तरुण तेजपाल को सुप्रीम कोर्ट से झटका

तरुण तेजपाल को सुप्रीम कोर्ट से झटका, बंद नहीं होगा यौन उत्पीड़न का मामला

19.8.2019

तरुण तेजपाल को सुप्रीम कोर्ट से झटका, बंद नहीं होगा यौन उत्पीड़न का मामला

तहलका मैगज़ीन के संस्थापक तरुण तेजपाल ने मुक़दमा रद्द करने की अर्जी दाखिल की थी.

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि यह 'गंभीर और नैतिक रूप से काफ़ी वीभत्स अपराध' है. सुप्रीम ने यह आदेश भी दिया कि गोवा की अदालत में इसकी सुनवाई अगले छह महीने के भीतर पूरी की जाए.

आरोप लगने के बाद तरुण तेजपाल ने तत्काल तहलका मैगज़ीन के संपादक पद से इस्तीफ़ा दे दिया था. उन्हें नवंबर 2013 में ही गिरफ़्तार कर लिया गया था. मई 2014 से तरुण तेजपाल बेल पर हैं. तरुण तेजपाल कहते रहे हैं कि उन्हें फंसाया गया है.

और पढो: BBC News Hindi

Aapke gang ka hi thaa ji ये साहब अगर BJP join कर लें तो निश्चित ही बच सकते हैं

SC ने खारिज की तरुण तेजपाल की याचिका, चलेगा यौन उत्पीड़न का केससुप्रीम कोर्ट ने निचली अदालत को कहा कि 6 महीने में ट्रॉयल पूरा करें. तेजपाल पर महिला सहकर्मी से रेप और यौन उत्पीड़न का आरोप है. ना जाने कितने होंगे मीडिया में तेजपाल नौकरी जाने के डर से मी टू में कोई सामने नहीं आया किसी भी दल्ले मीडिया हाऊस मे बलात्कारी तरुण तेजपाल के खिलाफ मीडिया ट्रायल करने की हिम्मत ही नही है। कितनी बढिया पत्रकारिता है। वाव।

यौन उत्पीड़न के केस में फंसे तरुण तेजपाल को झटका, सुप्रीम कोर्ट ने कहा- 6 महीने में सुनवाई हो पूरीतेजपाल ने अपने ऊपर यौन उत्पीड़न केस को कोर्ट से खत्म करने की मांग की थी. | nation News in Hindi - हिंदी न्यूज़, समाचार, लेटेस्ट-ब्रेकिंग न्यूज़ इन हिंदी ये है पत्रकारिता के नाम पर कलंक ?

तहलका के पूर्व संपादक तरुण तेजपाल को झटका: गोवा कोर्ट में चलता रहेगा रेप केस का ट्रायल, SC ने कहा- गंभीर श्रेणी के हैं आरोपतरुण तेजपाल ने अपने खिलाफ बलात्कार के आरोपों को रद्द करने की मांग वाली याचिका सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की थी. तेजपाल की दलील है कि उनके खिलाफ लगाए गए बलात्कार के आरोप झूठे हैं और बिना किसी आधार के हैं. हालांकि, गोवा पुलिस ने इस दावे को खारिज कर दिया है. पुलिस का कहना है कि ये सब ट्रायल का मामला है.

india News: तरुण तेजपाल की याचिका खारिज, SC का आदेश- 'चलेगा यौन शोषण का केस, 6 महीने में हो सुनवाई पूरी' - supreme court refuses to quash the charges against tarun tejpal ask goa court to conclude trial in 6 months | Navbharat Timesभारत न्यूज़: तहलका के पूर्व संपादक तरुण तेजपाल पर यौन शोषण का केस चलता रहेगा। तेजपाल की आरोप रद्द करने की याचिका सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दी है। कोर्ट ने साथ ही आदेश दिया है कि 6 महीने में केस का ट्रायल गोवा कोर्ट पूरी करे।

यौन उत्पीड़न के केस में फंसे तरुण तेजपाल को झटका, सुप्रीम कोर्ट ने कहा- 6 महीने में सुनवाई हो पूरीतेजपाल ने अपने ऊपर यौन उत्पीड़न केस को कोर्ट से खत्म करने की मांग की थी. | nation News in Hindi - हिंदी न्यूज़, समाचार, लेटेस्ट-ब्रेकिंग न्यूज़ इन हिंदी ये है पत्रकारिता के नाम पर कलंक ?

तहलका के पूर्व संपादक तरुण तेजपाल को झटका: गोवा कोर्ट में चलता रहेगा रेप केस का ट्रायल, SC ने कहा- गंभीर श्रेणी के हैं आरोपतरुण तेजपाल ने अपने खिलाफ बलात्कार के आरोपों को रद्द करने की मांग वाली याचिका सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की थी. तेजपाल की दलील है कि उनके खिलाफ लगाए गए बलात्कार के आरोप झूठे हैं और बिना किसी आधार के हैं. हालांकि, गोवा पुलिस ने इस दावे को खारिज कर दिया है. पुलिस का कहना है कि ये सब ट्रायल का मामला है.

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

19 अगस्त 2019, सोमवार समाचार

पिछली खबर

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्र का निधन

अगली खबर

भारत में सबसे बड़ा निवेश सऊदी अरब से क्यों
बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्र का निधन भारत में सबसे बड़ा निवेश सऊदी अरब से क्यों