Coronavirus, Doublemutant, Covid 19, Indianvariant, Double Mutant Coronavirus, Corona Virus, Lungs, Coronavirus, Corona Cases İn İndia, Corona News, Coronavirus İndia, Coronavirus Vaccine, Coronavirus News İndia, Coronavirus Cases, Corona Vaccine, Corona İn İndia, Corona Cases İn İndia Today, Ladengecoronase, Covishield Vaccine, Covaxin

Coronavirus, Doublemutant

डबल म्यूटेशन का रहस्य: तीन दिन में वजन कम, फेफड़ों पर चिपक रहा वायरस

कोरोना वायरस के दो अलग अलग स्ट्रेन आपस में मिलकर तीन दिन के अंदर मरीज के फेफड़ों में न सिर्फ चिपकना शुरू हो जाते हैं

10-05-2021 04:34:00

डबल म्यूटेशन का रहस्य: तीन दिन में वजन कम, फेफड़ों पर चिपक रहा वायरस Coronavirus DoubleMutant Covid19 IndianVariant drharshvardhan MoHFW_INDIA PMOIndia ICMRDELHI

कोरोना वायरस के दो अलग अलग स्ट्रेन आपस में मिलकर तीन दिन के अंदर मरीज के फेफड़ों में न सिर्फ चिपकना शुरू हो जाते हैं

अध्ययन के जरिए वैज्ञानिकों ने खुलासा किया है कि देश में कोरोना मरीजों की हालत इसलिए गंभीर हो रही है क्योंकि जांच रिपोर्ट आने से पहले ही उसके कम से कम एक चौथाई फेफड़े वायरस की चपेट में आ रहे हैं।वैज्ञानिक उस वक्त हैरान हो गए जब उन्हें डबल म्यूटेशन वाले स्ट्रेन बी .1.617 में डी 111 डी , जी 142 डी , एल 452 आर , ई 484 क्यू , डी 614 जी और पी 681 आर नामक म्यूटेशन भी मिले।

पाकिस्तानी संसद में भद्दी गालियां, विपक्ष ने कहा- यही रियासत-ए-मदीना है - BBC Hindi अखिलेश यादव को मायावती ने कहा- दलित विरोधी, जमकर भड़कीं - BBC Hindi श्रीराम मंदिर ट्रस्ट पर शंकराचार्य हमलावर: स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती बोले- चंपत राय गैर जिम्मेदार, मोदी उन्हें ट्रस्ट से तुरंत हटाएं

पुणे स्थित नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ वॉयरोलॉजी ( एनआईवी ) के वैज्ञानिकों ने चूहों पर अध्ययन करके पता लगाया कि संक्रमण होने के बाद मरीज तीसरे दिन ही गंभीर रुप से बीमार होने लगता है। चूहों को उन्होंने डबल म्यूटेशन देकर पता लगाया कि वे तीसरे दिन ही छटपटाने लगे थे । इनके अंदर वायरस का उच्च संक्रमण भार मिलने लगा था जो सीधे तौर पर जानलेवा स्थिति की ओर इशारा करता है।

वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ . प्रज्ञा यादव ने बताया कि बी .1.617 नामक स्ट्रेन में वायरस के दो - दो वैरिएंट की पहचान हुई है। इस स्ट्रेन में वायरस के स्पाइक क्षेत्र में आठ अमीनो एसिड परिवर्तन देखने को मिले हैं। एक से अधिक उपवंश मिलने से गंभीरता का पता चल रहा है। यह वैरिएंट कहां से आया ? यह अभी भी रहस्य बना हुआ है। headtopics.com

भारत समेत 21 देशों में अब तक यह मिल चुका है लेकिन वजह वहां भी पता नहीं है। स्वास्थ्य मंत्रालय के एनसीडीसी के अनुसार 13,000 सैंपल की जीनोम सीक्वेसिंग में 3,532 गंभीर वैरिएंट अब तक पता चलेग हैं जिनमें से 1,527 में डबल म्यूटेशन वाला वैरिएंट मिला है।वैज्ञानिकों को नहीं थी जानकारी

