तोते भी इस्तेमाल करते हैं आंकड़े और सांख्यिकी | DW | 04.03.2020

तोता, केया, न्यूजीलैंड, सांख्यिकी

आंकड़ों और सांख्यिकी का इस्तेमाल तोते भी करते हैं. इंसानों और कपि के परिवार के अलावा वो पहले ऐसे जीव हैं जो अपने निर्णय की प्रक्रिया में सांख्यिकी के प्रारूपों का उपयोग करते हैं.

तोता, केया

3/4/2020

आंकड़ों और सांख्यिकी का इस्तेमाल तोते भी करते हैं. इंसानों और कपि के परिवार के अलावा वो पहले ऐसे जीव हैं जो अपने निर्णय की प्रक्रिया में सांख्यिकी के प्रारूपों का उपयोग करते हैं.

आंकड़ों और सांख्यिकी का इस्तेमाल तोते भी करते हैं. इंसानों और कपि के परिवार के अलावा वो पहले ऐसे जीव हैं जो अपने निर्णय की प्रक्रिया में सांख्यिकी के प्रारूपों का उपयोग करते हैं.

न्यूजीलैंड के रिसर्चरों ने इसका पता लगाने में कामयाबी पाई है. जंगली जीवों के विशेषज्ञों ने छह केया प्रजाति के तोते को इसके लिए प्रशिक्षित किया. न्यूजीलैंड के वासी इस बड़े आकार वाले तोते की प्रजाति अपनी बुद्धिमता से रिसर्चर का दिल पहले ही जीत चुके हैं. उनकी सांख्यिकी की समझ को समझने के लिए खासतौर से तैयार गेम की मदद से परखी गई. ब्लोफेल्ड, ब्रुस, लोकी, नियो, प्लैंकटन और ताज नाम के छह परिंदों के सामने दो तरह के टोकन रखे गए. काले टोकन उठाने पर उन्हें इनाम में खाना मिलता था जबकि नारंगी रंग वाले टोकन उठाने पर उन्हें कुछ नहीं मिलता था. शुरुआती परीक्षणों में तोते जब भी अपनी चोंच में काले टोकन उठा कर लाते तो उन्हें उनकी पसंदीदा खाने की चीज मिलती. उसके बाद रिसर्चरों ने इन टोकनों को अलग अलग जारों में रख दिया. हर जार में काले और नारंगी रंग के टोकन अलग अनुपात में रखे गए. रिसर्चर हर जार में से एक टोकन उठाते और फिर उसे अपनी मुट्ठी बंद कर छिपा लेते. इसके बाद उन्हें चिड़ियों के सामने रखा जाता. रिसर्चरों ने देखा कि परिंदो ने उन जारों से टोकन लेना ज्यादा पसंद किया जिनमें नारंगी की बजाय काले टोकन ज्यादा थे. इससे साफ हो गया कि वो प्रतिशत के खेल को समझ रहे थे. इसके अलावा एक और बात नजर आई कि जिन रिसर्चरों ने ज्यादा काले टोकन उठा कर अपना झुकाव किसी खास रंग के प्रति दिखाया था वो चिड़ियों को भी पसंद आए और उन्होंने बाकियों की अनदेखी की. यूनिवर्सिटी ऑफ ऑकलैंड के स्कूल ऑफ साइकोलॉजी में रिसर्च असिस्टेंट अमालिया बास्तोस का कहना है,"हम हमेशा से जानते थे कि वो काफी समझदार हैं, तो हमें कोई हैरानी नहीं हुई जब हमने देखा कि वो संभाव्यता को समझ सकते हैं. हैरानी तो इस बात की है कि वो सामाजिक या भौतिक जानकारियों को अपनी संभाव्यता के निर्णयों के साथ जोड़ सकते हैं." बास्तोस और उनकी रिसर्च टीम को अभी पक्के तौर पर यह नहीं पता कि संभाव्यता को पहचानने की क्षमता से इन परिंदों की उत्पत्ति में क्या फायदा मिला. हालांकि लंबे समये से यह माना जाता रहा है कि इस तरह की क्षमता केवल इंसानों और बुद्धिमान प्राइमेट के पास ही रही है और उनके रिश्तेदारों के पास चिड़ियों जैसा दिमाग तो नहीं ही था. बास्तोस का कहना है,"मैं जितने परिंदों से मिली हूं उनमें केया का व्यक्तित्व सबसे मजबूत है. इनके साथ काम करने के दौरान हमने देखा कि इनमें से हरेक