Rohini Court, Firing İn Rohini Court, Bloodshed İn Court, Crime İn Delhi, Gangwar

Rohini Court, Firing İn Rohini Court

जांच के इंतजाम नहीं, ताक पर सुरक्षा; अदालत परिसरों में पहले भी हो चुकी है गोलीबारी

जांच के इंतजाम नहीं, ताक पर सुरक्षा; अदालत परिसरों में पहले भी हो चुकी है गोलीबारी

25-09-2021 03:56:00

जांच के इंतजाम नहीं, ताक पर सुरक्षा; अदालत परिसरों में पहले भी हो चुकी है गोलीबारी

साल 2015 में कड़कड़डूमा कोर्ट परिसर में शातिर बदमाश इरफान उर्फ छेनू पहलवान पर इसी तरह से चार बदमाशों ने जानलेवा हमला किया गया था। इसमें अमरोहा में हुई तिहरे हत्याकांड का बदला लेना मुख्य कारण माना जा रहा था। फरवरी 2014 में छेनू पहलवान के गैंग ने दिल्ली के तीन युवकों की गोली मारकर हत्या कर दी थी।

दिल्लीः वकील बनकर आए हमलावरों ने रोहिणी कोर्ट में चलाईं ताबड़तोड़ गोलियां, गैंगस्टर जितेंद्र गोगी समेत चार की मौतअमरोहा जिले में छेनू पहलवान समेत पांच बदमाशों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था। इस हमले में एक सिपाही की भी मौत हो गई थी। दो साल पहले मई में करीब 12 बजे सभी कैदियों को तीस हजारी कोर्ट ले जाया गया। बदमाश दिनेश को कोर्ट नंबर 17 में पेश करने के बाद पुलिस ने उसे लॉकअप गेट नंबर दो के पास खड़ी वैन में बैठा दिया। वह अकेला बैठा था तभी दोपहर 1.05 बजे 17 साल का किशोर वहां पहुंचा और वैन में लगी जाली से दिनेश पर गोली चला दी। गोली उसके कंधे में लगी। आरोपित कट्टा फेंक कर भागने लगा, लेकिन वहां से गुजर रहे स्पेशल सेल के इंस्पेक्टर पीसी यादव व एसआइ भारत ने उसे दबोच लिया।

महिलाओं के अधिकार के लिए आज भी डटे हैं : UP में 40% टिकट महिलाओं को देने पर राहुल गांधी बड़े लोगों पर कीचड़ उछालने में सबको मजा आता है...आर्यन के समर्थन में जावेद अख्‍तर अमरिंदर स‍िंह बनाएंगे नई पार्टी, कहा - पंजाब चुनाव में बीजेपी से सीटों के समझौते को तैयार

पूछताछ में नाबालिग ने बताया कि वह रोहतक के सांपला का रहने वाला है और जितेंद्र के विरोधी गिरोह सुनील ढिल्लो के लिए काम करता है।हालांकि शुक्रवार को हुई रोहिणी कोर्ट गोलीबारी के बाद दिल्ली के पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना ने कहा है कि दोनों बदमाशों ने रोहिणी कोर्ट में गैंगस्टर जितेंद्र मान उर्फ गोगी गोली पर चलाई। सुरक्षा में हुई चूक के बाबत उन्होंने जांच समिति बैठाने और रिपोर्ट आने के बाद पुलिस वालों पर कार्रवाई की बात कही है।

और पढो: Jansatta »

लखीमपुर खीरी से ग्राउंड रिपोर्ट: नाराज किसान बोले- आज हमारे बच्चों को कुचला तो 45 लाख में समझौता हो गया, कल कोई और कुचलेगा तो 50 लाख में मामला निपट जाएगा

पिछले कुछ दिनों से चर्चा में रहे लखीमपुर खीरी के तिकुनिया में अब खामोशी है। जली हुई गाड़ियां, थके हुए पुलिसकर्मी और सच तलाशते गिने-चुने पत्रकारों को देखने के बाद ये अहसास ही नहीं होता कि 48 घंटे पहले यहां हुए उपद्रव में 8 लोगों की जान गई है। मन में सवाल कौंधता है कि आखिर इतनी जल्दी स्थिति कैसे काबू हो गई। लोग इतने सामान्य क्यों दिखाई दे रहे हैं? सरकार ने इस पूरे मामले को कैसे कंट्रोल किया? | UP Lakhimpur Kheri Violence Ground Report; Farmers On Rs 45 Lakh Compensation जब हमने चश्मदीद प्रदर्शनकारी से घटना को लेकर सवाल किया तो वे किसानों पर गाड़ी चढ़ाने के बारे में तो खुलकर बात कर रहे थे,

महाराष्ट्र में नाबालिग़ से रेप के मामले में 26 गिरफ़्तार, SIT करेगी जांच - BBC Hindiमहाराष्ट्र के डोंबिवली में एक नाबालिग़ लड़की से रेप के आरोप में 26 अभियुक्तों को गिरफ़्तार कर लिया गया है. SIT करेगी जांच ऐसा है क्या? लगभग समूचे भारत मे ना सिर्फ आतंकियों द्वारा अल्पसंख्यक को निशाना बनाया जा रहा है, बल्कि पुलिस, एजंसी आदि भी अल्पसंख्यकों पर हमले का कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं

