Delhi, Pollution, Iıtkanpur, Delhi Government, Environment, Environment Minister, Gopal Rai, Delhi Pollution, İit Kanpur, Survey, Report

Delhi, Pollution

दिल्ली में वायु प्रदूषण के कारणों का अध्ययन करेगा IIT कानपुर

आईआईटी कानपुर 23 महीने में अध्ययन पूरा कर दिल्ली सरकार को अपनी रिपोर्ट सौंपेगी (@PankajJainClick) #Delhi #pollution #IITKanpur

22-10-2021 20:55:00

आईआईटी कानपुर 23 महीने में अध्ययन पूरा कर दिल्ली सरकार को अपनी रिपोर्ट सौंपेगी (PankajJainClick) Delhi pollution IITKanpur

दिल्ली में वायु प्रदूषण के कारणों को वास्तविक समय में जानने और वायु प्रदूषण को कम करने के लिए आईआईटी कानपुर और दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (डीपीसीसी) के बीच आज एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए.

एमओयू पर हस्ताक्षर"दिल्ली में अग्रिम वायु प्रदूषण प्रबंधन के लिए रीयल-टाइम सोर्स एपोर्शनमेंट एंड फोरकास्टिंग" नामक परियोजना के तहत किए गए हैं. वैज्ञानिक अब इस नई परियोजना पर जोर-शोर से काम शुरू करेंगे. यह परियोजना आईआईटी-कानपुर के प्रोफेसर मुकेश शर्मा द्वारा मुख्यमंत्री को प्रस्तुत की गई थी. जिसके बाद दिल्ली कैबिनेट ने इसे मंजूरी दी थी.

उत्तर प्रदेश की 'ग़रीबी' की चर्चा चुनाव में क्यों नहीं हो रही? - BBC News हिंदी 'अयोध्या-काशी जारी है, मथुरा की तैयारी है', UP चुनाव से पहले हिन्दुत्व एजेंडे पर लौटी BJP केशव प्रसाद मौर्य के 'मथुरा की तैयारी है' बयान पर बोलीं मायावती - BBC Hindi

कानपुर आईआईटी क्या काम करेगा?वास्तविक समय में प्रदूषण के कारणों का पता करने और प्रदूषण के विभिन्न कारणों का विभाजन करने की तकनीक देश के किसी अन्य शहर में लागू नहीं की गई है. इसके जरिए हवा की गुणवत्ता की साप्ताहिक, मासिक और मौसम के हिसाब से विस्तृत रिपोर्ट तैयार की जाएगी. इसके अलावा एनओएक्स, एसओटू, ओजोन, बीटीएक्स, मौलिक कार्बन, कार्बनिक कार्बन और अन्य कार्बनिक यौगिकों का पता करने के लिए अत्याधुनिक सुपरसाइट्स तैयार की जाएंगी. दिल्ली के विभिन्न इलाकों में प्रदूषण के विभिन्न स्रोतों की पहचान करने के लिए जगह-जगह मोबाइल वैन भी तैनात की जाएगी.

वहीं दिल्ली में रीयल-टाइम सोर्स अपॉइंटमेंट परियोजना किसी भी स्थान पर वायु प्रदूषण में वृद्धि के कारणों की पहचान करने में मदद करेगी. वाहन, धूल, बायोमास जलने, पराली जलाने और उद्योगों से निकलने वाले प्रदूषण के वास्तविक समय के प्रभाव को समझने में मदद करेगी. इसके बाद परिणामों के आधार पर दिल्ली सरकार प्रदूषण के स्रोतों पर अंकुश लगाने के लिए आवश्यक कदम उठाएगी. headtopics.com

पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने क्या कहा?पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा कि आज डीपीसीसी और आईआईटी कानपुर के बीच में रीयल टाइम सोर्स अपोर्शनमेंट स्टडी के लिए एमओयू पर हस्ताक्षर हुआ है. हमें इस समझौते पर बहुत खुशी है. इससे पहले, हमने अमेरिका के यूनिवर्सिटी के साथ एक समझौता किया था. इस तरह के अध्ययन के लिए कि प्रदूषण का वास्तविक कारण क्या है, यह पता चले. क्योंकि दिल्ली के अंदर कई अध्ययन हैं, लेकिन आज अगर प्रदूषण है, तो उसका वास्तविक कारण क्या है, जिससे कि उसके निदान पर फोकस किया जा सके. जैसा कि 10 दिन पहले तक दिल्ली का एक्यूआई समान्य था. अचानक पराली जलनी शुरू हुई और तेजी के साथ प्रदूषण का स्तर बढ़ गया.

उन्होंने आगे कहा कि समान्य तौर पर यह लगता है कि पराली जलने की वजह से प्रदूषण का स्तर बढ़ रहा है, क्योंकि जब हम नासा के चित्र में देखते हैं तो जितनी तेजी के साथ पराली जलने की घटनाएं उसमें दिखती है, उतना ही दिल्ली का एक्यूआई भी बढ़ता है. लेकिन दिल्ली के अंदर जो प्रदूषण होता है, उसका एक ही कारण नहीं है. वह कौन-कौन से कारण (फैक्टर) किस समय कहां-कहां काम कर रहे हैं, इसका रीयल टाइम सोर्स अपोर्शनमेंट स्टडी के लिए आईआईटी कानपुर के साथ यह एमओयू पर हस्ताक्षर हुआ है.