यह अध्ययन मेडिकल जर्नल बायोआरएक्सआईवी में प्रकाशित हुआ है। वैज्ञानिकों के अनुसार अभी तक देश में जीनोम सीक्वेसिंग के जरिये कोरोना वायरस के नए बदलावों का पता लगाया जा रहा था लेकिन इसके प्रभावों के बारे में किसी के पास सटीक जानकारी नहीं थी। इसलिए एनआईवी के वैज्ञानिकों ने यह अध्ययन शुरू किया था और कुछ ही समय बाद उन्हें परिणाम दिखने लगे।

733 में से 273 में मिला डबल म्यूटेशन25 नवंबर 2020 से 31 मार्च 2021 के बीच 733 सैंपल की जीनोम सिक्वेसिंग में 273 सैंपल में डबल म्यूटेशन बी 1.617 मिला। जबकि 73 में बी 1.36.29,67 में बी 1.1.306 , 31 में बी 1.1.7 और 24 सैंपल में बी 1.1.216 पाया गया।इसके बाद वैज्ञानिकों ने सीरिया के गोल्डन हैम्स्टर्स चूहों में बी 1.617 के वायरल लोड और रोगजनक क्षमता की जांच शुरू की। दो अलग अलग समूह में नौ - नौ चूहों पर परीक्षण के दौरान एक को बी 1 ( डी 614 जी ) और दूसरे समूह को बी 1.617 म्यूटेशन दिए गए जिसके बाद डबल म्यूटेशन के रहस्मयी प्रभावों का पता लग पाया।

विस्तार बल्कि इससे उसका वजन भी गिरने लगता है। पहली बार भारतीय वैज्ञानिकों ने डबल म्यूटेशन के रहस्य से पर्दा उठाया है।विज्ञापनअध्ययन के जरिए वैज्ञानिकों ने खुलासा किया है कि देश में कोरोना मरीजों की हालत इसलिए गंभीर हो रही है क्योंकि जांच रिपोर्ट आने से पहले ही उसके कम से कम एक चौथाई फेफड़े वायरस की चपेट में आ रहे हैं। headtopics.com

सिकंदर: 32 साल की उम्र में सबसे बड़े साम्राज्य की स्थापना करने वाला नौजवान - BBC News हिंदी अरब मुर्दाबाद के नारे से अपनों पर ही भड़के इसराइली विदेश मंत्री - BBC Hindi दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा- ऐसे में आतंकवाद के अपराध की गंभीरता नहीं बचेगी - BBC News हिंदी

वैज्ञानिक उस वक्त हैरान हो गए जब उन्हें डबल म्यूटेशन वाले स्ट्रेन बी .1.617 में डी 111 डी , जी 142 डी , एल 452 आर , ई 484 क्यू , डी 614 जी और पी 681 आर नामक म्यूटेशन भी मिले।पुणे स्थित नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ वॉयरोलॉजी ( एनआईवी ) के वैज्ञानिकों ने चूहों पर अध्ययन करके पता लगाया कि संक्रमण होने के बाद मरीज तीसरे दिन ही गंभीर रुप से बीमार होने लगता है। चूहों को उन्होंने डबल म्यूटेशन देकर पता लगाया कि वे तीसरे दिन ही छटपटाने लगे थे । इनके अंदर वायरस का उच्च संक्रमण भार मिलने लगा था जो सीधे तौर पर जानलेवा स्थिति की ओर इशारा करता है।

वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ . प्रज्ञा यादव ने बताया कि बी .1.617 नामक स्ट्रेन में वायरस के दो - दो वैरिएंट की पहचान हुई है। इस स्ट्रेन में वायरस के स्पाइक क्षेत्र में आठ अमीनो एसिड परिवर्तन देखने को मिले हैं। एक से अधिक उपवंश मिलने से गंभीरता का पता चल रहा है। यह वैरिएंट कहां से आया ? यह अभी भी रहस्य बना हुआ है।

