Coronavirus, Delhifightscovid, Corona Virus İn Delhi, Delhi Corona Virus, Delhi Top News, Delhi Ncr Top News, Coronavirus Latest News, Coronavirus Symptoms, Asymptomatic Coronavirus, Asymptomatic Covid 19, Delhi Ncr News İn Hindi, Latest Delhi Ncr News İn Hindi, Delhi Ncr Hindi Samachar

Coronavirus, Delhifightscovid

दिल्ली में नया संकट, 186 नए संक्रमितों में किसी में भी नहीं थे कोरोना के लक्षण

186 मरीजों को संक्रमित पाया गया। चौंकाने वाली बात यह है कि इनमें से किसी में भी कोरोना संक्रमण के कोई लक्षण नहीं थे।

19-04-2020 11:34:00

दिल्ली में नया संकट, 186 नए संक्रमितों में किसी में भी नहीं थे कोरोना के लक्षण coronavirus DelhiFightsCovid ArvindKejriwal drharshvardhan

186 मरीजों को संक्रमित पाया गया। चौंकाने वाली बात यह है कि इनमें से किसी में भी कोरोना संक्रमण के कोई लक्षण नहीं थे।

इसके साथ ही हर केंद्र पर खाना बांटने के काम से जुड़े लोगों की भी टेस्टिंग की जाएगी। केजरीवाल ने कहा कि यह बहुत खतरनाक बात है कोरोना वायरस फैल चुका है। अब लोगों को पता नहीं चल रहा है कि उन्हें कोरोना वायरस हो गया है और ऐसे में उनसे अन्य लोगों को संक्रमण फैल रहा है।

Delhi Earthquake: दिल्ली-एनसीआर में महसूस किए गए भूकंप के झटके, रिक्टर स्केल पर 4.6 मापी गई तीव्रता ट्रंप ने चीन को लेकर की दो बड़ी घोषणाएं, WHO से अमरीका को किया अलग बिहार में सियासी घमासान तेज, नीतीश सरकार पर आगबबूला लालू परिवार

उन्होंने कहा कि इस वक्त कोरोना से सबसे कठिन लड़ाई दिल्ली लड़ रही है। विदेश से आने वाले सबसे ज्यादा लोग दिल्ली ही आए। मरकज में जो कुछ भी हुआ उसकी भी सबसे ज्यादा मार दिल्ली को ही झेलनी पड़ी।उन्होंने कहा कि दिल्ली की स्थिति को देखते हुए और विशेषज्ञों की सलाह के अनुसार हमने यह निर्णय लिया है कि फिलहाल लॉकडाउन की शर्तों में किसी तरह की छूट नहीं दी जाएगी। 27 अप्रैल को दिल्ली सरकार दोबारा से हालात की समीक्षा करेगी। इसके आधार पर ही आगे का फैसला किया जाएगा। उन्होंने कहा कि दिल्ली की आबादी देश की कुल आबादी की दो फीसदी है, इसके बावजूद देश के कुल मरीजों में से 12 फीसदी यहीं हैं।

केजरीवाल ने कहा कि इनकी संख्या हर रोज बढ़ रही है। यह लॉकडाउन होने के बाद की स्थिति है। अगर लॉकडाउन न होता तो दिल्ली के हालात भी इटली, अमेरिका जैसे होते। अरविंद केजरीवाल ने माना कि लॉकडाउन से आम दिल्लीवालों को होने वाली परेशानियों से सरकार परिचित है, लेकिन स्थिति बेहद संजीदा है।

केजरीवाल ने माना कि लॉकडाउन से सबको बहुत परेशानी हो रही है। सरकार भी ढील देना चाहती है, लेकिन अगर इससे हालात खराब हुए तो मरीजों की संख्या बहुत ज्यादा होने से उन्हें आईसीयू में भर्ती कर पाना, वेंटिलेटर पर रख पाना संभव नहीं होगा। अरविंद केजरीवाल के मुताबिक, ढिलाई देने पर अगर हालात हाथ से बाहर जाते हैं तो सरकार खुद को माफ नहीं कर पाएगी।

केजरीवाल ने बताया कि फिलहाल दिल्ली में करीब 1900 कोरोना संक्रमित हैं, जिनमें से 43 की मौत हो चुकी है। 26 मरीजों को आईसीयू में भर्ती कराया गया है, जबकि छह वेंटिलेटर पर हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली की स्थिति बेहद चिंताजनक है, हालांकि अभी स्थिति नियंत्रण से बाहर नहीं गई है। घर में रहकर और सतर्कता बरतते हुए इस महामारी से बचा जा सकता है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को ऑनलाइन प्रेस कांफ्रेंस कर कोरोना वायरस से संबंधित बड़ी जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि पिछले कुछ दिनों में दिल्ली में कोरोना के मामलों में बढ़ोत्तरी शुरू हुई है। शनिवार को 736 टेस्ट की रिपोर्ट आई, जिनमें से 25 प्रतिशत यानी

