Nepal, İndian Devotees, Kailash Mansarovar, नेपाल, भारतीय श्रद्धालु, कैलाश मानसरोवर, कैलाश मानसरोवर यात्रा, World News İn Hindi, World Hindi News

Nepal, İndian Devotees

नेपाल में फंसे कैलाश मानसरोवर के 200 भारतीय श्रद्धालु

तिब्बत में कैलाश मानसरोवर से दर्शन कर घर वापस लौट रहे तकरीबन 200 भारतीय श्रद्धालु खराब मौसम के कारण नेपाल के हुमला जिले

6/27/2019
NoAds

तिब्बत में कैलाश मानसरोवर से दर्शन कर घर वापस लौट रहे तकरीबन 200 भारतीय श्रद्धालु खराब मौसम के कारण नेपाल के हुमला जिले में फंस गए। EONIndia Mofa Nepal MEAIndia

तिब्बत में कैलाश मानसरोवर से दर्शन कर घर वापस लौट रहे तकरीबन 200 भारतीय श्रद्धालु खराब मौसम के कारण नेपाल के हुमला जिले

40 वर्षीय पंकज भटनागर ने कहा कि श्रद्धालुओं ने पिछले 13 जून को अपनी यात्रा शुरू की थी। तीर्थयात्री इस समय हिलसा शहर में फंसे हैं, जहां वे तिब्बत के बुरंग से पहुंचे और तुरंत हेलीकॉप्टर द्वारा सिमीकोट के लिए रवाना हुए और इसके बाद नेपालगंज पहुंचे।

श्रद्धालु नेपाल-चीन सीमा से सटे हिलसा शहर में फंसे हैं। ज्यादातर श्रद्धालु तेलंगाना के हैं, जिनकी तादाद 40 है। श्रद्धालुओं का कहना है कि खराब मौसम के कारण हम वहां से निकल नहीं पा रहे हैं। जबकि कैलाश मानसरोवर लौटते वक्त ही ट्रैवेल एजेंसी ने उन्हें यहां छोड़ दिया। कैलाश मानसरोवर यात्री करीब 19,500 फुट की दुर्गम और बीहड़ इलाकों की चढ़ाई करते हुए भगवान शिव के दर्शन करने पहुंचते हैं।

और पढो: Amar Ujala

नेपाल में फंसे कैलाश मानसरोवर के 200 भारतीय श्रद्धालु, खराब मौसम के बीच भी छोड़ दियातिब्बत में कैलाश मानसरोवर से दर्शन कर घर वापस लौट रहे तकरीबन 200 भारतीय श्रद्धालु खराब मौसम के कारण नेपाल के हुमला जिले

कैलाश मानसरोवर यात्रा : नेपाल में फंसे 40 भारतीय श्रद्धालु, सरकार से की मदद की अपील कैलाश मानसरोवर यात्रा : नेपाल में फंसे 40 भारतीय श्रद्धालु , सरकार से की मदद की अपील KailashMansarovarYatra MEAIndia DrSJaishankar

Kailash Mansarovar Yatra: नेपाल के हिल्‍सा में 40 भारतीय यात्री फंसे, सरकार से लगाई गुहार नेपाल के हिल्‍सा में 40 लोग बीते चार दिनों से फंस गए हैं। ट्रेवेल एजेंसी ने उन्‍हें उनके हाल पर छोड़ दिया है। यात्रियों ने सरकार से उन्‍हें निकालने की गुहार लगाई है। MEAIndia ये तो ट्रेवल एजेंसी द्वारा उपभोक्ताओं की सेवा में कमी का मामला है ऐसे में इस एजेंसी के ऊपर कार्यवाही की जा सकती है। और भारत सरकार एवम नेपाल सरकार का दायित्व बनता है की यात्रियों को सकुशल वापस उनके घर तक लौटने के समुचित बन्दोबस्त किये जाँय।

नेपाल में 28 जगहों पर मिले संदिग्ध पैकेट, देश में फैलाना चाहते थे दहशत नेपाल पुलिस के प्रवक्ता बिश्वोराज पोखारेल ने बताया कि दो संदिग्ध पैकेट काठमांडू के कीर्तिपुर और जवालाखेल में पाए

पश्चिम बंगाल: बीजेपी के दफ्तर में तोड़फोड़, टीएमसी पर लगाया आरोप– News18 हिंदीमंगलवार को पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी के भक्तिनगर में बीजेपी के कार्यालय में तोड़फोड़ की गई. हिन्दू मुस्लिम भाई भाई कैसे भाई? गौ पूजने और गौ खाने वाले कैसे भाई अब टीएमसी का पश्चिम बंगाल के लोगों में विश्वास ढूंढने का तरीका बहुत ही अंधा और अनसुलझा सा लगता है। शायद टीएमसी पार्टी ऐसे व्यवहार करते हुए हिंसा के दामन में उलझ कर रह जाएगी और अपने पांव पे कुल्हाड़ी मार कर अंत में निराश हो कर बैठ जाएगी ।

भारत के सेमी फ़ाइनल में पहुंचने के रास्ते में क्या हैं रोड़े- विश्व कप क्रिकेटइंग्लैंड में चल रहे मौजूदा विश्व कप क्रिकेट में अफ़ग़ानिस्तान पर बांग्लादेश की जीत और दक्षिण अफ़्रीका पर पाकिस्तान की जीत ने समीकरण को काफ़ी रोचक बना दिया है। अंक के आधार पर टॉप चार टीमें सेमी फ़ाइनल के लिए क्वालिफ़ाई करेंगी। इस प्रतियोगिता में 10 टीमें हिस्सा ले रही हैं। सभी टीमों को नौ-नौ मैच खेलने हैं।

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

27 जून 2019, गुरुवार समाचार

पिछली खबर

दिल्ली-एनसीआरः यमुना नदी में जल्द चलेंगी वाटर टैक्सी, केंद्र सरकार कर रही तैयारी

अगली खबर

लोन डिफॉल्टरों की संपत्तियों का ब्योरा बैंकों से साझा करेगा आयकर विभाग
दिल्ली-एनसीआरः यमुना नदी में जल्द चलेंगी वाटर टैक्सी, केंद्र सरकार कर रही तैयारी लोन डिफॉल्टरों की संपत्तियों का ब्योरा बैंकों से साझा करेगा आयकर विभाग