जेआरडी टाटा जिन्होंने एयर इंडिया को शिखर तक पहुंचाया - BBC News हिंदी

जेआरडी टाटा जिन्होंने एयर इंडिया को शिखर तक पहुंचाया - विवेचना

31-07-2021 05:03:00

जेआरडी टाटा जिन्होंने एयर इंडिया को शिखर तक पहुंचाया - विवेचना

29 जुलाई को जेआरडी टाटा को की 117वीं जयंती थी. उन्हें एयर इंडिया को बुलंदियों तक पहुंचाने का श्रेय दिया जाता है. भारत और फ्रांस दो देशों के सर्वोच्च नागरिक सम्मान से सम्मानित जेआरडी टाटा की कहानी बता रहे हैं रेहान फ़ज़ल विवेचना में.

बंगाल के गवर्नर जैकसन को सुनाई खरीखोटीजेआरडी और थेली अपने हनीमून के लिए दार्जिलिंग गए और वो भी जाड़े में. जिस दिन वो वहाँ से कार से वापस आ रहे थे बंगाल के गवर्नर सर स्टेनली जैकसन भी कार से कलकत्ता लौट रहे थे. जब उनकी कारों का काफ़िला गुज़रने वाला था तो पुलिस ने सुरक्षा कारणों से टाटा की कार को रोक दिया.

राजस्व में कमी की भरपाई के लिए दूसरी छमाही में 5.03 लाख करोड़ रुपये का कर्ज लेगी सरकार दिग्विजय के शिशु मंदिर वाले बयान पर होगी FIR: राष्ट्रीय बाल आयोग ने DGP को लिखा पत्र; कहा- पूर्व CM के बयान से बच्चों के सम्मान को ठेस पहुंची, FIR दर्ज करें यूपी : CM योगी ने नवनियुक्त मंत्रियों को बांटे विभाग, जानें- किसको क्या मिला?

गिरीश कुबेर अपनी किताब 'टाटाज़ हाउ अ फ़ेमिली बिल्ट अ बिज़नेस एंड अ नेशन' में लिखते हैं, "उस दिन बहुत सर्दी थी. इसके बावजूद जेआरडी की कार को एक घंटे से भी अधिक समय तक रोके रखा गया. उन्होंने व उनकी पत्नी ने इसका विरोध करने की योजना बनाई."

"जैसे ही गवर्नर की कार वहाँ पहुंची, थेली उसके सामने जा कर खड़ी हो गईं. जेआरडी गवर्नर की खिड़की के पास पहुंच कर ज़ोर से चिल्लाए , 'आप अपनेआप को समझते क्या हैं जो आपने इतनी भयानक सर्दी में एक घंटे से 500 लोगों, औरतों और बच्चों को रोक रखा है? यू डैम फ़ूल." headtopics.com

इमेज स्रोत,Haiper Collinsदिलफेंक भी थे जेहसुंदर थेली की ज़िंदगी ताउम्र अपने पति के इर्दगिर्द गुज़री लेकिन जेआरडी की दूसरी महिलाओं में रुचि हमेशा रही. अस्सी की उम्र में भी जब कोई सुँदर चेहरा उनके आसपास नज़र आ जाता था तो जेह की आँखों में चमक आ जाया करती थी.

मशहूर नेता मीनू मसानी के बेटे ज़रीर मसानी अपनी आत्मकथा 'एंड ऑल इज़ सेड मेमॉएर ऑफ़ द होम डिवाइडेड' में लिखते हैं, "मेरे माता पिता टाटा दंपत्ति के घर के पास रहते थे और मीनू टाटा के एक्ज़क्यूटिव असिस्टेंट के तौर पर काम करते थे. जेआरडी की शादी सुखद नहीं थी. वो अपनी पत्नी के प्रति वफ़ादार नहीं थे. उनके फ़्रेंच व्यक्तित्व और एक्सेंट या लहजे की वजह से बहुत सी सुंदर महिलाएं उनकी तरफ़ आकर्षित होती थीं. बाद में मुझे पता चला कि उनमें से एक मेरी माँ भी थीं."

