Delhi, Remdesivir, Delhi, Coronavirus, Corona Cases İn İndia, Coronavirus İndia, Corona Update, Remdesivir İnjection, Remdesivir İnjection Price, Remdesivir İnjection Price Delhi, Remdesivir Pronunciation, Remdesivir, Delhi News İn Hindi, Latest Delhi News İn Hindi, Delhi Hindi Samachar

Delhi, Remdesivir

दिल्ली: महज 50 रुपये के इंजेक्शन पर लगा रखा था रेमडेसिविर का लेबल, 5500 रुपये में बेचते थे आरोपी

कोरोना की दवाईयों के नाम पर ठगी का सिलसिला लगातार जारी है।

05-05-2021 09:56:00

दिल्ली: महज 50 रुपये के इंजेक्शन पर लगा रखा था रेमडेसिविर का लेबल, 5500 रुपये में बेचते थे आरोपी Delhi Remdesivir delhi

कोरोना की दवाईयों के नाम पर ठगी का सिलसिला लगातार जारी है।

पकड़े गए आरोपियों की पहचान मीत नगर निवासी अमित और अशोक नगर निवासी धनेश कुमार उर्फ पप्पू के रूप में हुई है। पुलिस ने दोनों के पास से दो नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन व कुछ लेबल बरामद किए हैं। दोनों धोखाधड़ी करने के अलावा मरीजों की जान से खिलवाड़ भी कर रहे थे।

पीएम मोदी ने टोक्यो ओलंपिक गए भारतीय दल का बढ़ाया हौसला बदली बदली सी कांग्रेस-राहुल प्रियंका की कांग्रेस पेगासस बनाने वाली इसराइली कंपनी ने कहा- दुर्घटना की दोषी कार कंपनी नहीं, नशा करने वाला ड्राइवर होगा - BBC News हिंदी

पुलिस ने दोनों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया है। पुलिस के मुताबिक नंद नगरी निवासी एक युवक ने थाने में शिकायत देकर कुछ लोगों के नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन बेचने की सूचना दी थी। युवक ने पुलिस के साथ आरोपियों की फोटो भी शेयर की थी। सूचना के बाद फौरन एक टीम का गठन किया गया।

इसके बाद फोटो से एक आरोपी की पहचान अमित के रूप में हुई। अमित पहले जीटीबी अस्पताल में नौकरी करता था। जानकारी जुटाने के बाद सिपाही नितिन को नकली ग्राहक बनाकर अमित के पास भेजा गया। सिपाही ने यूपी में भर्ती मरीज की बात कर अमित से रेमडेसिविर की मांग की। आरोपी ने इलाज का पर्चा मांगा। इसके बाद बातचीत हो गई। एक इंजेक्शन 5500 रुपये में तय हुआ। नकली ग्राहक के कहने पर आरोपी इंजेक्शन ले आया। आरोपी को मौके से दबोच लिया गया। इंजेक्शन की जांच करने पर उस पर नकली रेमडेसिविर का लेबल लगा मिला। अमित से पूछताछ के बाद पुलिस ने उसके दूसरे साथी धनेश कुमार को भी गिरफ्तार कर लिया। दोनों मिलकर इस गोरखधंधे को कर रहे थे। headtopics.com

विस्तार उत्तर-पूर्वी जिला के नंद नगरी थाना पुलिस ने एक ऐसे गैंग का पर्दाफाश किया है जो महज 50 रुपये के मोनोसेफ एंटी बायोटिक इंजेक्शन पर रेमडेसिविर का लेबल लगाकर उनकी कालाबाजारी कर रहे थे। पुलिस ने इस संबंध में दो आरोपियों को दबोचा है।विज्ञापनपकड़े गए आरोपियों की पहचान मीत नगर निवासी अमित और अशोक नगर निवासी धनेश कुमार उर्फ पप्पू के रूप में हुई है। पुलिस ने दोनों के पास से दो नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन व कुछ लेबल बरामद किए हैं। दोनों धोखाधड़ी करने के अलावा मरीजों की जान से खिलवाड़ भी कर रहे थे।

पुलिस ने दोनों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया है। पुलिस के मुताबिक नंद नगरी निवासी एक युवक ने थाने में शिकायत देकर कुछ लोगों के नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन बेचने की सूचना दी थी। युवक ने पुलिस के साथ आरोपियों की फोटो भी शेयर की थी। सूचना के बाद फौरन एक टीम का गठन किया गया।

इसके बाद फोटो से एक आरोपी की पहचान अमित के रूप में हुई। अमित पहले जीटीबी अस्पताल में नौकरी करता था। जानकारी जुटाने के बाद सिपाही नितिन को नकली ग्राहक बनाकर अमित के पास भेजा गया। सिपाही ने यूपी में भर्ती मरीज की बात कर अमित से रेमडेसिविर की मांग की।आरोपी ने इलाज का पर्चा मांगा। इसके बाद बातचीत हो गई। एक इंजेक्शन 5500 रुपये में तय हुआ। नकली ग्राहक के कहने पर आरोपी इंजेक्शन ले आया। आरोपी को मौके से दबोच लिया गया। इंजेक्शन की जांच करने पर उस पर नकली रेमडेसिविर का लेबल लगा मिला। अमित से पूछताछ के बाद पुलिस ने उसके दूसरे साथी धनेश कुमार को भी गिरफ्तार कर लिया। दोनों मिलकर इस गोरखधंधे को कर रहे थे।

विज्ञापनआगे पढ़ेंविज्ञापनआपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?हांखबर की भाषा और शीर्षक से आप संतुष्ट हैं?हांखबर के प्रस्तुतिकरण से आप संतुष्ट हैं?हांखबर में और अधिक सुधार की आवश्यकता है? headtopics.com

