दिल्ली में टीकाकरण का आंकड़ा हुआ दो करोड़ के पार, निषिद्ध क्षेत्रों की संख्या सौ से कम

दिल्ली में टीकाकरण का आंकड़ा हुआ दो करोड़ के पार, निषिद्ध क्षेत्रों की संख्या सौ से कम

24-10-2021 02:00:00

दिल्ली में टीकाकरण का आंकड़ा हुआ दो करोड़ के पार, निषिद्ध क्षेत्रों की संख्या सौ से कम

दिल्ली स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि शनिवार को संक्रमण के 40 मामले आए, जबकि संक्रमण दर 0.07 फीसद दर्ज की गई। साथ ही किसी मरीज की मौत का कोई नया मामला दर्ज नहीं किया गया है।

देश की राष्ट्रीयराजधानीमें अब तक कोरोना से बचाव के दो करोड़ से ज्यादा टीके लग चुके हैं। दिल्ली में निषिद्ध क्षेत्रों का आंकड़ा भी लगातार नीचे गिर रहा है। मामलों में आई कमी के बाद यह असर देखा गया है। अब निषिद्ध क्षेत्रों का आंकड़ा गिरकर 100 से भी नीचे आ गया है। सरकारी रिपोर्ट के मुताबिक 11 में से दो जिले ऐसे हैं जिनमें अब एक भी ऐसा क्षेत्र नहीं रह गया है, जबकि दक्षिणी दिल्ली इस समय सबसे अधिक सील क्षेत्र वाला इलाका बना हुआ है।

मन की बात LIVE: मोदी बोले- मुझे सत्ता में रहने का आशीर्वाद मत दीजिए, मैं हमेशा सेवा में जुटा रहना चाहता हूं त्रिपुरा नगर निकाय चुनावों में बीजेपी का दबदबा, टीएमसी बना मुख्य विपक्षी दल - BBC Hindi Delimitation : परिसीमन का प्रारूप तैयार, जम्मू संभाग की सात और सीटें बढ़ेंगी

शनिवार को दिल्ली में सील क्षेत्रों का आंकड़ा गिरकर 93 तक आ गया है। सभी जिलों की संयुक्त रिपोर्ट दिल्ली सरकार ने जारी की है। रिपोर्ट में 21 अक्तूबर तक की दिल्ली की स्थिति का हवाला दिया गया है। रिपोर्ट के अनुसार मध्य दिल्ली व उत्तर पूर्वी दिल्ली केवल दो जिलों में एक भी निषिद्ध क्षेत्र नहीं है। दस से कम सील क्षेत्र वाले जिलों में पूर्व, नई दिल्ली, उत्तर, शाहदरा, दक्षिण पूर्व और पश्चिम जिला शामिल है। इन क्षेत्रों में अभी भी कोरोना के नियमों का पालन कराया जा रहा है। दिल्ली में इस समय 19 क्षेत्र ऐसे हैं जिन्हें सरकारी एंजसियां तुरंत खोल सकती है, जबकि 74 क्षेत्र ऐसे हैं जो अभी भी सक्रिय मामलों की चपेट में हैं।

21 जून 2020 के बाद बनाने पड़े 87 हजार से अधिक क्षेत्र :दिल्ली में कोरोना संक्रमण को बढ़ने से रोकने को छोटे-छोटे निषिद्ध क्षेत्र बनाकर वहां लोगों का आना-जाना प्रतिबंधित किया गया था। अब तक दिल्ली सरकार को 87,412 निषिद्ध क्षेत्रों को बनाने की जरूरत पड़ी है। अब तक कुल 87,451 क्षेत्रों को सील मुक्त किया जा चुका है। headtopics.com

