Delhi, Delhitraffic, New-Delhi-City-Jagran-Special, Delhi Traffic, Vehicle, Corridor, Delhi Police, Plantation, दिल्ली, 77 कारिडोर, वाहनों को जाम से निजात, ट्रैफिक, Roads Of 77 Corridors Of Delhi, Relief Will Be Given By Stopping The Speed Of Vehicles, Commonmanıssue News, पेड़ों को स्थानांतरित करने वाली नई नीति, 100 अधिक पेड़, Delhi News

Delhi, Delhitraffic

दिल्ली के 77 कारिडोर की सड़कों पर किया जाएगा ये परिवर्तन, वाहनों की रफ्तार थमने से मिलेगी राहत

दिल्ली के 77 कारिडोर की सड़कों पर किया जाएगा ये परिवर्तन, वाहनों की रफ्तार थमने से मिलेगी राहत #Delhi #DelhiTraffic

26-09-2021 11:30:00

दिल्ली के 77 कारिडोर की सड़कों पर किया जाएगा ये परिवर्तन, वाहनों की रफ्तार थमने से मिलेगी राहत Delhi Delhi Traffic

इसी बीच दिल्ली में पेड़ों को स्थानांतरित करने वाली नई नीति लागू हो गई। अब कारिडार के बीच आ रहे 100 अधिक पेड़ काटे जाने की जगह स्थानांतरित किए जाएंगे। योजना के तहत प्रथम चरण में 28 प्रमुख कारिडोरों की पहचान ए श्रेणी के अंतर्गत की गई है।

दिल्ली के 77 कारिडोर पर सड़क के बीच आ रहे 100 पेड़ हटेंगे। ये दिल्ली के महत्वपूर्ण कारिडोर हैं। दिल्ली भर में इन कारिडोर पर कई जगह सड़क के बीच या किनारे पर हरे पेड़ आ रहे हैं। इससे यातायात बाधित होता है और दुर्घटनाओं का भी खतरा रहता है। दिल्ली सरकार के निर्देश पर इस योजना पर लोक निर्माण विभाग और यातायात पुलिस मिलकर काम कर रहे हैं। पेड़ हटाने के लिए लोक निर्माण विभाग ने वन विभाग से अनुमति मांगी गई है। इसमें कुछ पेड़ों को हटाए जाने की अनुमति मिल चुकी है।

अमेरिकी इनवेस्टमेंट बैंकिंग कंपनी JP Morgan ने क्यों बताया Bitcoin को Gold से बेहतर? शेख़ हसीना ने हिन्दुओं की सुरक्षा पर भारत को क्यों दी चेतावनी? - BBC News हिंदी निहंग बाबाओं की पुलिस को चुनौती: अब किसी और की गिरफ्तारी मांगी तो सरेंडर कर चुके हमारे चारों साथियों को छुड़वा लाएंगे

इस योजना में एक बड़ा बदलाव किया गया है, सड़क के बीच जा रहे जो पेड़ पहले काटे जाने थे, उन्हें अब स्थानांतरित (ट्रांसप्लाट) किया जाएगा। दिल्ली सरकार ने 2018 में जाम लगने वाले 77 कारिडोर की पहचान कर इन पर जाम की समस्या दूर करने के लिए कवायद शुरू की थी। इन कारिडार पर एक सौ के करीब पेड़ों की पहचान की गई है। उपराज्यपाल अनिल बैजल और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जाम लगने वाले कारिडोर पर कारणों का अध्ययन के निर्देश दिए तो सामने आया कि कुछ स्थानों पर सड़कों पर मजार हैं।

यह भी पढ़ेंवहीं बहुत से स्थानों पर सड़कों के बीच हरे पेड़ आ रहे हैं जो पहले सड़क के किनारे थे, लेकिन चौड़ीकरण के कारण अब बीच में आ गए हैं। इसके बाद इन्हें हटाने के लिए प्रक्रिया शुरू की गई और पेड़ काटने की अनुमति के लिए वन विभाग में आवेदन किया गया। यह प्रक्रिया चल रही थी कि इसी बीच दिल्ली में पेड़ों को स्थानांतरित करने वाली नई नीति लागू हो गई। इसके तहत पेड़ों को काटने की जगह उन्हें स्थानांतरित किया जाएगा। अब कारिडार के बीच आ रहे 100 अधिक पेड़ काटे जाने की जगह स्थानांतरित किए जाएंगे। योजना के तहत प्रथम चरण में 28 प्रमुख कारिडोरों की पहचान ए श्रेणी के अंतर्गत की गई है। headtopics.com

यह भी पढ़ेंकिस कारिडोर पर कितने काटे जाने हैं पेड़़प्रमुख रूप से मथुरा-बदरपुर रोड पर चार पेड़, मेहरौली-गुरुग्राम रोड पर दो पेड़, पटेल रोड पर चार पेड़, रोहतक रोड पर दो पेड़, रिंग रोड पर 30 पेड़, ओल्ड पटपड़गंज रोड पर 11 पेड़, बुराड़ी रोड पर 45 पेड़ और गुरु गोलवलकर मार्ग पर तीन पेड़ हटाए जाने हैं।

पहले चरण में ये कारिडोर हैं शामिल और पढो: Dainik jagran »

10तक: सियासत के लिए भी नमक की तरह इस्तेमाल होते हैं किसान!

