Article 370, लक्ष्मणसिंह की पत्नी बोलीं- 370 का दर्द मैंने भोगा है, दिल्ली में घर नहीं होता तो कहां जाती, जिनका नहीं था, उनका क्या हुआ होगा

Article 370, लक्ष्मणसिंह की पत्नी बोलीं- 370 का दर्द मैंने भोगा है

दिग्विजय के बयान पर उनकी बहू का दर्द: छोटे भाई लक्ष्मणसिंह की पत्नी बोलीं- सबको पता है कश्मीरी पंडितों के साथ क्या हुआ; कांग्रेस बताए कि क्या 370 वापस लाने का विचार है?

दिग्विजयी बयान पर उनकी कश्मीरी बहू का दर्द: लक्ष्मणसिंह की पत्नी बोलीं- सबको पता है कश्मीरी पंडितों के साथ क्या हुआ; कांग्रेस बताए कि 370 वापस लाने का विचार है? @digvijaya_28 @chiragdwivedi #Article370

14-06-2021 07:58:00

दिग्विजयी बयान पर उनकी कश्मीरी बहू का दर्द: लक्ष्मणसिंह की पत्नी बोलीं- सबको पता है कश्मीरी पंडितों के साथ क्या हुआ; कांग्रेस बताए कि 370 वापस लाने का विचार है? digvijaya_28 chiragdwivedi Article370

कश्मीर में आर्टिकल 370 पर फिर से विचार करने को लेकर मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के बयान पर उनके छोटे भाई लक्ष्मण सिंह की पत्नी रूबीना सिंह का दर्द छलका है। रूबीना का कहना है कि आर्टिकल 370 का दर्द मैंने भोगा है। दिल्ली में घर नहीं होता तो कहां जाती , जिनका नहीं था , उनका क्या हुआ होगा ? कांग्रेस को साफ करना चाहिए कि क्या वाकई 370 को लेकर उसकी फिर से विचार करने की योजना है जैसा कि ब... | लक्ष्मण सिंह की पत्नी बोलीं- 370 का दर्द मैंने भोगा है, दिल्ली में घर नहीं होता तो कहां जाती , जिनका नहीं था , उनका क्या हुआ होगा

दिग्विजय के बयान पर उनकी बहू का दर्द:छोटे भाई लक्ष्मणसिंह की पत्नी बोलीं- सबको पता है कश्मीरी पंडितों के साथ क्या हुआ; कांग्रेस बताए कि क्या 370 वापस लाने का विचार है?गुनालेखक: आशीष रघुवंशीकॉपी लिंककश्मीर में आर्टिकल 370 पर फिर से विचार करने को लेकर मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के बयान पर उनके छोटे भाई लक्ष्मण सिंह की पत्नी रूबीना सिंह का दर्द छलका है। रूबीना का कहना है कि आर्टिकल 370 का दर्द मैंने भोगा है। दिल्ली में घर नहीं होता तो कहां जाती, जिनका नहीं था, उनका क्या हुआ होगा? कांग्रेस को साफ करना चाहिए कि क्या वाकई 370 को लेकर उसकी फिर से विचार करने की योजना है जैसा कि बयान दिया जा रहा है।

अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडन ने अफ़ग़ानिस्तान को दिलाया भरोसा - BBC Hindi Tokyo Olympics LIVE Updates: पीएम मोदी ने मीराबाई चानू को दी बधाई, कहा- शानदार प्रदर्शन से देश उत्साहित मनमोहन सिंह ने उठाए थे 'भारतीय बाजार' के शटर, तीन दशक में देश की बदलती तस्वीर!

