurashtraCricket IndianCricketer

दिल्ली के चिड़ियाघर में 'जटायु' दीदार कर सकेंगे लोग, बबून के साथ बने आकर्षण का केंद्रचिड़ियाघर में मिस्र से आए गिद्ध का नाम अब रामायण के पौराणिक चरित्र जटायु के नाम पर रखा गया है। इसके साथ ही मादा बबून का नाम भूमि रखा गया है। चिड़ियाघर प्रबंधन ने ये दोनों ही नाम आम जनता के सुझाव के बाद रखने तय किए हैं। बहुत सुंदर Delhi ka chidiya ghar open ho gya kya

Rajasthan: बिजली संकट के बीच केंद्रीय मंत्री का बयान- बिताओ एक रात चांद के साथजोधपुर में अर्जुन मेघवाल शुष्क वन अनुसंधान संस्थान आफरी के कार्यक्रम में शिरकत कर रहे थे। जहां उन्होंने संस्कृति एंव पर्यावरण मानव जीवन के अभिन्न अंग है बताते हुए देश की संस्कृति एवं पर्यावरण को बचाना सभी का कर्तव्य बताया। Hello up वालो का बयान भी दे दो जागरण वालो ऊर्जा मंत्री कह रहे हैं कि 17रुपए यूनिट खरीदकर 6रुपए दे रहे हैं Tum hi bitao BJP4India walo Din me SURAJ , RAAT M CHANDA MAMA,rog END OM JI

बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने लिया शिवराज सरकार के खिलाफ स्टैंड, मिला कांग्रेस का साथकांग्रेस और भाजपा के विरोध के बाद मध्यप्रदेश सरकार को सांड़ों का बधियाकरण करने के आदेश को वापस लेना पड़ा। भले ही सरकार ने राजनीतिक दबाव में इस आदेश को वापस ले लिया हो लेकिन पशु चिकित्सा विशेषज्ञ इसे ठीक नहीं मानते हैं।

महिला बिग बैश लीग पर कोरोना का साया, ऑस्ट्रेलिया के इस राज्य में लगा लॉकडाउनहोबार्ट हरिकेन्स को महिला बिग बैश लीग (WBBL) में वीकेंड पर होने वाले अपने मुकाबले खाली स्टेडियम में खेलने पड़ सकते हैं। दरअसल क्वारंटीन के दौरान एक व्यक्ति होटेल से भाग गया था। जिसके कारण तस्मानिया राज्य में तीन दिन का लॉकडाउन लगा दिया गया है।