जॉर्ज फ़्लॉयड के साथ आख़िरी 30 मिनट में क्या क्या हुआ था?

जॉर्ज फ़्लॉयड के साथ आख़िरी 30 मिनट में क्या क्या हुआ था?

31-05-2020 14:52:00

जॉर्ज फ़्लॉयड के साथ आख़िरी 30 मिनट में क्या क्या हुआ था?

उनकी मौत अमरीका में एक बड़ा मुद्दा बन गई है और देश भर में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं.

शेयर पैनल को बंद करेंइमेज कॉपीरइटTWITTER/RUTH RICHARDSONअमरीका के मिनेसोटा राज्य में पुलिस के हाथों एक निहत्थे काले नागरिक की मौत के बाद देश भर में विरोध-प्रदर्शन हो रहे हैं.पुलिस हिरासत में मरने वाले 46 वर्षीय जॉर्ज फ़्लॉयड का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें एक पुलिसकर्मी डेरेक शैविन को घुटना टेककर उनकी गर्दन दबाते हुए देखा जा सकता है, वो भी तब, जब जॉर्ज उनसे कह रहे हैं कि"उन्हें सांस नहीं आ रही है."

फिंगर 4 से 5 की तरफ बढ़ी चीनी सेना, सैटेलाइट तस्वीरों से हुई तस्दीक: सूत्र शरद पवार का BJP पर तंज, 'जब जनता ने इंदिरा गांधी और अटल बिहारी वाजपेयी जैसे मजबूत नेताओं...' वॉरेन बफे से ज्यादा दौलतमंद हुए मुकेश अंबानी, Jio में निवेश का मिला फायदा

डेरेक पर इस मामले में हत्या का मामला दर्ज किया गया है.जॉर्ज की मौत के वक्त के आख़िरी 30 मिनट में क्या हुआ था. यह वहाँ मौजूद लोगों, वीडियो फुटेज़ और आधिकारिक बयान के आधार पर बीबीसी ने जानने की कोशिश की है.इस पूरे मामले की शुरुआत 20 डॉलर के जाली नोट के इस्तेमाल की रिपोर्ट से हुई थी. 25 मई के शाम को जॉर्ज ने एक किराने की दुकान से सिगरेट खरीदा था.

उस वक्त दुकान में मौजूद स्टाफ़ को लगा कि जॉर्ज जाली नोट दे रहे हैं और उसने इसकी रिपोर्ट करने के लिए पुलिस को आठ बजकर एक मिनट के क़रीब फ़ोन किया.इमेज कॉपीरइटGetty Imagesउसने कॉल कर कहा कि मैं वापस सिगरेट मांग रहा हूँ तो जॉर्ज देना नहीं चाह रहे हैं. उस स्टाफ़ ने यह भी कहा कि 'जॉर्ज ने शराब पी रखी है और अपने क़ाबू में नहीं हैं.'

यह सारी बातें अधिकारियों की ओर से जारी किए गए ट्रांस्क्रीप्ट से पता चला है.इस कॉल के कुछ ही देर के बाद क़रीब आठ बजकर आठ मिनट पर दो पुलिस वाले वहाँ पहुँच गए. जॉर्ज दो अन्य लोगों के साथ किनारे खड़ी गाड़ी में बैठे हुए थे.उनमें से एक पुलिस अधिकारी थॉमस लेन ने कार की ओर बढ़ते हुए अपनी बंदूक निकाल ली

और जॉर्ज को हाथ खड़ा करने को कहा. घटना के बारे में बताते वक्त अभियोजन पक्ष यह नहीं बता सका कि थॉमस लेन को क्यों लगा था कि बंदूक निकालना ज़रूरी है.हालांकि अभियोजन पक्ष ने यह ज़रूर कहा कि थॉमस लेन ने जॉर्ज का हाथ पकड़कर उन्हें कार से बाहर खींचा था और फिर तब फ्लॉयड ने हथकड़ी लगाए जाने का विरोध कर रहे थे.

