Tamilnadu, Neet, Suicide, तमिलनाडु, नीट, आत्महत्या

Tamilnadu, Neet

तमिलनाडु: एक और छात्रा ने ख़ुदकुशी की, चार दिनों में नीट से जुड़ी तीसरी आत्महत्या

तमिलनाडु: एक और छात्रा ने ख़ुदकुशी की, चार दिनों में नीट से जुड़ी तीसरी आत्महत्या #TamilNadu #NEET #Suicide #तमिलनाडु #नीट #आत्महत्या

16-09-2021 23:30:00

तमिलनाडु : एक और छात्रा ने ख़ुदकुशी की, चार दिनों में नीट से जुड़ी तीसरी आत्महत्या TamilNadu NEET Suicide तमिलनाडु नीट आत्महत्या

तमिलनाडु के वेल्लोर ज़िले की 17 वर्षीय छात्रा ने बुधवार को आत्महत्या कर ली. पुलिस के मुताबिक, छात्रा को डर था कि वह डॉक्टरी की पढ़ाई के लिए आयोजित ‘ नीट ’ परीक्षा उत्तीर्ण नहीं कर पाएगी. इससे पहले नीट के तनाव से 12 सितंबर को परीक्षा के कुछ घंटे पहले एक छात्र और 13 सितंबर को एक अन्य छात्रा ने आत्महत्या कर ली थी. नीट लागू होने के बाद से पिछले चार साल में तमिलनाडु में 17 छात्रों ने आत्महत्या की है.

चेन्नई:तमिलनाडु के वेल्लोर जिले में रहने वाली और एमबीबीएस की पढ़ाई करने की इच्छुक 17 वर्षीय छात्रा ने बुधवार को आत्महत्या कर ली. पुलिस के मुताबिक छात्रा को डर था कि वह राष्ट्रीय अर्हता सह प्रवेश परीक्षा (नीट) उत्तीर्ण नहीं कर पाएगी.इसके साथ ही राज्य में गत चार दिनों में नीट के तनाव से आत्महत्या करने वाले उम्मीदवारों की संख्या तीन हो गई है.

चीन के नए सीमा क़ानून पर भारत ने कहा- ये हमारे लिए चिंता की बात है - BBC Hindi म्यांमार में कई बम धमाके, सैन्य सत्ता के खिलाफ़ बढ़ता जा रहा है विरोध - BBC Hindi आगरा: पाकिस्तान की जीत का जश्न मनाने के आरोप में तीन कश्मीरी छात्र गिरफ़्तार - BBC Hindi

पुलिस ने बताया कि वेल्लोर जिले के कटापड़ी के नजदीक थलयारामपट्टू गांव की रहने वाली 17 वर्षीय सौंदर्या रविवार (12 सितंबर) को आयोजित नीट में शामिल हुई थीं और उन्हें इस बात का डर साथ कि वह परीक्षा पास नहीं कर पाएंगी.कटापड़ी के पुलिस अधिकारी ने बताया कि सौंदर्या ने बुधवार सुबह करीब 9:30 बजे कमरे में साड़ी का फंदा बना फांसी लगा ली.

द न्यूज मिनटके मुताबिक, थोट्टापलयम स्कूल की छात्रा सौंदर्या ने कक्षा 12 में कुल 600 में से 510 अंक हासिल किए थे और किंग्स्टन कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग से नीट की परीक्षा दी थी.सौंदर्या ने कथित तौर पर परीक्षा के बाद घर लौटने पर अपनी मां से कहा था कि पेपर कठिन था और वह अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाईं. headtopics.com

15 सितंबर की सुबह उसके माता-पिता हमेशा की तरह काम के लिए चले गए थे. जब उनकी मां वापस आईं, तो उन्होंने सौंदर्या को अपने कमरे में मृत पाया. सौंदर्या के माता-पिता दिहाड़ी मजदूर हैं और वे मुधलियार जाति के हैं जो अन्य पिछड़ा वर्ग में आता है.शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है और काटपाडी डीएसपी और राजस्व निरीक्षक द्वारा जांच की जा रही है.

उल्लेखनीय है कि नीट लागू होने के बाद से गत चार साल में सौंदर्या तमिलनाडु में 17वीं चिकित्सा पाठ्यक्रम की उम्मीदवार है, जिसने आत्महत्या की है.इसके अलावा पिछले कुछ दिनों यह तीसरी आत्महत्या है. इससे पहले 12 सितंबर को राष्ट्रीय स्तर की यह परीक्षा हुई थी और उसी दिन धनुष नामक छात्र ने आत्महत्या कर ली थी.

