Readers Opinion On, Chaupal Opinion, Chaupal Thought, Jansatta Chaupal, Chaupal News, Jansatta Chaupal Article, Nothing Without Water

Readers Opinion On, Chaupal Opinion

जल बिन कुछ नहीं

जल बिन कुछ नहीं

01-04-2021 23:16:00

जल बिन कुछ नहीं

सन् 2019 में देश की प्यास बुझाने और सिंचाई के लिए सरकार की नई नीति के तहत प्रधानमंत्री की ओर से देश के पंचायत प्रधानों को खत लिख कर अनुरोध किया था कि वे आने वाले बरसात के मौसम में जल संग्रहण करें।

और पढो: Jansatta »

सियासी बवाल के बीच राहुल गांधी का दिल्ली से लखीमपुर का सफर, देखें टाइमलाइन

लखीमपुर खीरी में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत के बाद का विवाद अबतक शांत नहीं हुआ है. लखनऊ एयरपोर्ट पर धरने के बाद आखिरकार राहुल गांधी को वहां से बाहर निकलने दिया गया है. एयरपोर्ट पर राहुल अपनी गाड़ी से जाएंगे या प्रशासन की गाड़ियों से इस पर विवाद हुआ था. अब राहुल गांधी और प्रियंका गांधी सीतापुर से लखीमपुर खीरी के लिए रवाना हुए और लखीमपुर में मृतक किसानों के परिवार से मिलने पहुंच चुके हैं. देखें राहुल गांधी के दिल्ली से लखीमपुर के सफर की पूरी टाइमलाइन.

सेंट्रल विस्टा है आपराधिक बर्बादी- PM मोदी का बिन नाम लिए राहुल का ट्वीटपिछले दिनों भी कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए इस प्रोजेक्ट को लेकर प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधा था। राहुल गांधी ने सेंट्रल विस्टा से जुड़ी एक खबर को ट्वीट करते हुए लिखा था कि कोविड संकट है। जांच नहीं, टीका नहीं, ऑक्सीजन नहीं, आईसीयू नहीं….प्राथमिकताएं। Pappu ke khandaan ki samadhi ki zameen per kitna Hospital ban sakte hai ...

Water Conservation: कैसे हो जल संरक्षण जब अवैध कब्जे की गिरफ्त में यूपी के 31,811 तालाबबढ़ती आबादी की जरूरतें पूरी करने में धरती की कोख सूखी जा रही है। भूजल स्तर में आ रही गिरावट ने नीति नियंताओं और पर्यावरणविदों की पेशानी पर बल डाल दिए हैं। यही वजह थी कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बारिश की हर बूंद हो सहेजने का आह्वान करना पड़ा।

कोरोना: सूरत में चौबीस घंटे जल रही हैं लाशें, पिघल गईं श्मशान की भट्टियांसूरत जिले के श्मशान घाटों पर लाशों के अंबार लग गए हैं. दाह-संस्कार के लिए कई आधुनिक तौर तरीके अपनाने पड़ रहे हैं. हैरानी की बात ये है कि चौबीसों घंटे श्मशान स्थल पर दाह संस्कार करने वाली गैस की भट्टियां चालू रहती हैं. इस वजह से भट्टी की ग्रिल तक पिघल गई हैं.

महाराष्ट्र: कोरोना से मौत का आंकड़ा हुआ डरावना, श्मशानों में 24 घंटे जल रही चिताएंमहाराष्ट्र: कोरोना से मौत का आंकड़ा हुआ डरावना, श्मशानों में 24 घंटे जल रही चिताएं coronainmaharashtra coronainmumbai covid19 CMOMaharashtra MoHFW_INDIA CMOMaharashtra MoHFW_INDIA जनता को अपना व्यवहार बदलना ही होगा, अनुशासन सीखना होगा। देश की भारी जनसंख्या के आगे सारे संसाधन कम पड़ते जा रहे हैं। मौतों को रोकने एक ही तरीका सोशल डिस्टेंसिनग कड़ा अनुशासन

बढ़ते जल-प्रदूषण पर अंकुश एक बड़ी चुनौतीसीएमईआरआई द्वारा जारी वक्तव्य में बताया गया है कि यह प्रौद्योगिकी स्थानीय स्तर पर उपलब्ध संसाधनों पर आधारित है। दूषित जल की समस्या को दूर करने के लिए सीएसआईआर-सीएमईआरआई द्वारा विकसित की गई हाई फ्लो रेट डी-फ्लोराइडेशन प्लांट की तकनीक को काफी प्रभावी बताया जा रहा है।