Delhihc, Delhipolice, Delhi High Court Asks To Police, Why Taking Time To Veryfy, Natasha Narwal, Devangana Kalita And Asif Iqbal, Pinjara Tod Activists, Move Delhi Hc, Seeking İmmediate Release From Jail

Delhihc, Delhipolice

दिल्ली हिंसा मामला: HC के आदेश पर पिंजरा तोड़ के तीनों एक्टिविस्ट तिहाड़ जेल से रिहा, दिल्ली पुलिस की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में कल सुनवाई

दिल्ली हिंसा मामला:HC के आदेश पर पिंजरा तोड़ के तीनों एक्टिविस्ट तिहाड़ जेल से रिहा, दिल्ली पुलिस की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में कल सुनवाई #DelhiHC #DelhiPolice

17-06-2021 19:40:00

दिल्ली हिंसा मामला:HC के आदेश पर पिंजरा तोड़ के तीनों एक्टिविस्ट तिहाड़ जेल से रिहा, दिल्ली पुलिस की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में कल सुनवाई DelhiHC DelhiPolice

दिल्ली हिंसा मामले में आरोपी पिंजरा तोड़ के एक्टिविस्ट नताशा नरवाल, देवांगना कालिता और आसिफ इकबाल को गुरुवार शाम तिहाड़ जेल से रिहा कर दिया गया। दिल्ली की कड़कड़डुमा कोर्ट ने आज सुबह ही इन्हें रिहा करने का आदेश दिया था। | Delhi High Court Asks to Police; Why Taking time to Veryfy Natasha Narwal , Devangana Kalita and Asif Iqbal, पिंजरा तोड़ के तीनों कार्यकर्ताओं की तुरंत रिहाई के आदेश, दिल्ली HC ने पूछा- 1 साल से कस्टडी में थे, फिर वेरिफिकेशन में देर क्यों?

आसिफ इकबाल (बाएं), देवांगना कालिता (बीच में), नताशा नरवाल (दाएं)दिल्ली हिंसा मामले में आरोपी पिंजरा तोड़ के एक्टिविस्ट नताशा नरवाल, देवांगना कालिता और आसिफ इकबाल को गुरुवार शाम तिहाड़ जेल से रिहा कर दिया गया। दिल्ली की कड़कड़डुमा कोर्ट ने आज सुबह ही इन्हें रिहा करने का आदेश दिया था।

ओलंपिक में गईं पाकिस्तानी खिलाड़ी महूर शहज़ाद को पठानों से मांगनी पड़ी माफ़ी - BBC News हिंदी 'हमारे साथी को TMC MP ने कहा बिहारी गुंडा, माफी मांगें ममता बनर्जी', NDTV से बोले सुशील मोदी राकेश अस्‍थाना की पुलिस कमिश्‍नर के तौर पर नियुक्ति के खिलाफ दिल्‍ली विधानसभा ने किया प्रस्‍ताव पारित

इससे पहले 15 जून को जस्टिस सिद्धार्थ मृदुल और अनूप जयराम भंभानी की बेंच ने उन्हें 50 हजार के मुचकले पर छोड़ने का आदेश जारी किया था, लेकिन तीनों की रिहाई नहीं हो सकी थी। रिहाई में जानबूझकर देरी करने का आरोप लगाते हुए तीनों ने दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी।

इसके बाद कोर्ट ने तुरंत रिहाई का आदेश जारी किया। आदेश की कॉपी मेल के जरिए तिहाड़ जेल के प्रशासन को भेजी गई। उधर, दिल्ली पुलिस ने हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाई है। इस पर शुक्रवार को सुनवाई होगी।तिहाड़ जेल से बाहर आने के बाद देवांगना कालिता और नताशा नरवाल खुशी मनाते हुए। headtopics.com

बेल के 36 घंटे बाद भी नहीं मिली जमानततीनों कार्यकर्ताओं के वकील ने आरोप लगाया था कि बेल मिलने के 36 घंटे बाद तक उन्हें रिहा नहीं किया गया है। इसके बाद गुरुवार को कोर्ट में इस मामले पर सुनवाई हुई। कार्यकर्ताओं के वकील ने कहा कि रिहाई न मिलने से उनके अधिकारों का हनन हुआ है।