UN में कोरोना वैक्सीन पर विवाद: न्यूयॉर्क के अधिकारियों ने महासभा के हॉल में घुसने से पहले वैक्सीनेशन के सबूत मांगे, ब्राजील के राष्ट्रपति ने सड़क पर पिज्जा खाकर गुजारी रातसंयुक्त राष्ट्र महासभा का 76वां सालाना सत्र कोरोना के चलते विवादों में घिर गया है। एक तरफ मेजबान न्यूयॉर्क के अधिकारियों ने संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) के मुख्य हॉल में पहुंचने वाले सभी राष्ट्राध्यक्षों, सरकारों के प्रमुखों, राजाओं और राजनेताओं पर पूरी तरह वैक्सीनेटेड होने की शर्त लगा दी, तो दूसरी तरफ वैक्सीन के धुर विरोधी ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो और रूस ने इसका पुरजोर विरोध किया है... | Everything You Need To Know About UK COVID Vaccine Travel Controversy दरअसल, न्यूयॉर्क के स्थानीय अधिकारियों ने कोरोना वैक्सीनेशन के सर्टिफिकेट के बिना किसी भी विदेशी राजनेताओं को न्यूयार्क के रेस्टोरेंट्स में भी डिनर की इजाजत नहीं है। UN Kbi to railway group d ka muda bi uta liya kro aap ये दोनो फोटो मैं क्या समझ आता हैं मेरे भारत के प्रधान मंत्री जी की खुशी की कोई सीमा नहीं उनके सात मुलाकात हुई अभी तक ४ ट्वीट कर दिए ओर वोही अमरीका की कमला हैरिस ने एक भी ट्वीट नही डाला इससे क्या प्रतीत होता हैं आपको ?

जम्मू-कश्मीर के शोपियां में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में एक आतंकवादी ढेरपुलिस ने कहा कि हमले के बाद पूर्ण जांच की गई और सूत्रों से मिली कुछ जानकारियों के आधार पर काशना गांव में एक घेराबंदी कर तलाश अभियान शुरू किया गया. इस दौरान अनायत ने तलाश दल पर गोलियां चलाईं. rajnathsingh कहा हो आप? देख रहो है ना.... कल कहोगे, कुछ हुवा ही नही,

महंत की मौत के 16 राजदार: नरेंद्र गिरि के शिष्य और सेवादार CBI के रडार पर, मठ से जुड़े नेता और पुलिस अफसर भी जांच के दायरे मेंअखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध हालात में हुई मौत की गुत्थी सुलझाने के लिए CBI महंत से जुड़े 16 किरदारों की कुंडली खंगालने में जुट गई है। इनमें महंत के कथित उत्तराधिकारी बलवीर गिरि से लेकर उनके शिष्य आनंद गिरि तक का नाम शामिल है। साथ ही पुलिस के कुछ अफसर और कुछ राजनेता भी CBI की जांच सूची में हैं। | CBI will solve the mystery of the death of Narendra Giri in Prayagraj, the crime scene will be recreated; You will get answers to each question : प्रयागराज में नरेंद्र गिरि की मौत की गुत्थी सुलझाएगी CBI, क्राइम सीन किया जाएगा रिक्रिएट; मिलेंगे एक-एक सवाल के जवाब जो भी है जल्द से जल्द जांच शुरू करे सीबीआई और electronic मीडिया को दूर रखे साधु संतो का भी ये लोग तमाशा बना रहे है बस सच सामने आना चाहय देश यही चाहता है Ek sache Hindu mahant ko marney waley hinduTalibani h.

पंजाब में पाकिस्तानी दहशतगर्दी का नया हथियार बना टिफिन बम, NIA जांच में जुटीगुरुवार को ही पंजाब पुलिस ने एक बड़े टेरर मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया था. उस ग्रुप का नाम था खालिस्तान टाइगर फोर्स. इस संगठन के तीन लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया था. इनके पास से टिफिन बम मिला था. kamaljitsandhu Rashtrapati shasan lagane ki tyari ho rahi hai

दीवाली पर कर्मचारियों को मिलेगा तोहफा, DA बढ़ाने के साथ प्रमोशन पर भी फैसला संभवभोपाल। मध्यप्रदेश के कर्मचारियों को दीवाली से पहले डबल गिफ्ट मिल सकता है। प्रदेश सरकार कर्मचारियों के महंगाई भत्ते (DA) में बढ़ोत्तरी करने के साथ-साथ लंबे समय से अटके प्रमोशन के मामले में कोई बड़ा फैसला ले सकती है। इस बात की जानकारी खुद गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने दी है। गृहमंत्री ने कहा कि शिवराज सरकार कर्मचारियों की हितैषी सरकार है और वह जल्द ही कर्मचारियों को खुशखबरी देगी।