लेकिन इसके बावजूद जेआरडी ने कभी भी अपनी पत्नी को छोड़ने के बारे में नहीं सोचा.इमेज स्रोत,PENGUIN BOOKSसुमंत मुलगाँवकर थे जेह के सबसे नज़दीकसिर्फ़ 34 साल की उम्र में जेह को पूरे टाटा समूह की ज़िम्मेदारी सौंप दी गई. जेआरडी ने एक से एक क़ाबिल लोगों को अपनी कंपनी में नौकरी दी या बोर्ड में.

उनमें शामिल थे जेडी चौकसी, नेहरू मंत्रिमंडल में मंत्री रहे जॉन मथाई, मशहूर कानूनविद नानी पालखीवाला, रूसी मोदी और सुमंत मुलगाँवकर.मुलगाँवकर टाटा के सबसे नज़दीक थे. उनको वो बहुत मानते थे और बकौल रतन टाटा उनसे कभी भी कोई जिसमें जेआरडी भी शामिल थे कोई सवाल नहीं करता था. यहाँ तक कि टाटा सुमो कार का नाम भी उन्हीं के नाम के पहले दो अक्षरों पर रखा गया था. लोगों को ग़लतफ़हमी है कि इस कार का नाम जापानी कुश्ती के नाम पर रखा गया है. headtopics.com

ट्रेन के सामने से युवती को बचाने का VIDEO: सुसाइड के इरादे से पटरी पर खड़ी हो गई MBA पास लड़की, ट्रेन आती देख ऑटो ड्राइवर ने खींचकर बचाई जान बच्ची के दुष्कर्मी-हत्यारे को फांसी की सजा: जज ने कहा- '8 साल की बच्ची खुद का बचाव नहीं कर सकती, उससे दुष्कर्म और हत्या राक्षसी काम है, ऐसे लोगों को समाज में जीने का कोई अधिकार नहीं' कोवैक्सिन की मंजूरी में और देरी होगी: WHO ने भारत बायोटेक से मांगी तकनीकी जानकारियां, भारतीयों के विदेश जाने पर फंसेगा पेंच

इमेज स्रोत,Tata Memorial Archivesटाटा की शराफ़त और सादगी के अनेक किस्सेअपने कर्मचारियों का ध्यान रखने के जेआरडी के बहुत से किस्से मशहूर हैं.इनफ़ोसिस के प्रमुख एनआर नारायणमूर्ति की पत्नी सुधा मूर्ति बताती हैं कि उन्होंने इंडियन इस्टीट्यूट ऑफ़ साइंस से स्नातक की डिग्री लेने के बाद टाटा की कंपनी टेलको में इंजीनियर की नौकरी का इश्तेहार देखा जिसमें लिखा था कि सिर्फ़ पुरुष इंजीनियर ही इस पद के लिए आवेदन भेज सकते हैं.

सुधा ने तुरंत जेआरडी को एक पोस्टकार्ड लिखा जिसमें उन्होंने इस इश्तेहार के लिए उनकी कंपनी को पुरातनवादी बताया.जेआरडी ने तुरंत हस्तक्षेप किया और उनको तार भेज कर न सिर्फ़ इंटरव्यू के लिए बुलाया गया बल्कि वो टाटा शॉप फ़्लोर पर काम करने वाली पहली महिला इंजीनयर भी बनीं.

इमेज स्रोत,Tata Memorial Archiveआठ साल बाद एक दिन वो बॉम्बे हाउज़ की सीढ़ियों पर जेआरडी के सामने पड़ गईं. जेआरडी इस बात से परेशान हुए कि वो अकेली हैं और उनके पति उन्हें लेने नहीं आए हैं और रात हो रही है. जेआरडी तब तक उनके साथ खड़े होकर उनसे बतियाते रहे जब तक उनके पति नारायणमूर्ति उन्हें लेने नहीं आ गए.

