Voiceforuuth, Lockdown, Coronavirus, Covıd__19, Coronavirus, Covid-19, Lockdown, Hashtag, Voiceforyouth, Storıes On Lockdowns, Youth, Voıceforuuth, Seema Jha News, Youth On Lockdown News

Voiceforuuth, Lockdown

दुनियाभर के यूथ हैशटैग वॉयसफॉरयूथ के तहत कर रहे लॉकडाउन की कहानियां शेयर

दुनियाभर के यूथ हैशटैग वॉयसफॉरयूथ के तहत कर रहे लॉकडाउन की कहानियां शेयर #voiceforuuth #lockdown #coronavirus #COVID__19

11-07-2020 14:15:00

दुनियाभर के यूथ हैशटैग वॉयसफॉरयूथ के तहत कर रहे लॉकडाउन की कहानियां शेयर voiceforuuth lockdown coronavirus COVID__19

स्कूल बंद हैं और ऑनलाइन कक्षाओं का दौर जारी है। पर अब बच्चोंकिशोरों का मन ऊब रहा है। उनमें चिड़चिड़ापन बढ़ने लगा है तो परेशान न हों। इस दौर में ऐसा स्वाभाविक है।

बाल मनोवैज्ञानिकगगनदीप कौरकहती हैं, ‘परेशानी तब शुरू होती है, जब हम अपनी दिक्कतों को गिनने लगते हैं। उसी के इर्दगिर्द सोचते हैं। घर पर रहते हुए अचानक आपको दिक्कतों का एहसास हो तो अपना फोकस शिफ्ट कर लेना चाहिए।’ उनके मुताबिक, खेल की दुनिया भी लॉकडाउन से बुरी तरह प्रभावित है, लेकिन खिलाड़ियों ने खुद को नकारात्मक प्रभावों से खुद को बचाए रखने की शानदार कोशिश की है।

भारत कोरोना की तीन-तीन वैक्सीन बना रहा है- लाल क़िले से पीएम मोदी - BBC Hindi Live: पीएम मोदी ने लाल किले पर फहराया तिरंगा, थोड़ी देर में देश को करेंगे संबोधित आज़ादी की सारी ख़ुशियों से एक फ़ोन कॉल ने नेहरू को जुदा कर दिया था

यह भी पढ़ेंलॉकडाउन के शुरुआती दौर में विराट कोहली ने कहा था, ‘मैं इन दिनों इस प्रयास में हूं कि जब वापसी हो तो उसी बिंदु से शुरुआत करूं, जहां रुकना पड़ा था।’ लॉकडाउन न होता तो इस समय आप विंबलडन और ओलंपिक का आनंद ले रहे होते। मुश्किल समय सबके लिए है, लेकिन ओलंपिक की तैयारी कर रहे खिलाड़ी वीडियो के जरिए हैशटैग ‘स्टे स्ट्रॉन्ग, स्टे ऐक्टिव, स्टे हेल्दी’ का संदेश देकर खिलाड़ियों को वर्कआउट का संदेश रहे हैं। 

यह भी पढ़ेंयही ओलंपिक स्पिरिट खिलाड़ियों को हार नहीं मानने देती, बल्कि ‘बाउंस बैक’ के लिए प्रेरित करती है। टोक्यो ओलंपिक की वेबसाइट पर इसे देख सकते हैं। भारत में भी खिलाड़ी ऐसे वीडियो जारी कर लोगों को प्रेरणा देने का प्रयास कर रहे हैं।यह भी पढ़ेंबनेंगे और भी मजबूत

पिछले दिनों अल्फाबेट इंक, गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई ने एक वर्चुअल समारोह में अपनी बातों से सबका दिल जीत लिया। यह समारोह उन छात्रों को समर्पित था,जो इस वर्ष ग्रेजुएट हुए। उन्होंने कहा कि यह साल छात्रों के लिए मुश्किल भरा तो है, पर उन्हें भरोसा है कि वे इस परीक्षा में पास हो जाएंगे। इससे निकलकर वे और मजबूत बनेंगे।

उन्होंने अतीत की उन आपदाओं के उदाहरण भी दिए, जो जानलेवा थीं, पर छात्रों को आगे बढ़ने से नहीं रोक पाईं। उन्होंने दुनिया के छात्रों को तीन सलाह दी। पहला, धैर्य रखें और आशावादी बनें। इस समय तकनीक की मदद लें, ताकि अपने ख्वाब को सच में बदल सकें। दूसरा, आज देखा गया ख्वाब ही कल सच बन सकता है और तीसरा, आप जो कुछ करते हैं, खुले दिमाग और जुनून के साथ करें। यकीन करें कि हर पर्वत के पास पहुंचने के लिए रास्ता होता है, पर वह घाटी से नहीं दिखाई देता।

स्थिति चाहे जैसी हो, उसका सामना करना चाहिए ज्योति अरोड़ा, प्रिंसिपल, डीडब्ल्यूयूपीएस, गौतमबुद्ध नगर कहती हैं कि जो हमने नहीं सोचा वह हो गया, तो परेशानी स्वाभाविक है। चाहे जैसी स्थिति आपके सामने आए, उसका सामना करना चाहिए। इसे स्वीकार कर लिया तो आपकी राह आसान हो जाएगी। यह सबके लिए चुनौतीपूर्ण है। शिक्षकों के लिए भी और अभिभावकों के लिए भी।