देश में सबसे अधिक टीके दिल्ली में लगेकोरोना संक्रमण से बचाने के लिए दिल्ली में लगातार टीकाकरण की मुहिम चल रही है। देश में सबसे अधिक टीकाकरण करने वाले राज्यों की सूची में दिल्ली का स्थान अग्रिम सूची में शामिल है।राजधानीमें अब तक दो करोड़ टीके लगे हैं। दिल्ली सरकार की रिपोर्ट के मुताबिक शनिवार को कुल 19,97,22,63 लोगों को कोरोनारोधी लग चुका है। इन लोगों में से 12,86,81,71 लोगों ने पहली बार और 71,04,092 ने दूसरी बार यह टीका लगवाया है। बीते 24 घंटे में दिल्ली के अंदर 63,917 टीके लगे हैं। इनमें 22,740 ने पहली बार और 41,177 ने दूसरी बार यह टीका लगवाया है।

Also Readपीएम मोदी बोले- कोरोना वैक्सिनेशन में नहीं चला वीआईपी कल्चरदिल्ली स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि शनिवार को संक्रमण के 40 मामले आए जबकि संक्रमण दर 0.07 फीसद दर्ज की गई। साथ ही किसी मरीज की मौत का कोई नया मामला दर्ज नहीं किया गया है। नए मामलों के साथ ही दिल्ली में संक्रमित लोगों की कुल संख्या बढ़कर 14,39,566 हो गई। आंकड़ों के अनुसार,अब तक 14.13 लाख से अधिक मरीज इस बीमारी से उबर चुके हैं वहीं मृतकों की कुल संख्या 25,091 है।

स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार, अधिकारियों ने पिछले दिन कुल 61,142 से ज्यादा परीक्षण किए, जिनमें 44,836 आरटीपीसीआर जांच थी। दिल्ली में इस महीने कोरोना से अबतक चार मौतें हो चुकी हैं। इससे पहले 2,10 और 19 अक्तूबर को एक-एक रोगी की मौत हुई थी।वहीं सितंबर में कोरोना वायरस संक्रमण से पांच लोगों की मौत हुई थी। दिल्ली में अब तक 25,091 लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है। इससे पहले शुक्रवार को दिल्ली में संक्रमण के 38 नए मामले सामने आए थे जबकि संक्रमण की दर 0.07 फीसद रही थी। वहीं, गुरुवार को राजधानी में 22 नए मामले सामने आए और संक्रमण की दर 0.05 फीसद थी।

और पढो: Jansatta »

दंगल: क्या अब्बाजान और चिलमजीवी ही यूपी चुनाव के मुद्दे हैं?

उत्तर प्रदेश में चुनाव का माहौल जैसे-जैसे गर्माता जा रहा है, नेताओं की जुबान तीखी होती जा रही है. समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने योगी सरकार को एक बार फिर चिलमजीवी कह के घेरा है. अखिलेश अक्सर चिलम फूंकने का आरोप लगाकर योगी आदित्यनाथ को घेरते रहे हैं. लेकिन चिलम के नाम पर अखिलेश को जवाब संत समाज की ओर से मिला है. कुछ साधु संतों ने इसे संतों का अपमान बताकर अखिलेश से माफी की मांग की है. आज दंगल में देखें क्या चिलम वाले बयान पर अखिलेश ने संतों की नाराजगी मोल ले ली है? और क्या 2022 के चुनाव में इसका असर पड़ेगा? देखें वीडियो.

गोरखपुर-दिल्ली के बीच शीघ्र चलेगी वंदे भारत एक्‍सप्रेस, रेलवे ने शुरू की तैयारीपूर्वोत्तर रेलवे और पूर्वांचल के लोगों की उम्मीदों को धीरे-धीरे पंख लगने लगे हैं। रेलवे बोर्ड ने देशभर में वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन चलाने की कवायद तेज कर दी है। मार्च तक पूर्वोत्तर रेलवे के रूटों पर भी तीन से चार ट्रेनें दौड़ने लगेंगी। आदरणीय सर नमस्कार सर लखनऊ से सीतापुर ,शाहजहाँपुर के कम्म्प्लीट इलेक्टिक रुट पर प्रकाश अपने माध्यम से डाले जिससे शहर वासियों को सस्ते ओर सुहाने सफर का लाभ प्राप्त हो । पिछ्ले कई दसको से शहर वाशी इन रूट पर बस का महंगा सफर करने को मजबूर है। सर सभी महंगा सफर नही कर सकते है। 🙏🙏 .ALL FAST TRAINS ARE BEING RUN FROM UP TO DELHI N SOME TO KOLKATA WHEN THERE IS GREAT NEED TO RUN SUCH TRAINS TO PUNE BECAUSE IT HAS ALSO BECOME BIG BUSINESS CENTRE AND INDUSTRY HUN narendramodi_in PiyushGoyal RailMinIndia RSSorg