सुनवाई के दौरान पुलिस के वकील ने कहा कि तीनों का वेरिफिकेशन करने की वजह से रिहाई में देरी हुई है। पुलिस ने कोर्ट से कहा कि हम तीनों का पता वेरिफाई कर रहे हैं, जो अलग-अलग राज्यों में हैं। हमारे पास ऐसी ताकतें नहीं हैं, कि झारखंड और असम में दिए गए पते को इतनी जल्दी वेरिफाई कर सकें। इसलिए इसमें समय लग रहा है।

इस पर अदालत ने दिल्ली पुलिस पर सख्त टिप्पणी की। कोर्ट ने कहा कि पिछले एक साल से तीनों आपकी कस्टडी में थे, इसके बाद भी वेरिफिकेशन करने में देरी की जा रही है।तीनों एक्टिविस्ट के हाथ में तख्तियां थीं, जिसमें सर्जिल इमाम, उमर खालिद समेत सभी पॉलिटिकल प्रिजनर्स की रिहाई के साथ UAPA हटाने की मांग लिखी हुई है।

पुलिस ने पता वेरिफाई करने वक्त मांगापिछली सुनवाई के दौरान पुलिस ने पिजरा तोड़ के तीनों कार्यकर्ताओं का पता वेरिफाई करने के लिए 3 दिन का समय मांगा था। दिनभर चली सुनवाई के बाद कोर्ट ने फैसले के लिए गुरुवार का वक्त तय किया था। दिल्ली पुलिस हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ पहले ही सुप्रीम कोर्ट का रुख कर चुकी है। पुलिस ने सुप्रीम कोर्ट में तीनों को जमानत देने का विरोध किया है। तीनों पर अनलॉफुल एक्टिविटी प्रिवेंशन एक्ट (UAPA) के तहत केस दर्ज किया गया था। headtopics.com

ओलंपिक: दीपिका कुमारी और अतनु दास- प्यार की पुकार के साथ अचूक निशाना - BBC News हिंदी केंद्र सरकार का ऐतिहासिक फैसला: मेडिकल कोर्सेस में OBC कैंडिडेट्स को 27% और आर्थिक रूप से पिछड़े कैंडिडेट्स को 10% आरक्षण मिलेगा 30% तक बढ़ सकती हैं दरें: एयरटेल और वोडाफोन आइडिया बढ़ाएंगी फोन कॉल की कीमत, एयरटेल का 49 रुपए का प्लान खत्म और पढो: Dainik Bhaskar »

10तक: किसानों की औसत आय इंटरनेट बिल के बराबर! क्या है कृषि कानूनों का सच

लोकसभा में चुनकर आने वाले 39 सांसद अपना पेशा खेती-बाड़ी बताते हैं. संसद में 206 सांसद अपना पेशा कृषि बताते हैं. यानी लोकसभा में कुल 245 सांसदों का प्रोफेशन खेती-किसानी है. वहां किसानों के साथ ऐसा सलूक? खुद को किसान बताने वाले लोकसभा सांसदों की औसत संपत्ति जहां 18 करोड़ रुपए है. वहीं देश में किसानों की महीने की आय शहरों के कई परिवारों के महीने के मोबाइल, लैंडलाइन, इंटरनेट बिल के बराबर है यानी 30 दिन की कमाई औसत 8931 रुपए. देखें 10तक.

जेएनयू का कचरा...... ऐसा कैसे होता है कि सारे देशद्रोही, जेहादी, दंगाई, ब्लातकारी कोर्ट द्वारा बेल दे दिए जाते हैं, जिन्हें पकड़ने के लिए देश कि पुलिस प्रशासन के पसीने छूट गए होते हैं ? और छोटी मोटी और राजनीतिक केसों में राष्ट्रवादी लोग सालो जेलों में सड़ते रहते हैं। मिलाड, तु आल आर ग्रेट! दिल्ली DelhiPolice CPDelhi जी प्रवेश वर्मा,कपिल मिश्रा,अनुराग ठाकुर जो आपकी नाक के नीचे देशद्रोही बयान देते तब आपके नाक-कान,मुंह पर ताला क्यों लग जाता है और आम नागरिक अपने हक के लिए आवाज उठाए और उनको indSupremeCourt SupremeCourtFan बैल दे दें आप रिहा नहीं करते barandbench

