ताइवान चीन तनाव, अमेरिका हार्पून म‍िसाइल ताइवान, अमेरिका ताइवान हार्पून म‍िसाइल, अमेरिका ताइवान हथियार डील, Us Taiwan Latest News, Us Taiwan Arms Deal, Us Harpoon Missiles Taiwan, Us Harpoon Missiles Sale, Us Approves Harpoon Missiles Sale, Taiwan China Threat, Asian Countries News, Asian Countries News İn Hindi, Latest Asian Countries News, Asian Countries Headlines, बाकी एशिया Samachar

ताइवान चीन तनाव, अमेरिका हार्पून म‍िसाइल ताइवान

ड्रैगन की धमकी से बेपरवाह अमेरिका, ताइवान को देगा चीन तक मार करने वाली घातक हार्पून मिसाइलें

ड्रैगन की धमकी से बेपरवाह अमेरिका, ताइवान को देगा चीन तक मार करने वाली घातक हार्पून मिसाइलें

27-10-2020 06:33:00

ड्रैगन की धमकी से बेपरवाह अमेरिका, ताइवान को देगा चीन तक मार करने वाली घातक हार्पून मिसाइलें

बाकी एशिया न्यूज़: US Taiwan Latest news: अमेरिका ने ताइवान को चीन तक मार करने वाली घातक म‍िसाइलें देने जा रहा है। अमेरिका के व‍िदेश मंत्रालय ने कहा है क‍ि वह ताइवान को घातक हार्पून म‍िसाइलें देने जा रहा है।

27 Oct 2020, 09:02:00 AMUS Taiwan Latest news: अमेरिका ने ताइवान को चीन तक मार करने वाली घातक म‍िसाइलें देने जा रहा है। अमेरिका के व‍िदेश मंत्रालय ने कहा है क‍ि वह ताइवान को घातक हार्पून म‍िसाइलें देने जा रहा है।ताइवान को हार्पून म‍िसाइल देगा अमेरिकाहाइलाइट्स:

गुजरात: स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के डेली कलेक्शन अकाउंट से 5.25 करोड़ रुपये ग़ायब, केस दर्ज अपनी पसंद से विवाह करना हर वयस्क का मौलिक अधिकारः कर्नाटक हाईकोर्ट किसान आंदोलन में कन्हैया की एंट्री, बोले- 'वन-नेशन, वन-कमीशन' की राह पर मोदी सरकार...देखिए वीडियो

अमेरिका के ट्रंप प्रशासन ने ताइवान को 2.37 अरब डॉलर की हार्पून मिसाइलों की डील को मंजूरी दीचीन के अमेरिकी हथियार कंपनियों के खिलाफ प्रतिबंध लगाने की घोषणा के बाद यह फैसला कियाचीन ने जिन अमेरिकी कंपनियों पर प्रतिबंध लगाया है, उसमें बोइंग भी शामिल है जो हार्पून को बनाती है

वॉशिंगटनचीन की धमकी से बेपरवाह अमेरिका के ट्रंप प्रशासन ने ताइवान को 2.37 अरब डॉलर के बेहद घातक हार्पून मिसाइलों की डील को मंजूरी दी है। अमेरिका की हथियार निर्माता कंपनियों के खिलाफ चीन के प्रतिबंध लगाने की घोषणा के तुरंत बाद ट्रंप प्रशासन ने यह फैसला किया। चीन ने जिन अमेरिकी कंपनियों पर प्रतिबंध लगाया है, उसमें बोइंग भी शामिल है जो इस मिसाइल को बनाती है।

अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी करके कहा कि अमेरिका ताइवान स्‍ट्रेट में शांति और स्थिरता बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध है और यह मानता है कि हिंद-प्रशांत क्षेत्र की सुरक्षा और स्थिरता में ताइवान की सुरक्षा को सबसे अहम मानता है। अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने कहा कि इस बिक्री से क्षेत्र में सैन्‍य संतुलन नहीं बिगडे़गा। अमेरिका की हार्पून‍ मिसाइल बेहद घातक मानी जाती हैं और जमीनी लक्ष्‍यों तथा युद्धपोतों को तबाह करने में सक्षम हैं।