भारत समेत 21 देशों में अब तक यह मिल चुका है लेकिन वजह वहां भी पता नहीं है। स्वास्थ्य मंत्रालय के एनसीडीसी के अनुसार 13,000 सैंपल की जीनोम सीक्वेसिंग में 3,532 गंभीर वैरिएंट अब तक पता चलेग हैं जिनमें से 1,527 में डबल म्यूटेशन वाला वैरिएंट मिला है।वैज्ञानिकों को नहीं थी जानकारी

यह अध्ययन मेडिकल जर्नल बायोआरएक्सआईवी में प्रकाशित हुआ है। वैज्ञानिकों के अनुसार अभी तक देश में जीनोम सीक्वेसिंग के जरिये कोरोना वायरस के नए बदलावों का पता लगाया जा रहा था लेकिन इसके प्रभावों के बारे में किसी के पास सटीक जानकारी नहीं थी। इसलिए एनआईवी के वैज्ञानिकों ने यह अध्ययन शुरू किया था और कुछ ही समय बाद उन्हें परिणाम दिखने लगे। headtopics.com

733 में से 273 में मिला डबल म्यूटेशन25 नवंबर 2020 से 31 मार्च 2021 के बीच 733 सैंपल की जीनोम सिक्वेसिंग में 273 सैंपल में डबल म्यूटेशन बी 1.617 मिला। जबकि 73 में बी 1.36.29,67 में बी 1.1.306 , 31 में बी 1.1.7 और 24 सैंपल में बी 1.1.216 पाया गया।इसके बाद वैज्ञानिकों ने सीरिया के गोल्डन हैम्स्टर्स चूहों में बी 1.617 के वायरल लोड और रोगजनक क्षमता की जांच शुरू की। दो अलग अलग समूह में नौ - नौ चूहों पर परीक्षण के दौरान एक को बी 1 ( डी 614 जी ) और दूसरे समूह को बी 1.617 म्यूटेशन दिए गए जिसके बाद डबल म्यूटेशन के रहस्मयी प्रभावों का पता लग पाया।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?हांखबर की भाषा और शीर्षक से आप संतुष्ट हैं?हांखबर के प्रस्तुतिकरण से आप संतुष्ट हैं?हांखबर में और अधिक सुधार की आवश्यकता है? और पढो: Amar Ujala »

Galwan Valley में हुई हिंसक झड़प के एक साल बाद LaC पर क्या बदला? देखें खबरदार

आज 15 जून है यानि गलवान घाटी में चीन और भारत के बीच हुई हिंसक झड़प का एक साल पूरा हो गया है, जिसमें भारत के 20 सैनिकों ने अपनी शहादत दी थी और चीन को करारा जवाब दिया था. गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प के एक साल बाद LaC पर क्या बदला है? पिछले एक साल में चीन और उसकी सेना को भारत की तरफ से क्या मैसेज दिया गया है? और इस वक्त LaC पर क्या हालात हैं? देखें खबरदार का ये एपिसोड.

drharshvardhan MoHFW_INDIA PMOIndia ICMRDELHI तुमने लालीपाप मांगा था तुम्हे मिल गया। अब चिल्लाओ नहीं बैठ कर चुपचाप चूसो। drharshvardhan MoHFW_INDIA PMOIndia ICMRDELHI ये जो mutent है देखा ये जा रहा है कोई अगर संकमित होता है तो उसका वजन बहुत तेजी से कम होता है बहुत kumjori हो रही भूख नही ल्सगति है प्यास बहुत लगती है

drharshvardhan MoHFW_INDIA PMOIndia ICMRDELHI DubeyLalchandra drharshvardhan MoHFW_INDIA PMOIndia ICMRDELHI Motapa kam kar ra h ye covid 😂