धनुषअपने पिछले दो प्रयासों में असफल होने के बाद तीसरी बार नीट की परीक्षा देने वाले थे, लेकिन इसके कुछ घंटे पहले उन्होंने आत्महत्या कर ली. इसके अलावा अरियालुर जिले के सतमपडी गांव की 17 वर्षीय कनिमोझी ने 13 सितंबर की रात आत्महत्या कर ली थी.मुख्यमंत्री एमके स्टालिन और विभिन्न दलों के नेताओं ने मृतक छात्रा के परिवार के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की और विद्यार्थी समुदाय से अपील की है कि वे ऐसे कदम नहीं उठाएं.

इसके साथ ही सरकार ने चिकित्सा पाठ्यक्रम में प्रवेश को इच्छुक और नीट देने वाले विद्यार्थियों को परामर्श देने के लिए समर्पित टोल फ्री नंबर 104 की शुरुआत की है.स्टालिन ने कहा कि वह आत्महत्या की खबर सुनकर टूट गए हैं और केंद्र सरकार पर ‘पत्थर दिल’ होने का आरोप लगाया, जो कथित तौर पर तमिलनाडु को नीट के दायरे से बाहर करने को तैयार नहीं है. headtopics.com

पेगासस मामले पर राहुल गांधी का मोदी-शाह पर हमला, पात्रा का पलटवार - BBC Hindi मध्य पूर्व का ये देश क्या एक बार फिर गृहयुद्ध की कगार पर पहुंच गया है? - BBC News हिंदी 61 करोड़ में बिकेगा पहला डाक टिकट: इस पर छपी 5 फीट की लड़की ने दुनिया पर किया राज, 8 बार हुई थी जान लेने की कोशिश

बता दें कि तमिलनाडु विधानसभा ने बीते 13 सितंबर कोनीट परीक्षा न करवाने के लिए एक विधेयकपारित किया है, जिसके कानून बनने के बाद राज्य में नीट परीक्षा आयोजित नहीं की जाएगी.विधेयक के प्रावधानों के अनुसार, तमिलनाडु के मेडिकल कॉलेजों में स्नातक स्तर के पाठ्यक्रमों में चिकित्सा, दंत चिकित्सा, भारतीय औषधि और होम्योपैथी में कक्षा 12 में प्राप्त अंकों के आधार पर प्रवेश दिया जाएगा.

विधेयक में उच्चस्तरीय समिति के सुझावों का हवाला देते हुए कहा गया है कि सरकार ने स्नातक मेडिकल पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए नीट की बाध्यता समाप्त करने का निर्णय लिया है. ऐसे पाठ्यक्रमों में योग्यता परीक्षा में प्राप्त अंकों के आधार पर प्रवेश दिया जाएगा.

विधेयकमें कहा गया है कि ग्रामीण पृष्ठभूमि से आने वाले तमिल माध्यम के छात्र, सरकारी स्कूलों के छात्र, जिनके माता-पिता की आय 2.5 लाख रुपये प्रति वर्ष से कम है और सामाजिक रूप से निराश और वंचित समूह जैसे सबसे पिछड़ा वर्ग – अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग सबसे अधिक प्रभावित हुए हैं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ) और पढो: द वायर हिंदी »

रैगांव में शिवराज-विष्णु का अंतिम प्रयास: CM बोले- कमलनाथ ट्विटर की चिड़िया की तरह, ट्वीट कर उड़ जाते हैं, मंच पर रोईं प्रतिमा

सतना के रैगांव में चुनाव प्रचार के अंतिम दिन सीएम शिवराज सिंह चौहान और भाजपा प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा ने चुनावी सभा को संबोधित किया। मंच पर जातीय समीकरण भी साधे गए। सत्ता-संगठन से जुड़े तमाम चेहरों की मौजूदगी के जरिए भाजपा ने यह संदेश देने का प्रयास किया कि सब कुछ ठीक है। वहीं, भाजपा प्रत्याशी प्रतिमा बागरी मंच पर रो पड़ीं। उन्होंने कहा कि यह खुशी के आंसू हैं। | BJP candidate cried on stage, VD Sharma said – 15 months an industrialist had sat forming the government