दैनिक भास्कर संवाददाता ने इस मुद्दे पर रुबीना सिंह से चर्चा की, पढ़िए क्या कहा उन्होंने-इस पूरे मुद्दे पर आपका क्या कहना है?जवाब-मुझे जो कहना था, वह मैं ट्वीट के जरिए कह चुकी हूं। यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। कश्मीरी पंडितों को लेकर इस तरह की गैरजरूरी बात की जा रही हैं। यह बहुत पीड़ादायक है। मैं इसे मुद्दा नहीं बनाना चाहती हूं। कांग्रेस को सोचना चाहिए कि ये क्या हो रहा है।

कश्मीरी पंडितों और उनके आरक्षण को लेकर आपकी क्या राय है?जवाब-कश्मीरी पंडितों के आरक्षण को लेकर जो बात कही जा रही है, वह तार्किक रूप से ही गलत है। उनके लिए कोई आरक्षण कभी था ही नहीं। मुझे यह समझ में नहीं आ रहा कि इस विषय को क्यों लाया जा रहा है।आर्टिकल 370 पर आपके क्या विचार हैं? headtopics.com

जवाब-मैं यह कह सकती हूं कि ज्यादातर कश्मीरी आर्टिकल 370 हटाने के फैसले से खुश हैं। इसके लागू रहने के दौरान कश्मीरी पंडितों के साथ कैसा बर्ताव किया जाता था यह किसी से छिपा नहीं है। वे उस समय खुश नहीं थे। सरकारों ने उनके लिए कोई खास कोशिश नहीं की। न ही कांग्रेस और न ही बीजेपी ने कुछ किया। जैसा उनके (दिग्विजय सिंह) मामले में आया है कि कांग्रेस सत्ता में आने पर 370 पर पुनर्विचार करेगी तो कांग्रेस को यह साफ करना चाहिए कि क्या वाकई कोई ऐसी योजना है?

दिग्विजय सिंह के इस मामले को कैसे देखती हैं?जवाब-वे मेरे जेठ हैं। हम इसे पारिवारिक मामला नहीं बनाना चाहते। ये मेरी समझ से परे है कि वे इस मसले को क्यों उठा रहे हैं। वह भी एक पाकिस्तानी पत्रकार से...यह कतई सही नहीं है। कश्मीर पर ऐसा बयान जनता की भावनाओं को ठेस पहुंचा सकता है। मैं उनसे इस मामले पर झगड़ा नहीं कर रही हूं। सिर्फ यह बताना चाह रही हूं कि यह गलत है। यह जो हुआ है वह ज्यादातर कश्मीरी पंडितों को ठेस पहुंचा रहा है। लोकतंत्र में उन्हें अपनी बात रखने की पूरी आजादी है, पर हमें बहुत दुख हुआ है।

आप कश्मीर से ताल्लुक रखती हैं?जवाब-मैं मूल रूप से कश्मीरी हूं। मेरी मां कश्मीरी हैं। हमारे वहां दो घर थे। एक श्रीनगर में और एक गुलमर्ग में। जब यह समस्या (कश्मीरी पंडितों वाली) शुरू हुई, उस दौरान हमने अपने दोनों घर खो दिए। हमें घर छोड़कर दिल्ली आना पड़ा। किसी भी सरकार ने हमारी न ही चिंता की और न ही मदद की। न ही इन सब नुकसानों की भरपाई की।

बीजेपी ने भी कोई मदद नहीं की। ये एकदम साफ है कि कश्मीरी पंडितों की किसी ने भी सहायता नहीं की। यह बहुत पीड़ादायक था। जब हमने उस भयानक दौर के बाद जीवन फिर से शुरू करना चाहा तब भी कहीं से कोई मदद नहीं मिली। अगर हमारे पास दिल्ली में घर नहीं होता तो हम लोगों का क्या होता। हमारे पास तो व्यवस्था थी तो हम दिल्ली चले आए उनका क्या हाल हुआ होगा जिनके पास कुछ था ही नहीं। headtopics.com

बचपन में लकड़ियां बीना करती थीं मीराबाई चानू, एक किताब ने बदल दी जिंदगी बीएसपी का ब्राह्मण सम्मेलन: शंखनाद के साथ लगे 'जय श्रीराम' के नारे - BBC News हिंदी Olympic 2020: मीराबाई चानू ने वेटलिफ्टिंग में दिलाया रजत पदक, सौरभ चौधरी फाइनल में चूके