के पास अपनी अलग पसंद और अनोखा स्वभाव है. एक से ज्यादा मौकों पर इन्होंने खुद को मुझसे ज्यादा होशियार साबित किया है." एनआर/ओएसजे(एएफपी) चतुर जानवर पंखों वाला गुणी अफ्रीका के भूरे तोते में अद्भुत ज्ञान होता है. एलेक्स नाम का तोता रंगों, 50 आकारों और छह तक की गिनती को समझ लेता है. मरने से एक रात पहले तोते से उसके मालिक ने कहा,"मैं तुम्हें प्यार करता हूं". जवाब मिला,"मैं भी." चतुर जानवर चतुर जीव डॉल्फिन को सबसे चतुर समुद्री जीव माना जाता है. वे सामाजिक भी होती हैं और आपस में क्लिक और सीटियों वाली भाषा में संवाद करती हैं. मां सालों तक अपने बच्चों के साथ रहती हैं और उन्हें जरूरी बातें सिखाती हैं. चतुर जानवर सीखा बर्ताव इंसान का सबसे अच्छा दोस्त धरती का सबसे चतुर जानवर भी है. बैठो और घूम जाओ जैसे आदेश सीखने वाला कुत्ता इशारों को समझकर खाना खोज सकता है. इंसानों में भी दूसरों को समझने का ऐसा ही गुण होता है. चतुर जानवर धीमी चाल गालापागोस कछुए बहुत धीमा चलते हैं, लेकिन होते बड़े चालाक हैं. वे इंसान की आवाज पहचान सकते हैं और समय याद रख सकते हैं. लेकिन कड़ी पीठ वाले ये जानवर लुप्त हो रहे हैं. उब उन्हें बचाने की कोशिश हो रही है. चतुर जानवर रचनात्मक दिमाग कई तरह के करतब सीखने के अलावा वे सोच भी सकते हैं. अमेरिका का एक घोड़ा चोला मुंह में ब्रश लेकर अपने मन से पेंटिंग करता है. उसकी पेंटिग वेनिस की आर्ट गैलरी और रोम के पलात्सो डी कांग्रेसी में दिखाई जा चुकी है. चतुर जानवर तर्क से काम समुद्री सील संगत तरीके से सोच सकती हैं. कैलिफोर्निया में रहने वाले सील रियो को विज्ञानियों ने पहले केंकड़े और ट्युलिप की और फिर एक ट्युलिप और रेडियो की तस्वीर दिखाई. वह केंकड़े और रेडियो को ट्युलिप से अलग कर पाई. चतुर जानवर अच्छी याददाश्त कुत्तों की तरह बिल्लियों को भी बैठना, कूदना या चक्कर खाना सिखाया जा सकता है. वे देखकर या नकल कर सीखती हैं. बिल्लियां कुत्तों की तुलना में ज्यादा अकेली होती हैं लेकिन उनकी याददाश्त बहुत ही तेज होती है. चतुर जानवर तेज सीख सुअर बहुत ही जल्दी सीखते हैं. 1990 के दशक में हुए परीक्षणों में सुअरों को जाने पहचाने और अनजाने अक्षर को पहचानने के लिए वीडियो स्क्रीन पर कर्सर घुमाना सिखाया गया. उन्होंने चिंपाजी जितनी तेजी से इसे सीख लिया. चतुर जानवर करीबी रिश्तेदार चिंपाजियों की अकलमंदी पता है. वे इंसानों के सबसे करीबी रूप से जुड़े जानवर हैं. दोनों के जीनों में 98 फीसदी समानता है. वे हथियार बना सकते हैं, चेहरों को पहचान सकते हैं, मुश्किल समस्याओं का हल कर सकते हैं. चतुर जानवर बाबा पॉल ऑक्टोपस की कई प्रजातियां हैं, लेकिन उनमें एक समानता है. वे शिशुओं जैसे बुद्धिमान होते हैं. 2010 में विश्वकप मैचों की भविष्यवाणी करने वाले पॉल बाबा किसे याद नहीं. चतुर जानवर बड़े सपने उन्हें भले ही नुकसानदेह समझा जाता हो, होते बड़े चतुर हैं. चूहों का इस्तेमाल बारूदी सुरंगों का पता करने और मुश्किलों को सुलझाने के लिए किया जाता है. रिपोर्ट: महेश झा __________________________ और पढो: DW Hindi

मोदी के दीया जलाने की अपील पर तेज प्रताप का ट्वीट- लालटेन भी जला सकते हैं!



