Coronavirus, Coronavirusoutbreak, Covıd 19, Hantavirues, Coronavirus İndia, Coronavirus, Coronavirus Virus, Virus, Virus History, Human Virus, Human Virus Names, Hiv, Chicken Pox, İnfluenza, Hiv Aids, Hantavirus, Rabies, Dengue

Coronavirus, Coronavirusoutbreak

दुनिया के लिए पहले भी मुसीबत बन चुके हैं ये 10 वायरस, एक तो कोरोना का पूर्वज ही है

ऐसा पहली बार नहीं हुआ है जब पूरी दुनिया में महामारी फैली हो। इससे पहले भी कोरोना जैसे कई वायरस दुनिया में तबाही मचा चुके

09-04-2020 11:17:00

दुनिया के लिए पहले भी मुसीबत बन चुके हैं ये 10 वायरस, एक तो कोरोना का पूर्वज ही है Coronavirus Coronavirus Outbreak COVID19 hantavirues

ऐसा पहली बार नहीं हुआ है जब पूरी दुनिया में महामारी फैली हो। इससे पहले भी कोरोना जैसे कई वायरस दुनिया में तबाही मचा चुके

इंफ्लूएंजा :भारत में हर साल इंफ्लूएंजा के करीब 1 करोड़ मामले सामने आते हैं। यह भी महामारी की श्रेणी में ही आता है और इसके लक्षण भी कोरोना वायरस जैसे ही हैं। 1580 के करीब यह रूस, यूरोप और अफ्रीका में फैला था। रोम में इसके कारण 8,000 से अधिक लोगों की मौत हुई थी। इस वायरस ने 1918 में भी भारी तबाही मचाई थी।

कोरोना वायरस: दुनिया भर में 65.6 लाख से ज़्यादा संक्रमित, 3.87 लाख लोगों की मौत - BBC Hindi शामली: एक को गिरफ्तार करने गई पुलिस ने 35 मुस्लिम घरों में तोड़फोड़ व मारपीट की सीएए: प्रदर्शनकारियों को दिल्ली दंगों से जुड़े मामलों में गिरफ़्तारी पर सांसदों ने उठाई आवाज़

रैबीज :रैबीज के बारे में आपको पता ही होगा। रैबीज पालतू कुत्तों के काटने से फैलता है। इस वायरस का पता पहली बार 1920 में चलाथा। यदि कुत्ते के काटने पर इलाज ना हो तो इंसान की जान भी जा सकती है। रैबीज के मामले भारत और अफ्रीका में अधिकतर देखे जाते हैं।डेंगू :

डेंगू मच्छरों के काटने से फैलता है और दिल्ली-एनसीआर जैसे शहरों में हर साल इसके कई मामले सामने आते हैं, हालांकि इससे मरने वालों की प्रतिशत 20 ही है। डेंगू के बारे में पहली जानकारी 1950 में फिलीपींस और थाईलैंड में मिली थी।मारबर्ग वायरस:यह वायरस 1967 में जर्मनी के एक लैब से लीक हो गया था। यह वायरस बंदरों से इंसान के शरीर में पहुंचा था। इस वायरस से संक्रमित होने वाले शख्स को तेज बुखार होता था और शरीर से खून निकलता था। मारबर्ग एक जानलेवा वायरस था।

इबोला वायरस: इबोला का पता पहली बार 1976 में कांगो और सूडान में चला था। इस वायरस के कारण भी कई लोगों की मौत हुई थी। 1976 के बाद इस वायरस ने 2014 में अफ्रीका में तबाही मचाई थी।स्मॉलपॉक्स :स्मॉलपॉक्स को चेचक भी कहा जाता है। स्मॉलपॉक्स को खत्म करने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 1980 में मुहिम चलाई थी जिसके बाद लोगों को टीके लगाए गए। आपको जानकर हैरानी होगी कि 20वीं सदी में इस रोग से 30 करोड़ लोगों की जान चली गई थी।

हंता वायरस :हंता वायरस का आपने हाल ही में नाम सुना होगा, जब कोरोनो के तुरंत बाद चीन में हंता वायरस से एक शख्स की मौत हो गई, लेकिन आपको बता दे कि इस वायरस के बारे में पहली बार 1993 में पता चला था। यह वायरस चूहों से फैला था और इसके कारण चंद दिनों में 600 लोगों की मौत हो गई थी।

मर्स :मर्स वायरस के बारे में 2012 में पता चला था। सबसे पहले यह सऊदी अरब में फैला था। इस वायरस से संक्रमित व्यक्ति में निमोनिया और कोरोना वायरस के लक्षण मिले थे। इस वायरस से संक्रमित होने पर बचने की संभावना 50 फीसदी ही होती है। कहा जाता है कि मर्स भी कोरोना परिवार का ही वायरस है।

सार्स :सार्स को कोरोना वायरस के पूर्वज का दर्जा मिला है। यह वायरस भी कोरोना की तरह चीन से ही फैला। सार्स चीन के गुआंगडांग प्रांत से आया था। यह वायरस भी चमगादड़ों से ही इंसानों में पहुंचा था। इस वायरस ने दो साल में आठ हजार लोगों की जान ली थी। सार्स दुनिया के 26 देशों में फैला था।

