Delhi, National Capital Delhi, New Delhi, Viral Fever İn Delhi, Doctors Advised For Children, Wear Mask

Delhi, National Capital Delhi

दिल्ली में अचानक से बच्चों में बढ़े वायरल बुखार के मामले, रखें ये सावधानी

दिल्ली: बच्चों में बढ़े वायरल बुखार के मामले #Delhi (@sushantm870)

19-09-2021 06:18:00

दिल्ली: बच्चों में बढ़े वायरल बुखार के मामले Delhi (sushantm870)

डॉक्टर कहते हैं कि बच्चे जब भी घर से निकलें, मास्क पहन कर घर से निकलें, घर में जब भी आए अपने हाथ साबुन से जरूर धोएं. बच्चों को इन दिनों ताजे फल खासकर विटामिन सी वाले फल जरूर खिलाएं. बच्चों को सिर्फ घर का ही खाना दें. बाहर के पैक्ड फूड या जंक फूड से बच्चों को बचाएं

स्टोरी हाइलाइट्सएक हफ्ते में ओपीडी की संख्या 1700 तक पहुंचीपिछले साल के मुकाबले डेढ़ गुना ज्यादा केसः डॉ.अग्रवालबच्चे मास्क पहन कर घर से निकलें, हाथ साफ रखें: डॉ. ममतादिल्ली में इन दिनों बढ़ रहा वायरल इंफेक्शन बच्चों को अपनी जकड़ में ले रहा है. बच्चों में बुखार, खांसी-जुखाम और शरीर में लाल चकते पड़ने के लक्षण दिखाई दे रहे हैं जिस कारण अस्पतालों में भारी भीड़ देखने को मिल रही है.

बांग्लादेश में दुर्गा पूजा स्थल पर क़ुरान रखने वाले की पहचान हुई - BBC News हिंदी कोरोना वैक्सीन की 100 करोड़ डोज.. देश में होगा बड़ा जश्न, लाल किले पर फहराएगा दुनिया का सबसे बड़ा राष्ट्रीय ध्वज भाजपा और नरसिंहानंद से जुड़ीं हिंदुत्ववादी नेता ने मुस्लिम व्यक्ति को ट्रेन में पीटा

दिल्ली के चाचा नेहरू अस्पताल में पिछले साल के मुकाबले इस साल बच्चों के केस में वृद्धि आई है. पिछले साल वायरस सीजन के अंदर जहां हर रोज 800 से 900 मरीजों की ओपीडी होती थी. वहीं इस साल खासकर पिछले एक हफ्ते में ओपीडी की संख्या करीब 1700 हो गई है. ये आंकड़े बता रहे हैं कि वायरल इंफेक्शन किस तरह बच्चों को अपनी जकड़ में ले रहा है.

यही आलम दिल्ली के अन्य अस्प्तालों में भी है. बीएलके मैक्स सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल के डॉक्टर बीबी अग्रवाल की मानें तो पिछले दो हफ्तों में वायरल फीवर के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. अगर पिछले साल के मुकाबले माना जाए तो यह डेढ़ गुना है. रोजाना 20 से 50 बच्चों को वायरल फीवर के मामले उनकी ओपीडी में देखे जा रहे हैं. लेकिन डॉक्टर का यह भी कहना है कि इससे ज्यादा घबराने की जरूरत नहीं है. बच्चों में ज्यादातर मामले 10 साल से कम उम्र के बच्चों में देखे जा रहे हैं और इनमें कुछ मामले डेंगू के भी है और टाइफाइड के भी है. headtopics.com

इसे भी क्लिक करें ---गंगाराम हॉस्पिटल के डॉक्टर इश आनंद की मानें तो वायरल फीवर के मामले सिर्फ बच्चों में ही नहीं बल्कि यंग ऐज के लोगों में भी देखे जा रहे हैं.क्या कहते हैं डॉक्टर्सचाचा नेहरू हॉस्पिटल की डॉक्टर ममता जाजू ने बताया कि इस बार इस वायरल फीवर से मरीजों की अधिक संख्या में वृद्धि देखने को तो मिल रही है. लेकिन वह स्थिति नहीं है जिसमें बच्चों को अस्पताल में दाखिल किया जाए. डॉक्टर का कहना है कि बच्चों के माता-पिता को इन दिनों बच्चों का खास ध्यान देना है. बच्चों को किसी भी भीड़ वाले इलाके में ना जाने दें.

