Religiousconversion, Uttarpradesh, Terroristcamp, Umargautam, Noida Nes, Conversion, Up Ats, Deaf And Dumb, Terrorist Training Camp, धर्मांतरण, Noida News İn Hindi, Latest Noida News İn Hindi, Noida Hindi Samachar

Religiousconversion, Uttarpradesh

धर्मांतरण मामला : मूक-बधिरों को आतंकी शिविरों में ट्रेनिंग की थी साजिश, एटीएस को मिले सुराग

मूक-बधिर छात्रों का धर्मांतरण कराने के पीछे पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई की मंशा इन्हें आतंकवादी संगठनों में

25-06-2021 03:24:00

धर्मांतरण मामला : मूक-बधिरों को आतंकी शिविरों में ट्रेनिंग की थी साजिश, एटीएस को मिले सुराग ReligiousConversion UttarPradesh TerroristCamp UmarGautam Uppolice CMOfficeUP

मूक-बधिर छात्रों का धर्मांतरण कराने के पीछे पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई की मंशा इन्हें आतंकवादी संगठनों में

आईएसआई के शह पर ही विभिन्न आतंकी संगठनों ने धर्मांतरण सिंडीकेट के लोगों की काफी मदद की और अधिक से अधिक धर्मांतरण कराने को कहा था। गिरफ्तार मौलाना उमर गौतम को इसकी कमान सौंपी गई थी। साजिश के तहत मूक-बधिरों को इस्लाम कबूल कराकर उन्हें कट्टरपंथी बनाना था। इसके बाद आतंकी संगठनों में भेजना था। नोएडा डेफ सोसायटी के कुछ छात्रों के धर्मांतरण की बात स्पष्ट हुई है, लेकिन दिल्ली-एनसीआर के 6 से अधिक मूक-बधिर स्कूल और ट्रेनिंग सेंटर इस सिंडीकेट के पहले चरण में निशाने पर थे।

MP News: कोरोना जांच में घटिया टेस्ट किट का इस्तेमाल, कांग्रेस ने लगाया घोटाले का आरोप केंद्र सरकार ने राज्यों से मांगे ऑक्सीजन की कमी से हुई मौतों के आंकड़े - BBC Hindi बाराबंकी में सड़क किनारे खराब खड़ी बस में ट्रेलर ने मारी टक्कर, 18 यात्रियों की दर्दनाक मौत

इन सभी पहलुओं की जांच एटीएस की टीमें कर रही हैं। वहीं, गिरफ्तार दोनों आरोपी यूपी एटीएस के रिमांड पर हैं। इनसे पूछताछ के बाद कई स्थानों की तस्दीक की गई है। यूपी एटीएस इस मामले में नोएडा भी आ सकती है और कुछ स्थानों से जानकारी इकट्ठा कर सकती है। बृहस्पतिवार को एटीएस के एनसीआर के विभिन्न शहरों में तलाशी लेने और पूछताछ करने की बात सामने आई है।

पूर्व टीचर पर एटीएस का फोकसएटीएस सूत्रों का कहना है कि मूक-बधिरों के धर्मांतरण मामले में कई चीजें तभी स्पष्ट होंगे जब नोएडा डेफ सोसायटी स्कूल के संदिग्ध पूर्व टीचर और कर्मचारी से पूछताछ होगी। पूर्व कर्मचारी या शिक्षक तक एटीएस पहुंचेगी तो कई चौंकाने वाले खुलासे हो सकते हैं। बुधवार और बृहस्पतिवार को भी एटीएस की टीमें पूर्व टीचर और कर्मचारी के लिए कई स्थानों पर दबिश दे रही हैं। headtopics.com