COVID 19: IIT जोधपुर ने 3-D टेक्नॉलजी यूज़ करके बनाया फेस मास्क

लॉकडाउन के दौरान हुआ जुड़वा बच्चों का जन्म, माता-पिता ने रख दिया कोविड और कोरोना नाम



कोरोना से बचने के लिए दो मीटर की दूरी काफी नहीं, MIT शोधकर्ता की चेतावनी

VIDEO: जमातियों की बदसलूकी, सुनिए क्या बोल रहे मुस्लिम धर्मगुरु



Coronavirus: गाजियाबाद में अश्लील हरकतें करने वाले जमातियों का इलाज नहीं करेगा महिला स्टाफ

Coronavirus Lockdown : घर से करें काम, एक माह तक मुफ्त नेट देगा BSNL



दिल्ली हिंसा: यहां हिंदू मस्जिद तो मुस्लिम करते हैं मंदिर की रखवाली, देखें तस्वीरेंहिंसा से सबसे अधिक प्रभावित शिव विहार स्थित महालक्ष्मी एन्क्लेव ऐसा इलाका है जहां दोनों समुदाय के लोगों ने सांप्रदायिक Stop this nonsense! Hindus are considered 'Kafeer' by muslims. Sanatan accepts everyone not Islam. Stop fooling Hindus by your fraud 'Ganga Jamuni tehzeeb '

बेरोजगारी का दंश: इंजीनियरिंग ग्रेजुएट और MBA डिग्री धारक कर रहे हैं पार्किंग अटेंडेंट का कामबेरोजगारी की समस्या से जूझ रहे 1500 से ज्यादा उच्च शिक्षा प्राप्त उम्मीदवारों ने इसके लिए आवेदन किया था. कंपनी ने केवल 50 लोगों को यह नौकरी दी है. Acche din aye नाम के हैं सिर्फ।पैसा तो दिमाग से कमाया जाता है। Kabhi miyan court bhi jaya karo. Ips bhi vaha parking me khade milenge.

पुतिन-जिनपिंग और सऊदी प्रिंस, सोशल मीडिया पर नहीं हैं दुनिया के ये ताकतवर नेतादुनिया के कई ऐसे ताकतवर नेता हैं जो सोशल मीडिया की दुनिया से दूर हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को अपने एक ट्वीट में संकेत दिया है कि वो सोशल मीडिया को छोड़ सकते हैं. ताकतवर कैसे बने सरकार कुछ अच्छा करें तो विपक्ष् और मुसलमान आंदोलन करते हैं करें भी तो क्या इस देश में Then only fool ones are on social media... लेकिन प्रेस कांफेरेंस करते है और हर सवाल का उचित जवाब देते है लेकिन मोदी जी केवल एक बार प्रेस कॉन्फ्रेंस किआ वो भी उसमे मात्र एक वाक्य बोला : बहुत बहुत धन्यवाद। क्योंकि उसकी औकात नहीं सच का सामना करने की।

10,000 के अंदर ये हैं बेस्ट स्मार्टफोन्स, 5000mAh बैटरी और चार कैमरे - Tech AajTakRedmi Note 8 Xiaomi के इस स्मार्टफोन को आप लगभग 10,000 रुपये की कीमत पर ई-कॉमर्स वेबसाइट से खरीद सकते हैं. इस कीमत पर आपको 6GB रैम

पद संभालते ही सुनील जोशी बदल सकते हैं कप्तान, जानिए कौन हैं विराट का दावेदारIND vs SA ODI SERIES: सुनील जोशी और उनकी टीम का पहला काम दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ घरेलू सीरीज के लिए टीम इंडिया का चुनाव करना है। विराट कोहली की अगुआई में टीम इंडिया हाल ही में न्यूजीलैंड में टेस्ट और वनडे सीरीज गंवा चुकी है। क्या ऐसे में सुनील जोशी दक्षिण अफ्रीका सीरीज के लिए कोहली को टीम इंडिया की कमान सौंपेंगे? जानिए यहां।

सोशल मीडिया के बॉस हैं PM, 200 देशों की आबादी से ज्यादा हैं मोदी के फॉलोअर्ससोशल मीडिया पर पीएम मोदी के फॉलोअर्स का आंकड़ा दुनिया के लगभग 95 फीसदी देशों की आबादी से ज्यादा है. दुनिया के टॉप 9 देश ऐसे है जिनकी आबादी पीएम के फॉलोअर्स से ज्यादा है. सिलसिलेवार रूप से ये देश हैं. चीन, भारत, अमेरिका, इंडोनेशिया, ब्राजील, पाकिस्तान, नाइजीरिया, बांग्लादेश और रूस. इसके बाद लगभग 200 देश ऐसे हैं जिनकी आबादी पीएम के फॉलोअर्स से कम है. itsmepanna हमारी पोस्ट आपको पसंद नहीं आये तो,बता दीजियेगा.🙏 हम तो फ़कीर हैं सोशल मीडिया छोड़कर निकल लेंगे.😂😂 itsmepanna सोशल मीडिया का तो पता नहीं भारतीय मीडिया के बॉस जरूर हैं itsmepanna ilovepm



