जितिन प्रसाद के आने से बीजेपी को क्या हासिल होगा? - BBC News हिंदी

जितिन प्रसाद के आने से बीजेपी को क्या हासिल होगा?

10-06-2021 18:43:00

जितिन प्रसाद के आने से बीजेपी को क्या हासिल होगा?

कुछ राजनीतिक विश्लेषक इसे कांग्रेस के लिए बड़ा धक्का बताते हुए कह रहे हैं कि अब वो समय आ गया है जब गाँधी परिवार को गंभीरता से सोचना चाहिए कि कांग्रेस पार्टी को बिखरने से कैसे बचाया जाए.

कांग्रेस पार्टी की नाराज़गीकांग्रेस पार्टी में बड़े नेताओं से लेकर प्रदेश शाखाओं के ट्विटर हैंडल से जितिन प्रसाद के प्रति नाराज़गी जताई गई है.राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा है, “जितिन प्रसाद एक पारंपरिक कांग्रेसी थे. हमने उन्हें सम्मान दिया और उन्हें अनदेखा नहीं किया. वह महासचिव थे, बंगाल में इन-चार्ज थे. और हर बार चुनाव लड़ने की अनुमति पाते रहे. इसके बावजूद अगर वह कांग्रेस और विचारधारा पर आरोप लगाते हैं, जिसके लिए वह खुद और उनके पिता ने काम किया और लड़ाई की, तो ये दुख की बात है.”

योगी आदित्यनाथ या बीजेपी, उत्तर प्रदेश में किसकी मुश्किल बढ़ा सकते हैं संजय निषाद? - BBC Hindi हिमाचल में गडकरी के सामने बवाल: मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के सिक्योरिटी ऑफिसर और कुल्लू SP के बीच जमकर चले लात-घूंसे इससे बड़ी लापरवाही नहीं हो सकती: मुंबई के सरकारी हॉस्पिटल के ICU में भर्ती मरीज की आंख कुतर गया चूहा, इलाज के दौरान मौत हुई

वहीं, शीर्ष कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने भी अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर लिखा है, “जितिन प्रसाद बीजेपी में शामिल हुए. सवाल ये है कि क्या उन्हें बीजेपी से “प्रसाद” मिलेगा या वह यूपी चुनाव के लिए बीजेपी के एक नये ‘शिकार’ हैं. इस तरह की डीलों में अगर विचारधारा की जगह नहीं है तो बदलाव आसान है.”

कांग्रेस पार्टी की राज्य शाखाओं के ट्विटर हैंडलों पर जितिन प्रसाद के प्रति स्पष्ट रूप से नाराज़गी और गुस्से का इज़हार किया गया है.इमेज स्रोत,ANIमध्य प्रदेश कांग्रेस के ट्विटर हैंडल पर लिखा गया कि जितिन प्रसाद के जाने से कांग्रेस खुश है – “यह एक कूड़ा कूड़ेदान में डालने जैसी सामान्य प्रक्रिया है.” headtopics.com

हालांकि, बाद में इस ट्वीट को डिलीट कर दिया गया.जितिन प्रसाद ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, “मैं कोई टिप्पणी नहीं दूंगा. सभी आलोचना करने के लिए स्वतंत्र हैं. जिनकी सोच छोटी है, वो हमेशा छोटी रहेगी. मैं सभी की आलोचना को प्रसाद की तरह ले रहा हूं. मुझे विश्वास है कि मेरा फैसला सही है और देश हित में है.”

राजनीतिक बयानबाजी से आगे बढ़कर देखें तो एक सवाल अभी भी मौजूद है कि जितिन प्रसाद के बीजेपी में जाने और कांग्रेस छोड़ने से दोनों पार्टियों पर क्या असर पड़ेगा.इमेज स्रोत,Twitter@JitinPrasadaज़मीन पर किसके लिए क्या बदलेगा?उत्तर प्रदेश एक ऐसा राज्य है जहां की राजनीति में ब्राह्मण वोट बैंक की अपनी अहमियत रही है. उत्तर प्रदेश की राजनीति में लंबे समय से ये मान्यता रही है कि ब्राह्मणों को साथ लेकर राज्य की सत्ता हासिल की जा सकती है.

