Lifeınsurance, Termplan, Saraljeevanbima, Lic, Simple Life İnsurance, Life İnsurance, İnsurance, Term Plans, Business News İn Hindi, Banking Beema News İn Hindi, Banking Beema Hindi News

Lifeınsurance, Termplan

टर्म प्लान से मंहगे हो सकते हैं सरल जीवन बीमा उत्पाद

टर्म प्लान से मंहगे हो सकते हैं सरल जीवन बीमा उत्पाद #LifeInsurance #TermPlan #SaralJeevanBima

16-01-2021 04:49:00

टर्म प्लान से मंहगे हो सकते हैं सरल जीवन बीमा उत्पाद LifeInsurance TermPlan SaralJeevanBima

1 जनवरी 2021 को सभी कंपनियों को नए उत्पाद बाजार में उतारने भी थे, लेकिन कीमतों को लेकर चल रही रसाकस्सी की वजह से इसमें देरी

कंपनियों का कहना है कि नए उत्पाद पर जोखिम ज्यादा होने से इसकी कीमतें बढ़ सकती हैं। बीमा उत्पादों के शोध प्लेटफॉर्म बेशक, ऑर्ग के संस्थापक महावीर चोपड़ा ने कहा कि टर्म बीमा उत्पाद लाने से पहले कंपनियां उसके भौगोलिक प्रसार, आय वर्ग उपभोक्ताओं के निवास, रोजगार व शिक्षा स्तर का मूल्यांकन करती हैं।

राकेश टिकैत का बयान, सरकार के लिए चेतावनी या बेचैनी? - BBC News हिंदी निजीकरण के पक्ष में बोले पीएम मोदी, बिज़नस चलाना सरकार का काम नहीं-आज की बड़ी ख़बरें - BBC Hindi कोरोना: एक मार्च से सरकारी केंद्रों पर बुजुर्गों को मिलेगा मुफ़्त वैक्सीन-आज की बड़ी ख़बरें - BBC Hindi

इससे उत्पाद पर जोखिम के आकलन में आसानी होती है। सरल बीमा उत्पाद के साथ ऐसा कोई दायरा नहीं है। लिहाजा इस पर जोखिम ज्यादा रहा तो दाम भी ज्यादा हो सकते हैं।बीमा क्षेत्र की जानकार स्वीटी मनोज जैन ने बताया कि वह क्षेत्र पूरी तरह जोखिम के आकलन पर काम करता है।अगर किसी उत्पाद पर जोखिम ज्यादा दिखा तो कंपनियां इसकी भरपाई के लिए कीमतें ऊंची रख सकती हैं। यही कारण है कि तय 1 जनवरी तक ये उत्पाद नहीं आ सके हैं।

सिर्फ एडलवीज ने उतारा, लेकिन दोगुना दामएडलवीज टोक्यो लाइफ इंश्योरेंस ने पहला सरल जीवन बीमा उत्पाद उतारा है। कंपनी 5 लाख से 25 लाख रुपये तक बीमा कवर दे रही है। कंपनी की वेबसाइट के अनुसार, 30 साल के व्यक्ति के लिए 30 साल की अवधि तक 25 लाख का सरल जीवन बीमा उत्पाद 727 रुपये मासिक प्रीयियम पर मिल रहा है। एडलवीज का ही समान अवधि और आयु वर्ग के लिए 25 लाख का टर्म इंश्योरेंस प्लान जिंदगी प्लास 390 रुपये मासिक प्रीमियम पर उपलब्ध है। headtopics.com

बीमा क्षेत्र की पहुंच बढ़ेगी: विशेषज्ञइंश्योरेंस ब्रोकर सिक्योरनाऊ.इन के प्रबंध निदेशक अभिषेक के अनुसार बाजार में अभी 5 लाख रुपये का कवर देने वाला कोई जीवन बीमा उत्पाद नहीं है। साथ ही इसमें शिक्षा या रोजगार की बंदिश नहीं होने से हर वर्ग और क्षेत्र का ग्राहक खरीद सकता है। लिहाजा सरल जीवन बीमा उत्पादों की पहुंच निश्चित तौर पर बढ़ेगी। बाजार में अभी सबसे कम 25 लाख सम एश्योर्ड और 10 साल अवधि वाले बीमा उत्पाद ही मौजूद हैं।

जीवन बीमा उत्पादों की पहुंच बढ़ाने के लिए इरडा ने सभी कंपनियों को सरल उत्पाद लाने का निर्देश दिया था। हो रही है।विज्ञापनकंपनियों का कहना है कि नए उत्पाद पर जोखिम ज्यादा होने से इसकी कीमतें बढ़ सकती हैं। बीमा उत्पादों के शोध प्लेटफॉर्म बेशक, ऑर्ग के संस्थापक महावीर चोपड़ा ने कहा कि टर्म बीमा उत्पाद लाने से पहले कंपनियां उसके भौगोलिक प्रसार, आय वर्ग उपभोक्ताओं के निवास, रोजगार व शिक्षा स्तर का मूल्यांकन करती हैं।