कोरोना: 12 से 17 साल के बच्चों को दी जाएगी मॉडर्ना! चार सप्ताह में लगेंगी दो डोज पंजाब के बाद राजस्थान विवाद सुलझाने में जुटी कांग्रेस, जल्द किया जा सकता है मंत्रिमंडल विस्तार अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान की जीत के पीछे जंग से ज़्यादा राजनीति, बोले अफ़ग़ान सलाहकार - BBC Hindi और पढो: Amar Ujala »

जनसंख्या कानून पर UP में फिर सियासत तेज, विधेयक का ड्राफ्ट तैयार, देखें दंगल

पूरे देश की निगाहें अब 2022 की ओर टिकी है क्योंकि 2022 में ही देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश के सत्ता सिंहासन का फैसला होगा. जब यूपी में विधानसभा के चुनाव होंगेय मैदान मारने के लिए सियासी दलों की तैयारी अभी से शुरु हो चुकी है और इसी बीच योगी सरकार ने नई जनसंख्या नीति लाने की तैयारी करके नया मुद्दा छेड़ दिया है. लेकिन उससे पहले विधि आयोग के ड्राफ्ट से सूबे में सियासी हलचल फिर तेज हो गई है. सवाल है कि क्या यूपी में जनसंख्या नियंत्रण पर कानून बनाने का फैसला सीएम योगी आदित्यनाथ का चुनावी स्टंट. देखें वीडियो.

Hadd ho gayi

लखनऊ: कोविड अस्पतालों पर नकेल, मरीज के घरवालों के लिए खत्म हुआ ऑक्सिजन का झंझटलखनऊ के कोविड अस्पतालों में संक्रमित मरीजों से अलग से ऑक्सीजन सिलिंडर मंगवाने के साथ डिस्चार्ज करते वक़्त बिल में ऑक्सीजन का अलग से शुल्क जोड़ने की शिकायत आने पर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। लखनऊ की प्रभारी अधिकारी रोशन जैकब ने स्वास्थ्य विभाग को सभी कोविड अस्पतालों पर निगरानी बनाए रखने के निर्देश दिए हैं।

संकट के सिपाही : मुसीबत पर भारी सामाजिक जिम्मेदारी, समझ के साथ सेवा का भावसंकट के सिपाही : मुसीबत पर भारी सामाजिक जिम्मेदारी, समझ के साथ सेवा का भाव Coronawarriors Coronavirus covid19 jairamthakurbjp

कर्नाटक का ऑक्सीजन कोटा बढ़ाने के हाईकोर्ट के आदेश में दख़ल से सुप्रीम कोर्ट का इनकारकेंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में अपील दायर कर कहा था कि कर्नाटक हाईकोर्ट ने राज्य में ऑक्सीजन की आपूर्ति बढ़ाने का आदेश पारित किया है. इससे तरल चिकित्सीय ऑक्सीजन के आपूर्ति नेटवर्क व्यवस्था पर बुरा प्रभाव पड़ेगा और यह व्यवस्था पूरी तरह से ढह जाएगी. शीर्ष अदालत ने कहा कि कर्नाटक के लोगों को लड़खड़ाते हुए नहीं छोड़ा जा सकता है. Ye hai centre state coordination double engine ki sarkar dekh lo jinko jinko double engine chahiye apni hi party ke state government ko oxygen na dena pade iske liye supreme Court ja rahe hai dhanya hai prabhu kuch sambhlega aapse ya phir mann ki baat wali bakaiti hi hogi...... इसे ऐसे समझें । UP High Court - सरकार 1 हफ्ते का lockdown लगाए । UP सरकार ने आदेश रोकने के लिए SC चले गए । SC ने UP HC के आर्डर पर रोक लगा दी । UP सरकार ने 2-2 दिन बढ़ाकर 1 हफ्ते का LOCKDOWN लगा दिया । अब इसमें SC तो ANI बन गया ना, इसलिए वो इस पचड़े में पड़ना ही नही चाहते ।

चेतन सकारिया के पिता के बाद पीयूष चावला के पिता का कोरोना से निधनभारतीय क्रिकेट टीम के अनुभवी लेग स्पिनर पीयूष चावला के पिता का सोमवार को कोरोना संक्रमण के कारण निधन हो गया। वह 65 वर्ष के थे CricketNews IPL2021 PiyushChawala ChetanSakariya

आज का दिन: कोरोना की जांच के लिए CT स्कैन कराने पर कैंसर का खतरा कैसे?'आजतक रेडियो' के मॉर्निंग न्यूज़ पॉडकास्ट 'आज का दिन' में सुनेंगे कोरोना की जाँच के लिए सीटी स्कैन कराया तो कैंसर का ख़तरा कैसे, पत्रकारों को फ्रंटलाइन वर्कर्स में शामिल करने पर क्या सवाल उठे, IPL को क्यों टाला नहीं जा रहा.

ड्रैगन का पर्दाफाश, ट्विटर पर प्रचार के लिए फर्जी अकाउंट का सहारा ले रहा चीनबड़ी संख्या में चीनी राजनयिकों ने ट्विटर और फेसबुक पर अपना अकाउंट खोल रखा है जबकि चीन में इन दोनों पर प्रतिबंध लगा हुआ है। एसोसिएटेड प्रेस और आक्सफोर्ड इंटरनेट इंस्टीट्यूट ने इस मामले में सात महीने तक गहन पड़ताल की। SAlexNero1 SAlexNero1 PrinceAgrahari चाइनीस को जहां मिल जाए वहां ठोको ट्यूटर खुद प्रोपोगंडा चलाता है।फर्जी एकाउंट की भरमार है।कोई भी न्यूज ट्रेंड कराने की सुपारी ली जाती है। टुकड़े टुकड़े गैंग काफी सक्रिय है।