टाटा के प्रति सम्मान दिखाने के लिए सुधा मूर्ति अभी तक अपने दफ़्तर में टाटा की तस्वीर रखती हैं. टाटा की सादगी के भी बेइंतहा किस्से मशहूर हैं.हरीश भट्ट अपनी किताब 'टाटा लोग' में लिखते हैं, "कई बार अपने दफ़्तर जाने के रास्ते में वो बस स्टाप पर बस का इंतज़ार कर रहे अपने कर्मचारियों को अपनी कार में लिफ़्ट दिया करते थे. अपने शुरू के दिनों में वो अक्सर बस स्टाप पर अपनी कार रोक कर वहाँ खड़े लोगों से पूछते थे, क्या मैं आपको आगे कहीं छोड़ सकता हूँ. उस ज़माने में वो उतने मशहूर नहीं हुआ करते थे." headtopics.com

वीडियो कैप्शन,वीपी सिंह के पीएम बनने और इस्तीफ़ा देने की कहानी Vivechnaभारत के सबसे अमीर आदमी के पास पैसे नहींभारत में आज भी अगर किसी व्यक्ति की अमीरी का बखान किया जाता है तो उसकी तुलना टाटा या बिड़ला से की जाती है. लेकिन कम लोगों को पता है कि टाटा निजी तौर पर बहुत कम पैसे अपने पास रखते थे.

मशहूर पत्रकार कूमी कपूर अपनी किताब 'द इंटिमेट हिस्ट्री ऑफ़ पारसीज़' में डीपी धर के बेटे और नुसली वाडिया के नज़दीकी दोस्त विजय धर को बताती हैं कि 'जब जेआरडी की पत्नी अपने जीवन के अंतिम दिनों में बहुत बीमार थीं जो उन्होंने नुसली वाडिया को सलाह दी कि क्यों न जेआरडी थेली के लिए एक विडियो प्लेयर खरीद लें ताकि वो बिस्तर पर बैठे बैठे ही पिक्चर देख सकें. नुसली ने कहा जेआरडी कभी भी वीसीआर नहीं खरीदेंगें क्योंकि उनके पास इतने पैसे रहते ही नहीं हैं. न ही वो इसे उपहार के तौर पर स्वीकार करेंगे और न ही वो इसका बिल उन कंपनियों को भेजेंगे जिनके चेयरमैन वो खुद हैं.'

सिद्धू के सलाहकार का फिर कैप्टन पर हमला: पूर्व DGP मुस्तफा बोले- ऑपरेशन इंसाफ पूरा हुआ; खुदा के लहजे में बोलने वालों के घमंड पर वक्त खाक डाल गया नए राजपथ पर होगी अगले साल गंणतंत्र दिवस की परेड, तैयारियां जोरों पर नकल के लिए सैनिटरी नैपकिन में डिवाइस छुपाई: 8 सेमी के गैजेट में बना दिया मोबाइल फोन, लड़के-लड़कियों को इसे अंडरगारमेंट में छुपाना था; 25 लोगों को डेढ़ करोड़ में बेचा

विजय धर का यहाँ तक कहना है कि जेआरडी इतनी सादगी से रहते थे कि वो अपनी कमीज़ें खुद धोते थे. लेकिन जब उन्होंने ये बात इंदिरा गाँधी को बताई तो उन्होंने उसपर विश्वास नहीं किया.इमेज स्रोत,Westlandएयर इंडिया के छोटे से छोटे काम में बेहद दिलचस्पीभारत की आज़ादी के बाद जेआरडी ने भारत के लिए बहुत ऊँचे सपने देखे थे.

