Unacademy, Adivasi

दिल्लीः अनएकेडेमी के शिक्षक ने आदिवासियों को 'बेवक़ूफ़' कहा, संस्थान ने बिना शर्त माफ़ी मांगी

दिल्लीः अनएकेडेमी के शिक्षक ने आदिवासियों को 'बेवक़ूफ़' कहा, संस्थान ने बिना शर्त माफ़ी मांगी #Unacademy #Adivasi #Tribals #Educator #Racism #अनएकेडेमी #आदिवासी #नस्लवाद

27-09-2021 23:30:00

दिल्लीः अनएकेडेमी के शिक्षक ने आदिवासियों को 'बेवक़ूफ़' कहा, संस्थान ने बिना शर्त माफ़ी मांगी Unacademy Adivasi Tribals Educator Racism अनएकेडेमी आदिवासी नस्लवाद

शिक्षा से संबंधित प्लेटफॉर्म अनएकेडेमी के एक शिक्षक एक वायरल वीडियो में आदिवासी समुदाय के लोगों को लेकर नस्लीय टिप्पणी करते नज़र आए. टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज की एक छात्रा द्वारा इस वीडियो को ट्वीट करने पर इसकी चौतरफा आलोचना हुई, जिसके बाद इसे अनएकेडेमी के पेज से हटा दिया गया.

नई दिल्लीःशिक्षा से संबंधित एक एडटेक प्लेटफॉर्म अनएकेडेमी के एक शिक्षक का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें वह आदिवासी समुदाय के लोगों के खिलाफ नस्लीय टिप्पणी करते नजर आ रहे हैं.इंडियन एक्सप्रेसकी रिपोर्ट के मुताबिक, इस वीडियो के सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद अनएकेडेमी ने बयान जारी कर इस तरह की नस्लीय टिप्पणी के लिए बिना किसी शर्त के माफी मांगी है.

राजस्थान: पाकिस्तान की जीत पर खुशी मनाने वाली शिक्षिका को नौकरी से निकाला, FIR दर्ज - BBC Hindi Pak vs NZ T20WC 2021: पाकिस्तान की लगातार दूसरी जीत, न्यूजीलैंड को 5 विकेट से हराया टूलकिट केस: दिशा रवि के ख़िलाफ़ जांच में कुछ मिला नहीं, पुलिस फाइल कर सकती है क्लोज़र रिपोर्ट

मुंबई के टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज (टिस) की छात्रा हेंगम रिबा ने इस वीडियो को ट्वीट किया था. हालांकि, वीडियो वायरल होने के बाद इसकी चौतरफा आलोचना के चलते इस वीडियो को अनएकेडेमी के यूट्यूब पेज से हटा दिया गया है.दरअसल इस वीडियो में एनएकेडमी के एक शिक्षक सिद्धार्थ सिंह को यह कहते सुना जा सकता है, ‘आदिवासी लोग जो होता है हमारा, दिमाग तो होता नहीं उनके पास कोई, न ही उनके पास कोई कानूनी कागज होता है जमीन-जायदाद का.’

बता दें कि सिद्धार्थ सिंह यूपीएससी जनरल स्टडीज पढ़ाते हैं. उन्होंने उत्तरपूर्वी राज्यों में हो रही झूम खेती के बारे में बात करते हुई यह विवादित टिप्पणी की.अनएकेडेमी के पोर्टल पर सिंह के प्रोफाइल के मुताबिक, वह 24 जून 2020 से अनएकेडेमी से जुड़े हुए हैं. headtopics.com

इस वीडियो को ट्वीट करने वाली रिबा का कहना है, ‘सिद्धार्थ सिंह द्वारा की गई टिप्पणियां भारत में आदिवासी समुदायों के संदर्भ में व्यवस्थित सामाजिक, सांस्कृतिक संरचनात्मक कट्टरता को दर्शाती हैं.’देश के सबसे बड़े एडटेक यूनिकॉर्न में से एक अनएकेडेमी ने बयान जारी कर कहा कि यह हमारे संज्ञान में लाया गया कि सिंह ने आदिवासी लोगों के बारे में भेदभावपूर्ण और आहत करने वाली टिप्पणियां कीं.

बयान में कहा गया, ‘अनएकेडेमी ने मूल वीडियो को इसके मंच से हटा दिया है और हमारी आंतरिक आचार संहिता दिशानिर्देशों के अनुरूप शिक्षक को दंडित किया है. अनएकेडेमी शिक्षक द्वारा की गई टिप्पणी को लेकर बिना किसी शर्त के माफी मांगती है.’अनएकेडेमी के मुताबिक, देशभर में कंपनी के 4,000 से अधिक शिक्षक हैं, जिन्हें उनके प्लेटफॉर्म पर पढ़ाने से पहले अनिवार्य और सख्त कोड ऑफ कंडक्ट से गुजरना पड़ता है.

बताया गया है कि इस प्रशिक्षण में शिक्षकों को किसी तरह के भेदभावपूर्ण या आहत करने वाली टिप्पणी से बचने की हिदायत दी जाती है.हालांकि, अनएकेडेमी ने शिक्षक को दंडित किए जाने की प्रकृति के बारे में पूछे गए सवाल पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी.मालूम हो कि इस वीडियो के वायरल होने के बाद देशभर के कई आदिवासी नेताओं ने आलोचना की.