J-K: राजौरी के कालाकोट में सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, एक दहशतगर्द ढेर विस्फोटकों से भरे अनानास केरल में नई बात नहीं हैं दिल्ली हिंसा और ताहिर हुसैन को लेकर ट्विटर पर भिड़े AAP और बीजेपी नेता

एचआईवी :इसका पूरा नाम ह्युमन इम्युनोडेफिशिएंसी वायरस है। एचआईवी से पीड़ित होने पर बचने की संभावना बहुत ही कम होती है, क्योंकि इससे संक्रमित 96 फीसदी लोगों की मौत हो चुकी है। यह पहली बार 1980 में सामने आया था और अब तक यह 3.20 करोड़ लोगों की जान ले चुका है।

कोरोना वायरस या कोविड-19 वायरस की वजह से पूरी दुनिया परेशान है। 200 से अधिक देश कोरोना वायरस के किसी युद्ध की तरह लड़ रहे हैं। कोरोना वायरस के कारण इस वक्त दुनिया में 1,519,442 लोग संक्रमित हैं और 88,543 लोगों की मौत हो चुकी है, हालांकि हैं। साइंटिफिक अमेरिकन मैगजीन के मुताबिक पृथ्वी पर करीब छह लाख वायरस हैं जो इंसान के लिए खतरनाक हैं। आइए जानते हैं कोरोना जैसे कुछ वायरस के बारे में...

इंफ्लूएंजा :भारत में हर साल इंफ्लूएंजा के करीब 1 करोड़ मामले सामने आते हैं। यह भी महामारी की श्रेणी में ही आता है और इसके लक्षण भी कोरोना वायरस जैसे ही हैं। 1580 के करीब यह रूस, यूरोप और अफ्रीका में फैला था। रोम में इसके कारण 8,000 से अधिक लोगों की मौत हुई थी। इस वायरस ने 1918 में भी भारी तबाही मचाई थी।

रैबीज :रैबीज के बारे में आपको पता ही होगा। रैबीज पालतू कुत्तों के काटने से फैलता है। इस वायरस का पता पहली बार 1920 में चलाथा। यदि कुत्ते के काटने पर इलाज ना हो तो इंसान की जान भी जा सकती है। रैबीज के मामले भारत और अफ्रीका में अधिकतर देखे जाते हैं।डेंगू :

डेंगू मच्छरों के काटने से फैलता है और दिल्ली-एनसीआर जैसे शहरों में हर साल इसके कई मामले सामने आते हैं, हालांकि इससे मरने वालों की प्रतिशत 20 ही है। डेंगू के बारे में पहली जानकारी 1950 में फिलीपींस और थाईलैंड में मिली थी।मारबर्ग वायरस:यह वायरस 1967 में जर्मनी के एक लैब से लीक हो गया था। यह वायरस बंदरों से इंसान के शरीर में पहुंचा था। इस वायरस से संक्रमित होने वाले शख्स को तेज बुखार होता था और शरीर से खून निकलता था। मारबर्ग एक जानलेवा वायरस था।

इबोला वायरस: इबोला का पता पहली बार 1976 में कांगो और सूडान में चला था। इस वायरस के कारण भी कई लोगों की मौत हुई थी। 1976 के बाद इस वायरस ने 2014 में अफ्रीका में तबाही मचाई थी।स्मॉलपॉक्स :स्मॉलपॉक्स को चेचक भी कहा जाता है। स्मॉलपॉक्स को खत्म करने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 1980 में मुहिम चलाई थी जिसके बाद लोगों को टीके लगाए गए। आपको जानकर हैरानी होगी कि 20वीं सदी में इस रोग से 30 करोड़ लोगों की जान चली गई थी।

एम्स में नर्सों की हड़ताल, पीपीई किट से हो रहे इन्फ़ेक्शन और रेशेज़ केंद्र सरकार ने जारी किया राज्यों का जीएसटी बकाया, दिए 36400 करोड़ रुपये होटलों का बदला अंदाज, वेलकम ड्रिंक की जगह दे रहे काढ़ा, PPE किट पहन रहा स्टाफ

हंता वायरस :हंता वायरस का आपने हाल ही में नाम सुना होगा, जब कोरोनो के तुरंत बाद चीन में हंता वायरस से एक शख्स की मौत हो गई, लेकिन आपको बता दे कि इस वायरस के बारे में पहली बार 1993 में पता चला था। यह वायरस चूहों से फैला था और इसके कारण चंद दिनों में 600 लोगों की मौत हो गई थी।

मर्स :मर्स वायरस के बारे में 2012 में पता चला था। सबसे पहले यह सऊदी अरब में फैला था। इस वायरस से संक्रमित व्यक्ति में निमोनिया और कोरोना वायरस के लक्षण मिले थे। इस वायरस से संक्रमित होने पर बचने की संभावना 50 फीसदी ही होती है। कहा जाता है कि मर्स भी कोरोना परिवार का ही वायरस है।