थॉमस लेन का कहना है कि वो जाली नोट के इस्तेमाल को लेकर जॉर्ज को गिरफ़्तार कर रहे थे लेकिन जॉर्ज इसका विरोध कर रहे थे.इमेज कॉपीरइटReutersरिपोर्ट के मुताबिक जॉर्ज ज़मीन पर गिर गए और पुलिस को कहने लगे कि उन्हें क्लॉस्टेरोफोबिया (इसमें किसी शख़्स को बंद जगह से डर लगता है) की समस्या है. तभी वहाँ डेरेक पहुँचते हैं. वो और दूसरे पुलिस अधिकारी जॉर्ज को पुलिस कार में बिठाने की कोशिश करते हैं.

इस कोशिश के दौरान आठ बजकर 19 मिनट पर डेरेक जॉर्ज को घुटने टेककर दबा देते है. वो वहीं हथकड़ी बंधे मुंह के बल ज़मीन पर गिरे रहते हैं.तभी वहाँ मौजूद प्रत्यक्षदर्शियों ने उनका वो वीडियो बनाना शुरू कर दिया जो सोशल मीडिया पर खूब शेयर किया गया है. जब डेरेके गर्दन दबाए हुए थे तब दूसरे पुलिस वाले जॉर्ज को पकड़ रखे थे.

प्रशांत किशोर ने CM नीतीश कुमार से कहा- चुनाव का नहीं, ये कोरोना से लड़ने का वक्त है विकास दुबे के मारे जाने के बाद अब खंगाली जाएगी दौलत, ED ने मांगा संपत्ति का ब्योरा BSNL यूज़र्स एडवांस में कर सकते हैं अपने अकाउंट को रीचार्ज, कंपनी ने शुरू की नई सुविधा

इस दौरान जॉर्ज कह रहे थे कि मुझे सांस नहीं आ रही है. वो अपनी मां का वास्ता दे रहे थे और ख़ुद को छोड़ने की गुहार लगा रहे थे.अभियोजन पक्ष की रिपोर्ट में कहा गया है कि डेरेक आठ बजकर 46 मिनट तक जॉर्ज की गर्दन दबाए रखे थे.इमेज कॉपीरइटReutersइसमें से करीब छह मिनट तक जॉर्ज शांत पड़े रहे थे. वीडियो में दिख रहा है कि पास से गुजरने वाले लोगों ने जॉर्ज को शांत पड़ा देखकर पुलिस वालों से उनके नब्ज की पड़ताल करने को कहा.

आठ बजकर 27 मिनट पर डेरेक ने उनकी गर्दन से अपना घुटना हटाया. इसके बाद शांत हो गए जॉर्ज को अस्पताल ले जाया गया जहाँ उन्हें एक घंट के बाद मृत घोषित कर दिया गया.किराना दुकान के मालिक ने कहा है कि जॉर्ज अक्सर वहाँ आया करते थे. दुकान के मालिक माइक अबुमाएला उस दिन दुकान पर नहीं आए थे और उनकी जगह पर उनका स्टाफ़ दुकान पर था. वो जॉर्ज के बारे में कहते हैं कि उन्होंने कभी भी कोई परेशानी नहीं उत्पन्न की थी.

जॉर्ज वास्तव में टेक्सास के हाउसटन से सालों पहले मिनेसोटा के मिनीपोलिस आ गए थे. वो यहाँ एक बाउंसर के तौर पर काम कर रहे थे लेकिन कोरोना की वजह से लाखों बेरोजगार हुए लोगों की तरह उनकी भी नौकरी चली गई थी. और पढो: BBC News Hindi »

पूर्व में हुई कई घटनाओं से पता चलता है कि अमेरिका में काले गोरे का भेद हमेशा से ही रहा है, अमेरिकी के उस नाबालिग काले बच्चे का केस याद आता है जिसे अधूरी सुनवाई के बाद फांसी दे दी गई थी। I_am_Anil_Tyagi हर जगह तानाशाही चल रही है ।ताकतवर आदमी कमजोर आदमी को दबा रहा है। It is very easy to be critic of contrasting views of Gandhi and Shankaracharya but it is difficult to find the truth.