NEET मैं CBSE के बच्चों का क़ब्ज़ा हो चुका है स्टेट बोर्ड या सरकारी स्कूल के गरीब बच्चे इसमें कही से कही तक नहीं है और वो दबाव नहीं झेल पा रहे है। कोचिंग भी 1 लाख तक फ़ीस ले रही है। पेपर लीक हो रहा है। नीट मैं बदलाव की ज़रूरत है cbse ,state और कोचिंग करने वाले बच्चों का अलग-अलग

तमिलनाडु: एआईएडीएमके के पूर्व मंत्री के घर पहुंची विजिलेंस की टीम, समर्थकों ने जमकर किया बवालसतर्कता और भ्रष्टाचार निरोधक विभाग ने गुरुवार को आय से अधिक संपत्ति के मामले में गुरुवार को एआईएडीएमके के पूर्व मंत्री

सौरव गांगुली ने दी विराट कोहली के टी20 टीम की कप्तानी छोड़ने की घोषणा पर प्रतिक्रियासौरव गांगुली ने कहा विराट कोहली भारतीय क्रिकेट की असली धरोहर हैं और वह टीम के काफी अच्छे से आगे लेकर आए हैं। वह क्रिकेट का तीनों ही फार्मेट में सबसे सफल कप्तान हैं। उन्होंने यह फैसला भविष्य की योजना ध्यान में रखते हुए लिया है। India captan Rohit sharma is best captan

न्यायाधिकरणों की नियुक्तियों में 'पसंदीदा लोगों के चयन' पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र को फटकाराकेंद्र द्वारा विभिन्न न्यायाधिकरणों में नियुक्ति की प्रक्रिया पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा रोष जताने पर अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने कहा कि सरकार के पास चयन समिति की अनुशंसा स्वीकार न करने की शक्ति है. इस पर कड़ी आपत्ति जताते हुए कोर्ट ने कहा कि यदि सरकार को ही अंतिम फ़ैसला करना है, तो प्रक्रिया की शुचिता क्या है.

School Reopen News: कोरोना की संभावित तीसरी लहर के बीच दिल्ली वालों ने कर दिया कमालसरकारी स्कूलों के छात्र शुरू से ही आफलाइन कक्षाओं के इंतजार में थे। स्कूल खुलने की घोषणा होते ही स्कूलों में उनकी बढ़ी हुई संख्या भी इस बात का प्रमाण है कि छात्रों के पास इंटरनेट कनेक्टिविटी तो दूर स्मार्टफोन तक की सुविधा नहीं है। Jai Jai.🌼🙏

UP में ‘अब्बाजान’ के बाद ‘चाचाजान’ की एंट्री, Rakesh Tikait ने Asaduddin Owaisi पर साधा निशानाउत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले बयानों का दौर चल पड़ा है. अभी सूबे में ‘अब्बाजान’ को लेकर राजनीतिक जंग चल ही रही थी कि अब ‘चाचाजान’ की एंट्री हो गई है. भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने हापुड़ में एक रैली के दौरान AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी को भारतीय जनता पार्टी का ‘चाचाजान’ बताया. राकेश टिकैत ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के चाचाजान असदुद्दीन ओवैसी अब उत्तर प्रदेश में आ गए हैं. राकेश टिकैत ने आरोप लगाया कि अगर असदुद्दीन ओवैसी भाजपा को गाली देते हैं, तो उसके खिलाफ कोई केस नहीं दर्ज होता है. क्योंकि ये दोनों एक ही टीम हैं. इस वीडियो में देखें और क्या बोले राकेश टिकैत. पर इनके उस्ताद राहुल गांधी तो निरे डब्बाजान है,उस बन्दे को ये ही पता नहीं रहता कि बोलना क्या है ।सोनिया जी शादी कर दो हो सकता है बीबी आकर ही कुछ अक़्ल सिखादे ? Ye bhi neta ban gaya Rajniti partiyo ki chaal ke muslim party na ho paye majbut Muslim ek jut na ho paye

कमजोर पड़ रही मॉडर्ना के टीके की 'धार', कंपनी ने सुझाया यह उपायमॉडर्ना की कोरोना वैक्सीन (Moderna COVID 19 vaccine) पर नई स्टडी की गई है. इसमें पाया गया कि वैक्सीन से मिलने वाली सुरक्षा धीरे-धीरे कम हो जाती है. इसलिए बूस्टर डोज की बात कही गई है.