Carbonneutral, Japan, कार्बन उत्सर्जन, ग्रीन हाउस गैस, पेरिस समझौता, योशिहिदे सुगा

Carbonneutral, Japan

जापान का 2050 तक शून्य उत्सर्जन, कार्बन न्यूट्रल समाज का लक्ष्य | DW | 26.10.2020

जापान के नए प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा ने जलवायु परिवर्तन पर अपने देश की स्थिति में एक बड़े बदलाव की रणनीति पेश की. #carbonneutral #Japan

26-10-2020 17:58:00

जापान के नए प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा ने जलवायु परिवर्तन पर अपने देश की स्थिति में एक बड़े बदलाव की रणनीति पेश की. carbonneutral Japan

जापान ने 2050 तक ग्रीनहाउस गैसों को शून्य करने और कार्बन-तटस्थ समाज बनने का लक्ष्य रखा है. सोमवार को प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा ने जलवायु परिवर्तन पर अपने देश की स्थिति में एक बड़े बदलाव की रणनीति पेश की.

प्रधानमंत्री बनने के बाद पहली बार संसद को अपनी नीतियों के बारे में बताते हुए सुगा ने कहा,"जलवायु परिवर्तन पर प्रतिक्रिया देना अब आर्थिक विकास में अड़चन नहीं है. हमें अपनी सोच को उस नजरिये से बदलने की जरूरत है कि जलवायु के खिलाफ मुखर उपायों से परिवर्तन को बढ़ावा मिलेगा और औद्योगिक संरचना और अर्थव्यवस्था में विकास होगा."

कंगना की 8 जनवरी को थाने में पेशी: बॉम्बे हाईकोर्ट का पुलिस से सवाल- कोई सरकार की बात न माने, तो उस पर राजद्रोह की धारा लगाएंगे? फोर्ब्स हाइएस्ट पेड एक्टर 2020: 48.5 मिलियन डॉलर कमाकर अक्षय कुमार बने दुनिया के छठवें सबसे ज्यादा कमाई करने वाले एक्टर, सलमान, शाहरुख हैं पीछे नाम छिपाकर शादी करने पर मिलेगी 10 साल की सजा, UP कैबिनेट में पास हुआ 'लव जिहाद अध्यादेश'

जापान दुनिया का पांचवां सबसे बड़ा कार्बन डाइऑक्साइड उत्सर्जन करने वाला देश है और अब वहां नवीकरणीय ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं साथ ही कोयले से बिजली बनाने के नए प्लांट भी खोलने की योजना बन रही है. सुगा का कहना है कि इन लक्ष्यों को हासिल करने करने नए सौर सेल्स और कार्बन रिसाइक्लिंग अहम भूमिका निभाएंगे और जापान इस क्षेत्र में रिसर्च और डेवलेपमेंट में जोर देगा. शिंजो आबे की जगह लेने के बाद वे समाज को डीजिटल करने के भी लक्ष्य पर भी काम कर रहे हैं.

पड़ोसी देश चीन के साथ जापान के गहरे आर्थिक संबंधों पर बोलते हुए सुगा ने कहा कि एक स्थिर द्विक्षीय संबंध जरूरी है. लेकिन उन्होंने साथ ही कहा,"जापान समान विचारधारा वाले देशों के साथ स्वतंत्र और खुले प्रशांत महासागर के लिए संपर्क बनाए रखेगा."पिछले हफ्ते ही सुगा पद संभालने के बाद पहली बार वियतनाम और इंडोनेशिया के दौरे पर गए थे, ऐसा उन्होंने दक्षिणपू्र्व एशियाई देशों के साथ संबंध बेहतर बनाने के इरादे से किया था. दक्षिण चीन सागर में चल रहे विवाद को लेकर भी सुगा पहले से ही सतर्क हैं. अपनी चार-दिवसीय यात्रा के दौरान सुगा ने वियतनाम के प्रधानमंत्री न्यूएन श्वान फुक और इंडोनेशिया में राष्ट्रपति जोको विडोडो उर्फ जोकोवी से मुलाकात की थी. संसद को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा,"हम उच्च स्तरीय अवसरों का इस्तेमाल निर्णायक रूप से अपनी बात कहने के लिए करेंगे और आम सहमति वाले मुद्दों पर संपर्क बनाए रखेंगे."

एए/सीके (रॉयटर्स)हिरोशिमा और नागासाकी पर परमाणु बम गिरने की कहानीपरमाणु बम का विचारअल्बर्ट आइंस्टाइन ने 1939 में पत्र लिख कर अमेरिकी राष्ट्रपति फ्रैंकलीन डी रूजवेल्ट को नाभिकीय संलयन की विनाशकारी ताकत के बारे में बताया. जर्मन रसायनविज्ञानी ऑटो हान ने इसकी खोज की थी. पत्र में कहा गया था कि इस प्रक्रिया का नतीजा"एक नए तरह का अत्यंत शक्तिशाली बम" होगा. रूजवेल्ट ने इसके बाद यूरेनियम पर सलाहकार बोर्ड का गठन किया.

