Opinion

Opinion

डॉ चन्द्रकांत लहारिया का कॉलम: भविष्य की महामारियों का सामना करने के लिए सरकारों को अभी से निवेश करना होगा

डॉ चन्द्रकांत लहारिया का कॉलम: भविष्य की महामारियों का सामना करने के लिए सरकारों को अभी से निवेश करना होगा @DrLahariya #opinion

29-07-2021 08:11:00

डॉ चन्द्रकांत लहारिया का कॉलम: भविष्य की महामारियों का सामना करने के लिए सरकारों को अभी से निवेश करना होगा DrLahariya opinion

अभी जापान के टोक्यो में ग्रीष्मकालीन ओलिंपिक चल रहे हैं। ओलिंपिक आयोजित करना किसी भी देश के लिए प्रतिष्ठा का विषय माना जाता है। सालों पहले तय हो जाता है कि ओलिंपिक कहां होंगे। आने वाले 3 ओलिंपिक खेलों के देश व शहर तय हैं- 2024 में पेरिस (फ्रांस), 2028 में लॉस एंजेल्स (अमेरिका) और 2032 में ब्रिस्बेन (ऑस्ट्रेलिया)। | Governments have to invest now to face future pandemics

डॉ चन्द्रकांत लहारिया का कॉलम:भविष्य की महामारियों का सामना करने के लिए सरकारों को अभी से निवेश करना होगा5 घंटे पहलेकॉपी लिंकडॉ चन्द्रकांत लहारिया, जन नीति और स्वास्थ्य तंत्र विशेषज्ञअभी जापान के टोक्यो में ग्रीष्मकालीन ओलिंपिक चल रहे हैं। ओलिंपिक आयोजित करना किसी भी देश के लिए प्रतिष्ठा का विषय माना जाता है। सालों पहले तय हो जाता है कि ओलिंपिक कहां होंगे। आने वाले 3 ओलिंपिक खेलों के देश व शहर तय हैं- 2024 में पेरिस (फ्रांस), 2028 में लॉस एंजेल्स (अमेरिका) और 2032 में ब्रिस्बेन (ऑस्ट्रेलिया)।

राजस्व में कमी की भरपाई के लिए दूसरी छमाही में 5.03 लाख करोड़ रुपये का कर्ज लेगी सरकार केंद्र सरकार को 'सुप्रीम' फटकार, कहा- युवा डॉक्टरों के साथ फुटबॉल जैसा बर्ताव न करें भारत बंद की वजह से 50 ट्रेनों की सर्विस पर असर पड़ा: रेलवे - BBC Hindi

जो भी देश मेजबानी का दावा करते हैं, उन्हें बताना पड़ता है कि उनके पास पर्याप्त स्टेडियम, होटल व अन्य सुविधाएं हैं। फिर भी, जब मेजबानी मिलती है तो वह देश तमाम नए स्टेडियम व खेल केंद्र बनाता है। ओलिंपिक के आयोजन में औसतन 90,000 करोड़ रुपए की लागत आती है। जापान में चूंकि खेल एक साल आगे हो गए, कुल खर्च करीब 1,40,000 करोड़ रुपए (के बराबर जापानी मुद्रा) तक पहुंच गया है।

भारत ने पिछले दशक में दो बार ओलिंपिक की मेजबानी का दावा करने पर विचार किया। कुछ महीने पहले, दिल्ली सरकार ने कहा कि वह 2048 (हां, 27 साल बाद) ओलिंपिक कराने के लिए तैयारियां शुरू करेगी। हमारे मन में बात आ सकती है कि जब ओलिंपिक इतने महंगे हैं तो सरकारें उत्साह क्यों दिखाती हैं? जब पहले ही स्टेडियम व बाकी सुविधाएं होती हैं, तो सरकारें और खर्च क्यों करती हैं? जवाब है, ओलिंपिक या अन्य बड़े खेल आयोजन दरअसल उस देश में खेलों के भविष्य में बड़ा निवेश होता है। headtopics.com