विज्ञापनउन्होंने कहा कि कल पॉजिटिव पाए गए मरीजों में से एक से बात करने पर पता चला कि वह कुछ दिनों से दिल्ली सरकार द्वारा चलाए जा रहे खाद्य पदार्थ वितरण केंद्र में जाकर खाना बांटने का काम कर रहा था। इसके बाद सेंटर पर आने वाले सभी लोगों की रैंडम टेस्टिंग का फैसला लिया गया है।

संकट से जूझ रहे छोटे और लघु उद्योग, ग्राउंड रिपोर्ट में दिखी सच्चाई, बड़ी संख्या में फैक्ट्रियां बंद महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटों में 116 लोगों की कोरोना से मौत, मुंबई में करीब 37000 संक्रमित सपा नेता अबू आजमी के खिलाफ दर्ज हुई FIR, लेडी पुलिस ऑफिसर से अभद्रता का आरोप

इसके साथ ही हर केंद्र पर खाना बांटने के काम से जुड़े लोगों की भी टेस्टिंग की जाएगी। केजरीवाल ने कहा कि यह बहुत खतरनाक बात है कोरोना वायरस फैल चुका है। अब लोगों को पता नहीं चल रहा है कि उन्हें कोरोना वायरस हो गया है और ऐसे में उनसे अन्य लोगों को संक्रमण फैल रहा है।

उन्होंने कहा कि इस वक्त कोरोना से सबसे कठिन लड़ाई दिल्ली लड़ रही है। विदेश से आने वाले सबसे ज्यादा लोग दिल्ली ही आए। मरकज में जो कुछ भी हुआ उसकी भी सबसे ज्यादा मार दिल्ली को ही झेलनी पड़ी।उन्होंने कहा कि दिल्ली की स्थिति को देखते हुए और विशेषज्ञों की सलाह के अनुसार हमने यह निर्णय लिया है कि फिलहाल लॉकडाउन की शर्तों में किसी तरह की छूट नहीं दी जाएगी। 27 अप्रैल को दिल्ली सरकार दोबारा से हालात की समीक्षा करेगी। इसके आधार पर ही आगे का फैसला किया जाएगा। उन्होंने कहा कि दिल्ली की आबादी देश की कुल आबादी की दो फीसदी है, इसके बावजूद देश के कुल मरीजों में से 12 फीसदी यहीं हैं।

केजरीवाल ने कहा कि इनकी संख्या हर रोज बढ़ रही है। यह लॉकडाउन होने के बाद की स्थिति है। अगर लॉकडाउन न होता तो दिल्ली के हालात भी इटली, अमेरिका जैसे होते। अरविंद केजरीवाल ने माना कि लॉकडाउन से आम दिल्लीवालों को होने वाली परेशानियों से सरकार परिचित है, लेकिन स्थिति बेहद संजीदा है।

केजरीवाल ने माना कि लॉकडाउन से सबको बहुत परेशानी हो रही है। सरकार भी ढील देना चाहती है, लेकिन अगर इससे हालात खराब हुए तो मरीजों की संख्या बहुत ज्यादा होने से उन्हें आईसीयू में भर्ती कर पाना, वेंटिलेटर पर रख पाना संभव नहीं होगा। अरविंद केजरीवाल के मुताबिक, ढिलाई देने पर अगर हालात हाथ से बाहर जाते हैं तो सरकार खुद को माफ नहीं कर पाएगी।

केजरीवाल ने बताया कि फिलहाल दिल्ली में करीब 1900 कोरोना संक्रमित हैं, जिनमें से 43 की मौत हो चुकी है। 26 मरीजों को आईसीयू में भर्ती कराया गया है, जबकि छह वेंटिलेटर पर हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली की स्थिति बेहद चिंताजनक है, हालांकि अभी स्थिति नियंत्रण से बाहर नहीं गई है। घर में रहकर और सतर्कता बरतते हुए इस महामारी से बचा जा सकता है।

विज्ञापनआगे पढ़ें और पढो: Amar Ujala »

ArvindKejriwal drharshvardhan ये पहले tableegi थे ArvindKejriwal drharshvardhan Kejriwal ki den hai ArvindKejriwal drharshvardhan बहुत दुखद है

भारत में भी कोरोना का बैक गियर, हो सकता है पहले से भी ज्यादा खतरनाकअभी एक मुसीबत खत्म नहीं हुई है. और कोरोना से जुड़ी इस दूसरी मुसीबत ने ट्रेलर दिखाना शुरू कर दिया है. यानी अभी तक हम कोरोना से निपट रहे थे. मगर अब हमें कोरोना के डबल अटैक के लिए भी तैयार रहना होगा. क्योंकि दुनिया के दूसरे देशों के साथ साथ कोरोना पार्ट-2 ने भारत पर भी हमला कर दिया है. ShamsTahirKhan Gadho ki Tali thali diya batti chalte raha to hogahi ShamsTahirKhan आगे हमारे डॉक्टरों ने नाका लगा रखा है, shortcut ढूंढ रहा है। ShamsTahirKhan बैक गियर लगता है तो सावधानी जरूरी ।।जो मरीज ठीक होकर आ रहे उनके लिए बने सेफ जोन ये व्यस्था हर शहर मे हो।।जब तक मामला ठीक न हो तबतक बारिकी से रहना है सावधान।।

