स्वतंत्र_भास्कर, Dainikbhaskar, Itraid On Dainik Bhaskar, Dainik Bhaskar, Dainik Bhaskar Group, Income Tax Raids, Income Tax Raids On Dainik Bhaskar Group

स्वतंत्र_भास्कर, Dainikbhaskar

दैनिक भास्कर पर IT रेड: सरकार अपना काम कर रही है, पिछले कुछ समय से हम अपना काम कैसे कर रहे हैं उसे जांचने के लिए पेश हैं दैनिक भास्कर की 10 रिपोर्ट्स

दैनिक भास्कर पर IT रेड: सरकार अपना काम कर रही है, पिछले कुछ समय से हम अपना काम कैसे कर रहे हैं उसे जांचने के लिए पेश हैं दैनिक भास्कर की 10 रिपोर्ट्स #स्वतंत्र_भास्कर #DainikBhaskar

23-07-2021 06:21:00

दैनिक भास्कर पर IT रेड: सरकार अपना काम कर रही है, पिछले कुछ समय से हम अपना काम कैसे कर रहे हैं उसे जांचने के लिए पेश हैं दैनिक भास्कर की 10 रिपोर्ट्स स्वतंत्र_भास्कर DainikBhaskar

दैनिक भास्कर जनसरोकार से जुड़े मुद्दे हमेशा से उठाता रहा है। पिछले 6 महीने में हमने ऐसी कई रिपोर्ट्स की हैं जिनमें जनता के हक की आवाज बुलंद की गई। हमने सरकार और सिस्टम को कठघरे में खड़ाकर कठिन सवाल पूछे। इन सवालों को उठाने वाली 10 रिपोर्ट्स एक बार फिर आपके सामने ला रहे हैं। आज यह इसलिए मौजूं है क्योंकि हम पर आयकर विभाग की रेड चल रही है। सरकार अपना काम कर रही है, लेकिन हम मानते हैं कि हमारे काम का ... | Income (IT) Tax Raid: Narendra Modi Government Doing Their Work, Have Look on Bhaskar 10 Reports

दैनिक भास्कर पर IT रेड:सरकार अपना काम कर रही है, पिछले कुछ समय से हम अपना काम कैसे कर रहे हैं उसे जांचने के लिए पेश हैं दैनिक भास्कर की 10 रिपोर्ट्सएक घंटा पहलेकॉपी लिंकदैनिक भास्कर जनसरोकार से जुड़े मुद्दे हमेशा से उठाता रहा है। पिछले 6 महीने में हमने ऐसी कई रिपोर्ट्स की हैं जिनमें जनता के हक की आवाज बुलंद की गई। हमने सरकार और सिस्टम को कठघरे में खड़ाकर कठिन सवाल पूछे। इन सवालों को उठाने वाली 10 रिपोर्ट्स एक बार फिर आपके सामने ला रहे हैं। आज यह इसलिए मौजूं है क्योंकि हम पर आयकर विभाग की रेड चल रही है। सरकार अपना काम कर रही है, लेकिन हम मानते हैं कि हमारे काम का सही मूल्यांकन केवल पाठक कर सकते हैं।

इमरान ख़ान को स्नेहा दुबे से मिले वे जवाब, जिनकी हो रही चर्चा - BBC News हिंदी पीएम मोदी के दौरे पर अमेरिकी मीडिया में क्या कहा जा रहा है? - BBC News हिंदी मसीहा का बयान: IT रेड पर सोनू सूद ने दी सफाई- 'मैं अपने और लोगों के खून पसीने से कमाए हुए पैसे बर्बाद नहीं करूंगा, मेरे सपने बड़े हैं'

देखिए ये 10 रिपोर्ट्स...1. UP में गंगा किनारे मिले 2000 से ज्यादा शवदैनिक भास्कर के 30 रिपोर्टर्स ने यूपी के 27 जिलों में गंगा किनारे घाट और गांवों का जायजा लिया। गंगा यूपी के इन्हीं जिलों में 1140 किमी का सफर तय करते हुए बिहार में दाखिल होती है। इनमें कानपुर, कन्नौज, उन्नाव, गाजीपुर और बलिया में हालात बेहद खराब मिले। उन्नाव में रेत में दो जगहों पर 900 से ज्यादा शव दफन पाए गए।