राजनीतिक विश्लेषक मायावती से लेकर अखिलेश यादव तक को सत्ता की कुर्सी तक पहुंचाने का श्रेय ब्राह्मण वोट बैंक को देते रहे हैं.इसी से समझा जा सकता है कि बीजेपी, सपा और बसपा ब्राह्मणों को अपने साथ लाने के लिए ब्राह्मण मंच से लेकर परशुराम की मूर्ति लगवाने जैसे वादे करते रहे हैं. संख्या बल की दृष्टि से भी ब्राह्मण समाज को मजबूत माना जाता है.

सेंटर फॉर द स्टडी ऑफ डेवलपिंग सोसाइटी के निदेशक संजय कुमार मानते हैं कि उत्तर प्रदेश की राजनीति में ब्राह्मण एक निश्चित रूप से अहम वर्ग है.वे कहते हैं, “आँकड़ों के आधार पर देखें तो यूपी में तकरीबन आठ से दस फीसदी वोट ब्राह्मणों का है. और किसी भी राज्य में किसी जाति का इतनी बड़ी संख्या में मतदाता होना चुनावी गणित के लिहाज़ से अहम होता है.” headtopics.com

योगी संग लंच के बाद केशव का यू-टर्न: UP के डिप्टी CM मौर्य बोले- CM के साथ थे, हैं और रहेंगे; 11 दिन पहले कहा था- CM का फेस दिल्ली तय करेगा न्यूजीलैंड बना WTC चैंपियन: 91 साल के इतिहास में पहली बार कोई वर्ल्ड कप जीता, भारत को दूसरी बार ICC टूर्नामेंट के फाइनल में हराया WTC फाइनल LIVE: भारत के टेस्ट चैंपियन बनने में सबसे बड़ी अड़चन बने विलियम्सन और टेलर, न्यूजीलैंड को जीत के लिए 22 ओवर में 54 रन की जरूरत

इमेज स्रोत,Twitter@JitinPrasadaक्या बीजेपी को कोई फायदा होगा?लेकिन योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद से उत्तर प्रदेश में ब्राह्मण वर्ग में पार्टी के प्रति असंतोष पनपने की बात कही जा रही है.ऐसे में सवाल उठता है कि क्या जितिन प्रसाद आगामी विधानसभा चुनाव में बीजेपी के लिए ब्राह्मणों का गुस्सा शांत कर पाएंगे.

क्योंकि कुछ समय पहले तक वह स्वयं ब्राह्मणों के प्रति उपेक्षा का भाव रखने के लिए योगी आदित्यनाथ को आड़े हाथों ले रहे थे.इस सवाल पर संजय कुमार कहते हैं, “आँकड़ों को देखें तो पिछले कई चुनावों में ब्राह्मण वोट बीजेपी के साथ ही रहा है. मेरी राय में जितिन प्रसाद इतने बड़े जनाधार वाले कद्दावर नेता नहीं है जिनके बीजेपी में जाने से बचा-खुचा ब्राह्मण वोट भी बीजेपी में चला जाएगा.”

जितिन प्रसाद के चुनावी प्रदर्शन की बात करें तो वह पिछले दोनों चुनाव हार चुके हैं. कांग्रेस ने उन्हें पश्चिम बंगाल में कमान सौंपी थी जहां कांग्रेस को एक भी सीट नहीं मिली है.इमेज स्रोत,ANIयूपी की राजनीति में जाति समीकरणों को समझने वाले वरिष्ठ पत्रकार योगेश मिश्र मानते हैं कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस इस समय जिस जगह पर है, वहां उसे जितिन प्रसाद के जाने से किसी तरह का नुकसान होने की संभावना नहीं है.