सार्स :सार्स को कोरोना वायरस के पूर्वज का दर्जा मिला है। यह वायरस भी कोरोना की तरह चीन से ही फैला। सार्स चीन के गुआंगडांग प्रांत से आया था। यह वायरस भी चमगादड़ों से ही इंसानों में पहुंचा था। इस वायरस ने दो साल में आठ हजार लोगों की जान ली थी। सार्स दुनिया के 26 देशों में फैला था।

एचआईवी :इसका पूरा नाम ह्युमन इम्युनोडेफिशिएंसी वायरस है। एचआईवी से पीड़ित होने पर बचने की संभावना बहुत ही कम होती है, क्योंकि इससे संक्रमित 96 फीसदी लोगों की मौत हो चुकी है। यह पहली बार 1980 में सामने आया था और अब तक यह 3.20 करोड़ लोगों की जान ले चुका है।

और पढो: Amar Ujala »

माइकल क्लार्क ने चुने दुनिया के 7 महान बल्लेबाज, दो भारतीय भी शामिल - Sports AajTakऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क ने दुनिया के 7 महान बल्लेबाजों का चयन किया है. क्लार्क ने जिन 7 बल्लेबाजों Bhai wah Good job 👍👍 Sir Congratulations

यहां पढ़ें देश और दुनिया की 10 बड़ी खबरें Coronavirus पर विभिन्न अपडेट्स के साथ यहां पढ़ें देश और दुनिया की 10 बड़ी खबरें | nation News in Hindi - हिंदी न्यूज़, समाचार, लेटेस्ट-ब्रेकिंग न्यूज़ इन हिंदी A.P Ration card ledu Rice ledu Kendram ichhe amount raledu Volunteers no response I can send emails to CM,Collector, JC no response Complaint file to spandana, ap food corporation grivance but Not responding I don't have rice how to stay in my home and how to support

एशेज नहीं भारत में टेस्ट सीरीज जीतना है दुनिया के नंबर वन बल्लेबाज का टारगेटकोविड-19 महामारी के कारण भले ही दुनिया में 200 से ज्यादा देशों में लॉकडाउन है, लेकिन राजस्थान रॉयल्स के कप्तान स्टीव स्मिथ इस तरह के आराम को बुरा नहीं मानते हैं। उन्हें जल्द ही चीजें सामान्य होने की उम्मीद है।

Lockdown India: सुबह-शाम करती है सावधान, देती है देश-दुनिया की जानकारीLockdown India कोरोना से जंग को गांव की कमान संभाल रही आठवीं की छात्रा दोनों वक्त करती है अनाउंसमेंट बिटिया के कहने पर प्रधान ने गांव में लगवाया पब्लिक एड्रेस सिस्टम

Live: कोरोना से दुनिया भर में 82 हजार मौतें, इटली में आंकड़ा 17 हजार के पारCOVID19 Coronavirus कोरोना से दुनिया भर में 82 हज़ार लोगों की मौत हो चुकी है लाइव ब्लॉग: Very bad situatuon in america nd also other country Coz of china अगर आप है कोरोना के ड़र मे तो**रहिये अपने घर में

कोरोना वायरस: इस बार कैसे गुज़रेगा रमज़ान, दुनिया भर के धर्म प्रभावितकोरोना वायरस के कारण दुनिया भर की धार्मिक गतिविधियां प्रभावित हो रही हैं. Allah bhot bara h fikr na kare Allah jo karta hai accha karta hai मानवता संकट के मुहाने पर है। जेहादियों को रमजान की फिक्र हो रही है पर

राहुल ने फिर लॉकडाउन को बताया फेल, कहा- राज्यों को उनके हाल पर छोड़ रहा केंद्र राहुल का ट्वीट- क्या भारतीय सीमा में नहीं घुसा कोई चीनी सैनिक? स्पष्ट करे सरकार अनुष्का शर्मा ने शेयर की फोटो, पति विराट कोहली ने किया ये कमेंट हथिनी की मौत पर राहुल गांधी से मेनका का सवाल, पूछा- क्यों नहीं की कार्रवाई कोरोना अपडेटः जॉर्ज फ़्लॉयड को कोरोना संक्रमण भी हुआ था - BBC Hindi दलित छात्रा ने ऑनलाइन क्लास नहीं कर पाने के चलते की 'आत्महत्या' गर्भवती हथिनी की मौत से दुखी IPS डी रूपा, दोषियों को सजा की मांग जॉर्ज फ्लॉयड के सपोर्ट में उतरे स्टार्स पर अभय देओल का तंज- अपना देश भी देख लो 'सच बोलने से डरते हैं लोग', उद्योगपति राजीव बजाज ने लॉकडाउन पर कही ये 5 बातें ट्रंप ने विभाजन की आग भड़काई, अमरीका के पूर्व रक्षा मंत्री का आरोप एटलस साइकिल ने बंद किया आख़िरी कारखाना, हज़ार के क़रीब कर्मचारी बेरोज़गार