फिर से यह मुद्दा सामने आया है, इसे किस प्रकार देखा जाना चाहिए?जवाब-मैंने वो ट्वीट गुस्से में नहीं किया है, वो मेरी पीड़ा है। जिस देश से हम लड़ रहे हैं, उसी देश के पत्रकार के सामने हमें जलील किया जा रहा है। यह गलत है। कई कांग्रेस के नेता भी आर्टिकल 370 को लेकर इसी तरह की बात कहते आए हैं।

समस्या यह है कि ज्यादातर भारतीयों ने कश्मीरियों को भारतीय माना ही नहीं। सरकार को कश्मीर को जरूरी मुद्दा बनाना चाहिए, क्योंकि अभी कश्मीर की बात है। अगर कश्मीर के लोग उधर चले गए तो वे फिर पंजाब के लिए आएंगे। इसलिए यह बेहद जरूरी है कि हम अपनी जमीन पर पकड़ बनाये रखें। यह हमारी जमीन है।

सरकारों का क्या रवैया रहा है?जवाब-ज्यादातर सरकारों ने वहां की जनता के साथ छल किया है। अब्दुल्ला परिवार ने कश्मीर के लिए कुछ नहीं किया। उन्होंने सीमा पार के लोगों तक को भारत अधिकृत कश्मीर में बसाया ताकि उन्हें चुनाव में फायदा मिल सके। इसी वजह से वहां हिन्दुओं को बुरी तरह प्रताड़ित किया गया है। उसके बाद सभी सरकारों ने भी अपने चुनावी फायदे के लिए ही कश्मीरियों का इस्तेमाल किया है। आरक्षण की बात कही जा रही है, यहां गलत है। हमें कुछ नहीं दिया गया। हमने अपनी जंग खुद लड़ी है।

और पढो: Dainik Bhaskar »

80 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित, हजारों हुए बेघर, देखें Maharashtra की बारिश पर स्पेशल रिपोर्ट

मॉनसून की बारिश महाराष्ट्र में लोगों के लिए बड़ी मुसीबत बन गई. 80 लाख लोग बारिश से आई बाढ़ से प्रभावित हैं. हजारों लोगों को बारिश ने बेघर कर दिया. लेकिन खतरा अभी टला नहीं हैं. मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि अगले 48 घंटे महाराष्ट्र के कई जिलों में रिकॉर्डतोड़ बारिश की संभावना है. आखिर महाराष्ट्र में बारिश के ब्रेक फेल के पीछे क्या कोई बड़ा खतरा है? क्या बड़ी तबाही का ट्रेलर है जो बाढ़ और भूस्खलन की शक्ल में महाराष्ट्र में दिखा? देखें स्पेशल रिपोर्ट.

digvijaya_28 chiragdwivedi दिग्गी पागल हो गया है। digvijaya_28 chiragdwivedi Ab varun kuch bol de Congress k bare me use mana jayega kya? Faltu k bakaitgiri chal rhi h, Digvijay ji kaafi suljhe insan h, maine kaafi unhe suna h,kayi baar unke baton ko tora marora jata h,puchne wale ye bataye, Ye kashmiri pandit ka mamla kabka h aur puri atalji k sarkar me

digvijaya_28 chiragdwivedi दिग्विजय सिंह के मुंह पर तगड़ा तमाचा उनके परिवार के सदस्य ने ही सही बात कहकर लगाये। digvijaya_28 chiragdwivedi भई, गजब की बेज्जती...

क्या है Uttar Pradesh का जाति समीकरण, ज‍िसपर ट‍िकी है BJP की सियासी बिसातउत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की पार्टी के शीर्ष नेताओं से हुई मुलाकातों के मायने बहुत बड़े है क्योंकि एक साथ कई घटनाक्रम बीजेपी के अंदर चल रहे हैं. अगले साल उत्तर प्रदेश में चुनाव है. योगी दिल्ली में हैं और बीजेपी उत्तर प्रदेश के जाति समीकरण को चुनावी मिशन के हिसाब से साधने में जुट गई है. देखिए क्या है बीजेपी की तैयारी.