यह देश द्वारा खेल परिसर, ढांचे व सुविधाएं अत्याधुनिक बनाने का सुनहरा अवसर होता है। फिर, जब सुविधाएं बन जाती हैं, तो ये परिसर वहां के होनहार व प्रतिभावान खिलाडियों की ट्रेनिंग के काम आते हैं। इसका नतीजा दशकों बाद मिलता है जब नई पीढ़ी, जो खेलों के ढांचागत सुधारों के इस्तेमाल के बाद निकलती है, देश को अंतरराष्ट्रीय खेल मंचों पर पदक व सम्मान दिलाती है। इसीलिए, ओलिंपिक की तैयारी पर खर्च करोड़ों रुपए वास्तव में भविष्य की पीढ़ियों में निवेश होता है। पिछले कुछ ओलिंपिक्स और अन्य अंतरराष्ट्रीय खेलों में अगर अधिक भारतीय खिलाड़ियों ने अर्हता हासिल की तो इसका श्रेय काफी हद तक पिछले दशकों में बने खेल परिसरों को जाता है।

चौबीसवें ओलिंपिक, कोविड-19 की वैश्विक महामारी के मध्य हो रहे हैं। ओलिंपिक और महामारी में एक मुख्य अंतर और एक समानता है। अंतर यह कि हम ओलिंपिक के लिए देश को तैयार करवाना चाहते हैं और किसी भी महामारी को देश से रोकना। समानता यह कि दोनों के लिए तैयार रहने में बरसों लगते हैं।

कोरोना दुनिया के सामने पहली महामारी नहीं है और न ही अंतिम होने वाली है। जिस तरह ओलिंपिक आयोजित करने के लिए खेल तंत्र सुदृढ़ करना होता है, वैसे ही भविष्य की महामारियों को रोकने के लिए स्वास्थ्य तंत्र मजबूत होना जरूरी है। खेल व स्वास्थ्य तंत्र दोनों के उद्देश्य अलग हैं, पर इन्हें विकसित करने में वर्षों तक सरकारी निवेश लगता है, लेकिन एक बार तंत्र विकसित हो जाते हैं, तो इनके फायदे आने वाली कई पीढ़ियों को मिलते हैं। दोनों ही समझदारी भरे निवेश हैं।

हम स्वस्थ और सुपोषित नागरिकों के बिना अच्छे खिलाड़ियों की कल्पना नहीं कर सकते। भारत में सरकारें कई वर्षों से खेल तंत्र मजबूत करने की बातें कर रही हैं और कुछ ठोस कदम उठाए भी हैं। महामारी से सीख लेते हुए, केंद्र और राज्य सरकारों को मिलकर स्वास्थ्य तंत्र में एक मुश्त, बड़े निवेश से शुरुआत की जरूरत है। फिर उस निवेश को तब तक जारी रखना होगा, जब तक देश के हर राज्य में स्वास्थ्य प्रणाली पूरी तरह सुचारु नहीं हो जाती। भविष्य में भारत जब भी ओलिंपिक आयोजित करे, तो देश में सिर्फ विश्वस्तरीय खेल परिसर ही नहीं, स्वास्थ्य सुविधाएं भी होनी चाहिए। साथ में, यह हमें भविष्य में होने वाली महामारियों के कहर से भी बचाएगा। headtopics.com

आज के Bharat Bandh से क्या हासिल हुआ? देखें क्या बोले किसान नेता Pushpendra Singh यूपी : CM योगी ने नवनियुक्त मंत्रियों को बांटे विभाग, जानें- किसको क्या मिला? इकोनॉमी के मोर्चे पर अच्छे संकेत, ICRA का अनुमान- 9% GDP ग्रोथ

(ये लेखक के अपने विचार हैं) और पढो: Dainik Bhaskar »

Delhi में बड़े Terror Module का पर्दाफाश, जांच एजेंसियों ने 6 को दबोचा, देखें स्पेशल रिपोर्ट

दिल्ली में पाकिस्तान की बड़ी साजिश का खुलासा करते हुए एजेंसी ने 6 लोगों को गिरफ्तार किया है. जानकारी के मुताबिक इस पाकिस्तानी आतंकी मॉड्यूल के लिए काम करने वाले 6 लोगों में से दो ने पाकिस्तान में ट्रेनिंग हासिल की थी. जांच एजेंसियों ने पाकिस्तान द्वारा पोषित एक आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया है. इस मामले में जांच एजेंसियों ने 6 लोगों को गिरफ़्तार किया है. पकड़े गए संदिग्ध भारत में इस आतंकी मॉड्यूल को ऑपरेट कर रहे थे. इन सभी से लगातार पूछताछ की जा रही है. एजेंसी का दावा है कि पकड़े गए इन संदिग्ध आतंकियों के पास से बड़ी मात्रा में हथियार और विस्फोटक बरामद हुए हैं. देखिए स्पेशल रिपोर्ट का ये एपिसोड.