ये पूरी रिपोर्ट पढ़ने के लिए क्लिक करें...2. राजस्थान में वैक्सीन की बर्बादीदैनिक भास्कर को राजस्थान के 8 जिलों के 35 वैक्सीनेशन सेंटरों पर 500 वायल डस्टबिन में मिलीं। जिनमें करीब 2,500 से भी ज्यादा डोज थे। भास्कर टीम की पड़ताल में 500 से ज्यादा वायल 20% से 75% तक भरे मिले। केंद्र सरकार के आंकड़ों के मुताबिक राजस्थान में 16 जनवरी से 17 मई तक 11.50 लाख से ज्यादा कोविड डोज बर्बाद कर दिए गए। headtopics.com

ये पूरी रिपोर्ट पढ़ने के लिए क्लिक करें...3. UP के गांवों में कोविड की जांच नहींहम उत्तर प्रदेश के ललितपुर जिले के 13 गांवों में पहुंचे। हर गांव में 1 से 7 हजार तक की आबादी है। इन सभी गांवों में पिछले एक-डेढ़ महीने से मौतें अचानक बढ़ गई थीं। मरने वाले सभी खांसी-बुखार से पीड़ित थे। क्या इन्हें कोरोना था? टेस्ट ही नहीं हुए तो कैसे पता चलता। कोरोना जैसी महामारी में भी गांवों के लोग सिर्फ झोलाछापों के भरोसे थे।

ये पूरी रिपोर्ट पढ़ने के लिए क्लिक करें...4. गुजरात में कोरोना से मौतों का सचकोरोना की दूसरी लहर के दौरान अहमदाबाद समेत पूरे राज्य में शवों के ढेर लगे रहे। इसके बावजूद सरकारी आंकड़ों में कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा बहुत कम बताया गया। अहमदाबाद की ही बात करें तो यहां के 1,200 बेड वाले सिविल कोविड अस्पताल में रोज इतनी मौतें हुईं कि इसका आंकड़ा पूरे गुजरात में रोजाना होने वाली मौतों से ज्यादा था।

ये पूरी रिपोर्ट पढ़ने के लिए क्लिक करें...5. बिहार में वैक्सीनेशन के आंकड़ों में हेर-फेरराज्य सरकार ने जून के 17 दिनों में वैक्सीनेशन के 8.93 लाख फर्जी आंकड़े दर्ज कर दिए। ताकि बिहार वैक्सीनेशन की रफ्तार में देश के अन्य राज्यों से पीछे न छूट जाए। फर्जी आंकड़े एक दिन नहीं, हर दिन जोड़े जा रहे थे। 17 जून को जोड़े गए फर्जी आंकड़ों की संख्या बढ़कर तीन लाख से ऊपर चली गई। दैनिक भास्कर ने पड़ताल कर सरकार के इस फर्जीवाड़े का खुलासा किया था।

ये पूरी रिपोर्ट पढ़ने के लिए क्लिक करें...6. पेट्रोल-डीजल पर टैक्स से सरकार की कमाई बढ़ीकोरोना संक्रमण और लॉकडाउन की वजह से जब देश में ज्यादातर लोगों की आमदनी घट रही थी, तब राहत देने की बजाय सरकार ने महंगे पेट्रोल-डीजल का बोझ डाल दिया। इसका नतीजा ये हुआ कि पहली बार सरकार की आयकर से ज्यादा कमाई पेट्रोल-डीजल पर टैक्स से हुई। जनता को पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी और वैट के रूप में 5.25 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा चुकाने पड़े। headtopics.com

Who is Sneha Dubey: भारत की दमदार ऑफिसर स्नेहा दुबे के बारे में सबकुछ, UNGA में बंद कर दी इमरान खान की बोलती चीन ने Bitcoin सहित सभी क्रिप्टो ट्रेडिंग को ठहराया अवैथ , जारी किए नए नियम यूपी में बीजेपी ने निषाद पार्टी के साथ किया गठबंधन, क्या होगा असर? - BBC News हिंदी

ये पूरी रिपोर्ट पढ़ने के लिए क्लिक करें...7. पेट्रोल-डीजल 100 रुपए के पारपेट्रोल के बाद डीजल की कीमतें भी 100 रुपए/लीटर को पार कर गईं। इससे राजस्थान के श्रीगंगानगर में डीजल 100.06 रुपए हो गए। वहीं पांच राज्यों राजस्थान, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख में पेट्रोल पहले ही 100 रुपए के पार बिकने लगा था। 2 मई को पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के नतीजे आए। उसके दो दिन बाद से पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने शुरू हो गए थे।