वे कहते हैं, “राजनीति में कोई व्यक्ति या तो एसेट यानी ताकत या लायबिलिटी यानी बोझ होता है. जितिन प्रसाद के पिछले चुनावी प्रदर्शन पर नज़र डालें तो वह किसी भी स्थिति में कांग्रेस पार्टी की ताकत या सामर्थ्य के रूप में खड़े हुए नज़र नहीं आते हैं.”“अगर बात करें बीजेपी को होने वाले फायदे की तो मैं ये कहूंगा कि इससे बीजेपी को भी किसी तरह का फायदा होता नहीं दिख रहा है. क्योंकि, उत्तर प्रदेश के चुनाव में कांग्रेस कहीं लड़ाई में नहीं है. इस समय टक्कर में समाजवादी पार्टी है. और अगर बीजेपी सपा में से किसी ब्राह्मण नेता को लेकर आती तो इससे ब्राह्मणों में एक संदेश जाता. लेकिन जितिन प्रसाद को लाकर संदेश भेजने के स्तर पर भी बड़ा काम नहीं किया गया है. जाति के स्तर पर भी बड़ा काम नहीं किया गया है.” headtopics.com

कांग्रेस को होगा फायदा या नुकसान?विश्लेषकों का मानना है कि उत्तर प्रदेश के ब्राह्मण समाज ने नरेंद्र मोदी के नाम पर 2014 के आम चुनाव, 2017 के उत्तर प्रदेश चुनाव और 2019 के आम चुनाव में बीजेपी का समर्थन किया है. उत्तर प्रदेश की राजनीति में एक समय ऐसा भी था जब कांग्रेस को ब्राह्मणों का समर्थन मिलता था.

लेकिन नब्बे के दशक में हुए राजनीतिक बदलावों के बाद कांग्रेस के लिए यूपी का ब्राह्मण वर्ग लगातार दूर होता चला गया. कांग्रेस को एक लंबे समय से देख रहीं वरिष्ठ पत्रकार अपर्णा द्विवेदी मानती हैं कि जितिन प्रसाद कभी भी उत्तर प्रदेश में ब्राह्मण समाज को कांग्रेस तक लाने में सफल नहीं हुए हैं.

Odisha dispatches more than 31,000 metric tonnes of Liquid Medical Oxygen to 17 states, UTs - NewsOnAIR - लक्षद्वीपः हाईकोर्ट ने डेयरी फार्म बंद करने, मिड डे मील से मांस हटाने के आदेश पर रोक लगाई तीसरी लहर पर बंटे IIT प्रोफेसर: IIT कानपुर के एक प्रोफेसर का दावा- अगस्त से बढ़ेंगे कोरोना केस, दूसरे ने रिपोर्ट खारिज की, बोले- कमजोर होगी तीसरी लहर

वे कहती हैं, “इन बड़े नेताओं की एक समस्या ये होती है कि ये बड़े नेता इसलिए होते हैं क्योंकि ये बड़े परिवारों से आते हैं. इनका खुद का कोई जनाधार नहीं होता है. जितिन प्रसाद के साथ भी यही समस्या नज़र आती है. वह अपना चुनाव हारने के साथ-साथ अब ऐसी स्थिति में भी नहीं हैं कि अपने परिवार जनों को जिला पंचायत स्तर का चुनाव जितवा सकें. वह स्वयं को ब्राह्मणों का नेता बनाने की कोशिश कर रहे हैं. उन्होंने ब्राह्मण चेतना मंच से लेकर परशुराम भगवान की मूर्तियां तक लगवाईं लेकिन इससे वह ज़मीन पर अपने प्रति ब्राह्मणों का कितना समर्थन जुटा पाएं हैं, ये अब तक साबित नहीं हुआ है. ऐसे में जब वह कांग्रेस में थे तब पार्टी को इसका ख़ास फायदा मिलता नहीं दिखा. ऐसे में अभी कहना मुश्किल है कि उनके जाने से पार्टी को बड़ा नुकसान हो जाएगा क्योंकि पार्टी इस समय जहां पर है, वहां से उसे कितना ही नुकसान हो सकता है.”

प्रोफेसर संजय कुमार भी अपर्णा द्विवेदी की बात से सहमत नज़र आते हैं.वे कहते हैं, “अगर आप कांग्रेस का वोट शेयर देखें तो कांग्रेस के पास तकरीबन 8 से 10 फीसदी वोट है जिसमें ब्राह्मण वोट की तादाद काफ़ी छोटी है. बड़ा शेयर मुस्लिम मतदाताओं का है. ऐसे में जितिन प्रसाद के बीजेपी में जाने से कांग्रेस को बड़ा नुकसान होता हुआ नहीं दिखाई दे रहा है.”