DrLahariya सरकार तो अपनी संपत्तियां बढ़ने में लगातार निवेश कर रही है।

200 करोड़ रुपये के बैंक कर्ज़ धोखाधड़ी केस में गुरुग्राम के एम्बिएन्स मॉल का मालिक गिरफ्तारगहलोत पर 200 करोड़ रुपये के बैंक कर्ज की धोखाधड़ी का आरोप है. आरोप है कि राज सिंह ने रिहायशी जमीन पर मॉल का निर्माण कराया. उसे दिल्ली की ईडी कोर्ट में पेश किया जाएगा. जहां से ED आरोपी की रिमांड लेगी. मारो साले को।

Tokyo Olympics 2021 में India का बेहतर दिन, Medals के करीब हैं ये Playersखेलों का 'महाकुंभ' ओलंपिक का जापान की राजधानी टोक्यो (Olympic Games Tokyo 2021) में आयोजन हो रहा है. इस ओलंपिक खेलों की आधिकारिक शुरुआत 23 जुलाई को और समापन 8 अगस्त को होना है. ओलंपिक खेलों के इतिहास में यह दूसरा मौका है, जब टोक्यो को इस महाकुंभ की मेजबानी मिली है. टोक्यो ओलंपिक में भारत ने अब तक का अपना सबसे बड़ा खिलाड़ियों का दल उतारा है.Tokyo Olympics 2021 में बुधवार (आज) के दिन India को कई Medals की उम्मीद जागी है, P.V. Sindhu, Deepika Kumari, Pooja Rani, Mary Kom से India को Medals की उम्मीद है, लेकिन कैसे ये Players Medals के करीब हैं जान लीजिए. 🙏🙏🙏🙏 satendra_33 GauravA05166168 achalmishra_bjp Thank you .... ji wala msg shuru kaar dae sirf ek aadmi ki wajha sae hou raha hoga yeh mumkin, players tou sirf present laganae gae hongae kyu? Congratulations

किसान की बेटी के डॉक्टर बनने का सपना पूरा करने में मदद की तेंदुलकर नेदिग्गज क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने फिर से परोपकार की अपनी भावना दिखाते हुए एक गरीब किसान की बेटी दीप्ति विश्वासराव का चिकित्सा की पढ़ाई करने का सपना पूरा करने में मदद की FarmerDaughter SachinTendulkar DiptiVishvasrao sachin_rt DasharathDipti

रुचिर शर्मा का कॉलम: आर्थिक सुधार के 30 वर्ष: आर्थिक स्वतंत्रता में भारत अब भी पीछेमैं 17 वर्ष का था। मुझे एक बिजनेस पेपर में लेख लिखने का मौका मिला था, जब मुझे लोकसभा की स्पीकर गैलरी का पास मिला था, जहां जुलाई 1991 में मैंने मनमोहन सिंह का पहला बजट भाषण सुना। राजीव गांधी की हत्या के बाद भारत मुश्किल दौर से गुजर रहा था, जबकि नई सरकार के पास समय कम था, जिसके पास विदेशी कर्ज चुकाने के लिए फंड खत्म होता जा रहा था।\nलेकिन बदलाव की हवा का रुख सिंह के पक्ष में था। सोवियत साम्यवाद हाल ह... | 30 years of economic reform: India still behind in economic freedom Kya bhaskar bhi line me lag gya... 😀🙏 Hello Bhaskar इसे बना दो वित्त मंत्रो 😬

पोर्न मूवीज का कानपुर कनेक्‍शन, सिर्फ 20 महीने में करोड़पति बनी कुंद्रा के राजदार की पत्नीपोर्नोग्राफी मामले में राज कुंद्रा के राजदार अरविंद श्रीवास्तव की पत्नी के बैंक अकांउट ने कई राज खोले हैं। अरविंद श्रीवास्तव पत्नी हर्षिता के खाते में मात्र दो महीने में 95 लाख रुपये जमा कराए। अरविंद श्रीवास्तव सिंगापुर में रहकर राज कुंद्रा का बिजनेस संभालते हैं। पोर्न मुवी के शौकीन लोगों ने बना दिया

CAA पर गृह राज्यमंत्री का संसद में जवाब, सरकार ने मांगा 6 माह का समयगृह मंत्रालय ने नागरिकता संशोधन कानून के नियम बनाने के लिए 6 महीने का समय और मांगा CitizenshipAmendmentAct ModiGovernment Parliament BJP Congress CAA BJP4India INCIndia GauravGogoi GauravGogoiAsm