हिरोशिमा और नागासाकी पर परमाणु बम गिरने की कहानीपर्ल हार्बर पर हमला7 दिसंबर 1941 को जापान के सैकड़ों युद्धक विमानों ने पर्ल हार्बर में मौजूद अमेरिकी बेस का ज्यादातर हिस्सा तबाह कर दिया. इस हमले में हजारों सैनिकों की मौत हुई. इसके अगले ही दिन अमेरिका ने दूसरे विश्वयुद्ध में उतरने का एलान कर दिया.

हिरोशिमा और नागासाकी पर परमाणु बम गिरने की कहानी2 अरब डॉलर का बजटसाल 1942 में अगस्त के महीने में अमेरिका ने आधिकारिक रूप से परमाणु बम बनाने के लिए एक बेहद खुफिया कार्यक्रम का फैसला किया. इस प्रोजेक्ट का नाम बाद में मैनहटन प्रोजेक्ट रखा गया. इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए राष्ट्रपति रूजवेल्ट ने 2 अरब डॉलर का बजट दिया.

हिरोशिमा और नागासाकी पर परमाणु बम गिरने की कहानीन्यू मेक्सिको की खुफिया लैबन्यू मेक्सिको के लॉस अलामोस की एक खुफिया लैब में बम बनाने का काम शुरू हुआ. इसके लिए रॉबर्ट ओपेनहाइमर को साइंटिफिक डायरेक्टर बनाया गया. इस प्रोजेक्ट के लिए अमेरिका, ब्रिटेन और कनाडा के शीर्ष भौतिकविज्ञानियों की टीम बनी. इसके साथ ही हजारों ऐसे लोग भी काम पर लगे जो नाजी शासन से भाग कर आए थे.

कोरोना वैक्सीन पर रूस से अच्छी खबर: स्पूतनिक-V भी 95% असरदार, यह रूसी लोगों को फ्री और बाकी देशों को 700 रुपए से कम में मिलेगी ऐप पर फिर एक्शन: केंद्र ने 43 मोबाइल ऐप पर बैन लगाया, इनमें 14 डेटिंग ऐप्स और ज्यादातर चाइनीज ऐसा क्यों?: देवउठनी एकादशी पर जागते हैं भगवान विष्णु, कैसे होती है देवताओं के दिन और रात की गणना?

हिरोशिमा और नागासाकी पर परमाणु बम गिरने की कहानीजापानी शहरों पर बमबारी1945 में 9 और 10 मार्च को अमेरिका के लड़ाकू विमानों ने जापान में टोक्यो और दूसरे शहरों पर भारी बमबारी की. इस बमबारी ने केवल राजधानी में ही करीब एक लाख लोगों की जीवनलीला खत्म कर दी.हिरोशिमा और नागासाकी पर परमाणु बम गिरने की कहानी

ओकिनावा की लड़ाई26 मार्च को ओकिनावा की लड़ाई शुरू हुई. अगले तीन महीने में इस लड़ाई में एक लाख से ज्यादा जापानी सैनिकों और इतनी ही संख्या में आम लोगों की बलि चढ़ गई. 12 हजार अमेरिकी सैनिक भी मारे गए. अमेरिकी अधिकारियों ने इस लड़ाई के आधार पर ही परमाणु बम के इस्तेमाल को न्यायोचित ठहराया. उनकी दलील थी कि जापान की मुख्य भूमि पर हमले में इससे भी ज्यादा लोगों की जान जाती.

हिरोशिमा और नागासाकी पर परमाणु बम गिरने की कहानीअमेरिका में सत्ता परिवर्तन12 अप्रैल को रूजवेल्ट की मौत हुई और हैरी ट्रूमैन अमेरिका के राष्ट्रपति बने. तब उन्हें अब तक बेहद खुफिया रहे मैनहटन प्रोजेक्ट के बारे में जानकारी मिली. यह तस्वीर 1945 की है.हिरोशिमा और नागासाकी पर परमाणु बम गिरने की कहानी

नाजी जर्मनी का समर्पण8 मई को जर्मनी ने समर्पण कर दिया और इसके साथ ही दूसरे विश्वयुद्ध में यूरोप की लड़ाई खत्म हो गई. हालांकि इसके बाद भी एशिया और प्रशांत के क्षेत्र में युद्ध अभी जोरों पर चल रहा था. मई और जुलाई के बीच परमाणु बम के हिस्से टिनियान लाए गए. यह मारियाना चेन में वो द्वीप था जहां से बी-29 बॉम्बर विमान जापान पहुंच सकता था.