इससे उत्पाद पर जोखिम के आकलन में आसानी होती है। सरल बीमा उत्पाद के साथ ऐसा कोई दायरा नहीं है। लिहाजा इस पर जोखिम ज्यादा रहा तो दाम भी ज्यादा हो सकते हैं।बीमा क्षेत्र की जानकार स्वीटी मनोज जैन ने बताया कि वह क्षेत्र पूरी तरह जोखिम के आकलन पर काम करता है।अगर किसी उत्पाद पर जोखिम ज्यादा दिखा तो कंपनियां इसकी भरपाई के लिए कीमतें ऊंची रख सकती हैं। यही कारण है कि तय 1 जनवरी तक ये उत्पाद नहीं आ सके हैं।

सिर्फ एडलवीज ने उतारा, लेकिन दोगुना दामएडलवीज टोक्यो लाइफ इंश्योरेंस ने पहला सरल जीवन बीमा उत्पाद उतारा है। कंपनी 5 लाख से 25 लाख रुपये तक बीमा कवर दे रही है। कंपनी की वेबसाइट के अनुसार, 30 साल के व्यक्ति के लिए 30 साल की अवधि तक 25 लाख का सरल जीवन बीमा उत्पाद 727 रुपये मासिक प्रीयियम पर मिल रहा है। एडलवीज का ही समान अवधि और आयु वर्ग के लिए 25 लाख का टर्म इंश्योरेंस प्लान जिंदगी प्लास 390 रुपये मासिक प्रीमियम पर उपलब्ध है। headtopics.com

नौदीप के साथ गिरफ़्तार शिव कुमार की मेडिकल जाँच में गंभीर चोट के निशान - BBC News हिंदी पेट्रोल और घरेलू गैस के बढ़ते दामों का आपकी जेब पर कितना असर होगा? - BBC News हिंदी कार्टून: तुम भी असहमत हम भी असहमत - BBC News हिंदी

बीमा क्षेत्र की पहुंच बढ़ेगी: विशेषज्ञइंश्योरेंस ब्रोकर सिक्योरनाऊ.इन के प्रबंध निदेशक अभिषेक के अनुसार बाजार में अभी 5 लाख रुपये का कवर देने वाला कोई जीवन बीमा उत्पाद नहीं है। साथ ही इसमें शिक्षा या रोजगार की बंदिश नहीं होने से हर वर्ग और क्षेत्र का ग्राहक खरीद सकता है। लिहाजा सरल जीवन बीमा उत्पादों की पहुंच निश्चित तौर पर बढ़ेगी। बाजार में अभी सबसे कम 25 लाख सम एश्योर्ड और 10 साल अवधि वाले बीमा उत्पाद ही मौजूद हैं।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?हांखबर की भाषा और शीर्षक से आप संतुष्ट हैं?हांखबर के प्रस्तुतिकरण से आप संतुष्ट हैं?हांखबर में और अधिक सुधार की आवश्यकता है? और पढो: Amar Ujala »

जयपुर में बेरोजगारों की महापंचायत, MP में Corona नहीं लग रहा भ्रष्टाचार का टीका? देखें दस्तक

जयपुर में बेरोजगार पिछले 3 दिनों से अनशन पर हैं. दावा है कि गहलोत सरकार अभी तक उनसे बातचीत का वक्त नहीं निकाल पाई है. वहीं मध्यप्रदेश में कल एक बड़ा सड़क हादसा हुआ. बस का ड्राइवर गलत रूट पर बस को ले गया. संतुलन खोने से बस नहर में गिर गई. ये हादसा कैसे हुआ, कौन इसके लिए जिम्मेदार है, इसकी जांच हो रही है. हादसे ने देश के सामने एक बड़ा सवाल खड़ा कर दिया है और वो ये कि सरकारी नौकरी का एग्जाम परीक्षार्थी के अपने शहर में क्यों नहीं होता? क्यों परीक्षा देने वाले नौजवानों को अपने ही देश में भटकना पड़ता है? वहीं मध्यप्रदेश में कोरोना वैक्सीन के टीकाकरण को लेकर बड़ी लापरवाही सामने आई है. स्वास्थ्य विभाग ने बड़ी गलती पकड़ते हुए ऐसे करीब एक लाख 37 हजार कर्मचारियों की सूची तैयार की है जिसमे एक ही मोबाइल नंबर कई सारे फ्रंटलाइन वर्कर्स और हेल्थ केयर वर्कर्स के आगे लिख दिए गए हैं. अब सरकार बोल रही है कि उसकी सतर्कता से गलती पकड़ी गई है जबकि विपक्ष इसमे घोटाले का आरोप लगा रहा है. देखें दस्तक, रोहित सरदाना के साथ.