दिल्ली हिंसा: हाई कोर्ट ने घायलों को बचाने के लिए आधी रात दिया आदेश

दिल्ली हिंसा: हाई कोर्ट ने घायलों को बचाने के लिए आधी रात दिया आदेश

26.2.2020

दिल्ली हिंसा: हाई कोर्ट ने घायलों को बचाने के लिए आधी रात दिया आदेश

मुस्तफ़ाबाद इलाक़े में स्थित अल-हिंद अस्पताल में हिंसा में घायल लोगों को पहुंचने में मुश्किल हो रही है.

ये एक्सटर्नल लिंक हैं जो एक नए विंडो में खुलेंगे शेयर पैनल को बंद करें इमेज कॉपीरइट Image caption अल-हिंद अस्पताल में इलाज़ कराती हुईं एक महिला सुरैया दिल्ली हाईकोर्ट में जस्टिस एस मुरलीधर और जस्टिस अनूप भंबानी ने देर रात दिल्ली हिंसा और पीड़ितों के ज़रूरी इलाज से संबंधित एक याचिका पर सुनवाई की. मानवाधिकार मामलों की वकील सुरूर मंदर के द्वारा दाखिल की गई इस याचिका की सुनवाई जस्टिस एस मुरलीधर के आवास पर हुई थी. सुरूर मंदर ने अपनी याचिका में कोर्ट से दरख़ास्त की थी कि दिल्ली पुलिस ये सुनिश्चित करे कि मुस्तफ़ाबाद के अल-हिंद अस्पताल से घायलों को जीटीबी अस्पताल और दूसरे सरकारी अस्पतालों में ले जाया जा सके ताकि उन्हें ज़रूरी इलाज़ मिल सके. जस्टिस मुरलीधर ने देर रात लगभग 12:30 पर इस मामले की सुनवाई की. इमेज कॉपीरइट Sanjoy Ghose/Twitter सुनवाई के दौरान वकील सुरूर मंदर ने स्पीकर फ़ोन पर जस्टिस मुरलीधर की बातचीत अल-हिंद अस्पताल के डॉक्टर अनवर से करवाई. इसके बाद जस्टिस मुरलीधर ने दिल्ली पुलिस को आदेश दिया कि अल-हिंद अस्पताल में मौजूद घायलों को ज़रूरी इलाज़ दिलाने के लिए रास्ता सुरक्षित कराया जाए. जस्टिस मुरलीधर ने कहा कि अगर मरीज़ों को जीटीबी अस्पताल नहीं ले जाया जा सकता है तो उन्हें एलएनजेपी, मौलाना आज़ाद या किसी अन्य सरकारी अस्पताल में पहुंचाया जाए. इस सुनवाई के दौरान डीसीपी क्राइम राजेश देव और दिल्ली सरकार के वकील संजय घोष मौजूद थे. इमेज कॉपीरइट Image caption दिल्ली हाई कोर्ट के आदेश की प्रति कोर्ट का आदेश मिलने पर राजेश देव ने उत्तरी दिल्ली के डीसीपी दीपक गुप्ता से बात करके हर हालत में अल-हिंद अस्पताल पहुंचने का निर्देश दिया. दिल्ली हाई कोर्ट ने बुधवार दोपहर सवा दो बजे तक इस आदेश पर की गई कार्रवाई, घायलों की स्थिति और उन्हें दिए गए इलाज़ से जुड़ी जानकारी कोर्ट के समक्ष पेश करने का आदेश भी दिया है. मुस्तफ़ाबाद इलाक़े में स्थित अल-हिंद अस्पताल चलाने वाले डॉ. अनवर का कहना है कि अस्पताल में कई मरीज़ गंभीर स्थिति में पहुंचाए गए हैं लेकिन उन्हें बड़े अस्पताल में पहुंचाने के लिए कोई एंबुलेंस अस्पताल तक नहीं पहुंच सकी थी क्योंकि बड़ी संख्या में अस्पताल के बाहर लोग एकत्र हो गए थे. बीबीसी से उन्होंने कहा,"बीती रात हिंसा जारी रहने की वजह से हमारे यहां मरीज़ों का तांता लगा हुआ था, इतने मरीज़ थे कि हमारे अस्पताल में उन्हें रखने की जगह भी नहीं बची. रात होते-होते कई मरीज़ ऐसे आए जिनकी हालत बेहद गंभीर थी. मरीज़ों के शरीर में गोलियां और धारदार हथियारों के जख़्म थे. हमने तकरीबन हर जगह फ़ोन किया. मदद मांगी ताकि इन मरीज़ों को बड़े अस्पतालों में ट्रांसफर करके इनकी जान बचाई