ये पूरी रिपोर्ट पढ़ने के लिए क्लिक करें...8. ऑक्सीजन की कमी से मौतों की हकीकतकेंद्र सरकार ने राज्यसभा में बताया कि कोरोना की दूसरी लहर में देश में किसी की भी मौत की वजह ऑक्सीजन की कमी नहीं थी। सरकार के बयान के बाद देशभर में बवाल मच गया। बवाल मचना लाजमी भी है, क्योंकि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन की कमी को लेकर पूरे देश में हाहाकार मचा था। रोज अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी से मरीजों की मौतों की खबरें आ रही थीं।

ये पूरी रिपोर्ट पढ़ने के लिए क्लिक करें...9. देश में कोरोना से मौतें कम बताने की रिपोर्टवर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन का अनुमान था कि दुनिया में कोरोना की वजह से मौत के आंकड़े आधिकारिक संख्या से 2 से 3 गुना ज्यादा हो सकते हैं। भारत में आधिकारिक रूप से कम मौतें रिपोर्ट होने की आशंका और ज्यादा है। एमोरी यूनिवर्सिटी की महामारी वैज्ञानिक कायोका शियोडा का कहना था कि भारत में कोरोना से कई मौतें घर पर हो रही हैं, ये मौतें आधिकारिक आंकड़ों से बाहर हो जाती हैं।

ये पूरी रिपोर्ट पढ़ने के लिए क्लिक करें...10. कोरोना में मंत्रियों के ट्वीट्स का एनालिसिस और पढो: Dainik Bhaskar »

आज की पॉजिटिव खबर: UP के 3 दोस्तों ने नौकरी छोड़ किसानों के लिए तैयार किया मोबाइल ऐप; 8 लाख किसान जुड़े, 30 करोड़ रुपए टर्नओवर, फोर्ब्स में मिली जगह

ज्यादातर किसानों को खेती के बारे में सही जानकारी नहीं होती है। मसलन खेती की मिट्टी कैसी है, उस हिसाब से किन-किन फसलों की खेती करनी चाहिए? अच्छे प्रोडक्शन के लिए क्या करना चाहिए? फसल में बीमारी लग जाए तो उसका बचाव कैसे करें? खेती के लिए जरूरी चीजें कहां से खरीदें? फसल कटने के बाद अपना प्रोडक्ट कहां बेचें? कृषि को लेकर सरकार की कौन-कौन सी योजनाएं हैं, उनका लाभ कैसे लिया जा सकता है? ये कुछ ऐसे सवाल ह... | 29-year-old Harshit prepared mobile app to help farmers, more than 8 lakh farmers joined, turnover reached Rs 30 crore

rajendr59834426 पैनामा केस में अरबो के घोटाले के कारण रेड पड़ी हैं अख़बार ने छापा, तो अख़बार पर छापा। Bhaskar team me Aapke sath hoo aap log ese hi date rahiye or government ki galtiya janta ke samne late rahiye🙏🙏 इनमें से सच्ची खबरें कितनी हैं सच बोलने के परिणाम हमेशा गम्भीर होते लेकिन झुठलाए नही जा सकते।

डर लग रहा है आप ईमानदारी और हिम्मत से आपना काम करते रहिए.......

ये हैं भारत की सबसे सस्ती ब्लूटूथ वाली बाइक्स, आपके स्मार्टफोन से हो जाती हैं कनेक्टजो लोग ब्लूटूथ मोटरसाइकिल्स खरीदना चाहते हैं अब उनके लिए मार्केट में किफायती रेंज में ये बाइक्स उपलब्ध हैं। आज हम आपके लिए ऐसी ही कुछ ब्लूटूथ कनेक्टेड मोटरसाइकिल्स लेकर आए हैं जो आपके बजट में आसानी से फिट हो जाएंगी।

Democracy is made of: 1. People having voice 2. Fairly elected Govt 3. Rule of law based system 4. Independent institutions 5. Unbiased free media 6. Strong opposition to check 7. Uninfluenced judiciary 8. Data & accountability culture Which of these now really remain in India? Om shanti. Fake reports chapoge to raid to padgi ab mai batao konsi fake reports hai

U won the heart Danikbhaskar we are I selut uhh . सत्यमेव जयते बहुत खूब Sachin Bhai aaj tak aur ABP valo par bhi raid marni chahiye unke paas se jyade paise milenenge जब Zee media और Republic पर रेड हुआ तो कहां थे❓ keep it up . we are proud of you .