उन्होंने बताया कि बच्चे जब भी घर से निकलें, मास्क पहन कर घर से निकलें, घर में जब भी आए अपने हाथ साबुन से जरूर धोएं. बच्चों को इन दिनों ताजे फल खासकर विटामिन सी वाले फल जरूर खिलाएं. बच्चों को सिर्फ घर का ही खाना दें. बाहर के पैक्ड फूड या जंक फूड से बच्चों को बचाएं और खांसी-जुखाम बुखार जैसे लक्षण दिखते ही बच्चों को अस्पताल ले जाएं.

अस्पताल में बच्चों के माता-पिता की भीड़ काफी ज्यादा देखने को मिल रही है. चाचा नेहरू अस्पताल अपने बच्चे को लेकर आए एक मां का कहना है कि पिछले कुछ दिनों से उनकी बच्ची को लगातार बुखार हो रहा है. जुखाम हो रहा है और अस्पताल में भीड़ के कारण उन्हें घंटों लाइन में इंतजार करना पड़ रहा है. इनकी बच्ची की उम्र महज 8 महीने है, लेकिन वह भी इस बारे में इंफेक्शन की जद में है.

ऐसे ही शास्त्री पार्क से आए एक पिता का कहना है कि उनके बच्चे को पिछले 7 दिन से लगातार बुखार, जुखाम और खांसी हो रही है और वह लगातार अस्पताल के चक्कर लगा रहे हैं. डॉक्टर ने जो दवाई लिखी है उस दवाई से उनके बच्चे को राहत नहीं मिल रही है. अब डॉक्टर ने उन्हें अन्य जगह जांच कराने के लिए बोला है. headtopics.com

प्रियंका गांधी के साथ सेल्फी लेने वाली पुलिसकर्मियों के खिलाफ जांच, कांग्रेस नेता बोलीं- मुझे मिले सजा Prime Time With Ravish Kumar: किसान आंदोलन -Court में सुनवाई, सरकार कहां गई? India में लगे Covid Vaccine के 100 Crore Doses, बना विश्व रिकॉर्ड!

डॉक्टर अपील कर रहे हैं कि इन दिनों माता-पिता अपने बच्चों की खास देखभाल करें और बच्चों को कहीं भी आने-जाने ना दें और अगर उनको बाहर ले भी जा रहे हैं तो बच्चों को मास्क जरूर पहनाएं और और उनके खानपान पर पूरा ध्यान दें जिससे उनके बच्चे इस वायरल इंफेक्शन की चपेट में आने से बच सकें.

Live TV और पढो: आज तक »

क्या कैप्टन अमरिंदर किसानों के साथ सरकार की ओर से मध्यस्थता करेंगे? देखें हल्ला बोल

कैप्टन का प्लान किसान! पंजाब के पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपनी सियासत को किसानों के रास्ते आगे बढ़ाने का मन बनाया है. कैप्टन ने अपनी नई पार्टी बनाने का ऐलान किया है लेकिन लिखा है कि अगर किसानों की समस्या का हल निकलता है तो वो बीजेपी के साथ गंठबंधन करेंगे. माना जा रहा है कि वो किसान समस्या को लेकर सरकार और किसानों के बीच मध्यस्थता करेंगे. कैप्टन ने अपनी नई पार्टी बनाने का ऐलान कर दिया है. साथ ही किसानों की समस्या का समाधान ढूंढने और बीजेपी के साथ गठबंधन की कवायद भी शुरु कर दी है. पंजाब के पूर्व सीएम ने ट्वीट किया कि अगर किसानों के हित में किसान आंदोलन का हल निकाला जाता है तो 2022 में पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए सिटिंग अरेंजमेंट को लेकर उम्मीद की जा सकती है. तो क्या बीजेपी कैप्टन अमरिंदर सिंह की मदद से किसान आंदोलन का हल ढूंढने की कोशिश कर रही है. क्या कैप्टन अमरिंदर किसानों के साथ सरकार की ओर से मध्यस्थता करेंगे. देखें हल्ला बोल का ये एपिसोड.

sushantm870 mansukhmandviya trust and hope you will work for nation and do your duty. ombirlakota

