Cbı, Pegasus, Anilambani, Alokverma, Anilambani And Former Cbı Chief Alok Verma Also Monitored İn Pegasus Spyware List

Cbı, Pegasus

जासूसी मामले में नया खुलासा: पेगासस स्पायवेयर की लिस्ट में अनिल अंबानी और पूर्व CBI प्रमुख आलोक वर्मा के भी नाम

जासूसी मामले में नया खुलासा: पेगासस स्पायवेयर की लिस्ट में अनिल अंबानी और पूर्व #CBI प्रमुख आलोक वर्मा के भी नाम #Pegasus #anilambani #alokverma

22-07-2021 22:03:00

जासूसी मामले में नया खुलासा: पेगासस स्पायवेयर की लिस्ट में अनिल अंबानी और पूर्व CBI प्रमुख आलोक वर्मा के भी नाम Pegasus anilambani alokverma

इजराइली कंपनी एनएसओ (NSO) के जासूसी सॉफ्टवेयर पेगासस की लिस्ट में दो और बड़े नामों का खुलासा हुआ है। न्यूज पोर्टल 'द वायर' के मुताबिक जासूसी लिस्ट में उद्योगपति अनिल अंबानी और सीबीआई ( CBI ) के पूर्व प्रमुख आलोक वर्मा का भी नाम शामिल किया गया था। | Anil Ambani and former CBI chief Alok Verma also monitored in Pegasus spyware list

जासूसी मामले में नया खुलासा:पेगासस स्पायवेयर की लिस्ट में अनिल अंबानी और पूर्व CBI प्रमुख आलोक वर्मा के भी नामनई दिल्ली26 मिनट पहलेकॉपी लिंकइजराइली कंपनी एनएसओ (NSO) के जासूसी सॉफ्टवेयर पेगासस की लिस्ट में दो और बड़े नामों का खुलासा हुआ है। न्यूज पोर्टल 'द वायर' के मुताबिक जासूसी लिस्ट में उद्योगपति अनिल अंबानी और सीबीआई (CBI) के पूर्व प्रमुख आलोक वर्मा का भी नाम शामिल किया गया था।

Delimitation : परिसीमन का प्रारूप तैयार, जम्मू संभाग की सात और सीटें बढ़ेंगी मन की बात LIVE: मोदी बोले- मुझे सत्ता में रहने का आशीर्वाद मत दीजिए, मैं हमेशा सेवा में जुटा रहना चाहता हूं LIVE: मन की बात में बोले पीएम मोदी- प्रकृति का संरक्षण करो वो हमें मां की तरह संरक्षण देगी

रिपोर्ट के मुताबिक, आलोक वर्मा को केंद्र सरकार ने 2018 में CBI के पूर्व प्रमुख के पद से बर्खास्त कर दिया था। इसके फौरन बाद ही वर्मा का नाम पेगासस की लिस्ट में शामिल किया गया। इसके साथ ही अनिल अंबानी और अनिल धीरूभाई अंबानी (ADA) समूह के कॉर्पोरेट कम्यूनिकेशन अधिकारी टोनी जेसुदासन के साथ उनकी पत्नी का नाम भी इस लिस्ट में शामिल किया गया।

हालांकि रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि इसकी पुष्टि नहीं की जा सकती है कि अनिल अंबानी वर्तमान में उसी फोन नंबर का इस्तेमाल कर रहे हैं या नहीं। ADA की ओर से फिलहाल इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।राफेल के अधिकारियों के फोन भी शामिलरिपोर्ट के अनुसार भारत में दसॉ एविएशन (राफेल विमान बनाने वाली कंपनी) के प्रतिनिधि वेंकट राव पोसिना, साब इंडिया के प्रमुख इंद्रजीत सियाल और बोइंग इंडिया के प्रमुख प्रत्यूष कुमार के नंबर भी 2018 और 2019 में विभिन्न अवधि में लीक आंकड़े में शामिल हैं। इसके साथ ही फ्रांस की कंपनी एनर्जी EDF के प्रमुख हरमनजीत नेगी का फोन भी लीक आंकड़े में शामिल है। बता दें कि फ्रांस से राफेल डील को लेकर विपक्ष के नेता केंद्र सरकार पर अनिल अंबानी को फायदा पहुंचाने का आरोप लगाते रहे हैं। headtopics.com

