Indian, Sports, Gurus, Honored, Dronacharya Award, More Names, Selected, Dronacharya Award, President Of The Country.

Indian, Sports

द्रोणाचार्यों पर विदेशी प्रशिक्षक क्यों भारी?

द्रोणाचार्यों पर विदेशी प्रशिक्षक क्यों भारी? in a new tab)

27-10-2021 21:27:00

द्रोणाचार्यों पर विदेशी प्रशिक्षक क्यों भारी? in a new tab)

कुछ एक दिनों में द्रोणाचार्य अवार्ड से सम्मानित भारतीय खेल गुरुओं की संख्या बढ़ने वाली है।

यह धारणा बन रही है कि भारतीय खेल करवट बदल रहे हैं और हमारे खिलाड़ी दुनिया भर में अपनी जीत का डंका बजाने के लिए कमर कस चुके हैं। तोक्यो ओलंपिक खेलों के नतीजों ने भारतीय खिलाड़ियों के बारे में आम भारतीय की सोच को भी बदला है। इसके साथ ही विदेशी कोचों को लेकर भी सोच बदल रही है। कल तक तमाम भारतीय खेल प्रेमी विदेशी कोचों को बुरा भला कहते थे और खराब प्रदर्शन के लिए उन्हें दोष देते थे लेकिन अब यह माना जा रहा है कि विदेशी कोच भारतीय खेलों की नैय्या पार लगा सकते हैं।

किसान आंदोलन स्थगित, नेताओं ने कहा- सरकार वादे से मुकरी, तो फिर होगा आंदोलन - BBC Hindi किसान नेताओं ने किसान आंदोलन स्थगित करने की घोषणा की - BBC Hindi गुजरात दंगा मामले में ज़किया जाफ़री की याचिका पर फ़ैसला सुरक्षित - BBC Hindi

हालांकि भारतीय कोच दो तीन दशकों से उपेक्षित हैं और उन्हें विदेशियों का सहायक भर माना जाता है लेकिन कुछ खेलों में आज भी हमारे अपने कोच बेहतर परिणाम दे रहे हैं। मसलन कुश्ती को ही लें। कुश्ती में भारत ने हाकी के बाद सबसे ज्यादा सात ओलंपिक पदक जीते हैं और ओलंपिक पदक जीतने वाले तमाम खिलाड़ी हमारे अपने अखाड़ों और अपने गुरु खलीफाओं की देन रहे हैं। फिर भी कुछ पहलवानों का भरोसा विदेशी प्रशिक्षकों पर बढ़ रहा है लेकिन सच्चाई यह है कि विदेशी हमारे पहलवानों पर अपना रंग रोगन चढ़ाते हैं और बने बनाए पहलवानों को अपनी देन बताते हैं।

सिर्फ़ कुश्ती ही नहीं, तमाम भारतीय खेल विदेशी प्रशिक्षकों को अपनाने की मांग करने लगे हैं। खासकर, ओलंपिक स्वर्ण जीतने वाले नीरज चोपड़ा की कामयाबी के बाद से यह भ्रम पैदा किया जाने लगा है कि पदक जीतना है तो विदेशी प्रशिक्षकों से प्रशिक्षण लो। बेशक, विदेशियों के पास कुछ खास तो होगा। हो सकता है उनके पास कोई जादुई चिराग हो। लेकिन निशाने बाजों, मुक्केबाजों और अन्य के मामले में यह चिराग जल क्यों नहीं पाया? headtopics.com

बेशक, नीरज के खेल में सुधार का बड़ा श्रेय विदेशियों को जाता है। खुद नीरज भी यह स्वीकार कर चुके हैं और आगे भी उनसे ज्ञान लेते रहेंगे। लेकिन सबसे बड़ा चमत्कार हाकी टीमों के प्रदर्शन में देखने को मिला है। तोक्यो जैसा प्रदर्शन भारतीय पुरुष और महिला हाकी टीमों ने शायद वर्षों पहले किया था। पुरुष खिलाड़ी 41 साल बाद पदक जीतने में सफल रहे और इस प्रकार भारतीय हाकी और हाकी इंडिया की विदेशी कोचों पर आस्था बढ़ गई। महिला खिलाड़ियों ने भी गजब का प्रदर्शन किया और उनके चौथे स्थान को भी विदेशियों का कमाल बताया जा रहा है।

हाकी, एथलेटिक, मुक्केबाजी, निशानेबाजी आदि खेल संघों ने विदेशी को प्राथमिकता देने का मन बना लिया है। हैरानी वाली बात यह है कि ओलंपिक में फ्लाप साबित हुए खेल भी अपने प्रशिक्षक को भाव नहीं दे रहे। खेल मंत्रालय ने संकेत दिया है कि आगे भी विदेशी प्रशक्षकों की ही भूमिका अहम रहेगी। तो फिर अपने द्रोणाचार्यों का क्या होगा? जिन खेलों में विदेशी नाकाम हुए उन पर पैसा बहाने वाला तर्क समझ से परे है। तो क्या हमारे अपने गुरु खलीफा सिर्फ द्रोणाचार्य अवार्ड पाने के लिए अस्तित्व में हैं? सवाल यह भी है कि यदि सरकार और खेल संघ विदेशियों से प्रभावित हैं तो उन्हें जमीनी स्तर से खिलाड़ियों को सिखाने पढ़ाने की जिम्मेदारी क्यों नहीं सौंपी जाती?