देश की सियासत में किसान नमक की तरह इस्तेमाल होता है. जरूरत के हिसाब से सियासी दल उसका इस्तेमाल अपने हित के हिसाब से करते हैं. लखीमपुर खीरी का ही उदाहरण लीजिए जहां पहुंचने के लिए विपक्षी दलों में आज होड़ मच गई. मुश्किल में फंसी जनता का हाल जानना हर दल का फर्ज और हक दोनों है लेकिन जनता को कब कितना भाव दिया जाएगा ये चुनाव पर निर्भर करता है. यूपी में चुनाव है तो सभी दलों को किसानों की चिंता है. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भी लखीमपुर खीरी आने को तैयार हैं, लेकिन उनके ही राज्य में पिछले 5 महीनों से आदिवासी किसान आंदोलन कर रहे हैं, उनकी सुध लेने का न तो मुख्यमंत्री को वक्त मिला है और न ही उनकी पार्टी के नेतृत्व ने उनके लिए आवाज उठाई है. देखें 10तक.

बांदा: कलयुगी पिता ने शराब के नशे में अपनी बेटी के साथ की छेड़छाड़ की कोशिशशुक्रवार को उसने बुरी नीयत से अपनी बेटी को पकड़ने का प्रयास किया. लड़की के विरोध करने पर उसने मारपीट भी किया है और अपनी बेटी के साथ पहले भी ऐसी घटना को अंजाम दे चुका है.

सुधार की कवायद : दिल्ली एम्स के डॉक्टरों का होगा ट्रांसफर, राष्ट्रीय स्तर पर बनेगी रिसर्च टीमसुधार की कवायद : दिल्ली एम्स के डॉक्टरों का होगा ट्रांसफर, राष्ट्रीय स्तर पर बनेगी रिसर्च टीम Delhi AIIMS Delhi AIIMS Doctors Transfers MoHFW_INDIA MoHFW_INDIA Respected Health minister also improve AIIMS security gards bhut batameez h yaha k gards please sir look at this. Patiant yaha apna treatment krana aata h insult nahi 🙏 patients phla he dukhi h or yaha aa kr or jyada inke whaza sa or jyada dukhi hota h.

दिल्ली के रोहिणी कोर्ट में फायरिंग, एक गैंगस्टर और दो हमलावरों की मौत - BBC News हिंदी दिल्ली पुलिस ने इस घटना की पुष्टि की है और बताया है कि दोनों हमलावर पुलिस की जवाबी कार्रवाई में मारे गए हैं. हर तरफ गुंड़ा राज Mubarak ho new India

केंद्रीय मंत्री ने की सोनिया गांधी के पीएम बनने की वकालत, जानिए क्या दिया तर्करामदास अठावले ने कहा यूपीए के सत्ता में आने पर सोनिया गांधी को पीएम बनना चाहिए था। अगर कमला हैरिस अमेरिकी उपराष्ट्रपति बन सकती हैं तो सोनिया गांधी पीएम क्यों नहीं बन सकतीं। वो एक भारतीय नागरिक हैं पूर्व पीएम राजीव गांधी की पत्नी और लोकसभा सदस्य हैं। शपथ ग्रहण समारोह में केवल दैनिक जागरण संवाददाता को विषेश रूप से बुलाया गया है 😁😁😁😁😁 आप इसे क्या कहेंगे? In India no honest person can become PM, but honest people are not barred from Contesting for elections in most advanced countries like USA, Britain, France etc..

चीन-कनाडा के बीच क़ैदियों की अदला-बदली, ख़्वावे की सीएफ़ओ हुईं रिहा - BBC Hindiदुनिया की दिग्गज कम्युनिकेशन कंपनी ख्वावे टेक्नॉलाजीज की मुख्य वित्त अधिकारी मेंग वानझोउ कनाडा की हिरासत से रिहा होने के बाद घर वापस लौट आई हैं.

बाइडेन के किस्से, मोदी के ठहाके...व्हाइट हाउस में दिखी दोनों नेताओं की जबरदस्त बॉन्डिंगमोदी-बाइडेन की मुलाकात के कई ऐसे पल रहे जिन्हें देख साफ महसूस किया जा सका कि भारत-अमेरिका के रिश्ते नए अध्याय की ओर बढ़ रहे हैं. इसकी शुरुआत तो तभी हो गई जब पीएम मोदी ने व्हाइट हाउस में दस्तक दी और राष्ट्रपति जो बाइडेन ने काफी गर्मजोशी से उनका स्वागत किया. FEKU is working very hard to make 130 crores jobless at the earliest possible ... bolo FEKU keejay .. FEKU is brining 5 trillion US$ from US .. US$ easily available in US .. what an invention FEKU.. अख़बार में आएगा कल फ़्रंट पेज पर Ye kab hua .. apka hi chenal dekh rha tha