और पढो: BBC News Hindi »

भास्कर एक्सप्लेनर: कोवीशील्ड, कोवैक्सिन और स्पुतनिक के बाद आएगी चौथी वैक्सीन; दुनिया में सबसे अलग जायकोव-डी कैसे काम करेगी, कितनी डोज लगाई जाएगी?

भारतीय फार्मास्युटिकल कंपनी जायडस कैडिला इसी हफ्ते कोरोना वैक्सीन जायकोव-डी को इमरजेंसी अप्रूवल के लिए सेंट्रल ड्रग्स रेगुलेटर को अप्लाई कर सकती है। अगर इसे मंजूरी मिलती है, तो ये दुनिया की पहली DNA बेस्ड वैक्सीन होगी। | Zydus Cadila Zycov-d Vaccine | How the Zydus Cadila Zycov-d Vaccine Covid-19 Vaccine Works भारतीय फार्मास्युटिकल कंपनी जायडस कैडिला इसी हफ्ते कोरोना वैक्सीन जायकोव-डी को इमरजेंसी यूज अप्रूवल के लिए सेंट्रल ड्रग्स रेगुलेटर को अप्लाई कर सकती है।

कद्दू Baba ji ka ------ Baba ji ka thullu जो पिछले चुनाव में ४थे नंबर पर वो क्या भोट दिलाएगा। वन्दे मातरम् भाजपा को कुछ हासिल हो या न हो, जमीन प्रसाद को जरूर फायदा होगा वही जो मिथुन के आने से बंगाल में हासिल हुआ था Jo cobra ke aane se hua tha Ghantta 🔔🔔🔔 बीजेपी गलत रास्ते पर जा रहीं हैं

किन वजहों से Congress से बेहद नाराज थे जितिन प्रसाद?संकटों से जूझ रही कांग्रेस को आज एक बडा झटका लगा है. यूपी में कांग्रेस के युवा और कद्दावर नेता जितिन प्रसाद आज बीजेपी में शामिल हो गए. केंद्रीय मंत्री पीय़ूष गोयल की मौजूदगी में आज जितिन प्रसाद ने बीजेपी का दामन थाम लिया. जितिन प्रसाद ने पहले अमित शाह से मुलाकात की और फिर सदस्यता लेने की औपचारिकता निभाई. उत्तर प्रदेश चुनाव से पहले यह बड़ा सियासी उलटफेर है. यूपी चुनाव से पहले बीजेपी में जितिन का शामिल होना पार्टी के लिए अहम होने वाला है. लेकिन सवाल ये है कि आखिर क्यों जितिन प्रसाद को कांग्रेस का दामन छोड़ना पड़ा. जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

🔔 घंटा हांसिल होगा बजा लो घंटा 🔔🔔🔔 वही जो कांगेस मे जाने से अलका लांबा जी को हुआ । घण्टा 🔔 Kya bengal wala haal hoga घंटा🤣🤣🤣🤣🤣 Aditya Birla sun life insurance is a fraud company and looting the people through their insurance policies. I request to all Indians not to purchase the insurance policies of Aditya Birla sun life insurance. Otherwise, you have to weep for your decision.

🔔

सिंधिया के बाद जितिन भी हुए भाजपाई, पायलट को रोकना अब कांग्रेस के लिए चुनौतीकांग्रेस हाईकमान पर दबाव बढ़ गया है. जितिन प्रसाद की खबर आने के बाद सचिन पायलट ट्विटर पर भी टॉप ट्रेंड में बने हुए हैं. देखना ये है कि सचिन पायलट को पार्टी अपने साथ कैसे साधकर रखती है? sharatjpr imkubool ज्योतिरादित्य सिंधिया का कुंभ के मेले में बिझड़ा भाई अब जाकर उत्तर प्रदेश में मिला है 😅 sharatjpr imkubool दोनों भाई बहन सच्चे गांधी भक्त हैं जो बापू की आज़ादी के बाद Congress को disband करने की अंतिम इच्छा पूरा करने जी जान से लगे हैं😁! आज राहुलबाबा PM Modi का सबसे बड़ा ब्रांड एम्बेसडर है जो रातदिन बिना सोचेसमझे उनके खिलाफ ट्वीट कर अपनी ही पार्टी का नुकसान कर रहाहै! RahulGandhi