America is burning in election time . It is effect of famous modi's formula Biased BBC News पर हम ये भी नहीं कह सकते कि इसने गलती नहीं की होगी,पुलिस भी जब अति हो जाती है तब ही कड़क एक्शन लेती है आज भी ऐसी घटना बहुत ही दुखदाई है हमारे यहाँ तो पहलू खान हाफ़िज जुनैद, अख्लाक, तबरेज, रकबर जैसे कई सौ लोगों का शहीद कर दिया गया लेकिन सब सननाटा सा है

अमेरिका , घमंडीओं और चूतीयों का देश। Hang that police man immediately अरे दोगलो अपने देश मे जिहादियो पर चुप रहते हो अमरीका ऐसे ही पेलेगा कुछ नही उखाड़ पाओगे Prestitute. 'काले' आप को ऐसे post डालने से बचना चाहिए। Black ko black likho na hindi me इसमें पुलिस की गलती तो है लेकिन डायरेक्ट और इनडायरेक्ट बीबीसी सीएनएन जैसी न्यूज़ चैनल का बहुत बड़ा हाथ है दंगा फैलाने में

भारत में मनुवाद और अमरीका में नस्लवाद को मौजूदा दौर में सत्ता का संरक्षण प्राप्त है। वर्तमान सत्ताधारी खतरनाक मानसिकता वाले लोग हैं, जिन्हें मानवीय संवेदनाओं और मूल्यों का एहसास नहीं होता है। BlackLivesMatter मनुवादी_मानसिकता Ye galat bat h kisi ko bhi bina kisi sabut ke aise nhi krna chahiye तिल का ताड बनाना तो कोई बीबीसी से सीखे।

Aisa to hamare yaha har hafte hota hai अमेरिका पुलिस ने किस तरीके से मानवाधिकार का उल्लंघन किया है आप देख सकते हैं वहा के कुछ अश्वेत गुडों जैसा वर्ताव करते है। सभी जो मालूम है। बीबीसी अपने रिपोर्ट मे लिखा की 8:46 तक गर्दन दबा कर रखी फिर तुमने दोबारा लिखा की 8:27 तक मतलब खुद कन्फर्म नही हो पुलिसकर्मियों की भूमिका नितांत निंदनीय थी, मगर जिसने अमेरिका देखा है वह इस बात से भी भली भांति वाकिफ होगा कि अफ्रीका मूल के अश्वेत लोग कानून को बहुत हल्के मे लेते हैं।

Next time choose your leader wisely!

30 जून महाराष्ट्र में लॉकडाउनः क्या खुलेगा और क्या नहीं, देखें गाइडलाइंस मेंठाकरे सरकार ने इसे लेकर गाइडलाइंस भी जारी की हैं। सरकार द्वारा जारी किए गए दिशा-निर्देश के अनुसार आवश्यक गतिविधियों को छोड़कर रात 9 बजे से सुबह 5 बजे के बीच लोगों की आवाजाही पर सख्ती से प्रतिबंध रहेगा। लोकल ट्रेन कभी चलेगी प्राइवेट ऑफिस कभी से खुलेंगे , सिनेमा हॉल कभी से खुलेंगे स्कूल कभी से खुलेंगे ,

लॉकडाउन 5.0 में क्या रहेगा बंद, क्या रहेगा खुला: प्रेस रिव्यूएम्स में अब तक 205 कर्मचारी कोरोना पॉज़िटिव पाए गए और मज़दूरों के मुद्दे के लेकर कांग्रेस ने साधा बीजेपी पर निशाना. पढ़िए प्रेस रिव्यू घर जाने की आस लगाए बैठे हैं कर्मयोगी तुच्छ राजनीति की चक्की में पिस गए ये वियोगी। धूप में नंगे पांव चलते प्रवासी मजदूरों का रैला बाहर गर्मी का प्रकोप भीतर क्षुधा की ज्वाला कहते है नौनिहालों को जो भारत का भविष्य टीवी चैनलों के कमरों में बैठ कर डिबेट से तय करते वो देश की तकदीर कल मालूम हो जाएगा लॉकडाउन 1.0 न आप ये कर सकते हैं न वो कर सकते हैं। लॉकडाउन 2.0 आप ये कर सकते हैं पर वो नहीं कर सकते । लॉकडाउन 3.0 आप वो कर सकते हैं पर ये नहीं कर सकते । लॉकडाउन 4.0 आप ये-वो कर सकते हैं पर वो-ये नहीं कर सकते । लॉकडाउन 5.0 आपको जो करना है करो, हम कुछ नहीं कर सकते