जा सके. लेकिन आठ-दस घंटों तक तमाम कोशिशों तक कोई एंबुलेंस नहीं आ सकी." अल-हिंद 15 बेड का अस्पताल है. हिंसा की वजह से बीते मंगलवार से यहां मरीज़ों का आना लगातार जारी है. डॉ अनवर बताते हैं कि उनका अस्पताल बहुत छोटा है, तीन खंड के इस अस्पताल में दो खंड में बेड लगे हुए हैं, और तीसरा खंड खाली पड़ा हुआ है. डॉ. अनवर ने कोर्ट के आदेश को अमल में लाए जाने की सूचना बीबीसी को दी है. उन्होंने कहा,"इस दुख की घड़ी में जब सारे दरवाज़े बंद थे, जब कुछ सूझ नहीं रहा था. कोई हमारी आवाज़ नहीं सुन रहा था, तब माननीय न्यायालय ने हमें पनाह दी, हमारी आवाज़ सुनी. और हम मरीज़ों को दूसरे अस्पतालों में पहुंचाने के लिए एंबुलेंस हासिल कर सके. इसके लिए माननीय न्यायालय को बहुत-बहुत धन्यवाद!" इमेज कॉपीरइट Dr. Anwar/AlHind Hospital अल-हिंद अस्पताल से सुबह लगभग चार बजे गंभीर स्थिति वाले मरीजों को बड़े अस्पतालों में पहुंचाया गया है. लेकिन फिलहाल मरीज़ों का अस्पताल में आने का सिलसिला ज़ारी है. ख़बर लिखे जाने तक अल-हिंद अस्पताल में शिव विहार में हिंसा की शिकार हुई सुरैया समेत तमाम दूसरे मरीज़ों का इलाज़ जारी है. डॉ अनवर कहते हैं कि मरीज़ों की संख्या बढ़ने पर उन्हें ज़मीन पर दरी बिछाकर लिटाया गया ताकि उनका इलाज़ किया जा सके. 'बेहद ख़राब हालात' मुस्तफ़ाबाद के विधायक हाज़ी यूनूस ने बीबीसी के साथ बीती रात हुई बातचीत में मरीज़ों की संख्या बढ़ने से जुड़ी जानकारी दी है. बीबीसी संवाददाता दिलनवाज़ पाशा के साथ बातचीत में यूनूस ने बताया कि मुस्तफ़ाबाद के अल-हिंद अस्पताल और मेहर अस्पताल में कई लोग घायल हालत में भर्ती हैं और अस्पताल तक एंबुलेंस और घायलों को पहुंचाने में भी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. इमेज कॉपीरइट Dr. Anwar/AlHind Hospital बीती रात के हालातों को बयां करते हुए डॉ. अनवर कहते हैं,"मरीज़ों की संख्या इस तरह बढ़ी है कि हमें होशो-हवास ही नहीं है. हम हर संभव कोशिश कर रहे हैं कि मरीज़ों को बचाया जा सके. स्टाफ़ कम पड़ने पर हमने सिविल सोसायटी की मदद ली. इसके बाद दूसरे जगहों से डॉक्टरों और नर्सों को बुलाकर मरीज़ों का इलाज़ किया गया." "लेकिन कल रात मरीज़ इतनी गंभीर स्थितियों में आ रहे थे कि उन्हें बचाना हमारे लिए मुमकिन नहीं था. कुछ लोगों को लाठियों से लगी हुई चोटें थीं. मगर देर रात दो मरीज़ मृत अवस्था में हमारे यहां पहुंचे. मरीज़ों को गोलियों और धारदार हथियारों की चोटें थीं." "ये देखते हुए हमने तकरीबन हर किसी को फोन किया. 102 नंबर पर कई बार कॉल की लेकिन कुछ फायदा नहीं हुआ. कुछ निजी अस्पतालों और एनजीओ के तहत चलने वाले अस्पतालों से संपर्क किया. इसके बाद कुछ एंबुलेंस आईं भीं लेकि अस्पताल के बाहर भीड़ जमा होने के कारण वे हमारे अस्पताल तक नहीं पहुंच सकीं." "एंबुलेंस वालों ने बताया कि उन्हें आगे बढ़ने से रोका जा रहा है. इसके बाद न्यायालय के हस्तक्षेप के बाद किसी तरह हम मरीज़ों को बड़े अस्पतालों तक पहुंचा सके." (बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप और पढो: BBC News Hindi