और पढो: Jansatta »

शंखनाद: Samajwadi Party की साइकिल पर बैठेंगी कितनी सवारी?

जैसे जैसे दिन बीत रहे हैं, उत्तर प्रदेश का रण धारदार होता जा रहा है, सत्ता पक्ष और विपक्ष अपने-अपने दल को बढ़ाने में लगे हुए हैं, गठबंधनों का दौर चल रहा है. इसी कड़ी में आज कांग्रेस की बागी नेता अदिति सिंह आज बीजेपी में शामिल हुईं तो दूसरी ओर आम आदमी पार्टी के संजय सिंह ने अखिलेश यादव से मुलाकात की. साथ ही कृष्णा पटेल वाली अपना दल पार्टी ने भी समाजवादी का दामन थाम लिया. यूं समझिए कि गठबंधन वाली राजनीति बहुत तेजी से विस्तारित हो गई है, ताकि पार्टियां अपने विरोधियों को मात दे सकें. देखिए शंखनाद का ये एपिसोड.

भाजपा दो सीटों पर पिछड़ी, दो पर सीधी टक्करमुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की प्रतिष्ठा का सवाल बन चुके अर्की, जुब्ब्ल कोटखाई और फतेहपुर विधानसभा हलकों के अलावा संसदीय हलका मंडी जैसे उपचुनावों में जीत हासिल करना बेशक लाजमी हो गया है।

पेगासस मामले पर राहुल गांधी का मोदी-शाह पर हमला, पात्रा का पलटवार - BBC Hindiकांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बुधवार को पेगासस मामले की जाँच के लिए तीन साइबर विशेषज्ञों की एक समिति नियुक्त करने के सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले को एक बड़ा क़दम बताया है और आशा जताई है कि सच सामने आ जाएगा. खा भारत के रहे-गा पाकिस्तान की रहे ! बढ़िया हुआ👍 Good myogiadityanath ji 🙏🙏

POK पर फिलहाल कब्जे की योजना नहीं पर 'पूरा कश्मीर' एक दिन भारत का होगाश्रीनगर। भारतीय वायुसेना के एक शीर्ष अधिकारी ने बुधवार को कहा कि कश्मीर के, पाकिस्तान के कब्जे वाले हिस्से (POK) पर कब्जा करने की ‘फिलहाल’ कोई योजना नहीं है, लेकिन उन्होंने उम्मीद जताई कि एक दिन भारत के पास ‘पूरा कश्मीर’ होगा।

Antim Trailer: आयुष पर भारी पड़े सलमान, भाईजान के इस डायलॉग पर फिदा हुए फैंसAntim Trailer: फिल्म में सलमान खान और आयुष शर्मा एक दूसरे से कड़ा मुकाबला करते दिख रहे हैं। ऐसे में फैंस का कहना है कि आयुष पर सलमान खान भारी पड़ते नजर आ रहे हैं।

भारत-पाक मैच पर वकार युनूस के कमेंट पर भड़के फिल्ममेकर; अमिश देवगन भी बिफरेएक पाकिस्तानी न्यूज चैनल की डिबेट के दौरान पाकिस्तानी क्रिकेटर वकार युनूस और शोएब अख्तर भी शो पर पाकिस्तान जीत का जश्न मनाते दिखे। इस बीच वकार युनूस ने कुछ ऐसा कहा जिसे सुन कर फिल्ममेकर अशोक पंडित बेहद नाराज हो गए।

अरूसा आलम का पंजाब के कांग्रेस नेताओं पर निशाना, कहा- जिनकी प्रधान विदेशी महिला, पहले वे सीखें इज्जत करनापंजाब के पूर्व मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह की पाकिस्‍तानी मित्र अरूसा आलम ने अपनी चुप्‍पी तोड़ी है। खुद पर आरोप लगाने से दुखी अरूसा ने पंजाब के कांग्रेस नेताओं पर जमकर निशाना साधा है। उन्‍होंने कहा कि जिन नेताओं की अध्‍यक्ष एक विदेशी महिला है वे उनकी इज्‍जत करना सीखें। आरूशा आलम जी , आपने तो कांग्रेस की पहली गेंद पर ही छक्का मार दिया । Are wah aap to kamal k jankari rakhti hai