'अनियोजित लॉकडाउन' पर भड़कीं सोनिया, कहा- दुनिया के किसी देश ने ऐसा नहीं किया

कोरोना वायरस: निज़ामुद्दीन मरकज़ के मरीज़ों की बाढ़ से कैसे निपटेगी दिल्ली

मरकज से क्वारैंटाइन सेंटर लाए गए लोगों ने डॉक्टरों और स्टाफ पर थूका, गालियां दीं; एक ने खुदकुशी की कोशिश की

दाढ़ी ट्रिम करवा कर नए लुक में दिखे उमर अब्दुल्ला, JK डोमिसाइल नीति पर उठाए सवाल

तबलीग़ी जमात: पूछताछ करने गई पुलिस पर हमला

कोरोना की जांच टीम में शामिल महिला डॉक्टरों और टीम पर हमला करने वालों पर रासुका के तहत कार्रवाई करेगी सरकार

गाजियाबाद: आइसोलेशन वार्ड में बिना पैंट घूम रहे तबलीगी जमात के मरीज, DM-SSP से शिकायत

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

04 मार्च 2020, बुधवार समाचार

पिछली खबर

कोरोना की चुनौती के बीच क्या कर रहे हैं जर्मन सांसद | DW | 04.03.2020

अगली खबर

शरणार्थी समस्या पर एर्दोवान से बात करेंगे ईयू प्रमुख मिशेल | DW | 04.03.2020
मोदी के दीया जलाने की अपील पर तेज प्रताप का ट्वीट- लालटेन भी जला सकते हैं! COVID 19: IIT जोधपुर ने 3-D टेक्नॉलजी यूज़ करके बनाया फेस मास्क लॉकडाउन के दौरान हुआ जुड़वा बच्चों का जन्म, माता-पिता ने रख दिया कोविड और कोरोना नाम कोरोना से बचने के लिए दो मीटर की दूरी काफी नहीं, MIT शोधकर्ता की चेतावनी VIDEO: जमातियों की बदसलूकी, सुनिए क्या बोल रहे मुस्लिम धर्मगुरु Coronavirus: गाजियाबाद में अश्लील हरकतें करने वाले जमातियों का इलाज नहीं करेगा महिला स्टाफ Coronavirus Lockdown : घर से करें काम, एक माह तक मुफ्त नेट देगा BSNL आज दो की जान गई; आंध्र प्रदेश में 55 साल के व्यक्ति और गुजरात में 78 साल के बुजुर्ग ने दम तोड़ा बिहार में दरभंगा के डीएम को स्क्रीनिंग कराने की सलाह देने पर गोली मारने की धमकी CoronaVirus Positive in UP : आने लगी तब्लीगी जमात में शामिल लोगों की रिपोर्ट, UP में एक दिन में सर्वाधिक 34 पॉजिटिव बिहार के सिविल सर्जन को 'झोला छाप डॉक्टरों' की ज़रूरत क्यों पड़ी? Positive India: इस टेलर के जज्बे को सलाम, दिव्यांग व गरीब होने के बावजूद मुफ्त बांट रहे मास्क
'अनियोजित लॉकडाउन' पर भड़कीं सोनिया, कहा- दुनिया के किसी देश ने ऐसा नहीं किया कोरोना वायरस: निज़ामुद्दीन मरकज़ के मरीज़ों की बाढ़ से कैसे निपटेगी दिल्ली मरकज से क्वारैंटाइन सेंटर लाए गए लोगों ने डॉक्टरों और स्टाफ पर थूका, गालियां दीं; एक ने खुदकुशी की कोशिश की दाढ़ी ट्रिम करवा कर नए लुक में दिखे उमर अब्दुल्ला, JK डोमिसाइल नीति पर उठाए सवाल तबलीग़ी जमात: पूछताछ करने गई पुलिस पर हमला कोरोना की जांच टीम में शामिल महिला डॉक्टरों और टीम पर हमला करने वालों पर रासुका के तहत कार्रवाई करेगी सरकार गाजियाबाद: आइसोलेशन वार्ड में बिना पैंट घूम रहे तबलीगी जमात के मरीज, DM-SSP से शिकायत तबलीगी जमात का मौलाना अरशद मदनी ने किया बचाव, कहा- मरकज ने कोई गलती नहीं की गुजरात के 1800 लोग हरिद्वार में फंसे थे, अमित शाह और रूपाणी के कहने पर लग्जरी बसों से सीधे घर पहुंचा दिए गए कोरोना वायरस: 10 दिन ठेला चलाकर दिल्ली से बिहार पहुंचने वाला शख़्स मोदी ने कहा- इस रविवार 5 अप्रैल रात 9 बजे आप सब 9 मिनट घर की लाइटें बंद कर मोमबत्ती, टॉर्च, दीये या मोबाइल की फ्लैश लाइट जलाएं विप्रो और अजीम प्रेमजी फाउंडेशन ने कोरोनावायरस संकट से निपटने के लिए 1,125 करोड़ रुपए दिए