Twitterındia, Twitter, Fır Against Twitter India And Two Congress Leaders For Falsely Giving Communal Colour To An Incident

Twitterındia, Twitter

ट्विटर का लीगल प्रोटेक्शन खत्म: सुरक्षा हटने के बाद गाजियाबाद केस में ट्विटर समेत 9 लोगों पर FIR; घटना को सांप्रदायिक रंग देने का आरोप

ट्विटर का लीगल प्रोटेक्शन खत्म: सुरक्षा हटने के बाद गाजियाबाद केस में ट्विटर समेत 9 लोगों पर FIR, घटना को सांप्रदायिक रंग देने का आरोप #TwitterIndia #Twitter @ghaziabadpolice

16-06-2021 10:01:00

ट्विटर का लीगल प्रोटेक्शन खत्म: सुरक्षा हटने के बाद गाजियाबाद केस में ट्विटर समेत 9 लोगों पर FIR, घटना को सांप्रदायिक रंग देने का आरोप TwitterIndia Twitter ghaziabadpolice

गाजियाबाद में पुलिस ने ट्विटर इंडिया और 2 कांग्रेस नेता समेत 9 लोगों के खिलाफ FIR दर्ज की है। FIR मामले को सांप्रदायिक रंग देने के आरोप में दर्ज की गई है। आरोप है कि पुलिस द्वारा मामला पूरी तरह से स्पष्ट किए जाने के बावजूद ट्विटर ने गलत ट्वीट को हटाने के लिए कोई कदम नहीं उठाया। पुलिस ने मामले में मोहम्मद जुबैर, राना अय्यूब, द वायर, सलमान निजामी, मसकूर उस्मानी, शमा मोहम्मद, सबा नकवी, ट्विटर कम्यूनि... | FIR Against Twitter India And Two Congress Leaders For Falsely Giving Communal Colour To An Incident In Uttar Pradesh

ट्विटर का लीगल प्रोटेक्शन खत्म:सुरक्षा हटने के बाद गाजियाबाद केस में ट्विटर समेत 9 लोगों पर FIR; घटना को सांप्रदायिक रंग देने का आरोपगाजियाबादएक घंटा पहलेवीडियोगाजियाबाद में पुलिस ने ट्विटर इंडिया और 2 कांग्रेस नेता समेत 9 लोगों के खिलाफ FIR दर्ज की है। FIR मामले को सांप्रदायिक रंग देने के आरोप में दर्ज की गई है। आरोप है कि पुलिस द्वारा मामला पूरी तरह से स्पष्ट किए जाने के बावजूद ट्विटर ने गलत ट्वीट को हटाने के लिए कोई कदम नहीं उठाया। पुलिस ने मामले में मोहम्मद जुबैर, राना अय्यूब, द वायर, सलमान निजामी, मसकूर उस्मानी, शमा मोहम्मद, सबा नकवी, ट्विटर कम्यूनिकेशन इंडिया प्राइवेट लिमिटेड और ट्विटर INC के खिलाफ FIR दर्ज की है।

Tokyo Olympics LIVE Updates: पीएम मोदी ने मीराबाई चानू को दी बधाई, कहा- शानदार प्रदर्शन से देश उत्साहित टोक्यो ओलंपिक: भारत को पहला पदक दिलान के करीब मीरा बाई चानू, वेटलिफ़्टिंग में सिल्वर पक्का- आज की बड़ी ख़बरें - BBC Hindi Tokyo Olympics LIVE Updates: भारत को पहला मेडल, वेटलिफ्टिंग में मीराबाई चानू ने जीता सिल्वर

ट्विटर को नियमों का पालन न करना भारी पड़ानए IT नियमों का पालन नहीं करना ट्विटर को भारी पड़ गया है। न्यूज एजेंसी के मुताबिक, भारत में अब ट्विटर ने कानूनी सुरक्षा का आधार गंवा दिया है। सरकार की ओर से 25 मई से लागू हुए IT नियमों को ट्विटर ने अब तक लागू नहीं किया है, जिसके बाद उसके खिलाफ यह एक्शन लिया गया है। यानी ट्विटर पर भी अब IPC के तहत मामले दर्ज हो सकेंगे और पुलिस पूछताछ भी कर सकेगी।