नोएडा डेफ सोसायटी से 16 हजार को मिला रोजगार प्रशिक्षणनोएडा डेफ सोसाइटी की संचालिका रूमा रोका ने बताया कि सोसाइटी वर्ष 2005 से चल रही है और दो बेडरूम के फ्लैट से इसकी शुरुआत हुई थी। 16 वर्षों के दौरान देशभर के 16 हजार से अधिक मूक-बधिर छात्र-छात्राओं को रोजगार के लिए प्रशिक्षण और ट्रेनिंग दी गई है। सैकड़ों की संख्या में मूक-बधिर छात्र-छात्राएं मल्टीनेशनल कंपनियों से लेकर बड़े औद्योगिक घरानों में काम कर रहे हैं। हम नि:स्वार्थ भाव से इन्हें आगे बढ़ाने में जुटे हुए हैं, लेकिन कुछ लोगों के कारनामों से हतप्रभ हैं और उन्हीं लोगों कि गलत नियत के कारण यह सब देखना पड़ रहा है। हम देश के वंचित लोगों को आगे बढ़ाने के लिए काम कर रहे हैं।

एटीएस का कर रही हूं सहयोग : रूमा रोकारूमा रोका ने बृहस्पतिवार दोपहर को बताया कि वह लखनऊ में एटीएस के साथ हैं। एटीएस को वह जांच में सहयोग कर रही हैं और जो भी कागजात या अन्य तथ्य मांगे जा रहे हैं, उन्हें मुहैया करा रही हैं। उन्होंने कहा कि अब तक करीब 16 हजार अधिक बच्चों का हमारे पास डाटा है। इसके मिलान में समय लग रहा है। मैं खुद इस मामले को सुनकर हैरान और परेशान हूं। पूरी तरीके से एटीएस की जांच के साथ हूं और जांच के बाद सब कुछ सच सामने आ जाएगा।

विस्तार शामिल कराने की थी। इसकी साजिश के तहत आतंकी शिविरों में ट्रेनिंग देने की तैयारी की जा रही थी। एटीएस को इस संबंध में सुराग मिले हैं।विज्ञापनआईएसआई के शह पर ही विभिन्न आतंकी संगठनों ने धर्मांतरण सिंडीकेट के लोगों की काफी मदद की और अधिक से अधिक धर्मांतरण कराने को कहा था। गिरफ्तार मौलाना उमर गौतम को इसकी कमान सौंपी गई थी। साजिश के तहत मूक-बधिरों को इस्लाम कबूल कराकर उन्हें कट्टरपंथी बनाना था। इसके बाद आतंकी संगठनों में भेजना था। नोएडा डेफ सोसायटी के कुछ छात्रों के धर्मांतरण की बात स्पष्ट हुई है, लेकिन दिल्ली-एनसीआर के 6 से अधिक मूक-बधिर स्कूल और ट्रेनिंग सेंटर इस सिंडीकेट के पहले चरण में निशाने पर थे।

इन सभी पहलुओं की जांच एटीएस की टीमें कर रही हैं। वहीं, गिरफ्तार दोनों आरोपी यूपी एटीएस के रिमांड पर हैं। इनसे पूछताछ के बाद कई स्थानों की तस्दीक की गई है। यूपी एटीएस इस मामले में नोएडा भी आ सकती है और कुछ स्थानों से जानकारी इकट्ठा कर सकती है। बृहस्पतिवार को एटीएस के एनसीआर के विभिन्न शहरों में तलाशी लेने और पूछताछ करने की बात सामने आई है। headtopics.com

'केवल हम ही बचे हैं' : हिमाचल भूस्खलन में बचे लोगों का VIDEO आया सामने, देखकर रौंगटे खड़े हो जाएंगे रवीश कुमार का प्राइम टाइम : केंद्र क्यों नहीं रोक पाया मिजोरम-असम का टकराव वीडियो - हिन्दी न्यूज़ वीडियो एनडीटीवी ख़बर राकेश अस्थाना बने दिल्ली पुलिस के नए कमिश्नर, गुजरात कैडर के हैं IPS