दिल्ली चुनाव के दौरान फेक अकाउंट का इस्तेमाल कर रही थी BJP, AAP और कांग्रेस- व्हिसिलब्लोअरफेसबुक की एक पूर्व कर्मचारी ने दावा किया है कि 2020 दिल्ली विधानसभा चुनाव के दौरान आप, बीजेपी और कांग्रेस ने फेक फेसबुक अकाउंट का इस्तेमाल किया था। इन अकाउंट्स के जरिए लोगों को मैनिपुलेट करने का काम किया गया था। श्रद्देय myogiadityanath जी उ.प्र.के अनुदानित महाविद्यालयों के अनुमोदित 3000 दुःखी मन शिक्षको की बस एक ही मांग विनियमितीकरण यूजीसी_वेतनमान PMOIndia narendramodi dpradhanbjp anandibenpatel CMOfficeUP drdineshbjp kpmaurya1 aajtak ZeeNews bstvlive news24tvchannel

दिल्‍ली में 24 घंटों में कोरोना के 38 नए केस, एक व्‍यक्ति की हुई मौतदेश की राजधानी दिल्‍ली में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 38 केस दर्ज किए गए हैं. इस दौरान एक व्‍यक्ति की मौत यहां कोरोना संक्रमण के कारण हुई है. अच्छा आ गया कोरोना?

दिल्ली में वायु प्रदूषण के कारणों का अध्ययन करेगा IIT कानपुरदिल्ली में वायु प्रदूषण के कारणों को वास्तविक समय में जानने और वायु प्रदूषण को कम करने के लिए आईआईटी कानपुर और दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (डीपीसीसी) के बीच आज एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए.

दिल्ली के हजारों कर्मचारियों को तोहफा, सैलरी के साथ मिलेगा दीवाली बोनसकहा गया है ‘बोनस का भुगतान न करना एक गंभीर मुद्दा है और सभी प्रमुख नियोक्ताओं से आग्रह किया जाता है कि वे आगामी त्योहारों के सीजन में अपने ठेकेदारों द्वारा आउटसोर्स किए गए श्रमिकों / कर्मचारियों को बोनस का वितरण सुनिश्चित करें।’

वंदे मातरम्: 250 गोरखाओं के सामने 4000 पाक सैनिकों का सरेंडर, देखें सिलहट की शौर्यगाथाहथियार हो या न हो, संख्या हो या न हो, हौसला तो है. कभी-कभी वीरता की कहानियां ही दुश्मन के दिलों में खौफ भरने के लिए काफी होती हैं. कभी-कभी रुतबा ही परिचय होता है. आज वंदे मातरम् के इस एपिसोड में 1971 के युद्ध की एक ऐसी ही कहानी बताएंगे, जब भारतीय सैनिकों ने संख्या में खुद से कहीं ज्यादा पाकिस्तानियों को शिकस्त दी थी. ये लड़ाई थी सिलहट की. ऐसा पहली हुआ था, जब भारतीय सेना ने एक ऑपरेशन में अपने सैनिकों को हैलीकॉप्टर के जरिए दुश्मन की जमीन में उतारा था. 1971 की ये पहली ऐसी लड़ाई थी जब पाकिस्तान के सरेंडर का नमूना देखने को मिला था. देखिए ये एपिसोड. SwetaSinghAT उसमें मोदीजी का कोई रोल हो तो बताओ वरना जाने दो... 😂 SwetaSinghAT What's happening in laddakh? Why not showing this, SwetaSinghAT Achha hua Modiji us samay nahi the nahi to khud ko Bhagwat Geeta ka Bhagwan Shree Krishna bata baithte ....