3 पॉइंट में समझें प्रोटेक्शन हटाने के मायनेकेंद्र सरकार की तरफ से सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को धारा 79 के तहत सुरक्षा मुहैया कराई जाती है। ये प्रोटेक्शन ट्विटर को भी मिली हुई थी। इसमें किसी आपराधिक गतिविधि के लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल किए जाने पर कंपनी की जिम्मेदारी नहीं होती थी और किसी भी केस में कंपनी को पक्ष नहीं बनाया जा सकता था। headtopics.com

नए IT नियम के तहत सरकार ने कहा था कि सोशल मीडिया कंपनी एक महीने के अंदर मुख्य अनुपालन अधिकारी (CCO) की नियुक्ति करें, जो यूजर्स की शिकायतों को सुलझाए। नियुक्ति न होने पर सरकार ने धारा 79 के तहत प्रोटेक्शन खत्म करने की चेतावनी दी थी। इसके बाद 15 जून को ट्विटर के खिलाफ पहली FIR हुई है।

सरकार के फैसले के बाद ट्विटर अब अकेला ऐसा अमेरिकी प्लेटफॉर्म है, जिससे IT एक्ट की धारा 79 के तहत मिलने वाला यह कानूनी संरक्षण वापस ले लिया गया है, जबकि गूगल, फेसबुक, यूट्यूब, वॉट्सऐप, इंस्टाग्राम जैसे अन्य प्लेटफॉर्म के पास अभी भी यह सुरक्षा है।कुछ शर्तें मानीं, बाकी पर फैसला नहीं कर पाए

इससे पहले ट्विटर ने मंगलवार को बताया कि उसने इन्फर्मेशन टेक्नोलॉजी मिनिस्ट्री की नई गाइडलाइन के मुताबिक अंतरिम मुख्य शिकायत अधिकारी अपॉइंट कर दिया है। इसकी डिटेल्स ट्विटर जल्द ही केंद्र सरकार के साथ साझा करेगा। ट्विटर ने ये कदम तब उठाया है, जब सरकार ने उसे गाइडलाइन का पालन करने का आखिरी मौका दिया था। सरकार ने अपने नोटिस में ट्विटर से कहा था कि अगर वो गाइडलाइन का पालन करने में नाकाम रहता है तो वह IT एक्ट के तहत जिम्मेदारी से मिलने वाली छूट को खो देगा।

समाज में अशांति फैलाने का मकसद थाFIR में कहा गया है कि इन सभी लोगों ने ट्विटर पर सच्चाई को परखे बिना ही घटना को सांप्रदायिक रंग दिया। इनकी ओर से समाज में शांति भंग करने और धार्मिक समूहों को भड़काने के मकसद से वीडियो वायरल किया गया। पुलिस के मुताबिक, घटना पीड़ित और शरारती तत्वों के बीच व्यक्तिगत विवाद की वजह से हुई। इसमें हिंदू और मुस्लिम दोनों ही संप्रदाय के लोग शामिल थे, लेकिन आरोपियों ने घटना को इस तरह पेश किया कि दोनों धार्मिक समूहों के बीच तनाव पैदा हो। headtopics.com

Olympics 2020: भारत को मिला पहला पदक, वेट लिफ्टिंग में मीराबाई चानू को मिला सिल्वर मैडल ज्ञानवापी मस्जिद ने काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरडोर के लिए दी ज़मीन - BBC News हिंदी योगी सरकार का दावा- यूपी में साढ़े 4 साल में 6.65 लाख सरकारी नौकरियां दीं, टूटा SP-BSP का रिकॉर्ड

क्या है पूरा मामलाउत्तर प्रदेश की गाजियाबाद पुलिस ने लोनी इलाके में अब्दुल समद नाम के एक बुजुर्ग के साथ मारपीट और अभद्रता किए जाने का वीडियो वायरल होने के बाद FIR दर्ज की थी। इन सभी पर घटना को गलत तरीके से सांप्रदायिक रंग देने की वजह से यह एक्शन लिया गया। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में दिख रहा है कि एक बुजुर्ग मुस्लिम को पीटा गया और उसकी दाढ़ी काट दी गई।