Nothing ! No gain ! He could not even win last 2 election बाबा जी का ठुल्लू 🤣 🔔 🔔 ये होगा भाई, बीजेपी का एक ही मकसद है की विपक्षी पार्टियों के इतने टुकड़े कर दो की वो खड़े होने लायक ही न रहे। बीजेपी अपनी वक्र दृष्टि कांग्रेस पर लगाए हुवे है उसका एक ही मकसद है कांग्रेस में मां, बेटा और बेटी ही हो Wahi jo inc ko hua 😆

बाबाजी का ठुल्लू ।।।। Kuch ni😂😂

यूपी चुनाव से पहले कांग्रेस को झटका, बीजेपी में शामिल हुए जितिन प्रसादपूर्व केंद्रीय मंत्री और राहुल गांधी के एक समय बेहद करीबी माने जाने वाले कांग्रेस नेता जितिन प्रसाद बीजेपी में शामिल हो गए हैं. 47 वर्षीय जितिन प्रसाद, ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया के बीजेपी में जाने वाले राहुल गांधी के दूसरे सबसे करीबी नेता हैं. ज्‍योतिरादित्‍य ने पिछले साल बीजेपी ज्‍वॉइन की थी. इनमें कौनसा जितिन प्रसाद है 🤔 चलो आज से बीजेपी की ख़रीद - फरोख्त चालू। इसे अच्छा तो समाजवादी में जाते

वही जो मोदी के आने के बाद देश को हासिल हुआ है जितिन प्रसाद के बीजेपी में आने से यूपी बीजेपी में फूट पड़ सकती है। 🔔 Apne paap ko dho kar party chhod dega Baba ji ka thullu Banda Nadda se height me jyada hai. Karyalay ke bulb badalne aur ceiling fans saaf karne me help kar sakta hai. बाबा जी का ठुल्लू .. घंटा बजाने के शिवा कुछ नहीं होगा

UP ME BHAYANAK HAAR CJAHE JISKO BULA LE That's what the BJP achieved with the arrival of Cobra! Jitin Prasad is gray for drowning BJP

UP चुनाव से पहले कांग्रेस को झटका, जितिन प्रसाद भाजपा में शामिलनई दिल्ली। राहुल गांधी के करीबी और यूपी कांग्रेस के बड़े नेताओं में शुमार जितिन प्रसाद बुधवार को भाजपा में शामिल हो गए 2022 में होने वाले उत्तर प्रदेश चुनाव से पहले कांग्रेस के लिए यह बड़ा झटका माना जा रहा है। प्रसाद को रेलमंत्री पीयूष गोयल ने भाजपा की सदस्यता दिलाई।

जितीन प्रसाद का भी तोंद निकल जाएगा 😂😂😂😂😂 बाबा जी का ठूललू One product is going to be expired very soon डुवति नॉउ में साबारी मिल गया ! wahi jo yogi ke aane se up ko hasil hua इसके अलावा कुछ नहीं। Hasil yeh hoga ke phir Jaati pr vote honge sab bhul jaynge Corona me kesse har Jaati ke log ek hi jagha maare the. Humare netao ko abhi bhi pata hai ke jitne maare kaate mgr vote jaati pr jayega.