पेगासस प्रोजेक्ट क्या है?पेगासस प्रोजेक्ट दुनियाभर के 17 मीडिया संस्थानों के जर्नलिस्ट का एक ग्रुप है, जो एनएसओ (NSO) ग्रुप और उसके सरकारी ग्राहकों की जांच कर रहा है। इजराइल की कंपनी NSO सरकारों को सर्विलांस टेक्नोलॉजी बेचती है। इसका प्रमुख प्रोडक्ट है- पेगासस, जो एक जासूसी सॉफ्टवेयर या स्पायवेयर है।

पेगासस आईफोन और एंड्रॉयड डिवाइस को टारगेट करता है। पेगासस इंस्टॉल होने पर उसका ऑपरेटर फोन से चैट, फोटो, ईमेल और लोकेशन डेटा ले सकता है। यूजर को पता भी नहीं चलता और पेगासस फोन का माइक्रोफोन और कैमरा एक्टिव कर देता है।180 रिपोर्टरों और संपादकों को सरकारों ने अपनी निगरानी सूची में रखा

इससे पहले रविवार को द वायर ने अपनी रिपोर्ट में बताया था कि दुनियाभर में सरकारों ने पत्रकारों की जासूसी के लिए इजराइल के सॉफ्टवेयर पेगासस की मदद ली है। रविवार को 17 मीडिया समूहों की साझा पड़ताल के बाद जारी रिपोर्ट में इस बात का दावा किया गया। इधर, इस बाद का भी खुलासा हुआ है कि दुनियाभर में 180 रिपोर्टरों और संपादकों को सरकारों ने अपनी निगरानी सूची में रखा। इन देशों में भारत भी शामिल है, जहां सरकार और प्रधानमंत्री मोदी की आलोचना करने वाले 40 पत्रकार, 3 विपक्षी नेता, 2 केंद्रीय मंत्री और एक जज भी निगरानी के दायरे में थे।

सरकार की नाकामियों को उजागर करने वालों पर टार्गेटरिपोर्ट के मुताबिक, दुनिया के अलग-अलग हिस्सों में पेगासस के क्लाइंट्स ने ऐसे पत्रकारों की जासूसी कराई, जो सरकार की नाकामियों को उजागर करते रहे हैं या जो उसके फैसलों की आलोचना करते रहे हैं। एशिया से लेकर अमेरिका तक में कई देशों ने पेगासस के जरिए पत्रकारों की जासूसी की या उन्हें निगरानी सूची में रखा। रिपोर्ट में दुनिया के कुछ देशों के नाम भी दिए गए हैं, जहां पत्रकारों पर सरकार की नजरें हैं। लिस्ट में टॉप पर अजरबैजान है, जहां 48 पत्रकार सरकारी निगरानी सूची में थे। भारत में यह आंकड़ा 40 का है। headtopics.com

त्रिपुरा नगर निकाय चुनावों में बीजेपी का दबदबा, टीएमसी बना मुख्य विपक्षी दल - BBC Hindi अखिलेश यादव से मिलने पहुंचे भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर, गठबंधन पर हो सकती है बात एप्पल का पेगासस के ख़िलाफ़ अदालत जाना भारत सरकार के लिए शर्मिंदगी का सबब बन सकता है और पढो: Dainik Bhaskar »

वारदात: तेज हो गई समीर-नवाब की तकरार, क्या है स्कूल सर्टिफिकेट की सच्चाई?

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के मुंबई के जोनल हेड समीर वानखेड़े के बर्थ सर्टिफिकेट और मैरिज सर्टिफिकेट के बाद महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक कथित रूप से उनके ये दो नए सर्टिफिकेट लेकर आए हैं. नवाब मलिक के मुताबिक समीर दादर के सेंट पॉल हाईस्कूल से प्राथमिक शिक्षा ली थी. इस सर्टिफिकेट में समीर वानखेड़े का नाम वानखेड़े समीर दाऊद लिखा है. यहां ये भी लिखा है कि छात्र की जाति और उपजाति तभी बताई जाए जब वो पिछड़े वर्ग, या अनुसूचचित जाति-जनजाति से आए. जबकि धर्म के कॉलम में लिखा है मुस्लिम. इसके बाद समीर वडाला के सेंट जॉसेफ हाईस्कूल में पढने गए. यहां के स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट में समीर का नाम वानखेड़े समीर दाऊद लिखा है. और धर्म के कॉलम में लिखा है मुस्लिम. दरअसल नवाब मलिक समीर वानखेड़े को मुसलमान साबित करने के लिए इसलिए जुटे हैं क्योंकि अगर उनकी बात सही साबित हो गई तो समीर वानखेड़े के नौकरी खतरे में पड़ जाएगी. देखें वीडियो.