हिरोशिमा और नागासाकी पर परमाणु बम गिरने की कहानी"ट्रिनिटी टेस्ट"16 जुलाई को न्यू मेक्सिको के अलामोगोर्दो के पास सुबह 5.30 बजे ट्रिनिटी टेस्ट किया गया. इस टेस्ट में परमाणु बम की ताकत समझ में आई और परमाणु युग की शुरुआत हो गई.हिरोशिमा और नागासाकी पर परमाणु बम गिरने की कहानी

ट्रूमैन की मंजूरी"ट्रिनिटी टेस्ट" के सफल होने के बाद 25 जुलाई को तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रूमैन ने जापान पर परमाणु बम गिराने के मिशन को मंजूरी दे दी. इसमें उपलब्ध होते ही अतिरिक्त बमों को गिराने की मंजूरी भी शामिल थी.हिरोशिमा और नागासाकी पर परमाणु बम गिरने की कहानी

माही को धोनी बनाने वाले मेंटर नहीं रहे: देवल दा ने स्कूल मैच में ही धोनी का टैलेंट पहचान लिया था, उनके लिए सीनियर्स से बॉलिंग करवाते थे मोदी के चुनाव को चुनौती का केस: BSF से बर्खास्त तेजबहादुर की अर्जी सुप्रीम कोर्ट से खारिज, मोदी के खिलाफ भरा था पर्चा Love Jihad in UP: लव जिहाद कानून पर मुहर लगाने को तैयार योगी आदित्यनाथ सरकार, कैबिनेट की बैठक आज

जापान को चेतावनी26 जुलाई को पोट्सडाम घोषणा के बाद ब्रिटेन, चीन और अमेरिका ने जापान को चेतावनी दी कि वो या तो समर्पण करे या फिर"तुरंत और पूर्ण विनाश का" सामना करे. जापान ने इस चेतावनी की अनदेखी करने का फैसला किया हालांकि इसके लिए"मोकुसात्सु" शब्द का प्रयोग किया गया जिसका मतलब है"नो कमेंट."

हिरोशिमा और नागासाकी पर परमाणु बम गिरने की कहानीविनाश का पल6 अगस्त को सुबह 8.15 बजे अमेरिकी बी29 बॉम्बर"इनोला गे" ने 9000 पाउंड का परमाणु बम हिरोशिमा पर गिराया. दिसंबर के महीने तक इसकी वजह से 1लाख 40 हजार लोगों की मौत हो गई. ट्रूमैन ने जापानी नेताओं को कहा अगर वो समर्पण नहीं करेंगे तो वो हवा से बर्बादी की ऐसी बारिश देखेंगे जैसी पृथ्वी पर कभी नहीं देखी गई.

हिरोशिमा और नागासाकी पर परमाणु बम गिरने की कहानीनागासाकी का विध्वंस9 अगस्त को अमेरिका ने दूसरा परमाणु बम जापान के नागासाकी पर गिराया. समय था सुबह 11.02 बजे का. परमाणु बम के इस हमले में 74000 लोगों की जान चली गई.हिरोशिमा और नागासाकी पर परमाणु बम गिरने की कहानी

जापान का समर्पण15 अगस्त को जापान के सम्राट हिरोहितो ने घोषणा की कि उनका देश युद्ध हार गया है. हालांकि इसके बाद भी वो देश के सम्राट बने रहे और युद्ध के बाद देश के पुनर्निर्माण में अहम भूमिका निभाई.हिरोशिमा और नागासाकी पर परमाणु बम गिरने की कहानीरूस का हमला

हिरोशिमा पर परमाणु बम गिरने के चार साल बाद 29 अगस्त 1949 को रूस ने अपने परमाणु बम का कजाखस्तान में परीक्षण किया और परमाणु बम रखने वाला दूसरा देश बन गया. विश्व युद्ध के अंतिम दिनों में उसने जापान पर हमला किया और उसके कई इलाकों पर कब्जा कर लिया. कुरील द्वीप उनमें से एक था.

और पढो: DW Hindi »

मोदी का तूफान, कांग्रेस में क्यों मचा है घमासान? देखें हल्ला बोल

कांग्रेस पार्टी इन दिनों अंतर्कलह से जूझ रही है. स्थिति ऐसी है कि बात सच जान पड़ती है, मोदी का तूफान और कांग्रेस में घमासान. बिहार में एनडीए की जीत के बाद कांग्रेस में हाहाकार है. एक के बाद एक करके पार्टी के दिग्गज नेता अपने आलाकमान को सवालों के घेरे में खड़े कर रहे हैं. कोई कहता है समीक्षा करो तो कोई कहता है पहले काम करो फिर समीक्षा का नाम लो. बहरहाल, कांग्रेस बगावत और आंतरिक कलह से बेदम है तो बीजेपी दूसरे राज्यों में अपना दम दिखाने की तैयारी कर रही है. ऐसे में क्यों कांग्रेस के नेता कह रहे हैं पार्टी को इस वक्त समीक्षा की जरूरत है? देखिए हल्ला बोल, अंजना ओम कश्यप के साथ.