बाबा जी का tullu ठीक वेसे ही जेसे बंगाल में मुकुल राय का बीजेपी में आने पर आज वो भी वापस ममता सरकार में वापस लौटने को तयार है थाली औऱ घण्टा इनके कांग्रेस मैं रहने से पार्टी को क्या मिला, जो अब भाजपा को मिलेगा

जितिन प्रसाद बोले: किसी व्यक्ति की वजह से या किसी पद के लिए नहीं छोड़ी कांग्रेसजितिन प्रसाद बोले: किसी व्यक्ति की वजह से या किसी पद के लिए नहीं छोड़ी कांग्रेस Politics JitinPrasad BJP4India INCIndia BJP4India INCIndia लालची आदमी BJP4India INCIndia तो भाजपा की सभाओं मे दरी बिछाने के लिये छोड़ी हे क्या कांग्रेस वैसे यही काम मिलेगा आपको JitinPrasada भाजपा में सिंधिया जी को क्या मिला चौकीदार बन कर रह गये BJP4India INCIndia कोई मोटा ऑफर मिला होगा

Vahi jo bengal me haasil hua hai Kuchh v nhi Despram Meri Nazzar me neta ek business man hai chahe koi se bhi party ka ho netao ko paisa kamna hai jidhar jada mila udhar hi chale jao sab neta apna Bank account bharna chahte hai hum kyo itne chinta kare kon sa neta kon se party me ja raha hai ye to inka business hai

Double zero and zero Jo jyotiraditya sindhiya ka hua hai. Wohi hoga jaise third division graduate निच आदमी से क्या उम्मीद कर सकते हैं धुर्त, गद्दार को सब जानते हैं खरीददारी ज़ारी है...😂😂😂😂 Baba g Ka tullu बाबा जी का ठुल्लू

LIVE: कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हुए जितिन प्रसाद, यूपी चुनाव से पहले बड़ा उलटफेरकांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद आज भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो जाएंगे. केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल आज जितिन प्रसाद को पार्टी में शामिल कराएंगे.

जितिन प्रसाद को कांग्रेस छोड़ने से कांग्रेस पार्टी का कुछ नुकसान नहीं होगा जितिन प्रसाद को बीजेपी में शामिल होने से कुछ फायदा नहीं होगा क्योंकि पिछले चुनाव में जितिन ने बीजेपी को ही वोट दिया था कुछ भी नहीं! कुछ नहीं होगा Ek chamacha Jo west bengal me adhikari ke aane se hua tha... हमेशा से चटाई, दरी उठाने वाले निष्ठावान श्रमिक बीजेपी कार्यकर्ताओं को एक और इंपोर्टेड साहिब मिला.

Babaji Ka thullu 🛎 Kuchh BHI nahi

Jatin parsad ke aane se BJP majbut Higa fir BJP ne UP me kya kiya he Bhai...jsn Baba ji ka thullu घंटा । घंटा जो बीजेपी बजाएगी Obviously जितिन प्रसाद Hasil hoga😂 बीजेपी की हार किसी के आने जाने से भाजपा पर ज्यादा फर्क नहीं पड़ने वाला, हां जीत तो बीजेपी की ही होगी। जो प्रशासनिक, सामाजिक, नौकरशाही में सुधार दशकों में नहीं हुए, योगी ने एक ही बार में कर दिखाया। BBC शपथ ग्रहण से पहले से ही कह रही थी कि क्या संत समाज सत्ता चला पाएगा?

🔔🔔🔔🔔 Kamal ko khilne ke liye thoda keechad aur milega. कांग्रेस को और कमज़ोर करने का विचार है, कोई दिग्गज नेता बाहर नही निकलेगा. देखा जाए तो स्वार्थी नेता ही गंगा मे डुबकी लगाएँगे

JitinPrasada के आने से BJP को बाबाजी_ठुललु हासिल होगा , mithunda_off Black_cobra था JitinPrasada आस्तीन का साँप है' अपने स्वार्थ के लिए दलबदल लिया इसका भी हर्ष mithunda_off जैसा होना है नाइघर का ना उघर का Kuch nahi 😂😂 inko koi boot nahin karega dal badlu log inko to sirf satta chahia Hoti hai.