सबक: पाकिस्तान एफएटीएफ की निगरानी में, काम आ रहा है भारत का दबावहाल ही में विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा, 'हमारे कारण पाकिस्तान एफएटीएफ की निगरानी में है, और उसे ग्रे सूची में रखा गया 'xxzzz,xxzçxxxxzxxxxccxxzzzzzzzzzxxzxxztxzzgzzZ xxzzzz X X vz,z*z ZZ**zz,,&'7770777xcxc*z' ¥=

AmitRan94370918 Twitter पर बक खोदी क्यों कर रहे हो प्रेस की स्वतंत्रता के नाम पर आयकर चोरी करने की स्वतंत्रता नहीं मिल जाती BoycottGodiMedia नकाबपोशों के चेहरे से नकाब हटाने के लिए आपका धन्यवाद🙏💕 Sahab paise dengey ..lena math!! आप ऐसे ही काम करते रहें🙏। narendramodi जैसे यहां हमेशा रहने वाले नही। लोग चलता कर देंगे ऐसे निकम्मे लोगो को।

Mai to Danik Bhaskar k sath hun... Ap ranga billa bhogi k sath raho डरी हुई सरकारें कभी मजबूत लोकतंत्र का निर्माण नही कर सकतीं । ज़ुकना नहीं। सितमगर को हराना है। Awesome 👌

किसानों की आय दोगुनी करने के लक्ष्य पर काम तेज, सरकार ने उठाए कई बड़े कदमfarmers doubling income किसानों की आमदनी को दोगुना करने को लेकर केंद्र सरकार ने अपने स्तर पर बड़े कदम उठाए हैं। इनमें खेती की लागत में कमी लाने और उसकी उपज का उचित मूल्य दिलाने का प्रयास किया गया है। nstomar 😂😂😂😂😂 nstomar कभी भी नहीं कर पाएगी बीजेपी डीजल 100रू जुताई 1500 हो गई सिंचाई 200रू घंटा 150से nstomar Actually? Irrigation pump set and other works with tractor, whether the cost will be reduced by increasing the price of diesel, will there be a magic formula, how will the income be doubled, it is unclear.

आखिर कब-तक कोरोना से पूर्ण मुक्ति मिलेगी? हम किसी भी रोजगार को अनवरत चला सके,,, बिना किसी डर के,, छापा तो छापा मार दिया, डरपोक। Shameless Modi Govt मीडियामायाजाल तो एक दिन भंग होगा ही और लोक तंत्र का चौथा प्रहरी जागेगा। अभी तक तुम्हे भी नही पता की चौथा प्रहरी कौन है। पिछले कुछ समय से IT किसके आदेश पर काम कर रही है इस पर भी एक रिपोर्ट बना दीजिए।

ये तानाशाही है। pankhuripathak Pp अखबार तो केवल नाम है बाकि दैनिक भास्कर समूह क्या है? उसके कार्यक्षेत्र क्या है? वो सच तो बताओ? Delhi dango ke douran yehi dainik bhaskar ka rawaiyya kuch or tha pura din musalmano ke khilaf zahar gholte rha Good job team bhaskar, keep on it.👍👍

दैनिक भास्कर पर आयकर का छापा: सर्वे में 92.5% पाठकों ने भास्कर की बेखौफ पत्रकारिता का साथ दिया, कहा- डटे रहें, हम आपके साथ हैंसत्ता को हमेशा सच्ची खबरों से डर लगता है। यही वजह है कि खबरों की सच्चाई स्वीकार करके गलतियों में सुधार करने के बजाय ज्यादातर सरकारें पत्रकारिता को ही सुधारने में लग जाती हैं और इसका एकमात्र सरकारी तरीका है- छापे! | In the survey, 83.5% readers supported Bhaskar's fearless journalism, said - stand firm, we are with you दैनिक भास्कर किसी को भी अधिकार नहीं है भास्कर को छापा लगाने का हम पूरे भारत विश्व में दैनिक भास्कर की हर छोटी-बड़ी खबर हर गांव शहर में पहुंचाते हैं भास्कर ई पेपर के माध्यम ऐप के मध्यम से फ्री में खबर पहुंचाते हैं कोई भी अधिकारी दैनिक भास्कर चौक पर छापा नहीं लगा सकता हम एक साथ है We support dainik Bhaskar ये सब गलत आंकड़े है कितनी कमाई करते है मीडिया वाले सबको पता है जांच से घबराहट क्यो जब दामन साफ है कानून अपना काम करेगा चाहे कोई भी हो