बिहार के बक्सर के बाद अब यूपी के गाजीपुर में नदी में तैरते दिखे शवबिहार के बक्सर के बाद अब उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में गंगा के किनारे शव नजर आए. मंगलवार को गाजीपुर के गंगा तट पर कुछ शव दिखाए दिए. गाजीपुर और बक्सर के बीच करीब 55 किलोमीटर की दूरी है. बक्सर में सोमवार को करीब 100 शव पानी में तैरते हुए दिखाई दिए थे. इन लाशों को देखने के बाद बिहार के अधिकारियों ने तर्क दिया था कि यह उत्तर प्रदेश से आई हैं. अधिकारियों के अनुसार बिहार में शवों को पानी में डालने की परंपरा नहीं है. देश के हालात खराब कर दिए मोदी सरकार ने bycotmodgoverment मैली होती गंगा, रोती हुई जनता, मौत के सौदागर और तमाशेबाज प्रधान लाशों पर महल बनाने में व्यस्त! गंगा_मे_बहतीं_लाशें मोदी_है_तो_मातम_है मोदीजी_इस्तीफा_दो

जम्मू-कश्मीर: अनंतनाग में आतंकियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़, लश्कर के तीन आतंकी घिरेजम्मू-कश्मीर: अनंतनाग में आतंकियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़, तीन लश्कर के आतंकी घिरे JammuKashmir Encounter LashkarTerrorists

पुणे: तीन नाबालिग बच्चों के उत्पीड़न के मामले में दो गिरफ्तार, वायरल हुआ था वीडियोपुणे: तीन नाबालिग बच्चों के उत्पीड़न के मामले में दो गिरफ्तार, वायरल हुआ था वीडियो Pune Maharashtra CrimeNews ViralVideo इस ट्वीट को रिट्वीट करने पर दस मिनट में (1000फ़ॉलोवेस) बढ़ाए,, 100% गारंटी के साथ,, No Following /Only Re _Tweet।।।

कोरोना के बढ़ते मामलों पर केरल-तमिलनाडु में लॉकडाउन, देश के इन राज्यों में कड़े प्रतिबंधदेश के दक्षिणी राज्यों के भी COVID-19 की दूसरी लहर की चपेट में आने के बीच केरल (Kerala Lockdown) में शनिवार सुबह से पूर्ण लॉकडाउन लागू हो गया, जबकि तमिलनाडु (Tamil Nadu Lockdown) में भी 10 मई से दो सप्ताह का ‘‘पूर्ण’’ लॉकडाउन लग जाएगा. कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा (BS Yediyurappa) ने शुक्रवार को घोषणा की थी कि राज्य में 10 मई से 24 मई तक लॉकडाउन जैसे कड़े प्रतिबंध लागू होंगे.

Shootings | रूस के कजान के स्कूल में गोलीबारी में 7 छात्रों की मौतमॉस्को। रूस के शहर कजान के एक स्कूल में मंगलवार की सुबह हुई गोलीबारी में कम से कम 7 छात्रों की मौत हो गई जबकि 16 अन्य घायल हो गए जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। एक रूसी गवर्नर ने इसकी जानकारी दी।

सावधान: टीकाकरण के पंजीकरण के लिए आ रहे फर्जी संदेशों से यूजर्स के फोन में सेंधसावधान: टीकाकरण के पंजीकरण के लिए आ रहे फर्जी संदेशों से यूजर्स के फोन में सेंध Vaccination Coronavaccine CowinApp PMOIndia MoHFW_INDIA ICMRDELHI PMOIndia MoHFW_INDIA ICMRDELHI वेक्सीन के लिए जो भीड़ है उसको बाटने के लिए ज्यादा से ज्यादा कैम्प की जरुरत है, जनसंख्या बहुत है। स्कूल, कॉलेज, में भी केम्प लग सकता है वेक्सीन का। PMOIndia myogiadityanath myogioffice dmgbnagar dm_ghaziabad AmitShah RSSorg BJP4India BjornLomborg MoHFW_INDIA aajtak