Dhoni बीसीसीआई की मास्क फोर्स से भी गायब, फैंस बोले- माही किसी टीम में नहीं रहेसरकार ने लोगों से मास्क पहनकर बाहर निकलने की अपील की है। covid19 bcci teamindia maskforce viratkohli msdhoni bcci sachintendulkar SouravGanguly RohitSharma Teammaskforce

दिल्ली: 10 महीने का बच्चा और उसके पिता भी कोरोना संक्रमित, आठ स्वास्थ्यकर्मी भी चपेट मेंदिल्ली: 10 महीने का बच्चा और उसके पिता भी कोरोना संक्रमित, आठ स्वास्थ्यकर्मी भी चपेट में CoronaUpdate Delhi ArvindKejriwal drharshvardhan

LIVE Coronavirus Updates: दिल्ली में कल समाने आए 186 मामलों ने बढ़ाई चिंता, किसी में नहीं थे लक्षणदिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि शनिवार को कल 736 टेस्ट की रिपोर्ट आई, उनमें से 186 कोरोना वायरस के मरीज़ निकले। इन 186 मरीज़ों में से किसी को कोरोना के लक्षण नहीं थे। उन्हें पता नहीं था वे संक्रमित हैं । यह ज्यादा चिंताजनक है। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने इसकी जानकारी दी है। उन्हें पता नहीं था वे संक्रमित हैं । यह ज्यादा चिंताजनक है। वर्तमान में, लॉकडाउन आवश्यक है। शहर में हॉटस्पॉट्स में कोई छूट नहीं दी जानी चाहिए। 27 अप्रैल को फिर से एक समीक्षा बैठक की जाएगी। स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी ताजा आंकड़ों के अनुसार भारत में कोरोना वायरस (covid-19) से 507 लोगों की मौत हो गई है और अब तक कुल 15,712 मामलों की पुष्टि हुई है। इनमें से 2230 लोग ठीक हो गए हैं। 12,974 लोगों का इलाज जारी है। समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार पिछले 24 घंटे में 1,334 मामले सामने आए हैं और 27 लोगों की मौत हो गई है।

#कोरोना संकट: मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़ भी कोटा में फंसे छात्रों की वापसी की तैयारी मेंयूपी के 4500 छात्र रवाना, सात हजार अब भी फंसे bhupeshbaghel ChouhanShivraj kotastudents Lockdown2 Coronavirus Lockdown bhupeshbaghel ChouhanShivraj यह कहाँ का कानून है है अपने राज्य में रहने वाला अपने घर नहीं जा पाए और दूसरे राज्य वाला अपने घर वाह रे कानून bhupeshbaghel ChouhanShivraj एक ही भारत में रहकर एक मुख्यमंत्री दूसरे राज्य के बच्चों का ख्याल नहीं रख रहा है। इस आपातकालीन समय में उन्हें अपने राज्य से वापस भेज रहे है यह एक बहुत ही शर्मनाक बात है। bhupeshbaghel ChouhanShivraj सोशल डिस्टनसिंग का पालन करवाते हुए योगी जी

कोरोना: ओडिशा में स्थिति काबू में लेकिन फिर भी सरकार क्यों है चिंतितराज्य में अब तक कोरोना के केवल 60 मामले आए हैं लेकिन आने वाले सप्ताह में नवीन सरकार की मुसीबतें बढ़ सकती हैं. Jaha serious nahi he waha pe 10 ya 15 fake corona case Laga Dena chahiye ओडिशा में अभी हालांकि हालात नियंत्रण में है पर असल समस्या सूरत दिल्ली चेन्नई मुंबई से आने वाले मजदूरों को लेकर है, जिसके लिए सरकार को बेहद सावधानी बरतने की जरूरत है।

चीन के साथ सरहद पर तनाव को लेकर पीएम मोदी का 'मूड ठीक नहीं' है: ट्रंप कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का केंद्र सरकार को सुझाव- खजाने का ताला खोलिए और जरूरतमंदों को राहत दीजिए सोनिया गांधी की डिमांड- प्रवासी मजदूरों के लिए खजाना खोले मोदी सरकार मोदी सरकार में मध्यम वर्ग क्या ताली और थाली ही बजाएगा? खबरदार: पुलवामा पार्ट-2 में पाकिस्तान की भूमिका का विश्लेषण दिल्ली: AAP विधायक प्रकाश जारवाल की जमानत अर्जी कोर्ट से खारिज भारत-चीन विवाद पर बोले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अच्छे मूड में नहीं... राहुल की मांग- लोगों को कर्ज नहीं, पैसे की जरूरत, 6 महीने तक गरीबों को आर्थिक मदद दे सरकार कोरोना पर बोले उद्धव ठाकरे, शुरुआत में नहीं की गई सही तरीके से जांच मोदी सरकार 2.0 के एक साल : हिंदुत्व के पथ पर दौड़ता रथ, कोरोना वायरस ने लगाया ब्रेक BJP नेता राजीव बिंदल तक पहुंचे PPE Kit घोटाले के तार, तो बिफरे कुमार विश्वास - 'भारत माता के नारे तो यह जानवर भी... '