UNLOCK1: स्कूल, सैलून, शॉपिंग मॉल्स, अनलॉक-1 में जानें क्या खुलेगा क्या नहींUNLOCK1: स्कूल, सैलून, शॉपिंग मॉल्स : लॉकडाउन 5.0 में जानें क्या खुलेगा क्या नहीं अभी तक यह नहीं खुलने चाहिए अभी तो करोना वायरस का फ़ेज़ सैकिंड शुरू होने वाला है। स्कूल खोलने वाली सरकार संसद नहीं खोलना चाहती है क्यो

जॉर्ज फ्लोएड की मौत के बाद मिनियापोलिस के बाहर भड़की हिंसा, जानें क्या है पूरा मामला?जॉर्ज फ्लोएड की मौत के बाद मिनियापोलिस के बाहर भड़की हिंसा, जानें क्या है पूरा मामला? GeorgeFlyod GeorgeFloydProtests

कोरोना वायरस: भारत में संक्रमण को रोकने में असल समस्या क्या है?कोरोना वायरस के ख़िलाफ़ जंग में भारत कहां खड़ा है, बता रहे हैं बीबीसी संवाददाता सौतिक बिस्वास. All the BJP supporters of India not just LIKE but also FOLLOW this account to support BJP.We have to grow this account and need your support. Jai Shri Ram. Land per khada hai... असल समस्या मोदी है

यूपी में 275 नए कोरोना पॉजिटिव मिले, आगरा में तीन दिन में 6 की मौतUttar Pradesh (UP), Uttarakhand Coronavirus News Live Updates, UP Corona Cases District Wise Today News Update: यूपी का आगरा जिला कोरोना का हॉटस्पॉट बना हुआ है। शुक्रवार को यहां एक व्यक्ति की संक्रमण के चलते मौत हो गई, यह आगरा में पिछले तीन दिनों में कोरोना के चलते छठी मौत है।

PM CARES फंड की जांच नहीं करेगी लोक लेखा समिति, BJP ने रोका रास्ता विकास दुबे की मुठभेड़ में मौत, कानपुर लाते समय गाड़ी पलटने पर की थी भागने की कोशिशः उत्तर प्रदेश पुलिस विकास दुबे के एनकाउंटर पर बोले अखिलेश यादव- 'कार नहीं पलटी है, राज़ खुलने से सरकार पलटने से बचाई गई है' कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए UP में शुक्रवार रात से सोमवार सुबह तक लागू होगा लॉकडाउन न टायरों के निशान-न शीशों को नुकसान... कैसे पलटी विकास दुबे की गाड़ी? राहुल गांधी का ट्वीट - 'कई जवाबों से अच्छी है ख़ामोशी उसकी', क्या विकास दुबे मुठभेड़ की ओर है इशारा...? विकास दुबे: 'मुठभेड़' में इतने इत्तेफ़ाक़! ऐसा कैसे? Coronavirus पर WHO का बयान- कोरोना पर कर सकते हैं काबू, मुंबई के धारावी का दिया उदाहरण राहुल गांधी की मांग, चीनी घुसपैठ की शिनाख्त के लिए स्वतंत्र फैक्ट-फाइंडिंग मिशन की अनुमति दी जाए UP Lockdown News : उत्तर प्रदेश में कल रात से फिर लॉकडाउन, तीन दिन सब कुछ रहेगा बंद देश में बीते 24 घंटे के भीतर आए सबसे अधिक 27,114 नए मामले, 519 लोगों की मौत