Supremecourt, Supreme Court On Rtı, Delhi High Court, Supreme Court News, Right To Information, Rtı Act To İntelligence, Rtı İn Security Organisations, सुप्रीम कोर्ट, सूचना का अधिकारी, आरटीआई एक्‍ट, आरटीआई कानून, सुरक्षा संस्‍थानों में आरटीआई

Supremecourt, Supreme Court On Rtı

दिल्‍ली हाई कोर्ट तय करे कि क्या सुरक्षा संगठन RTI के तहत आते हैं, सुप्रीम कोर्ट ने जानकारी देने का आदेश किया खारिज

दिल्‍ली हाई कोर्ट तय करे कि क्या सुरक्षा संगठन RTI के तहत आते हैं, सुप्रीम कोर्ट ने जानकारी देने का आदेश किया खारिज #SupremeCourt

17-10-2021 18:40:00

दिल्‍ली हाई कोर्ट तय करे कि क्या सुरक्षा संगठन RTI के तहत आते हैं, सुप्रीम कोर्ट ने जानकारी देने का आदेश किया खारिज SupremeCourt

सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली हाई कोर्ट को निर्देश दिया है कि वह फैसला करे कि सरकार के खुफिया और सुरक्षा संगठनों पर आरटीआइ कानून लागू होता है या नहीं? शीर्ष अदालत ने एक कर्मचारी को जानकारी उपलब्ध कराने का आदेश खारिज कर दिया।

सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली हाई कोर्ट को निर्देश दिया है कि वह फैसला करे कि सरकार के खुफिया और सुरक्षा संगठनों पर सूचना का अधिकार (आरटीआइ) कानून लागू होता है या नहीं? इसके साथ ही शीर्ष अदालत ने वरिष्ठता और पदोन्नति के संदर्भ में एक कर्मचारी को जानकारी उपलब्ध कराने का एक विभाग को निर्देश देने संबंधी उसका आदेश खारिज कर दिया है।

पाकिस्तान से आती है प्रदूषित हवा : SC में प्रदूषण पर सुनवाई के दौरान यूपी सरकार केरल में CPM नेता की हत्या, पार्टी ने RSS को ज़िम्मेदार ठहराया - BBC Hindi पिछले पांच सालों में छह लाख से अधिक हिंदुस्तानियों ने छोड़ी भारतीय नागरिकता: केंद्र

जस्टिस एमआर शाह और एएस बोपन्ना की पीठ ने कहा कि हाई कोर्ट ने सरकारी विभाग की उस आपत्ति पर निर्णय लिए बिना निर्देश दे दिया कि उस (विभाग) पर आरटीआइ कानून लागू नहीं होता है। पीठ ने कहा, 'विभाग की ओर से यह विशेष प्रश्न उठाया गया था कि आरटीआइ अधिनियम इस संगठन/विभाग पर लागू नहीं होता है।

यह भी पढ़ेंइसके बावजूद इस आपत्ति का निर्णय किए बिना हाई कोर्ट ने अपीलकर्ता को आरटीआइ अधिनियम के तहत मांगे गए दस्तावेज प्रस्तुत करने का निर्देश दिया। यह क्रम को बदलने जैसा है।'शीर्ष अदालत ने कहा कि हाई कोर्ट को सबसे पहले संगठन या विभाग पर आरटीआइ अधिनियम लागू होने के संबंध में फैसला करना चाहिए था। पीठ ने अपने हालिया आदेश में कहा है, 'हम हाई कोर्ट को निर्देश देते हैं कि वह पहले अपीलकर्ता संगठन/विभाग पर आरटीआइ अधिनियम लागू होने के मुद्दे पर फैसला करे। उसके बाद स्थगन आवेदन/एलपीए पर फैसला करे। इसका निर्धारण आठ सप्ताह की अवधि के भीतर किया जाएगा। headtopics.com

शीर्ष अदालत हाई कोर्ट के 2018 के फैसले के खिलाफ केंद्र सरकार द्वारा दायर एक अपील पर सुनवाई कर रही थी, जिसमें विभाग को 15 दिनों के भीतर कर्मचारी को जानकारी प्रदान करने का निर्देश दिया गया था। इससे इतर सुप्रीम कोर्ट ने न्यायपालिका के डिजिटलीकरण की ओर एक और कदम बढ़ाते हुए देश के सभी हाईकोर्टों से उनके समक्ष कुछ निश्चित मामलों में दायर होने वाली याचिकाओं को अगले साल एक जनवरी से ई-फाइलिंग अनिवार्य करने के निर्देश दिए हैं। सर्वोच्‍च न्‍यायालय की ई-समिति के अध्यक्ष ने पत्र में सभी हाईकोर्टों की रजिस्ट्री से कहा कि वे पहली जनवरी से सरकार की ओर दायर मामलों की ई-फाइलिंग अनिवार्य किया जाना सुनिश्चित करें।

और पढो: Dainik jagran »

भास्कर एक्सप्लेनर: अमीर देश वैक्सीनेशन में आगे, लेकिन गरीब देश बहुत पीछे; क्यों सबको वैक्सीन दिए बिना खत्म नहीं होगा कोरोना?