गुजरात के विधायक छोटूभाई वसावा ने ट्वीट कर कहा, ‘आदिवासियों पर शिक्षक की अस्वीकार्य अपमानजक टिप्पणी को लेकर अनएकेडेमी से बिना शर्त माफी की मांग की जाती है.’ और पढो: द वायर हिंदी »

Aryan Khan Case: क्या आर्यन खान ड्रग केस का पॉलिटिकल ट्रायल हो रहा है? देखें दंगल

मुंबई ड्रग केस में शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान की जमानत याचिका पर बॉम्बे हाईकोर्ट में सुनवाई चल रही है. सबसे बड़ा सवाल ये है कि क्या आज आर्यन खान को जमानत मिलेगी? इसका जवाब तो आज अदालत से मिल ही जाएगा, लेकिन सवाल एक और है कि क्या आर्यन खान ड्रग केस का पॉलिटिकल ट्रायल हो रहा है? ये सवाल इस नाते है कि सियासत का एक धड़ा आर्यन खान और उनके पिता शाहरुख खान के पक्ष में खड़ा हो गया है। इस केस की जांच कर रहे नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के अफसरों पर साजिश, भ्रष्टाचार और वसूली तक के आरोप लग चुके हैं. देखें दंगल का ये एपिसोड.

राणा गुरजीत को मंत्री बनाने के विरोध में कांग्रेसी, सिद्धू समेत CM को लिखा खतयह पत्र पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष मोहिंदर सिंह कायपी, विधायक नवतेज सिंह चीमा, बलविंदर सिंह धालीवाल, बावा हेनरी, राज कुमार, शाम चौरसी, पवन आदिया और सुखपाल सिंह खैरा ने लिखा है।

भाकियू के भानू प्रताप ने किसान नेताओं को बताया आतंकी, सोशल मीडिया पर हुए ट्रोलकिसान संगठनों के द्वारा बुलाए गए भारत बंद को लेकर बीकेयु भानु के नेता भानु प्रताप सिंह ने किसान नेताओं पर सवाल उठाते हुए कहा कि जैसे आतंकवादी संगठन तालिबान ने अफगानिस्तान पर कब्ज़ा किया है, उसी तरह की गतिविधियों को ये बढ़ाना चाहते हैं। भानु प्रताप भाजपा सरकार का ऐजेंट है सरकार का पालतू तोता है

दिग्विजय के शिशु मंदिर वाले बयान पर होगी FIR: राष्ट्रीय बाल आयोग ने DGP को लिखा पत्र; कहा- पूर्व CM के बयान से बच्चों के सम्मान को ठेस पहुंची, FIR दर्ज करेंपूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह का सरस्वती शिशु मंदिर को लेकर आया बयान अब तूल पकड़ता जा रहा है। राष्ट्रीय बाल आयोग ने मध्यप्रदेश के DGP को पत्र लिखकर दिग्विजय के खिलाफ FIR दर्ज करने को कहा है। इससे पहले BJP प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा और राष्ट्रीय महामंत्री कैलाश विजयवर्गीय भी दिग्विजय सिंह को आड़े हाथ ले चुके हैं। | Saraswati Shishu Mandir, BJP State President VD Sharma, National General Secretary digvijaya_28 जेल ही इनका सही पिंजरा है। digvijaya_28 ये कैसा सम्मान जो मुकबादिर बनारस में बीजेपी स्कूल बंद कर दे और उसकी जमीन बेच दी तो ठेस नही पहुचती लेकिन किसी कट्टरता की असलियत सबको बताने से सम्मान हिल गया? digvijaya_28 बच्चो का तो नहीं पता पर भक्तों को ज़रूर मिर्ची लगी

योगी आदित्यनाथ ने कैबिनेट विस्तार के बाद नए मंत्रियों को सौंपे विभाग - BBC Hindiयोगी आदित्यनाथ ने रविवार को किए गए मंत्रिमंडल विस्तार के बाद आज नवनियुक्त मंत्रियों को उनके विभाग सौंप दिए हैं. StandWithTikait औवैसी को कौन सा विभाग मिला? 🤣🤣🤣 गाली मत देना कोई रे, मैं खुद मीम का सपोटर हूँ🤐🤐 पितृपक्ष में कैबिनेट विस्तार अशुभ है अब भुगतना पड़ेगा योगी सरकार को

चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर बने कोलकाता के वोटर, अभिषेक बनर्जी के घर को बताया 'ठिकाना'प्रशांत किशोर ने अपनी मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी के घर को अपना “केयर ऑफ” पता बताया है। प्रशांत किशोर लॉकडाउन के दौरान इसी घर में रह रहे थे।

पवई लेक को बचाने के लिए BMC के खिलाफ प्रदर्शन, साइक्लिंग ट्रैक बनाने की है योजनामुंबई के पवई इलाके में पर्यावरण प्रेमी पवई लेक को बचाने के लिए प्रदर्शन करते नजर आए. बीएमसी की ओर से साइक्लिंग ट्रैक बनाने की योजना है जिसके लिए पवई लेक के एक हिस्से का इस्तेमाल किया जाएगा. आदरणीय योगी जी आप के कार्यकाल में मैनपुरी में सभी अधिकारी लापरवाही बरत रहे हैं नगर कुसमरा में वार्ड संख्या 3 में डेंगू का विस्फोट हो चुका है मैं कई बार शिकायत कर चुका हूं लेकिन अभी तक स्वास्थ्य विभाग की टीम जांच करने नहीं आई है जबकि मेरे मोहल्ले में कई केस हैmyogiadityanath Great iron lady