अब भारत के पश्चिम में जंग की तैयारी कर रहा चीन, युद्धपोतों से दाग रहा गोले और बमडील में 400 हार्पून ब्‍लॉक-2 मिसाइलें शामिलअमेरिका ताइवान को हार्पून के 100 स‍िस्‍टम देगा। इस डील में 400 हार्पून ब्‍लॉक-2 मिसाइलें शामिल हैं। इस मिसाइल की रेंज करीब 125 किलोमीटर तक मार करने की है। इस मिसाइल में जीपीएस लगा हुआ है जो जिससे यह सटीक हमला करता है और 500 पाउंड का बम बरसाती है। इससे तटीय रक्षा ठिकानों, सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइलों के ठिकानों, बंदरगाह पर खड़ जहाजों और औद्योगिक ठिकानों को एक झटके में ही तबाह किया जा सकता है। इससे पहले ताइवान को हथियार बेचने पर बौखलाए चीन ने सोमवार को अमेरिका की तीन बड़ी हथियार निर्माता कंपनियों पर प्रतिबंध लगा दिया था।

चीनी विदेश मंत्रालय ने प्रतिबंध का ऐलान करते हुए कहा कि अमेरिका की बोइंग डिफेंस, लॉकहीड मॉर्टिन और रेथियॉन अब चीन में कोई व्यापार नहीं कर पाएंगी। इन तीनों कंपनियों के बने हुए हथियारों को ही अमेरिका ने ताइवान को बेचा है। चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन ने कहा कि यह प्रतिबंध 21 अक्टूबर को ताइवान को 1.8 बिलियन डॉलर के हथियारों को बेचने पर लगाया गया है। इसमें सेंसर, मिसाइल और तोपखाने (ऑर्टिलरी) शामिल हैं। उन्होंने कहा कि चीन के पास ताइवान को हथियार बेचने वाली कंपनियों को दंडित करन का पूरा अधिकार है।

अमेरिका ताइवान को 66 एफ-16 विमान देगाचीन पहले से ही अमेरिका को हथियारों को बेचने पर कार्रवाई करने की धमकी दे रहा था। हालांकि उसने पहले कभी नहीं बताया था कि वह किस प्रकार की कार्रवाई करेगा। फिर भी सैन्य जानकारों का मानना था कि चीन भूलकर भी अमेरिका के साथ जंग की सोच भी नहीं सकता है। ऐसे में वह आर्थिक प्रतिबंध की तरफ जाएगा। चीन ने कहा था कि हथियारों की इस डील से अमेरिका और उनके सशस्त्र बलों के साथ उसके संबंध और खराब हो सकते हैं। अमेरिका से हुई इस डील में ताइवान को एफ- 16 फाइटर जेट के लिए एडवांस सेंसर, समुद्र में दुश्मन के युद्धपोतों को बर्बाद करने के लिए सुपरसोनिक लो एल्टिट्यूड मिसाइल और हैमर्स रॉकेट दिए जाएंगे। पिछले साल ही अमेरिका ने ताइवान को 66 एफ-16 लड़ाकू विमान देने की डील की थी।

BPCL को बेच रही है सरकार, वेदांता समेत 3 कंपनियों ने लगाई शुरुआती बोली किसान आंदोलन में लगे खाल‍िस्तान समर्थन के पोस्टर, जानिए वायरल पोस्ट का सच कर्नाटकः दलितों के लिए अलग नाई की दुकानों की बात कहां से आई? - BBC News हिंदी

Navbharat Times News App: और पढो: NBT Hindi News »

काशी के बाद सारनाथ में पीएम मोदी! जगमग बनारस में पीएम का हर-हर महादेव

देव दीपावली का उत्सव मनाने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सारनाथ पहुंचे. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी उनके साथ में हैं. सारनाथ में भगवान बुद्ध ने पहला उपदेश दिया था, ऐसे में इस जगह का विशेष महत्व है. पीएम मोदी ने वाराणसी में 7 घंटे से ज्यादा वक्त बिताया. सारनाथ में भगवान बुद्ध पर लाइट एंड साउंड शो आयोजित किया गया है. इस शो को देखने के लिए खुद पीएम मोदी सारनाथ पहुंचे. सारनाथ ही वो जगह है, जहां से भगवान बुद्ध ने दुनिया को संदेश दिया. अमिताभ बच्चन की आवाज में काशी पर केंद्रित शो में प्राचीनता के अलग-अलग रंगों पर चर्चा की गई. इसके साथ ही पीएम मोदी ने काशी दौरे पर बनारस के घाटों का दर्शन किया. वाराणसी-प्रयागराज 6-लेन हाइवे के चौड़ीकरण का लोकार्पण भी किया. पीएम मोदी ने करीब 25 मिनट तक किसानों के नाम का संदेश दिया. फिर भगवान विश्वनाथ के दर्शन, संत रैदास के दर्शन और दीपदान किया. वाराणसी में पीएम मोदी के 7 घंटों में क्या-क्या रहा खास, देखिए बेहद खास शो खबरदार, श्वेता सिंह के साथ.