दक्षिण अफ्रीका में कोरोना का नया वैरिएंट ओमिक्रॉन मिला है। अब तक के सबसे खतरनाक वैरिएंट माना जा रहे इस वैरिएंट के पीछे एक वजह वैक्सीन इनइक्वालिटी को भी माना जा रहा है। अफ्रीका के ज्यादातर देश गरीब हैं, इस वजह से वहां वैक्सीनेशन की रफ्तार धीमी है। एक्सपर्ट्स का मानना है कि अगर अमीर देश स्वार्थी होकर केवल अपनी ही आबादी को वैक्सीनेट करते रहे, तो कोरोना कभी खत्म नहीं हो सकेगा। | New COVID-19 Variant and World Vaccine Inequality; Everything Else You Need दुनिया में अमीर और गरीब देशों में किस तरह वैक्सीन इनइक्वालिटी है? वैक्सीन के समान वितरण के लिए बनाया गया कोवैक्स क्या अपने मिशन में सफल रहा? और आखिर सभी को वैक्सीन लगना क्यों जरूरी है?.

लखीमपुर हिंसा मामले में अंकित दास समेत तीन को झटका, कोर्ट ने खारिज की जमानत याचिकायूपी के लखीमपुर खीरी में महीने की शुरुआत में हुई हिंसा के मामले में आरोपी अंकित दास समेत तीन आरोपियों को झटका लगा है. तिकुनिया मर्डर केस में लखीमपुर खीरी की सीजेएम कोर्ट ने अंकित दास, लतीफ और शेखर की जमानत याचिका को खारिज कर दिया. aap_ka_santosh Pray for Hindus of Bangladesh 😓🙏 We demand justice and safety for Bangladeshi Hindus 🙏🙏🙏🙏🙏🤒😒 savebangladeshhindus savebangladeshhindu Stop_communal_attack Save_Bangladeshi_Hindus SaveBangladeshiHindus SaveHindus SaveHinduTemples

G-23 पर राहुल का निशाना, बोले- लोग चाहते हैं कि पार्टी उनकी लड़ाई लड़े, ना कि आपस मेंकांग्रेस नेता राहुल गांधी ने शनिवार को असंतुष्ट जी-23 नेताओं पर निशाना साधते हुए कहा है कि लोग चाहते हैं कि कांग्रेस ऊपर उठे, उनके अधिकारों के लिए लड़े। इससे पहले कांग्रेस कार्य समिति की बैठक में सोनिया गांधी भी इन नेताओं के खिलाफ कड़े तेवर दिखा चुकी है।

पिता को किडनी दान देना चाहता है ड्रग्‍स केस में बंद आरोपी, सुप्रीम कोर्ट ने दिया यह निर्देशपिता को किडनी दान देने की इच्‍छा जताने वाले इस शख्‍स पर संगीन आरोप हैं। उसके पिता की किडनी ने काम करना बंद कर दिया है। अब शीर्ष न्‍यायालय ने इस मामले में आदेश दिया है। 🙏😢

योगी आदित्यनाथ का दावा, साढ़े चार साल में नहीं हुए दंगे, बोले- दंगाई जानते हैं कि 7 पुश्तें भरेंगी जुर्मानायूपी के सीएम योगी ने एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि दंगाइयों को पहले ही संदेश दे दिया गया है कि अगर कुछ गड़बड़ की तो चार पुश्तों तक जुर्माना भरना पड़ेगा। इसीलिए पिछले चार साल में यूपी में दंगे नहीं हुए।

राहुल की नेताओं को नसीहत: जनता चाहती है कांग्रेस उनके अधिकारों के लिए लड़े, न कि आपस में लड़ेंराहुल की नेताओं को नसीहत: जनता चाहती है कांग्रेस उनके अधिकारों के लिए लड़े, न कि आपस में लड़ें RahulGandhi CongressPresident CWC घर में सब एक हैं क्या 😂😂 पहले खुद अपने परिवार को तो एक कर लो 😂😂

इसको कहते हैं सच्‍चा प्‍यार, ‘एक्‍स गर्लफ्रेंड’ को ऐसा गि‍फ्ट दिया कि पूरी दुनिया करने लगी ‘तारीफ’, एक्‍स भी फूट-फूटकर रोने लगी