djshmbhu30 चोरों डाकुओं के हाथ में देश है क्या करेंगे SupriyaShrinate Aghar val bandhu ka bhi nam hoga thoda upar niche dekhe. Thank you Modi ji अब समझ विकास कर क्या रहा था गुड db डरना मत पेलो रंगा बिल्ला को Aam admi Ke uper bhi jasoosi kiya hoga ... दोनो भी जुडे थे राफेल से कही कोइ राज ना खोलदे बेफिकर होना कही हमे ना फसादे.

More power to अब आप कुछ ज़्यादा ही छापेंगे है ना ? लेकिन ध्यान रहे एक हद से ज़्यादा किसी की बुराई करने से लोग उसको ज़्यादा ही अच्छा समझने लगते है SupriyaShrinate WHO Remains?

कर्नाटक: 2019 में कांग्रेस सरकार गिराने में पेगासस की जासूसी का इस्तेमाल?वीडियो: इज़रायल के एनएसओ ग्रुप के अज्ञात भारतीय क्लाइंट की दिलचस्पी वाले फोन नंबरों के रिकॉर्ड की द वायर द्वारा की गई समीक्षा के अनुसार, जुलाई 2019 में कर्नाटक में विपक्ष की सरकार को गिराने के लिए पूर्व उपमुख्यमंत्री जी. परमेश्वर और तत्कालीन मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी और पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया के निजी सचिवों को निगरानी के लिए संभावित लक्ष्य के रूप में चुना गया था. गिरे हुए लोग औऱ कर भी क्या सकते हैं!

LambaAlka मोदीयुग के बड़े झूठ 🔸कोई हमारी सीमा में नहीं घुसा 🔸ऑक्सीजन की कमी से मौत नहीं हुई 🔸 सरकार ने जासूसी नहीं की 🔸 EVM हैक नहीं होती 🔸 पुलवामा किसने किया पता नहीं 🔸 नोटबन्दी से काला धन आया 🔸 GST से व्यापार बढा 🔸 370 हटने से कश्मीर खुशहाल 🔸 CAA से मुसलमान सुरक्षित वाह!!! क्या खबर है। Kitni fake news chalayega...

जासूसी का मामला भारत के अलावा अन्य देशों में भी हैं लेकिन कही शोर शराबा नही है। यहां टुकड़े टुकड़े गैंग बौखला गए हैं। REET2018_JOINING_DO REET2018 kab hoga nyaay? Ab padhai karne ka koi matlab nhi h in sarkaro k chakkar m !sab bekar h number ane k baad ,school milne k bad bhi ghar baithe h GovindDotasra ashokgehlot51 rpbreakingnews 1stIndiaNews News18Rajasthan

आपके अखबार में एक नजर ईन पर भी डाल दो लो जी , मालिक के भी ऊपर भरोसा नही रहा IStandWithDainikBhaskar Hay bhagwaan

लॉकडाउन के बावजूद ऑस्ट्रेलिया में बढ़ रहे हैं कोरोना के मामले, अमेरिका में भी बढ़ी चिंतान्यू साउथ वेल्स और सबसे अधिक आबादी वाले राज्य सिडनी में 110 नए मामले दर्ज किए गए, जो कि एक दिन पहले 78 थे. इन शहरों और आसपास के क्षेत्रों में चार सप्ताह का लॉकडाउन लगाया गया था कि क्योंकि यहां कोरोना के डेल्टा वेरिएंट का प्रकोप था. इसके बावजूद मामलों की संख्या बढ़ी हुई आई है. क्या अब भी लोगों को लगता है की कोरोना का इलाज लाक्डाउन है ,असलियत तो यह है की जनता ओर सरकार को समझना होगा की अब कोरोना कही नही जाने वाला ओर इसके साथ रहना सीखना होगा लोगों को । इतनी बेबसी कभी नही दिखी। भगवान बेबस, अल्लाह बेबस, यीशु बेबस, विश्व की सभी महाशक्तियां बेबस, विज्ञान बेबस, तमाम मिसाइलें बेबस, परमाणु, हाइड्रोजन बम बेबस, तालीबान और आतंकी संगठन बेबस। अब तो सबका घमंड चूर हो जाना चाहिए, या अभी भी अपनी शक्ति आज़माने की कुछ अभिलाषा बाकी रह गयी है?