खबरदार: Article 370 पर क्या है कांग्रेस की 'फ्यूचर प्लानिंग'?कश्मीर में धारा-370 अब गुजरे जमाने की बात हो चुकी है, लेकिन कांग्रेस नेता अक्सर इसका जिक्र करते दिखते हैं. अब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने धारा-370 पर अपने दिल की बात कही है. वो भी एक पाकिस्तानी पत्रकार से, जिसका ऑडियो सबूत बीजेपी ने आज रिलीज किया है. इस वीडियो में दिग्विजय सिंह पाकिस्तान को कश्मीर में दोबारा से धारा-370 लागू करने का आश्वासन दे रहे हैं, देखें खबरदार का ये एपिसोड. यह frustrated बूढ़ा सोच रहा है कि इस बात से सारे अल्प सन्ख्यक कांग्रेस के समर्थन में आ जाएंगे। एक He has no moral right to speak on article 370 which has been abrogated long back and it has become a history. Who the hell is this figgy to comment on 370.

पुण्यतिथि: सुशांत सिंह राजपूत केस में कब क्या-क्या हुआ, कहां रुकी है सीबीआई की जांच?पुण्यतिथि: सुशांत सिंह राजपूत केस में कब क्या-क्या हुआ, कहां रुकी है सीबीआई की जांच? SushantSinghRajput CBI SushantSinghRajputDeathAnniversary ⚜️I really like ur tweet 😌... and Plz engage✅ and See 👀my tweets .....🙏 U impress my promise 😇✨ अश्रुपूरित श्रद्धांजलि एवम् कोटि कोटि नमन 😩😩🙏

भाजपा का दावा- क्लब हाउस चैट में दिग्विजय सिंह बोले, आर्टिकल 370 करेंगे बहालजम्‍मू-कश्‍मीर से आर्टिकल 370 हटाने का मुद्दा काफी संवेदनशील है। इसलिए विपक्षी दल के नेता भी इस पर बयान देने से बचते रहे हैं। बताया जा रहा है कि दिग्विजय सिंह की क्‍लब हाउस पर चैट में एक पाकिस्‍तानी पत्रकार भी शामिल था। digvijaya_28 BJP4India digvijaya_28 BJP4India Are your reporters and editors stupid. This is not BJP's 'claim', there is a video confirming that Dogvijay did it. digvijaya_28 BJP4India Dash virodhi digvijaya singh

दंगल: Article 370 का जिन्न आया फिर बाहर, Digvijaya Singh के बयान पर क्यों मची रार?कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने का जिन्न एक बार फिर निकल आया है. इस बार बयान ना तो पाकिस्तान से आया और न ही वादी-ए-कश्मीर से बल्कि ये बयान दिग्विजय सिंह ने दिया है. बयान भी ऐसा कि दिल्ली की सियासत में बवंडर पैदा हो गया है. बीजेपी ने दिग्विजय का ऑडियो जारी करके चुभते हुए सवाल पूछे मोदी सरकार के मंत्री ने तो दिग्विजय के बयान को पाकिस्तान का प्रेम तक बता दिया. देखें दंगल का ये एपिसोड. chitraaum आज भी देश में जयचंदों कोई कमी नहीं वह लोग भारत को गुलाम ही देखना चाहते हैं ऐसे देश द्रोहियों से देश को बहुत बड़ा खतरा chitraaum There is no agenda this time? chitraaum इस बयान के बाद भी जो हिंदू कांग्रेस के साथ अभी भी है उनको समझ लेना चाहिए की आप देश के साथ गद्दारी कर रहे है या आपके अंदर हिंदू का खून नही मिलावट है l

यूपी के शामली में प्रधान के उत्पीड़न से पलायन का क्या है मामला - BBC News हिंदीस्थानीय लोगों का आरोप है कि पुलिस और प्रशासन उनकी शिकायतों पर ध्यान नहीं दे रहा है, पुलिस ने इन आरोपों से किया इनकार. BBC मुसलमानों और तथाकथित सेकुलर वामपंथियों के साथ मिलकर यूपी में ब्राम्हण राजपूतों के बीच वैमनस्य फैलाने का एजेंडा चला रहा है, ताकि यूपी चुनाव में भाजपा को कमजोर किया जा सके.. कहां गये भाजपाई जो सपा सरकार में हल्ला कर रहे थे,अब ये सब क्या..