पृथ्वी के इनर कोर में क्या है, पृथ्वी का इनर कोर ठोस है क्या, पाताल की खोज, धरती के केंद्र में क्या है, What İs İn Center Of Earth, Science News İn Hindi, Research On İnner Core, İnner Core Of Earth, How Deep İs İnner Core Of Earth, Earthquake Waves İn İnner Core, Science News, Science News İn Hindi, Latest Science News, Science Headlines, साइंस न्यूज़ Samachar

पृथ्वी के इनर कोर में क्या है, पृथ्वी का इनर कोर ठोस है क्या

धरती के केंद्र में मौजूद है 'पाताल'! टकराकर लौटने के बजाय आरपार हुईं तरंगे, वैज्ञानिक हैरान

धरती के केंद्र में मौजूद है 'पाताल'! टकराकर लौटने के बजाय आरपार हुईं तरंगे, वैज्ञानिक हैरान via @NavbharatTimes

28-10-2021 20:18:00

धरती के केंद्र में मौजूद है 'पाताल'! टकराकर लौटने के बजाय आरपार हुईं तरंगे, वैज्ञानिक हैरान via NavbharatTimes

Inner Core: वैज्ञानिकों का कहना है कि धरती के इनर कोर के बारे में जितना अध्ययन किया जा रहा है उतने नए खुलासे हो रहे हैं। नई रिसर्च दावा करती है पृथ्वी का केंद्र ठोस नहीं है बल्कि यह नरम है।

अक्सर लोगों को यह जानने की जिज्ञासा होती है कि हमारी धरती का केंद्र बिंदु यानी इनर कोर कैसा है? कई लोग सवाल करते हैं कि क्या धरती के नीचे एक सीमा के बाद 'पाताल' जैसा कुछ मौजूद है? अब इन सवालों के जवाब काफी हद तक मिल गए हैं। अभी तक अनुमान लगाया जा रहा था कि धरती का इनर कोर 'ठोस' है जिसके बाहर तरल मौजूद है। लेकिन एक नई रिसर्च के मुताबिक यह पूरी तरह ठोस नहीं है।

CDS बिपिन रावत के साथ MP के जवान की भी मौत, 2011 में भारतीय सेना में भर्ती हुए थे जीतेंद्र कुमार रोहित शर्मा बने वनडे टीम के कप्तान, विराट करेंगे केवल टेस्ट में कप्तानी - BBC News हिंदी जनरल रावत की पत्नी मधुलिका की भी हेलिकॉप्टर हादसे में मौत, क्या थी शख़्सियत - BBC News हिंदी

यह अध्ययन फिजिक्स ऑफ द अर्थ एंड प्लैनेटरी इंटीरियर्स नाम की पत्रिका में प्रकाशित हुआ है। इसमें बताया गया है कि धरती का केंद्र बिंदु कई जगहों पर ठोस जबकि कुछ जगहों पर नरम है। इस गोले के कुछ हिस्सों पर तरल मौजूद है जिसका मतलब है कि यह पूरी तरह ठोस नहीं है। ब्रिटेन की यूनिवर्सिटी ऑफ ब्रिस्टल की जेसिका इरविंग के अनुसार धरती के केंद्र को लेकर लगातार नए खुलासे हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह ठोस गोला नहीं है बल्कि एक 'नई दुनिया' हो सकता है।

स्पेसएक्स के इंस्पिरेशन-4 मिशन में आई थी 'बड़ी गड़बड़ी', अंतरिक्ष में टॉयलेट से लीक होने लगा था यूरिनभूगर्भीय तरंगों से खुला रहस्यजूल्स वर्ने ने 1864 में बताया था कि धरती का केंद्र खोखला है। वैज्ञानिकों ने इस थ्योरी को 1950 में खारिज कर दिया था और बताया था कि पृथ्वी के इनर कोर में अत्यधिक गर्मी और दबाव के कारण यहां पहुंचना संभव नहीं है। हालिया रिसर्च हवाई इंस्टीट्यूट ऑफ जियोफिजिक्स एंड प्लैनेटोलॉजी के भू-भौतिक विज्ञानी रेट बटलर और उनकी टीम ने की है। इसके लिए उन्होंने भूकंपों से उठने वाली भूगर्भीय तरंगों की जांच की। headtopics.com

पृथ्वी के केंद्र में मौजूद हो सकती है नई दुनियाउन्होंने देखा कि इनमें से कुछ तरंगे धरती के इनर कोर से टकराकर लौट आईं जबकि कुछ उसे आरपार कर गईं। जिससे साफ होता है कि पृथ्वी का केंद्र पूरी तरह से सख्त नहीं है बल्कि कुछ स्थानों पर इसमें तरल भी मौजूद है। इन परिणामों ने वैज्ञानिकों को चौंका दिया। कई बार जांच करने पर भी उन्हें एक जैसे रिजल्ट ही मिले। खबरों में दावा किया जा रहा है कि यहां एक अलग तरह की दुनिया मौजूदा हो सकती है।

और पढो: NBT Hindi News »

CDS का हेलिकॉप्टर कैसे हुआ क्रैश, उन आखिरी 3 घंटे 20 मिनट में क्या हुआ?

चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ़ यानी सीडीएस बिपिन रावत अपनी पत्नी मधुलिका रावत, दो स्टाफ और पांच सुरक्षा गार्ड के साथ एक स्पेशल एयरक्राफ्ट के 3602 से तमिलनाडु के सुलूर के लिए उड़ान भरते हैं. जनरल बिपिन रावत को बुधवार शाम को ही वेलिंग्टन में मौजूद डिफेंस सर्विसेज़ स्टाफ़ कॉलेज में एक कैडेट इंटरैक्शन प्रोग्राम में बतौर चीफ़ गेस्ट हिस्सा लेना था. जनरल रावत और उनकी पत्नी के अलावा स्पेशल एयरक्राफ्ट में उनके साथ सीडीएस के डिफेंस असिस्टेंट ब्रिगेडियर एलएस लिड्डर, एसओ सीडीएस लेफ्टिनेंट कर्नल हरजिंदर सिंह, पीएसओ एनके गुरसेवक सिंह, पीएसओ एनके जितेंद्र कुमार, पीएसओ एलएनके विवेक कुमार, पीएसओ एलएनके बी साई तेजा और पीएसओ हवलदार सतपाल शामिल थे. देखिए ये एपिसोड.

वैज्ञानिक जो खोज कर रहे हैँ वो हमारे शास्त्रों ने हजारों सालो पहले ही लिख दिया हैँ

पेगासस के ज़रिये भारतीय नागरिकों की जासूसी के आरोपों की जांच के लिए विशेष समिति गठितसुप्रीम कोर्ट ने समिति का गठन करते हुए कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा की आड़ में निजता का हनन नहीं हो सकता. अदालत ने इस मामले में केंद्र सरकार द्वारा उचित हलफ़नामा दायर न करने को लेकर गहरी नाराज़गी जताई और कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा को ख़तरा होने का दावा करना पर्याप्त नहीं है, इसे साबित भी करना होता है. सबसे पहले तुम्हारे जैसे चरसी पत्रकार की भी जासूसी करवानी चाहिए

अयोध्या दर्शन के अलावा दिल्ली के यात्रियों के रहने-खाने का भी खर्च उठाएगी केजरीवाल सरकारदिल्ली सरकार ने अपनी तीर्थ यात्रा योजना में अब अयोध्या को भी शामिल करने की मंजूरी दे दी है। इसके तहत अब वरिष्ठ नागरिक रामलला का भी दर्शन कर सकेंगे।

उत्तर प्रदेशः मुस्लिम संगठन द्वारा युवा केंद्र के निर्माण पर हिंदू संगठनों ने विरोध जतायामामला देवबंद के केंदुकी गांव का है, जहां जमीयत उलेमा-ए-हिंद के मौलाना महमूद मदनी गुट द्वारा बनवाए जा रहे एक युवा केंद्र के निर्माण को ग्रामीणों के विरोध के बाद जिला प्रशासन ने हस्तक्षेप कर रुकवा दिया. हिंदू संगठनों का दावा है कि केंद्र निर्माण के लिए मंज़ूरी नहीं ली गई है और न ही क़ानूनी औपचारिकताएं पूरी की गई हैं.

Covid Vaccination: लोगों के वैक्सीन की दूसरी डोज लेने पर खास ध्यान देगी केंद्र सरकारसरकारी आंकड़ों के अनुसार करीब 11 करोड़ से अधिक लोगों ने कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लेने के बाद समय से दूसरी डोज नहीं ली है। इन लोगों ने दो डोज के बीच निर्धारित अंतराल की समय सीमा बीतने के बावजूद दूसरा टीका लेने में तत्परता नहीं दिखाई। OfficeOf_MM mansukhmandviya Meri dusri dose kal due lekin last 10 days se covixin avalbel hi nahi he

केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले बोले समीर वानखेड़े दलित है इसलिए उसके साथ हो रहा है गलतविवादों में घिरे एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े के सपोर्ट में केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले उतर आए हैं। उन्होंने कहा कि समीर वानखेड़े दलित हैं और इसलिए उन्हें तंग किया जा रहा है। महाराष्ट्र के है तभी सुध लेने वाला कोई नही, अगर उप्र के होते.......!!!!

टॉस जीतो मैच जीतो बन गया है टी-20 विश्वकप, कोहली का भी है रिकॉर्ड खराबटॉस जीतो मैच जीतो बन गया है टी-20 विश्वकप T20WorldCup T20WorldCup21 T20WorldCup2021 IndianCricketTeam ViratKohli T20WorldCup