सामाजिक तौर पर वह नेहरू गांधी परिवार के बहुत करीब थे लेकिन उनके समाजवादी आर्थिक मॉडल से उन्हें घोर आपत्ति थी.इमेज स्रोत,Tata Memorial Archivesअगस्त 1953 में सरकार ने सभी 9 निजी हवाई कंपनियों का राष्ट्रीयकरण कर उनका एयर इंडिया इंटरनैशनल और इंडियन एयरलाइंस में विलय कर दिया.

जेह को इससे बहुत धक्का पहुंचा लेकिन ग़नीमत ये रही कि उन्हें एयर इंडिया का अध्यक्ष नियुक्त किया गया.एयर इंडिया के चेयरमैन के तौर पर उनके कामकाज में जेह की दिलचस्पी इतनी होती थी कि वो एयरलाइंस के जहाज़ों की खिड़कियों के पर्दे तक चुनने के लिए भी खुद जाते थे.

'सौ फूल खिलने दो': वो 11 नारे जिन्होंने चीन को बदल दियागिरीश कुबेर लिखते हैं, "एक बार उन्होंने एयर इंडिया के प्रबंध निदेशक के सी बाखले को पत्र लिखा था अगर आप खाने में अधिक अल्कोहल वाली बीयर परोसते हैं तो पेट भारी हो जाता है. इसलिए हल्की बियर सर्व करिए. मैंने नोट किया है कि हमारे जहाज़ो की कुरसियाँ ढ़ंग से पीछे नहीं मुड़ती हैं. कृपया उन्हें ठीक करवाइए. यह भी सुनिश्चित करिए कि जब भोजन परोसा जाए तो विमान की सभी लाइट्स ऑन रहें ताकि हमारी कटलरी उनकी रोशनी में चमक सकें."

इमेज स्रोत,Tata Memorial Archivesएयर इंडिया की समय की पाबंदीउनको पता था कि वो पैसा ख़र्च करने के मामले में विदेशी एयरलाइंस का मुकाबला नहीं कर सकते. इसलिए उनका ज़ोर हमेशा सर्विस और समय की पाबंदी पर रहता था. इस बारे में एक दिलचस्प किस्सा यूरोप में एयर इंडिया के रीजनल डायरेक्टर रहे नारी दस्तूर सुनाया करते थे.

'उस ज़माने में दिन में 11 बजे एयर इंडिया की फ़्लाइट जिनीवा में लैंड करती थी. एक बार मैंने एक स्विस व्यक्ति को दूसरे व्यक्ति से समय पूछते सुना. उस शख्स ने खिड़की के बाहर देख कर जवाब दिया 11 बज चुके हैं. पहले व्यक्ति ने पूछा तुम्हें कैसे पता तुमने घड़ी की तरफ़ तो देखा ही नहीं ? जवाब आया एयर इंडिया के विमान ने अभी-अभी लैंड किया है.'

मोरारजी देसाई ने अपमानित कर जेआरडी को एयर इंडिया से बर्ख़ास्त कियाइंदिरा गाँधी की शादी में उनके पिता जवाहरलाल नेहरू ने जेह और उनकी पत्नी को इलाहाबाद आमंत्रित किया था. शुरू में इंदिरा गाँधी उन्हें पसंद करती थीं लेकिन जैसे जैसे उनका झुकाव समाजवाद की तरफ़ होने लगा, उनके और जेह के संबंधों में दूरी आ गई.

बाद में तो जब भी जेआरडी उनसे मिलने जाते वो या तो खिड़की के बाहर देखने लगतीं या अपनी डाक खोलने लगतीं. इंदिरा गाँधी से उनका वैचारिक विरोध भले ही रहा हो, लेकिन उन्होंने जेह को हमेशा एयर इंडिया से जुड़े रहने दिया.इमेज स्रोत,इमेज कैप्शन,टाटा अपनी पत्नी थेली और इंदिरा गांधी के साथ

उनको एयर इंडिया से निकाला इंदिरा गाँधी के बाद प्रधानमंत्री बने मोरारजी देसाई ने. उनको इसकी कोई पूर्वसूचना नहीं दी गई.इसकी खबर उन्हें पीसी लाल से मिली जिन्हें उनकी जगह एयर इंडिया का अध्यक्ष बनाया गया था. टाटा के साथ सरकार के बर्ताव के विरोध में उस समय एयर इंडिया के प्रबंध निदेशक के जी अप्पूस्वामी और उनके नंबर दो नारी दस्तूर ने इस्तीफ़ा दे दिया.