दैनिक भास्कर के मीडिया कर्मियों को सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के अनुसार वेतन भुगतान किया जा रहा है या नहीं ?S.C. के निर्णय के अनुरूप वेतन पाने वाले मीडिया कर्मियों का नाम सार्वजनिक होना चाहिए ! इस संबंध में लंबित मुकदमों का विवरण सार्वजनिक करेंगे क्या ? 2011 में सुप्रीम कोर्ट ने मजीठिया वेतन आयोग के अनुसार संस्थान में कार्यरत मीडिया कर्मियों को वेतन भुगतान करने का फैसला दिया था! S.C. के फैसले का पालन हो रहा है नहीं?S.C.के आदेश की अवहेलना की वजह से विभिन्न न्यायालयों में कितना मुकदमा लंबित है ?

चौथे स्तंभ से सवाल-पूरे देश में “भास्कर साम्राज्य “की जड़ों को सींचने वाले निर्भीक पत्रकारों को प्रबंधन के समक्ष अभिव्यकि की आज़ादी कितनी है? या आज़ादी सिर्फ़ प्रबंधन के लिए है ? या मजीठिया वेतनआयोग के अनुसार वेतन मांगने वाले को बर्खास्त करने की नीति ? Sachchi prakarita, Dainik Bhaskar Delhi mein hare ghar per kaise milega

साँच को आंच क्या सच्चे हो तो डर कैसा, झूठे हो तो खबर कैसा पेपर की आड़ में बहुत से धंधे भी चल रहे थे रेड उन्ही पर है Chupchap kagaj dikhao IT walo ko, sab saf ho jayega chor ho ki doodh ke dhule. Waise shor to chor hi krte h 😂

रेसलिंग में भारत की शान हैं विनेश फोगाट, एक से बढ़कर एक कामयाबी है उनके नामTokyo Olympics विनेश फोगाट ने अपने करियर में कई कामयाबियां हासिल की है। 2014 और 2018 कॉमनवेल्थ गेम्स में उन्होंने देश के लिए गोल्ड मेडल जीता था तो वहीं एशियन गेम्स की बात करें तो उन्होंने 2014 में ब्रॉन्ज जबकि 2018 में गोल्ड मेडल अपने नाम किया था।

आपके प्रयास सराहनीय हैं सोई तथा भ्रमित हुई जनता को जगा सकते हैं आशा शुभकामनाओं के साथ करता हूं आप अवश्य ही कामयाब होंगे DaRpOk MODI SARKAR NEIN 7 SAAL MEIN BEKASOOR AAM JAN KO HaRaaS KARNE KE ALAVA KOI KAAM TO KIYA NEHIN BALIKE JO MEDIA CHANNELs DainiKBhaskar, BHARAT TV APNA KAAM POORI IMMANDAARI SE KAR REHE THE INCOME TAX KA CHHAAPA DALVA UNKO PARESHAN KAR REHE HEIN JO NINDANIYEIN HAI

Aapne tweet delete q kiya? Technically aap par us tweet ki wajah se raid hui We stand with Bhaskar Ajaykumar00009 Lot of persons today bought Dainik Bhaskar to show solidarity. Even one person of Patna, waited till early morning to catch his newspaper vendor to get a copy of Dainik Bhaskar. He used to read English paper. People are with you. We are with you.

दैनिक भास्कर डरना नहीं आज कुछ ही क्रांतिकारी लौ बची है इसे बुझने मत देना अंधभक्त बोहत है इस समय देश में उन्हें अंधभक्ति करने दो छापे पड़ते हैं तो पड़ने दो और जो लौ आपने जलाई है सच की उसे आग बनने दो अब भुकतो सच बोलने की सजा। बाकी गोदी मीडिया को अब आँखे खोलकर देश बचाने के काम मे लगना चाहिए। Kuch kaam nhi kr rhi h sarkar.....ha bs ek chiz ko chod kr logo ka jina mushkil ho gya h...petrol or diesel ke rate high hote jaa rhe h kyu...kyu ki sarkaar Vat rate kam hi nhi kr skti h....aam aadmi marta rhe pr sarkar ko kuch fark nhi pdta bs khud jeb barti rhe...