सुर्ख़ियां बटोरने के लिए कुछ चर्चित कार्य को महत्व दे रहे हैं भले ही कुछ समय तक बदनाम भी क्यों ना होना पड़े बाद में तो सारे लोग धीरे-धीरे सबकुछ भुल जाएंगे,,, और कुछ समय बाद ,,,ऐसे लोगो को राजनीतिक में भी मौके मिल जाते हैं

बुजुर्ग पिटाई केसः अभिनेत्री स्वरा भास्कर, ट्विटर इंडिया के MD के खिलाफ दिल्ली में शिकायतबुजुर्ग पिटाई केसः अभिनेत्री स्वरा भास्कर, ट्विटर इंडिया के MD के खिलाफ दिल्ली में शिकायत Ghaziabad swarabhaskar DelhiPolice ReallySwara ReallySwara हिंदू धर्म के ख़िलाफ़ नफ़रत फैलाने वाला वामपंथी और अल्ट्रा लेफ़्टिस्ट गैंग है ये। देश के ग़द्दार

दिल्ली में 24 घंटे में कोरोना के 212 नए मामले, संक्रमण दर 0.27 फीसदी हुईदिल्‍ली में कोरोना के नए मामलों की संख्‍या लगातार कम हो रही है. पिछले 24 घंटे में दिल्‍ली में कोरोना के 212 नए केस सामने आए हैँ. संक्रमण दर 0.27 फीसदी हुई

एक्ट्रेस Swara Bhaskar और Twitter India के एमडी के खिलाफ दिल्ली पुलिस में शिकायतदिल्ली पुलिस को मिली यह शिकायत सोशल मीडिया पर वीडियो में गाजियाबाद के एक बुजुर्ग मुस्लिम व्यक्ति पर 5 जून को हमले के संबंध में है। किस कारण से its election time ,they want some people to be busy

दिल्ली हिंसा: पिंजरा तोड़ के तीनों कार्यकर्ताओं की तुरंत रिहाई के आदेश, दिल्ली HC ने पूछा- 1 साल से कस्टडी में थे, फिर वेरिफिकेशन में देर क्यों?दिल्ली हाई कोर्ट की बेंच ने गुरुवार को दिल्ली हिंसा के आरोपी पिजरा तोड़ के कार्यकर्ता नताशा नरवाल, देवांगना कालिता और आसिफ इकबाल को तुरंत रिहा करने का आदेश दिया है। इससे पहले 15 जून को जस्टिस सिद्धार्थ मृदुल और अनूप जयराम भंभानी की बेंच ने उन्हें 50 हजार के मुचकले पर छोड़ने का आदेश जारी किया था, लेकिन तीनों की रिहाई नहीं हो सकी थी। | Delhi High Court Asks to Police; Why Taking time to Veryfy Natasha Narwal , Devangana Kalita and Asif Iqbal, पिंजरा तोड़ के तीनों कार्यकर्ताओं की तुरंत रिहाई के आदेश, दिल्ली HC ने पूछा- 1 साल से कस्टडी में थे, फिर वेरिफिकेशन में देर क्यों? फिलहाल

हरियाणा: युवक की हिरासत में मौत के आरोप में 12 पुलिसकर्मियों के ख़िलाफ़ केस दर्जपरिजनों का आरोप है कि 24 वर्षीय जुनैद को ग़लत तरीके से बीते 31 मई को फ़रीदाबाद की साइबर पुलिस ने हिरासत में लिया गया था और इस दौरान उन्हें बुरी तरह से प्रताड़ित किया गया, जिससे उनकी मौत हो गई. हालांकि पुलिस ने आरोप से इनकार करते हुए कहा है कि जुनैद की मौत किडनी संबंधी दिक्कत की वजह से हुई. मगर अफसोस सब के सब छूट जायेंगें ,गवाही नही मिलेगी .

पलामूः पुल क्षतिग्रस्त, काम बंद करने के आदेश के बावजूद ठेकेदार कर रहा था निर्माण कार्यक्षेत्रीय विधायक कुश्वाहा डॉक्टर शशिभूषण मेहता ने कहा कि पूरे विधानसभा में सिल्दीलिया कंस्ट्रक्शन के द्वारा जीतना भी कार्य कराया जा रहा है, सभी में भ्रष्टाचार व्याप्त है. वो चाहे आरसीडी का हो, आरइओ का हो, भवन निर्माण विभाग का हो, सब काम की यही स्थिति है. satyajeetAT