कब तक आएगी ये रिपोर्ट?पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने बताया कि आईआईटी कानपुर ने इसके अध्ययन के लिए 23 महीने का समय लिया है. 23 महीने तक स्टडी करने के बाद वे अंतिम सिफारिश सरकार को सौंपेंगे. इसकी जो प्रक्रिया होगी, उसमें दिल्ली के अंदर एक सुपर साइट स्थापित करने का प्रस्ताव है. इसके साथ-साथ मोबाइल वैन के माध्यम से उस सुपर साइट से जुड़े दिल्ली के अलग-अलग हिस्सों में वहां के एक्यूआई के अध्ययन का काम किया जाएगा. जिससे कि इस पूरी प्रक्रिया को पूरा किया जा सके.

आईआईटी कानुपर के वैज्ञानिकों ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के समक्ष बीते फरवरी में प्रजेंटेशन दिया था. भारत में पहली बार दिल्ली के अंदर इस तकनीक तरीके के आधार पर अध्ययन होने जा रहा है. प्रजेंटेशन के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इसे दिल्ली के अंदर लागू करने का निर्देश दिए थे. इसके बाद पर्यावरण विभाग ने सारी कागजी कार्रवाई पूरी कर आज एमओयू पर हस्ताक्षर किया है. headtopics.com

हरियाणा: विदाई के बाद ससुराल जा रही थी दुल्हन, पूर्व प्रेमी ने रास्ते में मारी गोली गाजियाबाद : इंदिरापुरम की सोसायटी की एक बिल्डिंग में 5वें माले पर आग, दिखा भयानक मंजर अखिलेश बताएं कृष्ण जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण चाहते हैं या नहीं- केशव प्रसाद मौर्य का सपा प्रमुख से सवाल

Live TV और पढो: आज तक »

शंखनाद: Samajwadi Party की साइकिल पर बैठेंगी कितनी सवारी?

जैसे जैसे दिन बीत रहे हैं, उत्तर प्रदेश का रण धारदार होता जा रहा है, सत्ता पक्ष और विपक्ष अपने-अपने दल को बढ़ाने में लगे हुए हैं, गठबंधनों का दौर चल रहा है. इसी कड़ी में आज कांग्रेस की बागी नेता अदिति सिंह आज बीजेपी में शामिल हुईं तो दूसरी ओर आम आदमी पार्टी के संजय सिंह ने अखिलेश यादव से मुलाकात की. साथ ही कृष्णा पटेल वाली अपना दल पार्टी ने भी समाजवादी का दामन थाम लिया. यूं समझिए कि गठबंधन वाली राजनीति बहुत तेजी से विस्तारित हो गई है, ताकि पार्टियां अपने विरोधियों को मात दे सकें. देखिए शंखनाद का ये एपिसोड.

दिल्‍ली में 24 घंटों में कोरोना के 38 नए केस, एक व्‍यक्ति की हुई मौतदेश की राजधानी दिल्‍ली में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 38 केस दर्ज किए गए हैं. इस दौरान एक व्‍यक्ति की मौत यहां कोरोना संक्रमण के कारण हुई है. अच्छा आ गया कोरोना?

गुलाम कश्मीर में पाकिस्तान के 1947 हमले के विरोध में व्यापक प्रदर्शन, आजादी समर्थक लगे नारेप्रदर्शनकारियों ने पाकिस्तानी सेना और अन्य प्रशासकों से कब्जा किए गए क्षेत्र को छोड़ने की मांग की। पार्टी के चेयरमैन सरदार शौकत अली कश्मीरी ने कहा पाकिस्तान क्षेत्र पर कब्जा और जम्मू एवं कश्मीर में हजारों निर्दोष लोगों की हत्या करने का अपराधी है। To retweet this, there is no RanaAyyub ReallySwara 🐷 ndtv sagarikaghose And the list goes on........

IPL 2022 के ऑक्शन में शामिल होने के लिए मैनचेस्टर यूनाइटेड के मालिक ने जताई दिलचस्पीबीसीसीआई को आईपीएल के अगले पांच साल के टेंडर में तकरीबन पांच अरब डॉलर की कमाई हो सकती है। वहीं आईपीएल 2022 के ऑक्शन में शामिल होने के लिए फुटबॉल क्लब मैनचेस्टर यूनाइटेड के मालिक ने भी दिलचस्पी जताई है।

दिल्ली में लोकायुक्त पद पिछले एक साल से खाली, विधायकों के खिलाफ 87 मामले हैं लंबितभाजपा नेता पी एस कूपर ने कहा कि, जो पार्टी पारदर्शिता की बात कर सत्ता में आई उसने सत्ता हासिल करने के बाद पार्टी के अंदर आंतरिक लोकपाल को खत्म कर दिया।

दिल्ली के हजारों कर्मचारियों को तोहफा, सैलरी के साथ मिलेगा दीवाली बोनसकहा गया है ‘बोनस का भुगतान न करना एक गंभीर मुद्दा है और सभी प्रमुख नियोक्ताओं से आग्रह किया जाता है कि वे आगामी त्योहारों के सीजन में अपने ठेकेदारों द्वारा आउटसोर्स किए गए श्रमिकों / कर्मचारियों को बोनस का वितरण सुनिश्चित करें।’

दिवाली सेल: 999 रुपये में खरीदें Noise के ईयरबड्स और 2499 रुपये में स्मार्टवॉचNoise की दिवाली सेल 20 अक्टूबर से शुरू हो गई है. वियरेबल कंपनी की ये सेल 25 अक्टूबर 2021 को खत्म होगी. इस दौरान कंपनी अपने कुछ प्रोडक्ट्स पर 70 प्रतिशत तक छूट दे रही है.