यही नहीं एयर इंडिया की मज़दूर यूनियन ने भी इस पर अपनी नाराज़गी दिखाई. मोरारजी देसाई उन्हें पचास के दशक से ही पसंद नहीं करते थे. एक बार जेआरडी टाटा मोरारजी देसाई से मिलने गए जब वो बंबई के मुख्यमंत्री हुआ करते थे. उनके साथ टाटा इलेक्ट्रिक कंपनी के प्रबंध निदेशक होमी मोदी भी थे.

टाटा और मोदी दोनों का मानना था कि आने वाले समय में बिजली की बढ़ती माँग को देखते हुए हमें बिजली पैदा करने की क्षमता और बढ़ानी चाहिए. मोरारजी देसाई इन दोनों की बात पूरी हुए बिना किसी दूसरे विषय पर बात करने लगे. ये देखते ही जेआरडी तुरंत कुर्सी छोड़ कर खड़े हुए और मोरारजी देसाई से कहा कि वो इस मीटिंग को आगे बढ़ा कर मोरारजी देसाई का समय नहीं ख़राब करना चाहते. टाटा का ये रुख़ देख कर मोरारजी ने उनसे बैठने के लिए कहा और फिर उनकी पूरी बात सुनी. लेकिन उस दिन से दोनों के संबंधों में एक तरह का ठंडापन आ गया.

इमेज स्रोत,TATA Memorial Archiveनैतिक मूल्यों को दिया हमेशा बढ़ावाएक बार उनके जीवनीकार आरएम लाला ने उनसे पूछा था कि भारत के आर्थिक मामलों में उनका सबसे बड़ा योगदान क्या है तो उनका जवाब था, 'मैंने नहीं समझता कि मैंने भारत की अर्थव्यवस्था में कोई ख़ास योगदान दिया है सिवाये नैतिक मूल्यों के. मेरा मानना है कि नैतिक जीवन आर्थिक जीवन का हिस्सा है.'

जानेमाने आर्थिक पत्रकार टीएन नाइनेन भी कहते हैं कि टाटा समूह ने एकाध बार मूल्यों से भले ही समझौता किया हो, क्योंकि भारत के वर्तमान कानूनों के तहत पूरी ईमानदारी से काम करना उतना आसान काम नहीं है लेकिन मोटे तौर पर टाटा समूह ने नैतिक मूल्यों को छोड़े बिना अपना काम किया है.

इमेज स्रोत,Tata Memorial Archivesउत्तराधिकारी की चाह नहींटाटा को ताउम्र अपनी किताबों, कविताओं, फूलों और पेंटिंग्स से प्यार रहा. उनकी इतिहास में बहुत रुचि थी, ख़ासकर ग्रीक, रोमन और नेपोलियन के आसपास के फ़्रेंच इतिहास में. अमेरिका के पूर्व विदेश मंत्री हेनरी किसिंजर से उनकी नज़दीकी दोस्ती थी. दोनों एक दूसरे को पत्र लिखा करते थे.

जेआरडी टाटा के याद करते हुए उन्होंने कहा था, मैंने अंतरराष्ट्रीय मंच पर बहुत से लोगों से मुलाकात की है लेकिन मुझे जेआरडी की टक्कर के लोग कम मिले हैं. एक ज़माने में फ़्राँस के राष्ट्रपति रहे जाक शिराक भी जेआर डी के दोस्त थे और कई निजी मसलों पर भी उनकी सलाह लेते थे.