कुछ याद है । थाली चाटने वाले का अंजाम यही होता है । वो ना घर के होते हैं ना घाट के ।

ऑक्सीजन की कमी से हुई मौतों पर एलजी साहब फाइल ही दबाकर बैठे हैं : सत्येंद्र जैनसत्येंद्र जैन ने कहा कि ऑक्सीजन से हुई मौतों पर डेटा को तय करने के लिए ही समिति बनाई गई थी, इसको ही केंद्र सरकार ने एलजी साहब के माध्यम से भंग करवा दिया. बिना पूरी जानकारी के आंकड़ा नहीं रिपोर्ट किया जा सकता acha Ji Sach me..Shame on State Govt😀

Tum haa Rya Atankwadiyo Sa Sam bhand Hoga To Tum Par Raid To Banti Hai Nay Kyo, Kyo Swara Bhaskar Kya Jija. GYANRANJANGUPT क़ायदे से ऐसी ही रेड इन IT अफ़सरों के साथ देश के अन्य तमाम उन सरकारी अफ़सरों पर भी बनती है जो करोड़ों के बंगले में रहते हैं, जिनके बच्चे विदेशों में पढ़ते हैं और क़ीमती गाड़ियों में चलते हैं.. 😌😌

🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 कितनी जांच करो सत्य परेशान हो सकता है पराजित नही।।भास्कर ने सत्य लिखा है इसलिए उसकी सजा तो मिलनी ही है।।। Aap bahut acha kaam kar rahe ho aise hi karte rahiye देखा है तुम्हारा काम भी Chor Ki Dadi Main Tinka दैनिक भास्कर तुम सही हो डर क्यों रहे हो? Sher chahe pinjare me ked ho ' lekin dusham ko phir bhee dar hota h ! I proud dainik Bhaskar

puru_ag आजम_खान_रिहा_करो आजम_खान_रिहा_करो आजम_खान_रिहा_करो आजम_खान_रिहा_करो आजम_खान_रिहा_करो आजम_खान_रिहा_करो आजम_खान_रिहा_करो आजम_खान_रिहा_करो आजम_खान_रिहा_करो आजम_खान_रिहा_करो आजम_खान_रिहा_करो

Yahi haal hota hai sach bolne waalon ka अख़बार ने छापा, तो अख़बार पर छापा। “वाह ! मोदी जी वाह ' आज पहली बार मैं रविश कुमार से सहमत हूं 😊 👍 Dainik bootlicker..bloody islamophobes.😖😖😖 WE KNOW THE TRUTH. पर्दे के पीछे आप ऐसा काम कर रहे हो जांच एजेंसियां बता सकती हैं उन्हें अपना काम करने दीजिए आप अपना काम कीजिए

इसे काम नहीं प्रॉपगैंडा चलना कहते हैं। सच्चाई यह है कि करोना में जो सरकार नहीं किया है वह विश्व के लिए एक संदेश है और इससे भारत की छवि अच्छी हुई है। ग़लत प्रॉपगैंडा ना चलायें और देश की छवि को नुक़सान ना पहुँचाए। भास्कर के साथ भारत खड़ा है, और भारत को डराया नहीं जा सकता......! IStandWithDainikBhaskar

इन पर बढ़िया छापेमारी करो, हरामखोर मालुमात होते हुए भी क्लासिफाइड में गरीबो का खून पिने के लिए फर्जी विज्ञापन जानबूझकर प्रकाशित करते है... CBItweets DainikBhaskar अन्यथा न ले में भी पिछले 22 सालों से भास्कर का पाठक हु, पर यह घोर निंदनीय कार्य न करे... Dont fear, keep it up......we, common people of this nation are with your truth