BSNL, MTNL यूजर्स को फायदा, प्रीपेड नंबर की वैलिडिटी 20 अप्रैल तक बढ़ी



कोरोना वायरसः यूपी के बरेली में बसों और दीवारों की तरह इन ग़रीबों को भी सैनिटाइज़ कर दिया

रोज बनता है 10 हजार लोगों का खाना, कैसा है केजरीवाल का कम्यूनिटी किचन?



‘70 की उम्र में 130 करोड़ लोगों की जिम्मेदारी’, कर्नाटक के मंत्री ने मोदी को बताया ‘महात्मा’

Lockdown: दिल्ली में महंगा हो सकता है राशन, दुकानदारों ने बताई ये वजह



फैक्ट चेक: राहुल गांधी ने वायनाड में नहीं की कोरोना वायरस के मरीजों से मुलाकात

कोरोना को हरा घर वापस पहुंची गुजरात की पहली पीड़ित, थाली-शंख बजा लोगों ने किया स्वागत



Kitno ko arrest kiya Dalli Foolish despite video and pic evidence? Delhi High Court ne kaha h ki police ko action karne k liye court k aadesh ki jarurat nhi h Kapil Mishra ko arrest Karne Ka aadesh dusra din nikle tak bhi de dete to aadhi Raat ki yeh aadesh Nahi dena padta Ya Allah madad kar musilmano par 😢😢😢

BBC is pro Zehadeee. Sab pele jaaoge. I repeat sab pele jaaoge. 👨‍❤️‍👨

दिल्ली हिंसा: हाईकोर्ट में आधी रात सुनवाई, घायलों को बड़े अस्पताल में भर्ती कराने का आदेशदिल्ली हिंसा: हाईकोर्ट में आधी रात में सुनवाई, घायलों को बड़े अस्पताल में भर्ती कराने का आदेश DelhiViolence DelhiHighCourt DelhiPolice HMOIndia DelhiPolice HMOIndia In randiyon ko kya kahenge ap DelhiPolice HMOIndia हंसी आती है जिस देश के कोर्ट सड़के जाम होने पर, सड़को पर आतंक फैलने पर वार्ता करवाता हो,आम जनता को कैद करवा दिया, एक शब्द है सैवधानिक अधिकार विरोध करने के लिए, आम जनता के अधिकार गए तेल लेने, आज वो हिंसा फैलने पर कह रहा है घायलों को हॉस्पिटल पहुचाओ, भगवान भला करे, DelhiPolice HMOIndia ये भीड़ आती कहाँ से और जाती कहाँ है ? क्या ये संभव नहीं कि भीड़ में शामिल हर उपद्रवी चेहरे को आइडेंटिफ़ाई करके पर्याप्त दंडित किया जा सके !

दिल्ली हिंसा के विरोध में मुंबई में लोगों ने किया प्रदर्शन, आठ हिरासत मेंनागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ देश की राजधानी दिल्ली में हुई हिंसा के बाद अब आर्थिक राजधानी मुंबई में लोग इस हिंसा विरोध में सड़क पर उतर आए। CPMumbaiPolice MumbaiPolice CAA_NRCProtests CPMumbaiPolice MumbaiPolice R u sure , caa k khilaf hinsa hui ya caa k support me hinsa hui?