ताइवान को हथियार बेचने वाली अमेरिकी रक्षा कंपनियों पर प्रतिबंध लगाएगा चीनताइवान को हथियारों की बिक्री को लेकर अमेरिका के साथ बढ़ रहे तनाव के बीच चीन ने अमेरिकी रक्षा कंपनियों पर प्रतिबंध लगाने तो अमेरिका का क उखड़ जाएगा? 😀😃😄

ताइवान को हथियारों की बिक्री करने वाली अमेरिकी कंपनियों पर प्रतिबंध लगाएगा चीनटेक्‍नोलॉजी, सुरक्षा और व्‍यापार के लिहाज से ताइवान की क्षमता चीन और अमेरिका के बीच संघर्ष का कारण बन सकती है. बीजिंग दावा करता है कि ताइवान, चीन का हिस्सा है जिसे जरूरत पड़ने पर से बल प्रयोग द्वारा वह पुन: हासिल कर सकता है. 😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡 😡😡😡😡😡😡Obscene and crass depiction of Bharat Mata. Indian Army soldiers shown total lecherous. Yaariyan (2014) Written by Sanjeev Dutta Q... Roke be 😂 fatt rhi h ky ki kahi alag naa ho jye 😀ख़ूब

ताइवान को हथियार बेचने वाली अमेरिकी रक्षा कंपनियों पर प्रतिबंध लगाएगा चीनताइवान को हथियारों की बिक्री को लेकर अमेरिका के साथ बढ़ रहे तनाव के बीच चीन ने अमेरिकी रक्षा कंपनियों पर प्रतिबंध लगाने तो अमेरिका का क उखड़ जाएगा? 😀😃😄

ताइवान को हथियारों की बिक्री करने वाली अमेरिकी कंपनियों पर प्रतिबंध लगाएगा चीनटेक्‍नोलॉजी, सुरक्षा और व्‍यापार के लिहाज से ताइवान की क्षमता चीन और अमेरिका के बीच संघर्ष का कारण बन सकती है. बीजिंग दावा करता है कि ताइवान, चीन का हिस्सा है जिसे जरूरत पड़ने पर से बल प्रयोग द्वारा वह पुन: हासिल कर सकता है. 😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡😡 😡😡😡😡😡😡Obscene and crass depiction of Bharat Mata. Indian Army soldiers shown total lecherous. Yaariyan (2014) Written by Sanjeev Dutta Q... Roke be 😂 fatt rhi h ky ki kahi alag naa ho jye 😀ख़ूब

जानिए क्या होती है टू प्लस टू वार्ता, जिसमें हिस्सा लेने भारत आए हैं अमेरिका के मंत्रीजानिए क्या होती है टू प्लस टू वार्ता, जिसमें हिस्सा लेने भारत आए हैं अमेरिका के मंत्री 2+2 IndiaUS MikePompeo mikepompeo narendramodi PMOIndia DrSJaishankar mikepompeo narendramodi PMOIndia DrSJaishankar बिहार में सत्‍ता परिवर्तन आम आदमी की आवाज नहीं यह शराब माफिया एवं अपराधी वर्ग द्वारा फैलाया जा रहा शोर शराबा है जो कुछ दिनों में बंद हो जायेगा, लोकतंत्र में जनता की शक्ति सर्वोपरी होती है।

Video: चीन से तनातनी पर बोले जीडी बख्शी- नाथुला जैसी कार्रवाई करने का वक्त आ गया हैमेजर जनरल (रिटायर्ड) जीडी बख्शी ने कहा कि कोविड के चलते हमने इस साल अपनी रुटीन एक्सरसाइज नहीं की थी, जिसकी वजह से चीन की घुसपैठ से हम हैरान हुए।