पूर्व टीचर पर एटीएस का फोकसएटीएस सूत्रों का कहना है कि मूक-बधिरों के धर्मांतरण मामले में कई चीजें तभी स्पष्ट होंगे जब नोएडा डेफ सोसायटी स्कूल के संदिग्ध पूर्व टीचर और कर्मचारी से पूछताछ होगी। पूर्व कर्मचारी या शिक्षक तक एटीएस पहुंचेगी तो कई चौंकाने वाले खुलासे हो सकते हैं। बुधवार और बृहस्पतिवार को भी एटीएस की टीमें पूर्व टीचर और कर्मचारी के लिए कई स्थानों पर दबिश दे रही हैं।

नोएडा डेफ सोसायटी से 16 हजार को मिला रोजगार प्रशिक्षणनोएडा डेफ सोसाइटी की संचालिका रूमा रोका ने बताया कि सोसाइटी वर्ष 2005 से चल रही है और दो बेडरूम के फ्लैट से इसकी शुरुआत हुई थी। 16 वर्षों के दौरान देशभर के 16 हजार से अधिक मूक-बधिर छात्र-छात्राओं को रोजगार के लिए प्रशिक्षण और ट्रेनिंग दी गई है। सैकड़ों की संख्या में मूक-बधिर छात्र-छात्राएं मल्टीनेशनल कंपनियों से लेकर बड़े औद्योगिक घरानों में काम कर रहे हैं। हम नि:स्वार्थ भाव से इन्हें आगे बढ़ाने में जुटे हुए हैं, लेकिन कुछ लोगों के कारनामों से हतप्रभ हैं और उन्हीं लोगों कि गलत नियत के कारण यह सब देखना पड़ रहा है। हम देश के वंचित लोगों को आगे बढ़ाने के लिए काम कर रहे हैं।

एटीएस का कर रही हूं सहयोग : रूमा रोकारूमा रोका ने बृहस्पतिवार दोपहर को बताया कि वह लखनऊ में एटीएस के साथ हैं। एटीएस को वह जांच में सहयोग कर रही हैं और जो भी कागजात या अन्य तथ्य मांगे जा रहे हैं, उन्हें मुहैया करा रही हैं। उन्होंने कहा कि अब तक करीब 16 हजार अधिक बच्चों का हमारे पास डाटा है। इसके मिलान में समय लग रहा है। मैं खुद इस मामले को सुनकर हैरान और परेशान हूं। पूरी तरीके से एटीएस की जांच के साथ हूं और जांच के बाद सब कुछ सच सामने आ जाएगा।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?हांखबर की भाषा और शीर्षक से आप संतुष्ट हैं?हांखबर के प्रस्तुतिकरण से आप संतुष्ट हैं?हांखबर में और अधिक सुधार की आवश्यकता है? और पढो: Amar Ujala »

बारिश से तबाही के 15 फोटो: महाराष्ट्र में बाढ़-लैंडस्लाइड से 138 लोगों की मौत, 53 घायल और 99 लापता; बाढ़ प्रभावित इलाकों से 1.35 लाख लोगों को हटाया गया

महाराष्ट्र में बारिश के चलते हालात खतरनाक बने हुए हैं। लगातार कई दिनों से हो रही बारिश की वजह से सांग्ली, सतारा, रत्नागिरी, रायगढ़, कोल्हापुर और ठाणे में भयानक हादसे हुए हैं, जिनमें 138 लोगों की मौत हुई है। यहां NDRF की 34 टीमें राहत और बचाव कार्यों में जुटी हैं, लेकिन बारिश और बाढ़ के बाद बर्बादी के निशान साफ देखे जा सकते हैं। | Monsoon update in Indian states; heavy rains expected in Bihar, Rajasthan, Uttar Pradesh, Maharashtra उत्तर प्रदेश, राजस्थान और बिहार में अगले दो दिनों में हो सकती है भारी बारिश; महाराष्ट्र में नहीं थम रही आसमानी आफत

धर्मांतरण के शिकार हैं तो UP एटीएस को ऐसे बताएं, नाम-पता रखा जाएगा गोपनीययूपी के गाजियाबाद से सामने आए धर्मांतरण मामले से जुड़ी हर जानकारी निकालने के लिए यूपी एटीएस ने गुरुवार को हेल्पलाइन नम्बर और मेल आईडी जारी की है। जिसके जरिए कोई भी मामले से जुड़ी हर छोटी बड़ी जानकारी ATS टीम के साथ साझा कर सकेगा।

पहले हिंदू था धर्मांतरण में गिरफ्तार मौलाना उमर गौतम, खुद सुनाई मुस्लिम बनने की कहानीउत्तर प्रदेश के नोएडा में धर्मांतरण (Religion Conversion ) कराने के आरोप में यूपी एटीएस ने दो मौलानाओं को गिरफ्तार किया है. धर्मांतरण कराने के आरोप में मोहम्म...