CAA Clash: दिल्ली हिंसा को लेकर बोले केजरीवाल- सभी से हिंसा छोड़ने की अपील करता हूंउत्तर पूर्वी दिल्ली में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) को लेकर भड़की हिंसा में एक हेड कांस्टेबल समेत पांच लोगों की मौत हो गई. दिल्ली में जो आज दंगे हुए उसमे आपका अनुमान गलत ही साबित होगा.. यदि आप ऐसा मानते हैं कि दंगाइयों ने पत्थर, पेट्रोल बम बंदूकें ही उठाई हैं, तो आप गलत हैं.. उनके बहुत कुछ समर्थकों ने कलम, कैमरे और माईक भी उठा रखे हैं.. वो इस दंगों को हिंदुओं के माथे मढ़ देंगे जैसे कसाब को हिन्दू ट्विटर पर दिल्ली सब कुछ मुफ्त कर लोगो को काम से मुक्त कर दीया ए.के. ab लोगो का दिमाग सेतान का घर बन चुकi free free delhi ko Landoon bana diya

दिल्ली हिंसा पर बोलीं सोनिया- गांधी के भारत में हिंसा का स्थान नहींकांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अपने बयान में दिल्ली की जनता से सांप्रदायिक सौहार्द बनाए रखने और देश को मजहब के आधार पर बांटने वाली फिरकापरस्त ताकतों को विफल करने की अपील की है. उन्होंने हिंसा में हेड कॉन्स्टेबल की मृत्यु पर दुख व्यक्त करते हुए उनके परिवार के प्रति गहरी संवेदना भी व्यक्त की. Antonia maino is biggest culprit and now doing nautanki Did she cried like she did on BatlaHouseTerrorists encounter चुल्लू भर पानी में डूब कर मर जाना चाहिए तेरे जैसे कांग्रेसियों को। पहले आग लगाते हो फिर आग बुझाने का नाटक करते हो। पूरे देश में मुसलमानों को भड़काने का काम किसने किया तूने और तेरी काग्रेस ने आज किस मुंह से तू एक पुलिसकर्मी के बलिदान पर दुख जता रही है? डूब मरो गद्दारों !

दिल्ली हिंसा: नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में कल नहीं होगी CBSE बोर्ड की परीक्षालोग टूट जाते हैं एक घर बनाने में, तुम तरस नहीं खाते बस्तियाँ जलाने में... बशीर_बद्र दिल्ली🙏🏻 Muslim are cancer for India Abhi tak network off nhi kiye. Danga bhadkane k liye...

दिल्ली हिंसा पर बोले CM केजरीवाल- सेना को बुलाकर प्रभावित इलाकों में लगाया जाए कर्फ्यूदिल्ली हिंसा पर बोले CM केजरीवाल- सेना को बुलाकर प्रभावित इलाकों में लगाया जाए कर्फ्यू DelhiRiots ये देल्ही का फ़र्ज़ी बेटा है ArvindKejriwal ये सो रहे थे जब देल्ही जल रहा था Or jo log ghayal hai unko whe mrne diya jaye apke police unko hospital bhi nahi le jaane de rahe the smjhe AK sir Thanks Chif Justin Sir पहले जो इस दंगों का बेस कैम्प है शाहीन बाग़ उसको हटाओ।



कोरोना के बीच सियासी हमले शुरू, सिसोदिया ने BJP पर टुच्ची राजनीति का आरोप लगाया

प्रियंका गांधी ने टेलीकॉम कंपनियों से की अपील, एक महीने तक Free करें सभी तरह की कॉलिंग

सीएम योगी पर आपत्तिजनक टिप्पणी, AAP विधायक राघव चड्ढा के खिलाफ FIR दर्ज

प्रवासियों के पलायन पर ओवैसी का हमला, बोले- बिना सोचे लॉकडाउन क्रूरता है

कोरोना: भारत में 27 लोगों की मौत, 1,000 से ज़्यादा पॉज़िटिव मामले - BBC Hindi

आनंद विहार पर भयानक मंजर, बदइंतजामी के बीच घर जाने को हजारों लोग उमड़े

केजरीवाल बोले- तीन महीने तक न लें किराया, गरीब दे नहीं पाए तो सरकार देगी

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

26 फरवरी 2020, बुधवार समाचार

पिछली खबर

दिल्ली पुलिस की निगरानी में होती रही हिंसा, सीआरपीएफ के जवान बोले- जब हमें कुछ करने का आदेश ही नहीं तो यहां तैनात क्यों किया?