CHAVANNI CHAAP BHAKT KAB SUDRAY GAY AB AYEGA MAZA Lucknow me dainik bhaskar nahi mil raha humare area me. Koi contact den SupriyaShrinate हिटलर ने 'विश्वगुरू' बनने के चक्कर में जर्मनी को 'बर्बाद' किया । मोदीजी ने हिटलर 'माॅडेल' को काॅपी करके भारत को 'बर्बाद' किया ।।

पेगासस पर कमलनाथ हमलावर: बोले- PM मोदी के इजरायल दौरे के बाद से शुरू हुई जासूसी, MP और कर्नाटक में सरकार गिराने में भी इसका इस्तेमालपूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जुलाई 2017 में इजरायल के दौरे पर गए थे। पेगासस जासूसी भी 2017 और 2018 में शुरू हुई। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के कार्यकाल में मोबाइल फोन कंपनियों के जरिए लाखों लोगों की निगरानी की गई है। कमलनाथ ने इस मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट के मौजूदा जस्टिस से कराने की मांग की और कहा कि सरकार विपक्षी नेताओं को विश्वास म... | pegasus , Pegasus , pegasus software india, pegasus software price, pegasus software israel, pegasus software countries, pegasus software whatsapp OfficeOfKNath Raj Kundra ka khulasa bhi Pegasus ke saath huyee OfficeOfKNath MP me Kamalnath sarkar girane me sabse bada hath Khud Kamalnath ji or Digvijay ji ka he Kyo ki khud k ladko ko MP ki rajneeti me fit kana tha or ye ho na saka OfficeOfKNath सब का हाथ कमलनाथ के साथ जय हिंद जय भारत

गुजरातः मोदी-शाह के गढ़ में ममता की एंट्री, पहली बार राज्य में बनाएंगी संगठनअब तक गुजरात की राजनीति के लिए कहा जाता था कि यहां सिर्फ दो ही पक्ष चलते हैं बीजेपी और कांग्रेस. लेकिन इस बार चुनाव से पहले आम आदमी पार्टी ने गुजरात की राजनीति में एंट्री कर दी है और अब टीएमसी भी एंट्री करने की तैयारी में है. gopimaniar एन्टरी तो आप। वाले भी कर रहे हैं। पर gopimaniar gopimaniar My mother UmaSarkar went missing frm KherwadiPoliceStation An elderly woman, with Dementia, BP, ANGINA, KNEE PAIN cannot just vanish. Why local cops r reluctant to show CCTV, DIARY ENTRY and file FIR. She had injuries on her hand. CPMumbaiPolice pls hlp

बारिश के मौसम में कार को स्किड करने से बचाने के ये टिप्स हैं बेहद कारगरअगर आप तेज रफ़्तार में ड्राइविंग कर रहे हैं तो ब्रेक लगाने पर आपकी कार स्किड हो सकती है और आप एक बड़े एक्सीडेंट का शिकार हो सकते हैं। इस समस्या से बचने के लिए आज हम आपको कुछ आसान से टिप्स के बारे में बताने जा रहे हैं।

भारत से लेकर सऊदी तक, जहां पड़े नेतन्याहू के कदम वहां शुरू हुई पेगासस की जासूसीBenjamin Netanyahu Sell India Pegasus Spyware: पेगासस साफ्टवेयर के जरिए जासूसी करने के खुलासे ने तूफान ला दिया है। अब इजरायल के अखबार ने खुलासा किया है कि खुद इजरायल के पूर्व प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्‍याहू ने इसे बढ़ावा द‍िया था। न से न से न से नहीं सम्भले तो भाजप न से