दिल्ली : प्रेम विवाह करने वाले दंपती को मारी गोली, पति की मौत, पत्नी की हालत गंभीरदिल्ली : प्रेम विवाह करने वाले दंपती को मारी गोली, पति की मौत, पत्नी की हालत गंभीर Delhi Coupleshot DelhiPolice

वैज्ञानिकों ने विकसित की टगबोट्स में ईंधन की खपत कम करने की तकनीकभारतीय समुद्र-पत्तनों पर पर्यावरण-अनुकूल स्थायी समाधान विकसित करने और कार्बन पदचिह्न को कम करने के लिए भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी रुड़की) के जल संसाधन विकास और प्रबंधन विभाग, आईआईटी रुड़की की हाइड्रोपावर सिमुलेशन प्रयोगशाला (एचएसएल) और विशाखापत्तनम स्थित भारतीय समुद्री विश्वविद्यालय (आईएमयू-वी) ने एक साझा शोध-अध्ययन किया है।

मतांतरण के खेल में खुला नापाक मंसूबा, मूक-बधिर छात्रों को मानव बम बनाकर देश को दहलाने की साजिश Conversion Racket In UP नोएडा स्थित डेफ सोसायटी में पढ़ने वाले छात्र बोलने और सुनने में असमर्थ हैं। इसलिए एक बार मतांतरण होने के बाद छात्रों को बहकाना आसान है। इन छात्रों के माध्यम से आतंकी घटना को अंजाम देने की साजिश रची जा रही थी। मै केवल 1 सैकंड में followback देता हूं मुझे फॉलो करके रिट्वीट करें और रिट्वीट के सभी साथियों को फॉलो करें✔️ नोट- 1 सेकेंड के अंदर फॉलो बैक प्राप्त करें✔️✔️ चुप चुटिया। संघी पिल्ला। सब बकवास है। एक विशेष समाज को बदनाम करने की साजिश है और कुछ नहीं। भोसरी वाले इस प्रकार के आरोप में कितने को सजा और कितने बारी हुए? रिकार्ड देख सारा खेल समझ में आ जाएगा। पिछले ७ वर्षों में एक भी आतंकी हमला या घटना नहीं हुआ क्यों? हाँ अब शुरू होगया पाकिस्तान ISI, मुल्ला, कटवा, भैया थोड़ा सब्र कर लो अभी चुनाव बहुत दूर है 😂😂😂😂😂😂😂😂

COVID-19 की तीसरी लहर को रोकने लिए क्या कर सकते हैं राज्य - ग्राफिक्स में समझिएहम NDTV के वैक्सीनेशन ट्रैकर के आंकड़ों के सहारे एक बार नजर डाल रहे हैं कि देश के अलग-अलग राज्यों ने वैक्सीनेशन के मामलों में कैसा प्रदर्शन किया है और अगर कोरोना की तीसरी लहर से पूरी तरह बचना है तो उन्हें अभी आगे और क्या करना पड़ेगा. ndtv Please support cancel the GSEB class 12th Private/Compartment student exam. 6lackh student Attending the Exam Next month 15th july. Please not Playing the students life. Cancel GSEB EXAM 😭😭🙏🙏😭😭😭😢 ndmaindia Please support cancel the GSEB class 12th Private/Compartment student exam. 6lackh student Attending the Exam Next month 15th july. Please not Playing the students life. Cancel GSEB EXAM 😭😭🙏🙏😭😭😭😢 टिंडा उगाओ