अगली खबर

LIVE- दिल्ली हिंसा में अब तक 20 लोगों की मौत
BSNL, MTNL यूजर्स को फायदा, प्रीपेड नंबर की वैलिडिटी 20 अप्रैल तक बढ़ी कोरोना वायरसः यूपी के बरेली में बसों और दीवारों की तरह इन ग़रीबों को भी सैनिटाइज़ कर दिया रोज बनता है 10 हजार लोगों का खाना, कैसा है केजरीवाल का कम्यूनिटी किचन? ‘70 की उम्र में 130 करोड़ लोगों की जिम्मेदारी’, कर्नाटक के मंत्री ने मोदी को बताया ‘महात्मा’ Lockdown: दिल्ली में महंगा हो सकता है राशन, दुकानदारों ने बताई ये वजह फैक्ट चेक: राहुल गांधी ने वायनाड में नहीं की कोरोना वायरस के मरीजों से मुलाकात कोरोना को हरा घर वापस पहुंची गुजरात की पहली पीड़ित, थाली-शंख बजा लोगों ने किया स्वागत कोरोना: आजतक के स्टिंग ऑपरेशन में खुलासा- वेंटिलेटर्स से कमाई में जुटे 'मुनाफाखोर गिद्ध'' मध्य प्रदेश: इंदौर में कोरोना वायरस से दूसरी मौत, अब तक 27 पॉजिटिव मरीज कोरोना के बीच पूर्वोत्तर के लोगों के साथ भेदभाव, पीएम मोदी से एक्शन की मांग कोरोना से पूरी तरह ठीक हुए प्रिंस चार्ल्स, एक सप्ताह तक खुद को एकांतवास में रखा था लॉकडाउन: पंजाब में फंसे अपने 180 लोगों को बुलाने के लिए मलेशिया ने भेजा विमान
कोरोना के बीच सियासी हमले शुरू, सिसोदिया ने BJP पर टुच्ची राजनीति का आरोप लगाया प्रियंका गांधी ने टेलीकॉम कंपनियों से की अपील, एक महीने तक Free करें सभी तरह की कॉलिंग सीएम योगी पर आपत्तिजनक टिप्पणी, AAP विधायक राघव चड्ढा के खिलाफ FIR दर्ज प्रवासियों के पलायन पर ओवैसी का हमला, बोले- बिना सोचे लॉकडाउन क्रूरता है कोरोना: भारत में 27 लोगों की मौत, 1,000 से ज़्यादा पॉज़िटिव मामले - BBC Hindi आनंद विहार पर भयानक मंजर, बदइंतजामी के बीच घर जाने को हजारों लोग उमड़े केजरीवाल बोले- तीन महीने तक न लें किराया, गरीब दे नहीं पाए तो सरकार देगी लॉकडाउन में नहीं पहुंचे रिश्तेदार, मुस्लिमों ने अर्थी को कंधा देकर किया अंतिम संस्कार - trending clicks AajTak लॉकडाउन: योगी सरकार ने 27.5 लाख मनरेगा मजदूरों के खाते में डाले 611 करोड़ Akshay Kumar के डोनेशन के बाद अब Deepika Padukone से लोग पूछ रहे सवाल- 'आपको सिर्फ JNU में जाना होता है?' कोरोना वायरस: क्या ग़रीब देशों को मिल पाएगी इसकी वैक्सीन कोरोना इंसान को समाप्त करने की जिद्द पर है, नियम तोड़ने वाले जीवन से खिलवाड़ कर रहे: 'मन की बात' में PM मोदी