यह भी पढ़ेंयह सही है कि आपको ऑनलाइन स्कूल का तरीका नहीं भा रहा या आप इससे जुड़ाव महसूस नहीं कर पा रहे, लेकिन जब विकल्प ही यही है, तो आपको इसे ही खूबसूरत बनाना है। यह और कारगर बन सकता है, जब पैरेंट्स-टीचर्स का तालमेल हो। बच्चों के साथ टीचर्स का इमोशनल कनेक्शन बनाने की दिशा में काम हो। बेशक आपने इस मुश्किल समय में इतना कुछ सीखा है, जो आमतौर पर कम ही संभव हो पाता।

Live: लाल किले की प्राचीर से पीएम का सवाल-हम कब तक कच्चा माल विदेश भेजते रहेंगे? LOC हो या LAC, जिस किसी ने भी आंख उठाई सेना ने उसी भाषा में जवाब दिया: PM मोदी लाल किले की प्राचीर से पीएम का सवाल-हम कब तक कच्चा माल विदेश भेजते रहेंगे?

काम की बात- एक बार में एक काम करें।- घर पर योग और कसरत के साथ- शारीरिक सक्रियता चिंता को छूमंतर करने में खास मददगार है।- कोई पछतावा या गलती का एहसास हो तो हमेशा याद रहे कोई परफेक्ट नहीं। हां, कोशिश जारी रहे।- सुधार के लिए कड़े प्रयास के लिए खुद को तैयार रखना है, यह मंत्र खुद को याद दिलाते रहें।

- कोई मुश्किल हो तो पैरेंट्स से शेयर करने की शुरुआत करने का भी यह अच्छा समय है।- डिजिटल दुनिया से भी समुचित दूरी जरूरी है।बीच की राह निकालनी होगीसाइकोथेरेपिस्ट और बाल मनोवैज्ञानिक गगनदीप कौर का कहना है कि इस समय चिड़चिड़ापन, छोटी-छोटी बात पर बिगड़ जाना, ऑनलाइन कक्षाओं में रुचि न लेना जैसी समस्याएं किशोरों में आम हैं। वे घर पर कुछ शेयर करने से बचते हैं, तो इसका अर्थ है पैरेंट्स खुद अपनी समस्याओं में इतने उलझे हैं कि वे उनसे अपनी बात कह नहीं पाते, जबकि शेयरिंग बहुत जरूरी है। भावनाएं बंद रहें, तो वे निगेटिव हो जाती हैं। एक बीच की राह निकालनी होगी। 

Posted By: और पढो: Dainik jagran »

मध्य प्रदेश के नए सोलर प्रोजेक्ट का क्या है दिल्ली मेट्रो कनेक्शन?प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज मध्य प्रदेश के रीवा में सोलर प्रोजेक्ट का उद्घाटन किया. यह एशिया का सबसे बड़ा सोलर पावर प्रोजेक्ट है.

कोरोना का भय: शूटिंग की अनुमति के बावजूद सूनी है दादा साहेब फाल्के फिल्मनगरीकोरोना के कहर से फिल्म उद्योग भी बुरे संकट के दौर से गुजर रहा है... WHO MoHFW_INDIA Bollywood Coronavirus India COVID19updates CoronaVirusUpdates WHO MoHFW_INDIA इनके साथ एसा ही होना चाहिए। WHO MoHFW_INDIA ये भारतीय संस्कृति को तहसनहस करने वाली दुनिया तो समाप्त ही हो जानी चाहिए WHO MoHFW_INDIA हमे घंटा फर्क नही पड़ता चाहे ससुरी में आग भी लग जाये।

तेजस्वी के बाद चिराग भी बिहार चुनाव टालने के पक्ष में, आखिर क्या है वजह?प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी वर्चुअल रैली के जरिए बिहार चुनाव अभियान में जुटे हुए हैं. ऐसे में आरजेडी नेता तेजस्वी यादव के बाद अब एनडीए के सहयोगी लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) प्रमुख चिराग पासवान ने भी कोरोना संक्रमण के बीच चुनाव कराने के पक्ष में नहीं दिख रहे हैं. Suggestions Should be taken by election commission if they think and our assured than they should talk to concern political parties and move forward this is a right way Good

UP में कोरोना का कहर, 10 जुलाई से 3 दिन के लिए लॉकडाउन का ऐलानलखनऊ। उत्तरप्रदेश में कोरोनावायरस का कहर एक बार फिर से बढ़ गया है। अब प्रदेश के कई जिलों में तेजी के साथ कोरोना के मरीज बढ़ रहे हैं। इसके चलते उत्तरप्रदेश सरकार ने 10 जुलाई की रात 10 से 13 जुलाई सुबह 5 बजे तक के लिए उत्तरप्रदेश में लॉकडाउन की घोषणा की है।

गिलियड का दावा- रेमडेसिवीर से कोरोना मरीजों के ठीक होने का आंकड़ा बढ़ाकोरोना को लेकर अच्छी खबर है कि गिलियड साइंसेज ने अपने अध्ययन में यह दावा किया कि एंटीवायरल दवा रेमडेसिवीर के जरिए इलाज करने से कोरोना मरीजों में ठीक होने की दर में वृद्धि देखी गई.

पीएम मोदी आज MP के रीवा में एशिया के सबसे बड़े सौर प्लांट का करेंगे लोकार्पणमध्य प्रदेश के रीवा में स्थापित 750 मेगावाट की सौर ऊर्जा परियोजना का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को सुबह 11 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए लोकार्पण करेंगे. यह एशिया का सबसे बड़ा सौर प्लांट माना जा रहा है. इस परियोजना में 250-250 मेगावाट की तीन सौर उत्पादन इकाइयां शामिल हैं. Jai Hind