ये भी हकीकत है आपके हॉकर्स खबर न छापने के खबर को दबाने के लिए उगाई करते है ब्लेकमैल करते है हर विभाग से विज्ञापन की आड़ लेकर उगाई होती है दोस्ती यारी के चलते व्यक्ति,नेता विशेष का महिमा मंडन करते है छोटी जगह पर पुलिस के कहने पर चलते है खबर दवा देते है यह भी हकीकत है जनता सब जानती टैक्स चोरी विदेशी फंडिंग वाला पैसे खाकर बिल्ली हज को चली 🤣

गजब का काम किया है आपलोगो ने, डर नहीं लगता क्या ? To parshani kya hai? Itna rona dhona kyon Macha rahe ho ? Tum apna kaam karo. Agency apna व्यावसायिक संस्थानों पर छापेमारी कोई अपराध नही है।खबरे लिखते रहो, लिखना भी चाहिए उससे किसने रोका है। पीड़ित मत दिखाओ अपने आप को☺️☺️ आप अपना काम सर्वोत्तम तरीके से कर रहे हैं.

Bhaskar ko jagran samajhne ki bhool I solute your courage..🙏 Our support is with you..You have shown what the real journalism is..

sakshijoshii सत्यमेव जयते अरे आयकर का छापा पड़ा है, सामान्य कानूनी प्रक्रिया है, अगर आय से अधिक संपत्ति पकड़ी जाती है तो भास्कर चोर है और नही तो No.1 का ईमानदार। जांच ही तो हो रही है पर आपलोग चोरों की तरह चिल्ला क्यों रहे हो? चोर की दाढ़ी में तिनका? Or kro modi ki dlali y bhnchod apni lugai ka bhi nhi huwa to Aapka Kya Hoga phli bar sach bolte hi pdwa di na red

Ye raids ekdum perfect timing pr he kyun padti hai. Raids se darane wala kaam ho rha kya? यही तो वजह है। संदेश साफ है अगर कुछ छापा📄 तो पड़ेगा छापा🗞 IStandWithDainikBhaskar डरना नहीं है तुझे लड़ना है supportdainikbhaskar अच्छा किया आपने असली चेहरा दिखा दिया, पूरी रिपोर्टिंग मोदी सरकार के प्रति नकारात्मक से भरी हे, क्या कभी मोदी सरकार ने अच्छा काम नहीं किया, एक फटीश कुमार हे जो पिछले 7 साल से केवल और केवल मोदी की गलतियां उजागर करने में लगे है, वही आप कर रहे, कभी किसी के बारे में अच्छा भी देखा करो

I m very happy to switch to Bhaskar from JagranNews. Keep reporting the truth on failure of the govt (bjp, cong, others). Many like me are with u. 👍🏻👍🏻 जो डर गया वो मर गया।। मैं बेख़ौफ़ हूँ स्वतंत्र हूँ, हाँ मैं दैनिक भास्कर हूँ।। दैनिक_भास्कर_रैड दैनिक_भास्कर_सही_है देनिक_भास्कर दोस्तो ये वीडियो जरूर चेक करे, हंस हंस कर पागल हो जाएंगे, लाइक और सब्सक्राइब जरूर कर देना

अगर तुमने मेरे ख़िलाफ़ छापा; तो मैं खो दूँगा अपना आपा; फिर पड़ेगा तुम्हारे वहाँ छापा। DainikBhaskar न्यूज़ पेपरों के पत्रकार तहसीलों में बैठकर दलाली करते हैं ₹100 लेकर खबर छापते हैं दैनिक भास्कर क्या करता है इसे बताने की आवश्यकता नहीं है अगर जांच हो रही है दैनिक भास्कर को क्यों परेशानी हो रही है जांच होने दीजिए दूध दूध पानी का पानी हो जाएगा दैनिक भास्कर इतना अधीर क्यों है✍

Hm ap ke sath hai .... अगर सब अपना अपना काम करते है तो टेंशन नहीं लेनेका। चाटुकारिता से राजा ख़ुश होता है और पत्रकारिता से प्रजा! अर्णब गोस्वामी पर जब रेड पड़ी थी तब सारी मीडिया मजे ले रही थी। जिस गंगा को तुम लोगे ने अपमानित किया , वहा दुबकी लगा लो हो सकता थोड़े पाप का बोझ कम हो जाये ,,,, बाकि कानून को अपना काम करने तो ,,,,,, कुछ कर्मो का हिसाब यही होना है

तिलमिला काहे रहे वो, जब अच्छा किये हो तो भगवान भी अच्छा करेगा और गलत किये होगे तुम भुगतना |