पुलिस के मुताबिक, मामले की सच्चाई कुछ और ही है। पीड़ित बुजुर्ग ने आरोपी को कुछ ताबीज दिए थे, जिनके परिणाम न मिलने पर नाराज आरोपी ने इस घटना को अंजाम दिया। लेकिन, ट्विटर ने इस वीडियो को मैन्युप्युलेटेड मीडिया का टैग नहीं दिया। पुलिस ने यह भी बताया कि पीड़ित ने अपनी FIR में जय श्री राम के नारे लगवाने और दाढ़ी काटने की बात दर्ज नहीं कराई है।

जिन लोगों पर मामला दर्ज किया गया है, उनमें अय्यूब और नकवी पत्रकार हैं, जबकि जुबैर फैक्ट चेकिंग वेबसाइट ऑल्ट न्यूज का लेखक है। डॉ. शमा मोहम्मद और निजामी कांग्रेस नेता हैं। वहीं, अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष उस्मानी को कांग्रेस ने पिछले साल अक्टूबर-नवंबर में बिहार विधानसभा चुनाव में उम्मीदवार के रूप में उतारा था।

घटना पर सियासत भीमामले में सियासत भी हो रही है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मंगलवार को कहा कि ऐसी क्रूरता समाज और धर्म दोनों के लिए शर्मनाक है। उन्होंने ट्वीट किया कि मैं यह मानने को तैयार नहीं हूं कि श्रीराम के सच्चे भक्त ऐसा कर सकते हैं। ऐसी क्रूरता मानवता से कोसों दूर है और समाज व धर्म दोनों के लिए शर्मनाक है। headtopics.com

इसका जवाब देते हुए UP के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट किया, 'प्रभु श्रीराम की पहली सीख है- सत्य बोलना, जो आपने कभी जीवन में किया नहीं। शर्म आनी चाहिए कि पुलिस द्वारा सच्चाई बताने के बाद भी आप समाज में जहर फैलाने में लगे हैं।' और पढो: Dainik Bhaskar »

10तक: केंद्र नहीं करती दो बच्चों की नीति का समर्थन, BJP शाषित राज्यों में क्यों आया कानून?

यूपी सरकार जनसंख्या नियंत्रण नीति लेकर आ चुकी है. असम के मुख्यमंत्री भी आबादी कंट्रोल करने वाले कानून के लिए प्रबल समर्थक हैं. एमपी के कई मंत्री, विधायक मांग कर रहे हैं कि आबादी नियंत्रण कानून लाया जाए. लेकिन केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने संसद में लिखित जवाब दिया कि टू चाइल्ड पॉलिसी यानी दो बच्चों की नीति लाने का कोई इरादा केंद्र सरकार का नहीं है. तो जब केंद्र की सरकार ही नीति का समर्थन नहीं करती तो फिर राज्यों में बीजेपी की सरकार क्या सिर्फ धर्म के आधार पर वोटों के ध्रुवीकरण वाली राजनीति के लिए जनसंख्या नियंत्रण कानून का इस्तेमाल करना चाहते हैं? देखें 10तक.

ghaziabadpolice save_Guest_Teacher_For_MP आपने ही गंगा मैया जैसे पवित्र हाथों से 14 वर्ष पहले जो पौधा लगाया गया है आज दर दर नियमित रोजगार के लिये भटक रहा है। अब तो कई साथी जिंदगी की जंग हारने लगे है , लेकिन बूढे माँ बाप को आज भी आप पर भरोसा है। कि आप नियमित करेगे OfficeofSSC ZeeMPCG JM_Sci

हरियाणा: युवक की हिरासत में मौत के आरोप में 12 पुलिसकर्मियों के ख़िलाफ़ केस दर्जपरिजनों का आरोप है कि 24 वर्षीय जुनैद को ग़लत तरीके से बीते 31 मई को फ़रीदाबाद की साइबर पुलिस ने हिरासत में लिया गया था और इस दौरान उन्हें बुरी तरह से प्रताड़ित किया गया, जिससे उनकी मौत हो गई. हालांकि पुलिस ने आरोप से इनकार करते हुए कहा है कि जुनैद की मौत किडनी संबंधी दिक्कत की वजह से हुई. मगर अफसोस सब के सब छूट जायेंगें ,गवाही नही मिलेगी .