छत्रपति सांभाजी ने क्या शिवाजी की पत्नी सोयराबाई की हत्या की थी?जेह की याददाश्त ग़ज़ब की थी. उनका अपना कोई बच्चा नहीं था. गिरीश कुबेर लिखते हैं, 'एक बार उनसे पूछा गया था कि क्या आपको कभी अपने उत्तराधिकारी की कमी नहीं महसूस हुई जो आपके बाद आपकी विरासत को आगे बढ़ा सके? जेह का जवाब था 'मैं बच्चों को प्यार करता हूँ लेकिन मैंने कभी भी किसी बेटे या बेटी को अपने उत्तराधिकारी के रूप में नहीं देखा.'

दो राष्ट्रों का सर्वोच्च नागरिक सम्मान मिलाइमेज स्रोत,Tata Memorial Archivesजेआरडी टाटा को भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न और फ़्राँस के सबसे बड़े नागरिक सम्मान 'लीजन ऑफ़ ऑनर' से सम्मानित किया गया. जब रतन टाटा ने उन्हें खबर दी कि उन्हें भारत रत्न के लिए चुना गया है तो जेह की त्वरित टिप्पणी थी 'ओह माई गॉड! मुझे ही क्यों ? क्या हम इसे रोकने के लिए कुछ नहीं कर सकते ? ये सही है मैंने कुछ अच्छे काम किए हैं. देश को नागरिक उड्डयन दिया है. उसका औद्योगिक उत्पादन बढ़ाया है. बट सो वॉट ? ये तो कोई भी अपने देश के लिए करता.'

और पढो: BBC News Hindi »

नकल के लिए सैनिटरी नैपकिन में डिवाइस छुपाई: 8 सेमी के गैजेट में बना दिया मोबाइल फोन, लड़के-लड़कियों को इसे अंडरगारमेंट में छुपाना था; 25 लोगों को डेढ़ करोड़ में बेचा

राजस्थान सरकार ने नकल रोकने के लिए REET के दौरान इंटरनेट बंद कर दिया, लेकिन नकल नहीं रोक पाई। बीकानेर के एक नकल गैंग ने इंटरनेट का उपयोग किए बिना ही नकल का इंतजाम कर दिया। गैंग ने सारे सरकारी इंतजामों का तोड़ निकालते हुए दो ऐसे डिवाइस बना डाले, जिनसे नकल की जा सके। | Cut the slippers and fit the whole mobile in it, the cost of one slipper is six lakh rupees, 'black business' of one and a half crores of 25 slippers

Aur murkh des ke PM ne ap ke spno pr pani फेर दिया And rest of the governments bought it down……by traveling for free…. 🔥🔥

अक्साई चिन और अरुणाचल प्रदेश को भारत का दिखाने पर भड़का चीन, नक्शों को जब्त कियाचीन ने 2019 में एक नया कानून पारित कर देश में छापे और बेचे जाने तथा निर्यात किये जाने वाले सभी नक्शों को चीनी नक्शे के आधिकारिक प्रारूप के अनुसार रखे जाने को अनिवार्य बना दिया था। चीन, अरूणाचल प्रदेश के दक्षिण तिब्बत का हिस्सा होने का दावा करता है।अक्साई चिन और अरुणाचल प्रदेश को अलग दिखाने पर भड़का चीन, नक्शों को जब्त किया Chinua Bhadak Bhadak jaaye

खालिस्तान समर्थक की CM जयराम को खुली धमकी, 15 अगस्त को फहराने नहीं देंगे तिरंगाअब बता दें कि ये खुली धमकी खालिस्तानी समर्थक और सिख फॉर जस्टिस संगठन के आतंकी गुरपतवंत सिंह पन्नू की तरफ से दी गई है. उसने बकायदा एक ऑडियो रिकॉर्ड किया है और फिर कॉल के जरिए उसे कुछ पत्रकारों तक पहुंचा दिया है. Ye Khalistaniyo ki aisi ki tysi - bitta sahab Follow the twitter handles of 'All India Trinamool Congress' from all over India 👇👇👇 AITC4Assam AITC4Delhi AITC4Bihar AITC4Jharkhand AITC4Tripura AITC4UP सरकार को ऐसे खालिस्तानी समर्थन करनेवाले को जैल में डाल देना चाहिए।