सलमान की एक चिंगारी ने तोड़ा जान-निक्की का रिश्ता, धोखेबाज-दोगले शब्दों का इस्तेमालशनिवार को हुए वीकेंड के वार में सलमान खान ने जान कुमार को एक्सपोज कर दिया. उन्होंने जान पर निक्की तंबोली को धोखा देने का आरोप लगा दिया. डॉल वाले टास्क में जान ने ये कह दिया था कि वे किसी भी हालत में निक्की को कप्तान नहीं बनने देंगे. Big Boss my foot. It’s more like small cock Salaman boycottaajtak Don't promote BigBoss .

यूपी में बढ़ रहा बदमाशों का खौफ, लोहा व्यापारी का अपहरण, मांगी एक करोड़ की रंगदारीयूपी में बढ़ रहा बदमाशों का खौफ, लोहा व्यापारी का अपहरण, मांगी एक करोड़ की रंगदारी UttarPradesh Uppolice myogioffice Uppolice myogioffice पर भक्त तो कह रहे है जबसे योगी जी आए है बदमाश खोफ के साए मे जी रहे है🤫 Uppolice myogioffice But yogi ji is best cm 😂😂 Uppolice myogioffice

कोरोना की वैक्सीन मुफ्त उपलब्ध करवाना राज्य का मामला : मनोज तिवारी का उद्धव ठाकरे पर निशानामनोज तिवारी ने कहा. 'बीजेपी को दोष देने के बजाय, उद्धव जी महाराष्ट्र में COVID -19 के लिए मुफ्त वैक्सीन सुनिश्चित क्यों नहीं करते.' आप की सरकार पूरे भारत में है क्रोना कि दवाई फ्री करना चाहिए प्रदेश सरकार खुद कर देगी

भाजपा सांसद ने की चिराग पासवान की तारीफ, सहयोगी नीतीश कुमार का सबसे बड़ा सिरदर्दहालांकि बिहार बीजेपी के नेता सुशील मोदी और प्रभारी भुपेंद्र यादव पहले ही स्पष्ट कर चुके हैं कि चिराग बिहार में एनडीए का हिस्सा नहीं है लेकिन बीजेपी के केंद्रीय नेतृत्व ने चिराग को लेकर कोई खास स्टैंड नहीं लिया है. इससे यह भी अटकलें लगाई जा रही है कि बिहार में नीतीश कुमार के खिलाफ जारी सत्ता विरोधी लहर को ध्यान में रखते हुए, बीजेपी चिराग को अपने प्लान बी के रूप में देख रही है. अंधा भी बता देगा बिहार में की चिराग पासवान मोहरा है बीजेपी का बीजेपी की बीपी में और नीतीश कुमार को कमजोर करने के लिए बीजेपी ने ही चिराग पासवान को हर तरीके से मदद कर रही है बाबू साहब से तेजस्वी को दुश्मनी है 👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇 चिराग पासवान केंद्र में तो समर्थन में एनडीए के लेकिन बिहार में अलग हट रहे तो बिहार की जनता सब जानती है बिहार की जनता सब समझ रही है और देख रही है बीजेपी से नाराज वोट भी चिराग को मिल जाए और जेडीयू से नाराज भी वोट इसीलिए बिहार की जनता अपना वोट खराब मत करना

पीएनबी घोटालाः ब्रिटेन की अदालत ने सातवीं बार भगोड़े नीरव मोदी की जमानत याचिका की खारिजब्रिटेन की अदालत ने सातवीं बार भगोड़े नीरव मोदी की जमानत याचिका की खारिज Niravmodi Britain PNB

फैक्ट चेक: मंदिर में तोड़फोड़ की ये तस्वीर ऑस्ट्रेलिया की है, पंजाब की नहींसोशल मीडिया पर एक तस्वीर के जरिए दावा किया जा रहा है कि पंजाब में एक रामलीला आयोजन पर हमला हुआ है. तस्वीर में एक बड़े कमरे में पूजा सामग्री और भगवानों की तस्वीरों को जमीन पर अस्त-व्यस्त हालत में देखा जा सकता है. arjundeodia ye news room toh tera hai😆🖕🖕 arjundeodia Dalle log arjundeodia Khud fake news dene wale antifake news bata rhe h .waese 27 oct ko raat 8 bje maafi mangni h suna h ?