Kuch nhi घन्टा Dhan satta.jumla or kya chahiye जो बंगाल में हुआ उससे ज्यादा नहीं। कुछ नही ये मत पूछो BJP को क्या हासिल होगा, ये सोचो INC को क्या हासिल हो सकता था। For INC 'विनाशकाले विपरीत बुद्धि' UP men jeet pakki hai एक और जुमले का सहारा बनेगा

Baba ji ka thullu ये युपी का मिथुन चक्रवर्ती बनेगा। Blob blob Jitendra Prasad Bangal ke Mithun Chakraborty ban gaya जितिन प्रसाद से बीजेपी को उतना ही लाभ होगा जितना किसी दगे पटाके से होता है l कद्दू हासिल होगा कुछ नहीं होने वाला है. भाजपा को हार भाजपा को कुछ नही पर जितिन को घंटा वही जो भारतीयों को मोदी को चुनने पर हुआ है।

Nipor 🔔 Election main kamai कुछ नहीं L Jitin Prasad is not capable to produce even a ripple. He will remain a ' ji huzoor' type . Number First you take notice of jyotirraje Scindia . What he got in BJP? This is million dollar question. 🔔🔔🔔🔔🔔🔔 घंटा ।

Kachhu... गोबर Khanta Bhagodo se khuch hasil nahi hota hai kya pata kal BJP ko bhi chod de. Dear UP people please think wisely..situation of our nation is very bad only because of this PM and BJP. एक और नेता, एक और सदस्य बदनामी वही जो राहुल गांधी के अध्यक्ष रहने से कांग्रेस को हो रहा है । Baba ji ka thullu

Kamal ko kichad Kuch nahi hoga जिसे कांग्रेस ने ही निकाल दिया उस नेता की क्या औकात है UP में ? तेरी माँ की गान हासिल होगी तेरे को किया तकलीफ है.किसी के बीजेपी आने है बाबाजी का ठुल्लू 👎 Than than Gopal Baba ji ka thullu Ghanta कितने का खरीदा इस मुर्गे को अंडा देगा भी की नहीं घंटा

Har up me har एक और नया सन्यासी नेता बीजेपी से जुड़ गया🤪 Mera manna hai jo neta dalbadloo ho vo desh kiya badlega. Kutte ki trah khane k aadat hai. Kiyuki pancho unghliya ekh barabar n hoti Trouble Ghanta. Fight between myogiadityanath and narendramodi is only one interesting and fascinating news to heard-off in this corona Period,Rest others are Pain-giving for us,Here Yogi shows itself bigger & best then Narinder Modi,Well Yogi he don't want to become PM,like modi said AVBajpye

sanjay_dimpy Apmaan Jillat Kalah बाबाजी का ठुल्लू जैसे बंगाल में हासिल हुआ.. Kachra seth ne ise bhi uthaliya yaar.😁 Not more than what they achieved when Cobra joined them. Voters have gone wiser, they see performance vs delivery. JP cannot cover BJP sins of letting people suffocate to death, Only a attention divertion. Godi media is giving more space to such stupid news to play for modi

wo hi jo bengal main hasil hua😂 बाबा जी का ठुल्लू मिलेगा 😜😜😜 Jo west bengal mei hasil hua hai. वही जो मोदी के आने के बाद देश को हासिल हुआ है💩 Chal aa gaya hai to ab jhak maar mere jaisa बाबा जी का ठुल्लू 👍 🔔 कुछ व नहीं बंगाल में सुवेंदु अधिकारी का जो हाल हुआ😁😁😆 जब-जब पेट्रोल डीजल के दाम बढ़े हैं..! तब-तब बीजेपी ने कोई न कोई नेता खरीदा जरूर है... 🤔

केवल गांधी परिवार की नाराजगी 😂😂 एक नया मिथुन चक्रवर्ती .. 🔔 घंटा सवाल तो ये होना चाहिए की भाजपा ज्वाइन करने से जितिन प्रसाद को क्या हासिल होगा? JitendraBhawsa4 Publicity 🤣 🔔🔔 Jhunjhuna milega जो बंगाल में सुवेंदु अधिकारी के आने से प्राप्त हुआ था - हार UPElection2022

बाबा जी का ठुल्लू जनता बीजेपी को वोट नहीं देगी असलियत सबके सामने आगई 🤣🤣🤣 एक और नमूना ब्राह्मण और ठाकुर की लड़ाई और तेज़ होगी। Ghanta ❤️ da Wahi hasil hoga jo Bengal me suvendu Adhikari k aane se BJP ko hua !! प्रसाद की तरह पंडितो का वोट हासिल हो सकता है 🔔🔔 Ghanta....