यूपी में वायरल फीवर का कहर, महोबा में बीमार बच्चों को नहीं मिल पा रहे बेडमरीजों के सापेक्ष बेड की कमी के कारण एक बेड पर दो-दो बच्चों को भर्ती करना पड़ रहा है. जिला अस्पताल के जिम्मेदार बेहतर व्यवस्था की बात कर रहे हैं लेकिन अस्पताल की तस्वीरें कुछ और ही कहानी बयान कर रही हैं. इसमें गलत क्या है कहो तो कुछ मरीज तुम्हारे न्यूज रूम में डाल दें मरीजों के चिंतक शुभ Yahi hoga फिर तो और तेजि से वायरल होगा। viralfever

Sero survey में हुआ खुलासा, 70 फीसदी इंदौरी बच्चों में मिली शानदार एंटीबॉडी | Sero surveyइंदौर। गत दिनों कोरोना को लेकर इंदौर के 18 साल से कम उम्र के बच्चों के सैम्पल लेकर सीरो सर्वे करवाया गया था। यह पता लगाने के लिए कि इंदौर बच्चों में कितनी एंटीबॉडी है। सर्वे के ये सुखद नतीजे निकले हैं कि बच्चों में कोरोना से लड़ने की एंटीबॉडी पाई गई। हालांकि अभी 70 फीसदी से अधिक बच्चों का अधिकृत रूप से सर्वे का खुलासा नहीं हुआ। मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने भी अपने भाषण में इसका जरूर कुछ खुलासा किया था।

महामारी जनित कारणों से प्रभावित भारतीय अर्थव्यवस्था में आई तेजी की वजह से जगी उम्मीदबेहतर कीमत निर्धारण शक्ति और बढ़ती मांग के कारण कारपोरेट क्षेत्र की आय में सुधार होना शुरू हो गया है। बाजार में कमाई बढ़ने के संकेत भी नजर आ रहे हैं। ऐसे में निवेशक लंबी अवधि के लिए व्यवस्थित तरीके से इक्विटी में निवेश जारी रखा जा सकता है। Grt thing.. congratulations India.

ऑस्ट्रेलियाई युवा ने 100 से अधिक लोगों से क्रिप्टोकरेंसी में किया 660 करोड़ का घोटाला!24 साल के किन ने अदालत में खुलासा किया कि वह कॉलेज के दिनों में जल्दी और आसानी से पैसा बनाने के इरादे से क्रिप्टो-स्पेस में आया था। जन्मदिन मुबारक हो मोदी जी सुशासन कहां है 👉शेड्यूल कास्ट की फाइनेंशियल अधिकारों की हत्या, आरक्षण ,लक्ष्य की खानापूर्ति के लिए Equifax Report NUMBER (ERN) 201371405 कमेंट SUIT_ FIELD _WILFUl_DEFAULT_WRITTN_OFF_SATLD दिखाया गया दस हजार चुकता ऋण पर बैंकिंग लोकपाल जयपुर शर्म करो

RS उपचुनाव: मोदी सरकार में मंत्री सोनोवाल असम से उम्मीदवार, MP में इन्हें दिया मौकाRS उपचुनाव: मोदी सरकार में मंत्री सोनोवाल असम से उम्मीदवार, MP में इन्हें दिया मौका; कांग्रेस नहीं उतारेगी कैंडिडेट

गुजरात कांग्रेस में फेरबदल की हो रही देरी से हार्दिक पटेल जैसे नेताओं में बढ़ी बेचैनीगुजरात कांग्रेस के संगठन और नेतृत्व का चेहरा बदलने को लेकर लंबे अर्से से दुविधा में घिरे पार्टी आलाकमान के लिए अब पाटीदार समुदाय से ताल्लुक रखने वाले युवा नेता हार्दिक पटेल की संगठन में बड़ी भूमिका की दावेदारी को नजरअंदाज करना आसान नहीं रह गया। HardikPatel_ INCGujarat तबतक उसे नई सीडी रिलीज करनी चाहिए। शिक्षक_ट्रांसफर_पोर्टल_चालू_करो ChouhanShivraj JM_Scindia Indersinghsjp माननीय प्रार्थना है कि जो शिक्षक सिफारिश और राजनीतिक पकड़ के अभाव में स्वैच्छिक/म्युचुअल ट्रांसफर से वंचित रह गये हैं उनके लिये मानवीय आधार पर समदर्शी बनकर पुनः ट्रांसफर पोर्टल चालू करने की कृपा करें