Rahulgandhi, Sheiladikshit, Delhicongress, Delhi Working Congress President Writes To Rahul Gandhi Against Sheila Dikshit, Harun Yusuf, Devender Yadav, Rajesh Lilothia, Pc Chacko, Sheila Dikshit, Delhi Working Congress President Writes To Rahul Gandh, Pc Chacko Writes To Sheila Dikshit Over Her Appointing Observers, New-Delhi-City-Politics, Delhi Politics, Delhi Pradesh Congress Committee, दिल्ली में पर्यवेक्षकों की नियुक्ति पर कांग्रेस में घमासान, राहुल गांधी से की शीला की शिकायत

Rahulgandhi, Sheiladikshit

दिल्ली में पर्यवेक्षकों की नियुक्ति पर कांग्रेस में घमासान, राहुल गांधी से की शीला की शिकायत

दिल्ली के तीनों कार्यकारी प्रदेश अध्यक्षों प्रदेश प्रभारी पीसी चाकों और शीला दीक्षित के बीच मतभेद एक बार फिर सामने आने आया है।

13.7.2019

दिल्ली में पर्यवेक्षकों की नियुक्ति पर कांग्रेस में घमासान , राहुल गांधी से की शीला की शिकायत RahulGandhi Sheiladikshit Delhicongress

दिल्ली के तीनों कार्यकारी प्रदेश अध्यक्षों प्रदेश प्रभारी पीसी चाकों और शीला दीक्षित के बीच मतभेद एक बार फिर सामने आने आया है।

इसके अलावा इन तीनों नेताओं ने प्रदेश प्रभारी पीसी चाको, कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल को भी चिट्ठी लिखी है। इन नेताओं ने शीला दीक्षित की शिकायत करते हुए कहा है कि उन्हें बिना विश्वास में लिये 14 जिला और 280 ब्लॉक पर्यवेक्षकों की घोषणा शीला दीक्षित ने की है।

इससे पहले दिल्ली कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष शीला दीक्षित ने शुक्रवार को 14 जिला और 280 ब्लॉक पर्यवेक्षकों की घोषणा की थी। इसके साथ ही यह घोषणा जहां विवादों और सवालों के घेरे में आ गई, वहीं शीला और चाको गुट में रार और अधिक बढ़ गई है। प्रदेश के तीनों कार्यकारी अध्यक्षों सहित प्रदेश प्रभारी ने भी इस घोषणा की पूर्व में जानकारी से पूर्णतया अनभिज्ञता जाहिर की थी।

इसी बीच शीला दिल की बीमारी के कारण अस्पताल में भर्ती हो गईं। चाको के निर्देश पर ही शीला ने शुक्रवार शाम राजेश लिलोठिया सहित तीनों कार्यकारी अध्यक्षों की बैठक रखी थी। ताकि गलतफहमियां दूर की जा सकें, लेकिन यह बैठक अपरिहार्य कारणों से नहीं हो सकी। इसके विपरीत शीला के हस्ताक्षर के साथ जिला एवं ब्लॉक पर्यवेक्षकों की घोषणा कर दी गई।

और पढो: Dainik jagran
ताज़ा खबर
अभी नवीनतम समाचार

घटना 7 जून को हुआ, Bahrain में बैठी इंडियन एंबेसी को आखिर किसके दबाव में काम करना पड़ रहा है, दायित्व को क्यों नहीं निभा रहा? लचर रवैया क्यों दिखा रहे हैं? अब तक एक पोस्टमार्टम रिपोर्ट की सूचना नहीं ले पाए.

दिल्ली: रबर फैक्ट्री में आग लगने से तीन की मौत, मौके पर दमकल की 30 गाड़ियांदिल्ली: रबर फैक्ट्री में आग लगने से पांच की मौत, मौके पर दमकल की 26 गाड़ियां Delhifire FireinFactory DelhiPolice

दिल्ली में 15-16 जुलाई को बारिश का अनुमान, यूपी में थमेगी बारिशWeather forecast Today, Monsoon and Temperature today India: असम में साढ़े आठ लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हैं। ब्रह्मपुत्र और उसकी सहायक नदियों के पानी से जूझ रहे असम राज्य के 33 जिलों में बाढ़ की स्थिति गंभीर बनी हुई है।

कहानियों
दिन की शीर्ष समाचार कहानियां

बाबा बर्फानी की राह में मुस्लिमों ने पढ़ी नमाज, जारी रही श्रद्धालुओं की यात्राअमरनाथ गुफा की यात्रा जिस बालटाल बेस कैंप होकर जाती है, वहीं सांप्रदायिक सौहार्द की एक मिसाल देखने को मिली. बालटाल बेस कैंप के पास एक तरफ जुम्मे की नमाज पढ़ी जा रही थी, वहीं दूसरी तरफ श्रद्धालु बाब बर्फानी के दर्शन के लिए रवाना हो रहे थे. बीच राह में नमाज़ पढ़ना अब इनकी आदत बन चुकी है। चाहे शहर हो गांव हो पर्वत हो सेहरा हो हर जगह Logo ko dilo mai buraiya peida karna koi tumsy sikhy aajtak valo kitna nichy girogy जरूरी थी क्या ?

देश में डॉक्टरों की कमी, सरकार ने दो साल में बढ़ाई 10,500 एमबीबीएस सीटेंहर्षवर्धन ने कहा कि इस साल मार्च तक देश में पंजीकृत एलोपैथी डॉक्टर्स की संख्या 11.60 लाख थी। जिसका अनुपात सवा करोड़ वर्तमान drharshvardhan MoHFW_INDIA जब तक 10500 डॉक्टर बन कर तैयार होंगे। देश की आबादी और 10 करोड़ बढ़ जाएगी। जहाँ से चले थे,वही पर।

कहानियों
दिन की शीर्ष समाचार कहानियां

मदरसे में बच्ची से रेप: कोर्ट में दोषी करार हुआ मौलवी, मिली 23 साल की कैदमौलवी को बच्ची से छेड़छाड़ के आरोप में भी तीन साल की सजा और एक हजार रुपए जुर्माना लगाया गया। सभी सजाएं एक साथ चलेंगी। आरोपी इस समय जेल में है और जेल में बिताए उसके वक्त को सजा के शामिल किया जाएगा। मौलाना मादरचोद....!!!! 😠😡😠

सुबह सुबह: आधे हिंदुस्तान में बाढ़ की विनाशलीला, टापू में तब्दील गांवआधे हिंदुस्तान में बाढ़ की विनाशलीला जारी है. असम के 33 में से 21 जिले बाढ़ की चपेट में हैं. ब्रह्मपुत्र और उसकी सहायक नदियां उफान पर हैं. सूबे के 1500 से ज्यादा गांव टापू में तब्दील हो गए हैं. उत्तर भारत के अधिकतर हिस्से आसमानी आफत से परेशान हैं. बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, उत्तराखंड, असम समेत कई राज्यों में हालात बदतर हो चले हैं.

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

13 जुलाई 2019, शनिवार समाचार

पिछली खबर

5G मोबाइल नेटवर्क कितना ख़तरनाक हो सकता है?

अगली खबर

BCCI ने लगाई चयनकर्ताओं की क्लास, वर्ल्ड कप हारने पर पूछे ये सवाल
5G मोबाइल नेटवर्क कितना ख़तरनाक हो सकता है? BCCI ने लगाई चयनकर्ताओं की क्लास, वर्ल्ड कप हारने पर पूछे ये सवाल