🔔🔔🔔🔔🔔 ❤️ड़ा वहीं जो ज्योतिरादित्य सिंधिया के जाने से हुआ...। वहीं जो सुभेंदु के आने से बंगाल में हासिल हुआ। शाख पे एक और.... 🙄 Kuch bhi nahi,,,,,nothing बाबा योगी ही उप्र के लिए प्रर्याप्त है बंगाल वाले कोबरा जैसा वैसे सहारनपुर के बाहर यूपी कांग्रेस में इनको ब्राह्मण नेता मानता ही नही घंटा

वही होगा जो कोलकाता में मिथुन चक्रवर्ती का बीजेपी में जाने से हुआ था। बाबाजी का ठुल्लू। Bengal me Aisa hi hua tha fir bhi TMC jit gai thi जो सिन्धिया को मिला बिजेपी को तो कुछ नहीं लेकिन अंधभगतो को नया पापा कांग्रेसी मिल गया वही ... जो मिथुन के आने से हासिल हुआ था😂😂 Ghanta ००००००........ घंटा 😁😂 बाबा जी का घंटा।

बंगाल में तो विपक्षी नेताओं को शामिल करने का नतीजा मिल ही गया है!

आपस मैं झगड़ा Total loss बाबा जी का घंटा Ghanta 👎👎 जो फायेदा सिंधिया के आने से हुआ था 😛🤟 JitinPrasada ने लाकडाउन में जो ब्राह्मण संगठित किया वो उनके साथ जाएंगे। और कुछ ? जितना बंगाल चुनाव में भाजपा को मिथुन चक्रवर्ती के आने से बंगाल में हुआ था? They will use this to advertise that Congress is dying, and they are doing this.

Jitin Prasad was totally inactive in the Congress.Probably wants to ride on the back of the BJP in the forthcoming Assembly Elections to the U.P. A REPEAT OF WHAT HAPPENED IN THE. RECENTLY CONCLUDED W/ BENGAL ASSEMBLY ELECTIONS IS EXPECTED IN U.P.ALSO.

Defeat 🔔🔔🔔 Ye 15 लाख , 100 स्मार्ट सिटी, टेक्स मुक्त भारत, कालाधन, आतंकवाद से मुक्ति, महिला सुरक्षा, सस्ता पेट्रोल और डीजल, और सबसे बड़ी हमारे वही बुरे_दिन हमे वापस मिल जाएंगे।। 😡😡😡 घंटा..... घुइया जो भी हो अब बिका हुआ माल वापिस नहीं लेंगे !!!!! LambaAlka 95% ब्राह्मण भारतीय जनता पार्टी से चिपका हुआ है । एक ग़ैर भाजपा पार्टी के ब्राह्मण नेता की इतनी औकात नही है कि वह अपने परिवार का वोट अपनी पार्टी को दिला सकें । जितिन प्रसाद के बीजेपी ज्वाइन करने का कोई फायदा नहीं होने वाला है। बस ये शहज़ादा सलीम का डैमेज कंट्रोल भर है।

JitinPrasada will replace myogiadityanath प्रसाद हासिल होगा प्रसाद 🤣 मौका परस्त है

भगोड़ो की भीड में एक और भगोडा जुड जायेगा। Wo hi jo Bengal ma haasil hooa Ghanta........ Hasil to kuch nhi hoga but or kon kon congress se bjp m aa sakta hai ye surag mil jayega😀😀 ले लोटा झोला उठाना घर तक पहुंचा देना 0000 बंगाल में सुवेदु़ं अधिकारी के आने पर जो लाभ हुआ था वही लाभ इनके आने पर होगा PM care Fund,,ka sahi itsmemaal modi ji kaha kar rahe hai desh dekh rahaa hai,,, Dusri party ke netA kharid kar apni valu bada rahe kyu BJP me purana kachraa saaf krna hai modi ko , Jese YOGI, SHIVRAJ,

वही जो बंगाल मे हासिल हुआ है😃 जो पश्चिम बंगाल में शुभेंदु अधिकारी के आने से हासिल हुआ था।