मेडिकल कोर्सेज में OBC को 27%, EWS को 10% आरक्षण, मोदी सरकार का बड़ा फैसलामेडिकल की पढ़ाई के इच्छुक छात्रों के लिए बड़ा ऐलान किया गया है. इसमें अन्य पिछड़ी जातियों (OBC) और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (EWS) के लिए रिजर्वेशन कोटे का ऐलान हुआ है. Rahulshrivstv उनका आरक्षण खत्म किया जाए वरना दुबारा खाली सुई लगेगी... वैक्सीन डस्टबिन मे और बाड़ी मे केवल हवा जायेगी जैसे साइकिल की टयूब मे भरते है 🤣 Rahulshrivstv हम सभी ने ठाना है , अयांश को बचाना है ,, मासुम की पुकार ! एकजुट हों हमसभी एकबार ।। जीवन_मांगे_अयांश Rahulshrivstv sheelaaaa

Jammu Kashmir: जम्मू-कश्मीर में आतंक को बढ़ावा देने को चीन दे रहा पाकिस्तान को ड्रोन: रविन्द्र रैनारैना ने कहा कि जम्मू कश्मीर में अशांति चाहने वाला पाकिस्तान संघर्ष विराम के समझौते के बाद भी गोलीबारी से बाज नही आ रहा है। चीन के लोग पाकिस्तान में डेरा डाल कर आतंकवाद को शह देने के लिए ड्रोन से हथियार आइडी भेजने में मदद कर रहे हैं। अभी रो रहे है। अब तो आपकी डबल इंजन की सरकार है। SSC_GD_AGE_Relaxation without AGE RELAXATION there is NO MEANING of this EWS RESERVATION kindly pleasedo implement AGE RELAXATION to poor students of EWS CATEGORY Drvirendrakum13 DrJitendraSingh AmitShah narendramodi gssjodhpur JPNadda PiyushGoyal SIGRIWALBJP GVLNRAO

संरचनात्मक सुधारों की प्रतीक्षा में शिक्षा, केंद्रीय शिक्षा मंत्री को तय करनी होंगी प्राथमिकताएंOpinion - संरचनात्मक सुधारों की प्रतीक्षा में शिक्षा, केंद्रीय शिक्षा मंत्री को तय करनी होंगी प्राथमिकताएं MisraGirishwar dpradhanbjp BJP4India education NewEducationPolicy onlinelearning MisraGirishwar dpradhanbjp BJP4India शिक्षा का व्यवसायिकरण ही समस्या का मूल कारण है. पहले किताब में + का प्रयोग और एक दो उदाहरण होते थे, बाकी शिक्षक स्वयं पढाते थे. अब शिक्षक सूचना आयुक्त बन चुके हैं जो स्टडी मटिरियल प्रोवाइड करने लगे हैं. Quality of Education and Teachers decreased due to corruption of system...

पेगासस मामले पर संसद में फिर हुआ हंगामा, सरकार झुकने को राजी नहीं; विपक्ष भी पीछे हटने को तैयार नहींपेगासस जासूसी कांड पर संसद में जारी संग्राम के थमने के फिलहाल कोई आसार नजर नहीं आ रहे हैं। विपक्ष बहस की मांग से पीछे हटने को राजी नहीं है तो सरकार भी विपक्षी दलों के दबाव में चर्चा की मांग पर मानने को तैयार नहीं दिख रही। क्यों हटे विपक्ष पीछे.. चोरी भी, ऊपर से सीना जोरी भी.. a govt with majority in weak democracy means misuse of power..