दिल्ली में 22 फरवरी के बाद एक दिन में सबसे कम कोरोना के नए मामलेDelhi Coronavirus Update: दिल्ली में कोरोना के नए मामले 22 फरवरी के बाद सबसे कम सामने आए. दिल्ली में सोमवार को समाप्त 24 घंटों में कोविड के 131 नए मामले सामने आए और 16 मरीजों की मौत हो गई. यह 22 फरवरी के बाद एक दिन में सबसे कम नए मामले हैं. मौतें 5 अप्रैल के बाद एक दिन में सबसे कम हुई हैं. दिल्ली में पॉजिटिविटी रेट 0.22% है जो कि 21 फरवरी के बाद सबसे कम है. 19 मार्च के बाद सबसे कम एक्टिव मामले हैं. यूपी में चुनाव होने वाले हैं न इसलिए कोविड 19 कम हो रहे है।।।

नागपुर में वारदात: सात साल की बच्ची के साथ स्कूल के शौचालय में दुष्कर्म, आरोपी गिरफ्तारमहाराष्ट्र के नागपुर जिले में स्कूल के शौचालय में सात साल की बच्ची के साथ कथित तौर पर दुष्कर्म करने के आरोप में एक व्यक्ति Kha gya knoon vyavstha kha gaye lagata hai aage bhi aisa hi hoga jab koi baat sunta nahi hai is des ka pradhanmantri modi khuch keh ta nahi kya desh ko sabhal raha hai apni apni bhan betiyo ko drindo se vachao veti hai to sab khuch hai

Elon Musk के ट्वीट के बाद Bitcoin के भाव में फिर हुई बढ़ोतरी, जानें लेटेस्ट कीमतएलन मस्क के ट्वीट के बाद Bitcoin की कीमत में 9 प्रतिशत का उछाल आया है। इसकी वजह

ट्विटर का लीगल प्रोटेक्शन खत्म: सुरक्षा हटने के बाद गाजियाबाद केस में ट्विटर समेत 9 लोगों पर FIR, घटना को सांप्रदायिक रंग देने का आरोपगाजियाबाद में पुलिस ने ट्विटर इंडिया और 2 कांग्रेस नेता समेत 9 लोगों के खिलाफ FIR दर्ज की है। FIR मामले को सांप्रदायिक रंग देने के आरोप में दर्ज की गई है। ट्विटर पर आरोप है कि पुलिस द्वारा मामला पूरी तरह से स्पष्ट किए जाने के बावजूद ट्विटर ने गलत ट्वीट को हटाने के लिए कोई कदम नहीं उठाया। पुलिस ने मामले में मोहम्मद जुबैर, राना अय्यूब, द वायर, सलमान निजामी, मसकूर उस्मानी, समा मोहम्मद, सबा नकवी, ट्वि... | FIR Against Twitter India And Two Congress Leaders For Falsely Giving Communal Colour To An Incident In Uttar Pradesh ghaziabadpolice अब तो गयी भैंस पानी में अगर ये ऑप्सन सभी social media से ले लिया जाये तो कितना फायदा होगा। अफवाहों पर लगेगी लग़ाम ghaziabadpolice Narangi khatmal ab Hitler ki tarah tanashahi par utar aaye hain ghaziabadpolice

गौतम अडानी के Adani Group के शेयरों में गिरावट, अडाणी एंटरप्राइजेज 25% टूटाअडाणी ग्रीन एनर्जी पांच प्रतिशत गिरकर 1,165.35 रुपये पर, अडाणी टोटल गैस पांच प्रतिशत गिरकर 1,544.55 रुपये पर, अडाणी ट्रांसमिशन पांच प्रतिशत गिरकर 1,517.25 रुपये पर और अडाणी पावर 4.99 प्रतिशत गिरकर 140.90 रुपये पर आ गए। इन सभी शेयरों ने अपनी निचली सर्किट सीमा को पार कर लिया। फर्जी महल टूटता भी जल्दी है ढहता भी जल्दी है अभी तो 2024 आने दो